मा के साथ शादी करके सुहाग रात की प्लॅनिंग

ही मेरा नाम मनीष है और मैं देल्ही से हू, मेरी आगे 23 साल है. यह बात 1 साल पहले की है जब मई कॉलेज मेी था. अब मई डाइरेक्ट स्टोरी पर आता हू.

मेरी फॅमिली मेी सिर्फ़ हम 2 लोग ही थे मेरी मम्मी सुमन जिनकी उमर 42 ही थी दिखने मेी मस्त सुंदर रंग सावला मस्त फिगर दिखने मेी उनकी उमर बहुत कॅम ल्गती थी जैसे 36 की हो.

हुमारे एरिया के काफ़ी बंदे उनके दीवाने भी थे बुत वो किसी से बात नही करती थी.

2020 मेी कोविद की वजह से मेरे फादर की डेत होगयइ जिसकी वजह से मई और मम्मी अकेले हो गये. इन्षुरेन्स का पैसा भी मिल गया ह्यूम उनकी डेत के बाद और हम फिर धीरे धीरे ठीक से रहने लगे.

मेरी मम्मी कोई जॉब नही करती थी वो सारा दिन घर पर ही रहती थी. फिर मैने और मम्मी ने 1 शॉप ओपन करने को सोची जनरल स्टोर की. पर पापा के घर वाले नही माने. तो हुँने नही खोली.

फिर रात को मम्मी जब खाना खा रही थी तो वो थोड़ी उदास सी लग रही थी.

मैने मम्मी का मूड करने के लिए उनसे बात करनी शुरू करे. अब तक मेरे मॅन मेी उनके लिए कोई ग़लत बात नही थी.

मई – क्या हुआ मम्मी? उदास क्यूँ हो?

मम्मी- कुछ नही ऐसे ही.

मई – मम्मी बताओ ना क्या हुआ है?

मम्मी- बेटा मई सोच रही हू हम यह सहेर छोड़ कर कहीं और चले?

मई – क्यूँ ऐसा क्या हुआ?

मम्मी- कुछ नही ऐसे ही मई यहन अकेले घर पे बोर हो जाती हू इसलिए मैने शॉप ओपन करने की सोची थी बुत तेरे दादा ने सॉफ माना कर दिया.

मई- कोइनी मम्मी मई आपके साथ हू आपको जैसा ठीक लगे मई व्ह्न चलने के लिए टायर हू.

फिर मम्मी मुझे हग करके रोने लगी और फिर जाके अपने कमरे मेी सू गयी. मुझे इश्स रात नींद नही आई और मई सोचता रहा मम्मी के लिए उनकी लाइफ के लिए आयेज कैसे र्हेगी आंड ऑल. देन मैने प्लान किया की मई मम्मी से बात करूँगा की वो किसी से शादी करके सेट्ल हो जाए.

फिर कुछ दिन बाद जब मुझे मोका मिला मम्मी के साथ बेत्ने का देम मैने पूछा-

मई – मम्मी आपसे कुछ बात करनी है.

मम्मी- बोलो बेटा?

मई – वो मई सोच रहा था की आप सेट्ल हो जाओ किन और?

मम्मी- मतलब?

मई- आक्च्युयली मेरा मतलब है की आप शादी कार्लो दूसरी आप अकेले फील करते हो

मम्मी – नही. बसस हम यहन से शिफ्ट करेगे और शॉप ओपन कर लेगे मई बिज़ी र्हुगी तो ठीक र्हेगा ना तेरे पाप की याद आएगी.

मई – तो आपने कुछ प्लान किया है?

मम्मी – हाँ हम चंडीगार्ह चलेगे न्यू सिटी व्ह्न हम आराम से रह पाएगे.

मई – ओक.

फिर हुँने 1 महीने मेी अपना मकान बेच दिया और सारे पैसे लेके चंडीगार्ह आ गये.

मेरी स्टडीस भी कंप्लीट होगयइ थी अब मई आयेज पढ़ने का प्लान कररा था. हुँने 1 शॉप ओपन करी घर के नीचे ही और उसके फर्स्ट फ्लोर पर हम रहते थे. ह्यूम वहाँ 2 महीने हो चुके थे सब ठीक था.

पर 1 रात को मुझे प्यास लगी तो मई पानी पीने उठा तो मुझे आवाज़ आई मम्मी की. मई उनके कमरे के भर से देखा तो वो अपनी छूट मेी उंगी डाल राहु थी और आवाज़े निकाल रही थी.

मई शॉक हो गया और बीना पानी पिय अपने कमरे मेी वापिस आ गया. मेरा लंड अचानक से खड़ा होने लगा और अपने आप थोड़ी ही देर मेी लंड से पानी निकल गया. और मेरी आँख लग गयी.

फिर जब सुबा मम्मी मुझे उठाने आई तो मम्मी ने मेरे लंड का पानी बेड पर ही देख लिया. जब मई उठा तो मुझे नींद मेी याद भी नही रा की मेरा लंड का पानी मेरे कपड़े और बेड पर गिर गया है.

थोड़ी देर बाद मम्मी नीचे शॉप से उपर आगयइ लंच करने के लिए.

मम्मी- बेटा तुम अपनी स्टडीस कंटिन्यू करोगे या और कुछ करना है?

मई – हंजी मम्मी देखता हू.

मम्मी – और बेटा तोड़ा कंट्रोल मेी रहा करो रात को सुबा तुमहरे बेड पे मुझे फ्लूईड मिला.

मई यह सुनके तोड़ा दर्र गया पर मैने हिम्मत करके बोल दिया.

मई- मम्मी आक्च्युयली ग़लती से मैने आपको कल रात को आपके कमरे मेी देख लिया था आप अपनी उंगली से जो कर रही थी.

मम्मी गुस्से मेी आके – तुझे शरम नही आई. और गुस्सा होके नीचे शॉप पर चली गयी.

फिर मई भी खाना छोड़ कर सम चला गया. जब रात को मम्मी शॉप बंद करके आई तो मुझे खाने के लिए बुलाया पर मेरे ना जाने पे वो बुलाने आ गयी.

मम्मी- मनीष खाना खले

मई- मुझे भूल नही लगी

मम्मी – खाना खले आजा?

फिर मई भर खाने आ गया. खाना खाते हुए मैने मम्मी को सॉरी बोला और कहा-

मई – मम्मी मुझे क्या पता था आप वो कार रहे होगे मई तो पानी पीने के लिए उठा था और मुझे आवाज़ आ गयी.

मम्मी- हाँ मुझे भी लगा मैने जाड़ा गुस्सा कर दिया सॉरी बेटा.

मई- मम्मी आप शादी कू नही कर लेते?

मम्मी – नही मुझे कोई नीड नही है. बस अब तेरी करवानी है और कुछ नही.

मई- मम्मी वो तो ठीक है पर कोई ग़लत लड़की मिल गयी तो हुमारे इश्स छोटे से घर का क्या होगा और आप कब तक ऐसे करोगे?

मम्मी- तोड़ा सोचने लगी फिर बोली देखते है कोई तो है.

फिर हम सोने चले गये.

नेक्स्ट दे मई उठा तो मई रात को मम्मी को फिरसे वो सब करके देखा सपने मेी. मम्मी जब उठाने आई तो उन्होने फिरसे मेरा लंड का पानी देख लिया.

मम्मी- बेटा यह जाड़ा नही होरा तेरा

मई- टा नही मम्मी वो रात को सपने मेी आप आए थे तो अपने आप निकल गया.

मम्मी – बेटा अब तेरे को वाइफ चाहिए और कुछ नही

फिर मई बातरूम मेी गया तो मई लंड पकड़ कर मम्मी को सोचता हू मूठ मारने लगा. मुझे लगा अग्र मई मम्मी से ही शादी कर लू तो मम्मी का भी काम हो ज्एगा और मुझे भी मज़ा आज्एगा क्यूंकी मुझे वो अची लगने ल्गी थी.

मई डेली जानभुज कर अपने लंड का पानी बेड पर छोड़ने लगा.

फिर मेरा बर्तडे था मई उठा तो मम्मी ने मुझे विश किया.

मम्मी – हॅपी बर्तडे बेटा मनीष आंड एक किस करके हग करा.

मई- तंकु बोला और नहाने चला गया फिर मैने प्लान बनाया मम्मी से प्रॉमिस लेके आज उन्हे बीना कपड़े के देखु.

मम्मी- गिफ्ट क्या चाहिए मेरे बेटे को?

मई- प्रॉमिस करो आप दोगे जो मांगूगा?

मम्मी – अगर मेरे हाथ मेी होगा तो ज़रूर.

मई- मई आपको देखना चाहता हू

मम्मी- मतलब?

मई- मई आपको बिना कपड़ो के देखना चाहता हू.

मम्मी गुस्सा हुई तुझे शरम नही आ रही यह बोलते हुए..?! और अपने रूम मेी चली गयी, ना मम्मी ने शॉप खोली यूयेसेस दिन. फिर जब मम्मी जारी थी तो मैने बोला आपने ही तो बोला था मेरे हाथ मेी हुआ तो पक्का. अब यह किसके हाथ मेी है पर वो चली गयी.

रात को मई रूम मेी था मम्मी बिना नॉक करे अंदर आई. लिटरली ई’म शॉक्ड. वो सिर्फ़ 1 टवल धक कर आई थी.

मम्मी- जो तूने बोला था ये ले खुद हटा ले और देखले.

मई- आप ठीक हो?

मम्मी- हन.

मई उठा और उनका टवल हटा दिया, क्या मस्त सीन था. वो अचानक से मेरी मा मेरे सामने बिना कपड़ो के. उनके गोरे गोरे बूब्स,
उनकी छूट जिसपे 1 भी बाल नही था. जैसे उन्होने उससी दिन ही शेव करी है. मेरे लिए खुले बाल! क्या बतौ मई तो बेहोस ही हो गया बिल्कुल.

मई – मम्मी मई क्या आपको टच करके फील ले सकता हू?

मम्मी – हन करले.

फिर मैने उनको पकड़ के बेड पे बिताया.

आयेज नेक्स्ट पार्ट मेी पढ़िए कैसे मैने उनको शादी करके सुहग्रत मनाई. अगर आपको यह स्टोरी अची लगी हो तो अपना फीडबॅक शेर करे

यह कहानी भी पड़े  जेत्जी से चुदवाने को तैयार

error: Content is protected !!