मा की फ्रेंड के बेटे से चूड़ने की कहानी

नीता रोहित से उसके रूम में छुड़ा कर आई. मुझे देखते ही स्माइल दी. मैं उसको अपने रूम में ले गयी.

नीता: यार उस बॉय का क्या हुआ?

मिताली: वो नही मिला. उसके रूम पर गयी थी, बुत वो बाहर गया है. आज कुछ नही होगा.

नीता: सब होगा यार. जब तू बाहर थी तो रोहित के रूम में गयी. रोहित और मैने खूब मस्ती की है. बहुत मस्त छोड़ता है वो. बहुत मज़ा आया.

मिताली: क्या बोल रही हो?

नीता: यार तू खाना लगा. खाना खा कर फिरसे मुझे उसके रूम में जाना है. पूरी स्टोरी फिर बतौँगी. बस मैने उसको पत्ता लिया. तेरी और मेरी सब प्राब्लम एक ही झटके में सॉल्व हो गयी.

मिताली: उसने माना नही किया?

नीता: यार तोड़ा माना किया, बुत किस किए तो तैयार हो गया. यार तेरा बेटा तो बहुत काम का है. उसको अपना बेटा बोल-बोल कर चुडवाई हू.

मिताली: यार तू मरवाएगी.

नीता: ह्म मरवा भी ली. रोहित तो एक्सपर्ट है. रोहित ने टाँग उठा कर पेला है मुझे. उसका काफ़ी लंबा है. मिताली यार तूने बहुत अछा काम किया है ऐसा बेटे को जानम दे कर.

मिताली: अब क्या प्लान है?

नीता: बस खाना बनाते है, फिर मस्ती करनी है.

मिताली: चलो फिर किचन में चलते है. खाना भी लाते हो गया.

हम दोनो किचन में चली गयी. आधे घंटे में खाना तैयार हो गया. फिर सब ने साथ बैठ कर खाना खा लिया. रोहित काफ़ी खुश दिख रहा था. मैं और नीता बाहर घूमने निकल गयी. नीता ने सब बात मुझे बता दी.

नीता: यार अब तो सारी रात ही मज़े करेंगी. अगर तुम भी ट्राइ कर लो. रात के अंधेरे में तुम नीता बन कर छुड़वा लेना.

मिताली: यार अभी नही. तुम एक बार कर लो. मुझे तो यकीन नही हो रहा रोहित पर, की वो ऐसे कर सकता है.

नीता: यार आज कल सब बाय्स नेट पर सब देखते है. रोहित हम दोनो के लिए बहुत अछा है. घर में ही सब होगा. कोई दर्र नही. अपने घर में खुल कर छुड़वा सकते है.

हम दोनो वापस घर में आ गयी. नीता नहाने चली गयी और मैं रोहित के रूम में चली गयी.

मिताली: कैसा लगा बेटे?

बेटे ने मुझे किस किया और बोला: सब मस्त हुआ है. नीता को रात में मेरे पास भेज देना.

मिताली: मैने सब लिव देखा था. अब पास वाले रूम से देखूँगी. तुम भी नहा लो.

रोहित: श मों, नीता को भी पर्सनल मों बना कर छोड़ना है. तुमको भी थोड़ी रेस्ट मिल जाएगी.

नीता नहा कर आई, तो उसको गाउन पहना दिया और वो उपर चली गयी. मैं पास वाले रूम में चली गयी. नीता अंदर गयी तो रोहित एक-दूं नंगा उसकी वेट कर रहा था. नीता के जाते ही उसने नीता को पकड़ लिया. उसका गाउन उपर किया, और पीछे से लंड उसकी गांद पर रगड़ने लगा.

नीता: ओह आते ही शुरू हो गये. तोड़ा रोमॅन्स तो कर लेते.

रोहित: चल तोड़ा लंड चूस. फिर तुझे पीछे से छोड़ना है. अब ये गाउन खोल दे मेरी जान.

रोहित ने नीता के मूह में लंड डाल दिया. नीता का सिर पकड़ कर रोहित लंड चुसवाने लगा. नीता एक-दूं नंगी थी.

रोहित: चल अब लंड चिकना हो गया है. अब मेरी घोड़ी बन जेया नीता.

नीता: ऑश आज तो मूड पूरा बना रखा है. आते ही घोड़ी बना ली. ऑश मेरे राजा, तेरे लोड के लिए घोड़ी भी बन जौंगी.

रोहित ने नीता को पकड़ कर आयेज झुका लिया. नीता अपनी गोरी गांद को झुका कर घोड़ी बन गयी. रोहित ने लंड को छूट पर रखा, और शॉट मारने लगा.

नीता: ऑश रोहित आराम से करो. छूट फाड़ोगे क्या? आराम से करो. ऊहह यार दर्द हो रहा है. आराम से करो, फिर जो मर्ज़ी करना.

रोहित: ऑश, क्या हुआ छूट को? लंड अंदर ही नही जेया रहा.

नीता: आते ही छूट मारोगे तो ऐसे ही होगा. तोड़ा टाइम लगेगा.

रोहित ने उसकी गांद पर थप्पड़ मारे और शॉट मारने लगा. नीता की गोरी टाँग दिख रही थी, और वो आयेज की तरफ झुकी हुई थी. दोनो गोरे बूब्स लटक रहे थे. उसकी कमर पर लंबे काले बाल थे. रोहित उसकी कमर पकड़ कर छोड़ रहा था. थोड़ी ही देर में लंड छूट में जाने लगा.

नीता: ऑश रोहित आहह अब लंड अपना काम शुरू करने लग गया है. ऑश तुझसे चुड कर मज़ा बहुत आता है रोहित.

रोहित: मुझे भी तुझे छोड़ कर बहुत मज़ा आएगा मों. ऑश नीता, बहुत गद्रा गयी है तू. साली कितना मस्त माल है, और अभी तक चूड़ी भी नही है.

नीता एक-दूं नंगी थी. उसकी गोरी मोटी जाँघ और गोरी पिंदलियान रोहित के आयेज थी. रोहित उसकी गांद दबा रहा था. उसने एक हाथ से नीता के बाल पकड़ लिए, और दूसरा हाथ नीता के कंधे पर रख कर शॉट मार रहा था.

नीता: ओह रोहित बेटे ओह, तू बन गया मदारचोड़. ऑश, तेरा बाप तो छोड़ता नही मुझे. तू ही छोड़ रोहित.

रोहित: ऑश नीता मज़ा आने लगा है. ऑश ऐसे ही घोड़ी बन कर चुड़वति रहो. लंड पूरा अंदर जेया रहा है.

नीता: आअहह तेरे झटको से आयेज खिसक रही हू. आराम से शॉट मार.

रोहित: तेरे ये मोटे बूब्स कब काम आएँगे. इनको पकड़ कर शॉट मारने दे. चल पीछे हो थोड़ी.

रोहित ने नीता की कमर पकड़ी, और पीछे खींच लिया. फिर लंड छूट पर रखा और शॉट मारा. रोहित ने दोनो बूब्स पकड़ लिए, और नीता को तोड़ा झुक कर छोड़नी शुरू कर दी.

नीता की छूट में लंड आयेज पीछे हो रहा था. नीता घोड़ी बनी हुई थी, और उसके दोनो बूब्स रोहित ने पकड़ रखे थे. उसकी पूरी गोरी बॉडी में मज़ा आ रहा था.

नीता की गोरी-गोरी मोटी टांगे देख कर अछा लग रहा था. वो अंदर से काफ़ी गोरी थी. गोरे बूब्स काफ़ी बड़े थे, जिसको रोहित ने पकड़ रखा था.

रोहित का लंड नीता की छूट में था. दोनो हाथो में नीता के दोनो गोरे-गोरे बूब्स पकड़ रखे थे. वो दोनो बूब्स से खेल रहा था, और लंड छूट से अंदर बाहर हो रहा था.

नीता: ऑश रोहित बेटे, अपनी मों को बहुत मज़ा दे रहा है. ऑश घोड़ी बना कर बहुत मस्त चुदाई कर रहा है. तेरे पापा को कभी पता भी नही है की मों को कैसे छोड़ना चाहिए.

रोहित: तुझे मज़ा आ रहा है क्या मों?

नीता: बहुत आ रहा है. श मेरे बूब्स पकड़ कर आज तक किसी ने ढंग से छोड़ा ही नही. ऑश लगता है पहली बार बेटे से ही छुड़वा रही हू.

रोहित: तू माल तो अची है. छोड़ने में मज़ा आ रहा है. तेरी जैसी हाउसवाइफ छोड़ने में मज़ा आता है.

नीता: तूने पहले किसी को छोड़ा है क्या?

रोहित: अर्रे नही, तूने ही स्टार्ट किया है.

नीता: ओह यार मेरा मॅन बहुत था की कोई मुझे भी छोड़े. चुड़े बिना रहा नही जाता. तेरी मों को भी बोल रखा था की कोई हेल्प करे.

रोहित: तो मों क्या बोली?

नीता: उसको भी लंड चाहिए. बोली की हब्बी एक्सपाइर्ड हुए है उसके बाद छोड़ने वाला कोई नही है. वो तो खुद प्यासी है.

रोहित: ऐसा बोला मों ने?

नीता: उसको भी लंड चाहिए. रात को बिना लंड सोती है.

रोहित: मों बहुत शरीफ है यार.

नीता: ऐसे तो मैं भी बहुत श्रीफ हू. बुत लंड लेने के लिए तो सहेली के बेटे के आयेज घोड़ी बन गयी. ऑश यार, तेरी मों के लिए भी कोई जुगाड़ करना होगा.

रोहित: क्या?

नीता: कोई बॉय देखती हू जिसके पास तेरी मों छुड़वा कर आए.

रोहित: पागल हो क्या? मों कही नही जाएगी छुड़वाने.

नीता: अछा तू ही छोड़ अपनी मों को. खुश रहेगी मों और बाहर भी नही जाएगी. वैसे तेरी मों है भी बहुत मस्त. रात को तेरे साथ ही सोएगी.

रोहित: ऑश देखते है. ऑश तू भी है ना मेरे लिए. मज़ा आ रहा है बहुत.

नीता: तेरी मों भी बहुत मज़ा देगी. उसके बूब्स कितने मस्त है.

रोहित: ह्म, बुत मों मानेंगी नही.

नीता: अर्रे यार मैं माना लूँगी. तू बस छोड़ने के लिए तैयार हो जेया. बहुत मस्त माल है. ऑश खुद की मों छोड़ने में मज़ा भी बहुत आता है.

रोहित: देखते है.

नीता: मिताली अगर तेरे आयेज घोड़ी बनी होगी, तब तो तू उपर चढ़ ही जाएगा. तेरे जैसा बेटा छोड़ने वाला हो तो मिताली आराम से छुड़ा लेगी. फिर तो तू छोड़ लेगा ना?

रोहित: ह्म. बस मज़ा आना चाहिए, कोई भी हो. खुद की मों ही क्यूँ ना हो.

नीता: तो समझो मिताली भी चुड गयी. ऑश बेटा ओह.

नीता मेरे लिए भी ट्राइ कर रही थी. बेटे रोहित को मेरे लिए पत्ता रही थी. तभी तो नीता मेरी बेस्ट फ्रेंड है. उसको ये पता नही था की हमने उसको पटाया था. नीता को चूड्ता देख कर मेरा भी मॅन हो गया.

रोहित: ओह मों ओह आहह मों मज़ा आ रहा है.

नीता: ऑश रोहित बेटा, आअहह बेटा, अपनी मों को मस्त छोड़ रहा है तू. ऑश बेटे कम मी सोन, फक मे बेटा.

रोहित: ऑश मों आहह मज़ा आ रहा है. ऑश मों बहुत मज़ा आएगा.

नीता: ऑश आहह चुड रही हू मैं.

रोहित: ओह बहुत मस्ती चढ़ गयी मों. ऑश ऊहह ऊहह तेरी छूट.

नीता: ऑश छूट चुड गयी यार. ऑश बेटे रोहित तेरी मों चुड गयी बेटे से.

रोहित: अपनी रंडी बनौँगा तुमको. साली बहुत मज़े देगी तू बेटे को. बहुत मस्त है तेरी गांद. ऑश बेटे से मरवाएगी गोरी गांद?

नीता की आ आ निकल रही थी. रोहित ने नीता के काढ़े पकड़ कर छोड़नी शुरू कर दी. कुछ देर बाद चुदाई के बाद दोनो झाड़ गये. चुदाई के बाद नीता खड़ी हुई, और पानी पीने लगी. रोहित बेड पर रेस्ट करने लगी. नीता खड़ी हुई ही रोहित से बात कर रही थी. वो अपने बाल ठीक करने के लिए दोनो हाथ पीछे करके खड़ी थी.

नीता के बड़े-बड़े बूब्स देख कर रोहित कुछ बोल रहा था. बुत वो धीरे बोल रहा था, तो कुछ सुनाई नही दिया. मैं नीचे वाले रूम में आ गयी.

मुझे भूख लगी तो किचन से खाने के लिए ले आई. फिर मैं आराम करने लगी. तभी नीता मेरे रूम में आ गयी. फिर क्या हुआ वो अगले पार्ट में. मितालिसिंघ609@गमाल.कॉम पर आप भी अपना एक्सपीरियेन्स भेज सकते हो.

यह कहानी भी पड़े  हमसफर - एक जवान लड़की के साथ

error: Content is protected !!