मां की चूदाई का सफर

मेरा नाम हरी है और में यूपी का रहने वाला हु ये कहानी मेरी मां के है ये काल्पनिक है मेरे घर में पापा मम्मी मेरी बहन और में रहते है।

अब आते है कहानी पर मेरे पापा मम्मी को सेक्स में खुश नहीं रख पाते है इसलिए मम्मी थोड़ी उदास और चिड़चिड़ी रहती है।

मई का महीना था मई के महीने में up में शादियां बहुत होती है तो मम्मी को मेरे मामा की लड़की के लिए सोने की चूड़ियां लेनी थी तो उन्होंने पापा को बोला लेकिन पापा ऑफिस के काम की वजह से ना जा पाए तो मम्मी ने निर्णय लिया की वो खुद जाएंगी तब मम्मी ने मेरी बहन को बोला कि वो चिड़िया लेने जा रही है सोनी के पास।

मम्मी ने मुझे बोला की में भी उनके साथ चालू तो मैंने हां कर दी और उनके साथ चल पड़ा।

सोमवार का दिन था दोपहर का टाइम था जो up से है उन्हे पता ही होगा की मई में दोपहर को कैसी लू चलती हैं तो मार्केट में भीड़ बिलकुल नहीं थी।

मम्मी ने एक सोनी की दुकान पे गई वहा पर एक सोनी बैठा था 40 साल का होगा एक दम हट्टा कट्टा और एक दम गोरा था। उसने मम्मी को बोला कि बताइए क्या दिखाई?

मम्मी – सोने की चूड़ियां।

सोनी – किस डिजाइन में?

मम्मी – नई में दिखाना।

सोनी – नई डिजाइन में बहुत आई है लेकिन वो ऊपर है और ये बोल कर उनसे मां को स्माइल दी।

मम्मी ने उसने रिप्लाई में एक सेक्सी स्माइल दी तब वो सोनी ने आपने पेंट के ऊपर लन्ड पर हाथ रखा। उसे देखकर-

मम्मी – चलिए ऊपर देखते है आपकी डिजाइन।

सोनी – हां चलिए।

तभी सोनी की नजर मुझ पर पड़ी तो उसने मुझे बोला की बेटा यही बैठना में आपकी मम्मी को चूड़ी दिखा कर आता हू तो मैंने कहा ओके।

ऊपर जाने के लिए सीढ़ी अंदर से थी थोड़ी तो उसने मुझे कहा कि ऊपर मत आना और कोई आए तो मुझे आवाज दे देना।

फिर मम्मी सीढ़ी से ऊपर गई लेकिन मुझे शक हो रहा था कि कुछ गडबड है।

तो में भी छुप पर ऊपर चला गया।

वहा काफी तग जगह थी दुकान की चोडाई सिर्फ 8 फिट ही थी उसमे फर्नीचर ओर कारीगरो के बैठने की जगह तभी मम्मी ने उपर वाली रेक मे पडे चुडे दिखाने को कहा तो सोनी मम्मी के पीछे चिपककर अपने हाथो को उचा कर के चुडा निकालने तभी शोकत का लंड लुगी से निकलकर मम्मी की गांड पर लगने लगा।

लंड गांड पर लगते ही मम्मी की आह निकल गयी जिसे सुनकर सोनी भी समझ गया रंडी है कोई चुदाई की भूखी शोकत ने अब हिम्मत करते हुए पिछे से लंड का दवाब साडी पर बढा दिया ओर अपना एक हाथ कधे पर रख दिया ओर दूसरे हाथ से रेक मे लगे चुडे के बारे मे बताने लगा।

सोनी पीछे से लंड का दवाब मम्मी की गांड पर डालने लगा तो मम्मी की आहे बेकाबू होने लगी शोकत ने कंधे पर रखे हाथ से कंधे को दबा दिया जोर से जिससे मम्मी के मुह से आह!! निकल गयी। चुदास की आह सुनकर शोकत को अब परमिशन मिल गयी थी। शोकत ने अब अपने हाथ को कंधे से हटाकर ब्लाउज पर रख दिया ओर जोर से चुचि को दबा दिया।

तब मम्मी को दर्द हुआ शायद-

मम्मी – आराम से थोड़ा।।।

तो उस सोनी की हिम्मत बढ़ गई। मम्मी पिछे की तरफ घुम गयी ओर अपनी बेफिक्र होकर साडी खोलने लगी साडी खोलकर मम्मी ने कुर्सी पर रख दी ओर घुटनो के बल बैठकर सोनी की पेंट को खोल दिया।

तब मैंने आपने मोबाइल में recording करना स्टार्ट कर दिया।

पेंट खुलते ही सोनी का 7 इच लंबा ओर 2।5 इच मोटा काला लंड नाग की तरह मम्मी के सामने झुलने लगा मम्मी ने लपककर लंड को मुह मे भर लिया। सोनी के लंड के सुपारे की चमडी के नीचे रस की पपडी बनी पडी थी जैसे स्वपनदोष होने के बाद जम जाती है।

उसका लन्ड मेरे से थोड़ा छोटा था।

ओर सोनी के सामने खडी होकर फटाफट कपडे खोलकर दो मिनट मे ही नंगी हो गयी सोनी भी मम्मी के बदन को देखकर पागल होने लगा। मम्मी की क्लीन चूट देखकर मेरा 8 ईच लंबा और 3 ईच मोटा लन्ड खड़ा हो गया।

सोनी ने कहा – रानी हमारे घर मे बहुत सी ओरतो की गाड बडी है तो बहुत की चुचिया तो जिसकी दोनो तेरी जैसी है, तो उनका पेट भी बहुत बडा निकला हुआ है, तेरी जैसी पतली कमर ओर इतनी बडी गांड ओर चुचि वाली पहली बार मिली है, 40 साल की उम्र मे!!

मम्मी – सिर्फ देखोगे या चोदेगे भी।।

सोनी – चल जल्दी से कुतिया बन जा!

ये सुनकर मम्मी पिछे घुमकर फर्श पर कुतिया बन गयी ओर तभी सोनी ने चुत पर लंड लगाकर एक झटके आधा लंड पेल दिया। मम्मी की हल्की की आह निकल ओर उधर दूसरे झटके मे सोनी ने पूरा लंड मम्मी की चुत मे उतार दिया। मम्मी दर्द से चिल्लाने लगी तो-

सोनी – चुप हो जा नीचे तेरा बेटा बैठा है।

मम्मी – इतना बड़ा लन्ड कोई ऐसे डालता है क्या…

ओर लंड को पूरा बाहर निकाल कर एक झटके पूरा अंदर डाल दिया। इस झटके से मम्मी पूरी तरह हिल गयी ये तो शुरुआत थी उसके बाद सोनी ने इतने तेज झटको से चुदाई करी की मम्मी का रस पांच मिनट मे निकल गया।

रस निकलते ही मम्मी की चुत से फचाफच की आवाजे निकलने लगी इधर सोनी जब चुत मे पूरा लंड अंदर डालता तो मम्मी की आह निकल जाती जोर से इस तरह फर्श कुतिया बनाकर सोनी ने आधे घंटे तक मम्मी की चुत की ठुकाई करी ओर इतनी जबरदस्त चुदाई जिसमे मम्मी ने चार बार कामरस छोड दिया।

आधा घंटे चुदाई के बाद सोनी ने ढेर सारे माल से मम्मी की चुत को भर दिया ओर सोनी ने पेंट पहना तो मैंने recording बंद की और जल्दी से नीचे आ गया। तब सोनी नीचे आया और मम्मी को 6 सेट दिए सोने की चूड़ियां वो हुई एक दम फ्री…

सोनी – मैडमजी आती रहना – मुस्कुरा कर।

मम्मी – बिलकुल आऊंगी।

उसके बाद हमने रिक्शा के लिए थोड़े चले तो मम्मी थोड़ी लगड़ा कर चल रहीं तो मैंने ऐसे ही पूछा कि हुआ तो मम्मी बोली की गिर गई तो पैर में चोट लग गई।

तो मैंने कुछ नही कहा और रिक्शा पकड़ कर घर आ गए घर पर कोई नहीं था।

मेरा लन्ड खड़ा तो मैंने मम्मी के पास जा कर कहा-

में – मम्मी कहा पर चोट लगी है?

मम्मी – पैर में लगी है बताया था न तुझे।

में – पैर में लगी है या कही और…?

मम्मी – थोड़ी सी डर कर तेरा क्या मतलब?

में – पैर में चोट लगी है या चुत मे?

मम्मी ने ये सुनते ही एक चांटा खीच के मारा मुझे। तो मुझे गुस्सा आया तो मैंने वो विडियो उन्हे दिखाए। तो वो एक दम डर गई और बोली की बेटा ये तेरे पास कहा से आई।।

आगे की स्टोरी आगे के पार्ट में।

यह कहानी भी पड़े  माँ की सहेली से मस्त चुदाई

error: Content is protected !!