मा के साथ पहला सेक्स अनुभव

हिी फ्रेंड्स, ये मेरी और मेरी मा के अभी कुछ सेप-2022 से चल रही लाइफ के उपेर सच्ची घटना है. मेरा नाम मैं इस कहानी मे चेंज किया है. इस कहानी मैं मेरा नाम (राजू) है. अब मैं आपको अपने बारे मैं कुछ बताता हू.

मेरा नाम राजू है और मैं 25 साल का हू और मैं अभी जॉब करता हू. मेरी हाइट छोटी है अभी मैं आपको अपनी मा के बारे मैं बताता हू.

मेरी मा का नाम मीयर्रा है. उनकी उमेर 60 है, अब आप ये बोलेगे की ये तो बुद्धि है. पर सच मानो दोस्तो मेरी मा के बॉडी अभी भी एक मेच्यूर भाभी जैसी दिखती है जैसी के वो अभी 35 के हो.

उनके कुछ बॉडी पार्ट मुरझा गये है, जैसे के उनके हाथ के स्किन, फेस के, और उनके पैर के नाख़ून, और उनके चलने का स्टाइल से वो ओल्ड वुमन लगती है. बुत देखा जाए तो उनके बूप्स बहुत ही गोरे और अभी भी टाइट है. उनकी गांद भी मोटी और गोरी है.

अभी मैं सीधा स्टोरी पे आता हू.

मेरी फॅमिली मैं मैं और सिर्फ़ मेरी मा है. पापा के डेत होके साल 2011 मैं हो गयी तब से हम दोनो ही फॅमिली मैं रहते है. हम मुंबई मैं रहते है.

मैं अपनी मा से बहुत प्यार करता हू और वो भी मुझ से बहुत प्यार करती है

मेरी कहानी सेप-2022 के है. मैं पहीले से प्रोन देखते आ रहा हू और अभी भी देखता हू. बुत मैं आज कल मा बेटे के प्रोन वीडियो बहुत देख रहा हू ई थिंक यही कारण है के मैं अपनी मा के और सेक्षुयली आतरक्त हो रहा हू, उनके साथ सेक्स करना चाहता हू.

मैं हर रोज उनको गंदी नज़र से देख रहता हू. उनके बूप्स के और उनके गांद के और जब मुझे कंट्रोल नही होता तब मैं बातरूम मैं जेया कर मा बेटे के प्रोन लगा कर ऐसा फील करता था के वो मेरी मा है और वो मैं फिर मूठ मरता था.

सब अपना पानी निकल कर कुध को संतुष्ट करता था. फिर मैने सोच लिए था की किसी भी हालत मैं मैं मेरी मा के साथ सेक्स करना है. लेकिन मुझे कुछ साँझ नही आ रहा था के कैसे मा को बोलो बहुत दर लग रहा था.

ऐसे ही सोच के दिन जेया रहे थे. मॉर्निंग मैं उतना मा के पनटी को स्मेल ले कर अपना पानी निकल देना, सब यही चल रहा था.

एक दिन मा बातरूम मैं नहा रही थी, तो मैं सोचा यही मौका है मा को नंगी देखने का. हमारा बातरूम जो है वो उपेर से खुला था तो बाहर से चाड सब दिखता था, मैं पीछे से गया और चाड के देखने लगा.

तब मैं मा को पहली बार नंगी देखा था.. वाउ! जब वो नहा रही थी तब उनकी गांद मेरी तरफ थी इसलिए मैं उनको दिख नही रहा था.

मा कसम क्या बूब्स थे ये बड़े बड़े और टाइट. उनकी गांद भी बहुत बड़ी थी और एक दूं आपल शेप मैं बाहर निकली हुवी थी. वो जब नहा तो पानी उनकी गांद के गली मैं से जेया रहा था ऐसा लगा के अभी जाो और मा को छोड़ डालु. वो देख कर मुझे रहा न्ही गया. मेरा लंड टाइट हो चुका था मैने अपना लॅंड निकाला और मा को देख कर हिलने लगा.

दोस्तो अब सबन लगा ने के बारी आई थी. सबन जो है वो अपने बूप्स पर लगा रही थी वो बूप्स को दबा भी रही थी, मेरी तो हालत खराब हो गयी थी. और अब सबन जो है वो पैरो पर लगा ने वाली थी जिसके लिए उनको नीचे झुकना पड़ेगा.

मैं तो मॅन ही मॅन मैं खुश हो रहा था. जैसी ही मा नीचे झुकी. वाउ क्या बटाऊ दोस्तो मा के छूट मेरे सामने थी. ऐसा लग रहा था के मा मुझे बोल रही है के “आजा राजू मार दे अपनी मा के छूट!”

उस छूट को देख कर मैं हैरान रह गया. छूट पे थोड़े थोड़े बाल भी थे जब वो पानी डाल रही थी अपने बदन पं तो वो बदन का पानी मा के छूट मैं भी आ रहा था. मुझे ये देख कर कंट्रोल नही हुवा और उधर ही अपना पानी निकल दिया और सोने चला गया.

ऐसे ही प्रोन वीडियो देख के और मा को नहाते देख कर 3 दिन निकल गये. मा को कैसे छोड़ू यही सोच रहा था मैं. मा के बूप्स, गांद और उनकी छूट ने मुझे छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया था. .

तब मेरे दिमाग़ मैं एक आइडिया आई. मा हमेशा से फुल पनटी पहना करती थी, फुल मतलब आप तो साँझ गये होगे. मैने मा के सभी पनटी के छूट और गांद के जगह पे कट कर दिया ताकि मैं मा के छूट को अची से देख साकु, और मुझे पनटी उतार ने के ज़रूरत नही पड़ेगी.

मॉर्निंग मैं नहाने आई और नहाने के बाद उसने वो कट के हुवी पनटी पह्न ले. मुझे तो बहुत खुशी हुवी और मैं जॉब पे चला गया.

शाम को मैं घर आया अब सिर्फ़ रात का इंतजार था सोच रहा था आज का प्लान कामयाब हो जाएगा. मेरा मा के साथ सेक्स करने का सपना भी पूरा हो जाएगा. मैं फुल ओं मूड मैं था.

रात के खाने के बाद, टीवी देख के मा सोने चली गयी अपने रूम मैं. वो तो अछा है के मा रूम लॉक नही करती. मैं भी अपने रूम मैं चला गया और सोचा जब मा को आचे से नींद लगेगी तब जाउगा. रात के 2 बजे मैं उठा और मा के रूम के और चला गया.

जैसे ही डोर मैने हल्के से बंद किया तो देखा मा सोई हुवी थी. एक फन्नी चीज़ थी के मा खरते ले रही थी हल्के हल्के. मा को देखा तो वो ब्लॅक कलर का ब्लाउस और ब्लॅक कलर का पाठीकोत पहने हुवी थी. वो देख कर ही मुझे जोश आ गया और मेरा लंड खड़ा हो गया.

मा एक साइड कर के सोई हुवी थी, उनकी गांद के और जाके मैं सू गया और उनको हग कर लिया. मैं बहुत काप रहा था और मुझे मज़ा भी आ रहा था.

मैने आराम से अपना लंड मा के गांद पे उपेर ही उपेर रख दिया. और रग़ाद ने लगा बहुत अछा फिल हो रहा था. मा भी बहुत गहरी नींद मैं थी. मेरा लंड एक दूं टाइट हो रहा था तो मैं अपनी बॉक्सर पंत और अंडरवेर निकल कर अपना खुला लंड मा के गांद पर फिर से रगड़ने लगा.

अब मुझे कंट्रोल नही हो रहा था मैने थोड़ी हिम्मत करके मा के बूप्स पर हाथ रख दिया. वाउ क्या बूप्स थे सॉफ्ट सॉफ्ट और बड़े बड़े. मैं बूप्स को हल्के से दबा रहा था.

मा ने ब्रा नही पहनी थी इस लिए मुझे उनके निपल्स भी फील हो रहे थे उनका भी मज़ा मैं उपेर उपेर से ले रहा था. अब दो काम हो रहे थे मा के बूप्स भी दबा रहा था और मा के गांद भी अपने लंड से रग़ाद रहा था. मा तो बहुत गहरी नींद मैं सू गयी थी.

थोड़ी देर होने के बाद मैं स्टॉप हो गया. मुझे अभी कंट्रोल नही हो रहा था. अब मुझे मा की छूट के तलब लग रही थी. मैने थोड़ी हिम्मत कर के मा का पेटीकोत पकड़ा और धीरे धीरे करके मा के कमर तक लाया.

क्या बतौ दोस्तो रेड पनटी मैं मेरी मा एक दूं सेक्सी लग रही थी. मैं खड़ा हो गया और अपना फेस मा के गांद के तरफ करके सू गया. अब मा के गांद मेरी सामने थी मैने हल्के से मा के गांद को दबाया. हल्के हल्के से किस करने लगा बहुत मज़ा आ रहा था.

मा को कुछ खबर नही थी के क्या हो रहा है इतने नींद मैं थी वो. मुझे मालूम था के मैने पनटी को कट किया है. मैने हल्के गांद के वन साइड उपेर किचा और उनके गांद का छेड़ मेरे सामने था.

तोड़ा सा और किचा तो उनकी छूट का छेड़ भी दिख रहा था. मैं तो पागल हो गया देख के. मेरा बॉडी काप रही थी. मैने अपनी जीभ निकली और मा के गांद के छेड़ को चाटने लगा वाउ क्या मज़ा आ रहा था, मैने छूट के छेड़ को भी चाट दिया ऐसा मैने 5 मीं तक किया था.

फिर मैने अपनी उंगली ले पहीले तो मैने अपनी उंगली को मेरी मूह मे डाल के गीली के और हल्के से मा के गांद मैं डाल दी और उंड़र बाहर उंड़र बाहर करने लगा. 2 मीं बाद मैने वही उंगली छूट मैं डाल दी और उंड़र बाहर उंड़र बाहर करने लगा. मुझे मज़ा आ रहा था मेरा लंड तो बैचाईन हो रहा था के मेरी बारी कब आएगी उंड़र जाने के.

आचनक से मा के खरतो के आवज़ बंद हो गयी. मैं तो दर के मारे बेड पर से धीरे से उठ गया और मा को देख रहा था. लेकिन मा वैसे ही सोई हुवी थी बस खरतो के आवज़ बंद हो गयी थी. मैं हिम्मत कर के फिर से सो गया और अपने हाथ को मा के बूप्स को पकड़ लिया, और दबा रहा था.

फिर मैं अपना लंड मा के गांद के छेड़ के उपेर रख दिया, क्या फेल्लिंग आई दोस्तो एक दूं मस्त. लंड को उपेर रग़ाद रग़ाद के मैने सारा पानी मैने मा के गांद के छेड़ और छूट के छेड़ पर गिरा दिया. पूरा पानी होने के कारज लंड एक दूं फिसल रहा था. तो मैने मों के बूप्स को दबा कर अपना लंड खड़ा करके फिर से रेडी हो गया.

जिसका मुझे इंतज़ार था वो टाइम आ गया था, जैसे ही मेरा लंड टाइट हुवा मैने छूट के छेड़ पर लंड रखा, और मा के गांद वन साइड से उपेर किया और मेरा लंड आधा चला गया मा के छूट मैं. वाउ वाउ क्या फेल्लिंग दोस्तो मैं तो जन्नत मैं पहुच गया था.

उंगली करने के कारण मा के छूट भी गीली थी और मैने पहीले लंड का पानी भी उपेर दल दिया था. इसकी वजह से मेरा लंड आराम से मा के छूट मैं चला गया. मैने ढके मारना शुरू किया था धीरे धीरे ढके लगा कर मेरा लंड पूरा मा के छूट मैं उंड़र बाहर उंड़र बाहर कर रहा था.

5 मीं तक मैं मा को छोड़ रहा था धीरे धीरे. मैने मा के फेस की और देखा तो मैं चुप रह गया. मेरी मा उनके एक लिप्स को उपने डाट मैं पकड़ी हुवी थी मतलब उनको भी मालूम था के, मेरा राजू मुझे छोड़ रहा है. उनको भी मज़ा आ रहा था.

ये देख कर मुझे और जोश आया और मैं ज़ोर ज़ोर से छोड़ने लगा अपनी मा को. मैने मा के ब्लाउस के नीचे से 3 बटन खोल के मा के बूप्स और निपल्स को दबा ने लगा. मुझे तो जन्नत मिल गयी थी.

मा को भी बड़े सालो बाद सेक्स का मज़ा आ रहा था और संतुष्ट हो गयी थी. 10 मीं छोड़ने के बाद मुझे ऐसा लगा के मेरा पानी निकालने वाला है फिर मैने अपना लंड निकल के मा के छूट के छेड़ के उपेर और गांद के छेड़ के उपेर अपना सारा पानी गिरा दिया. और 1 मीं के लिए मैं वही साइड मैं पड़ा रहा.

मैं उठा और अपनी अंडरवेर से मा के छूट और गांद सॉफ करदी और मैं सोने चला गया. बस एक ही बार मैं मा के साथ सेक्स कर पाया हू अब क्या पता कब करूगा.

थॅंक्स मेरी कहानी पड़ने के लिए. मेरी रियल कहानी कैसी लगी ये कॉमेंट कर के ज़रूर मैल करके बताओ.

यह कहानी भी पड़े  लॉकडाउन में भाई बना सेक्स का सहारा

error: Content is protected !!