मा के दिल और जिस्म के करीब

पिछली कहानी मई आपने पढ़ा था – शाम को बेहन भी घर आ गई तो मई उसके साथ बिज़ी हो गया. रात को पापा घर आए, उन्होने दारू पी रखी थी. देर रात को वो मों से लड़ाई कर रहे थे उसकी आवाज़ मेरे रूम तक आ रही थी. मुझे बुरा लग रहा था लेकिन मैने यूयेसेस वक़्त कुछ नही बोला और कुछ देर बाद मई सो गया.

अब आयेज…

अगली सुबह मई सो कर उठा. घर काफ़ी शांत लग रहा था. पापा सोफे पर बैठे थे. बेहन कॉलेज जा चुकी थी. मों किचन मई थी. मई वाहा गया तो मों को पीछे खड़े हो कर देख रहा था. उन्होने येल्लो कलर का सलवार सूट पहना हुआ था. येल्लो कलर मों पर बहोट खिलता है. यूयेसेस पर ग्रीन कलर की चुननी डाली थी. बाल खुले हुए थे. बाल स्ट्रेट ह मों के.

मों अभी नहा के आई थी इश्स लिए वो थोड़े गीले थे जिसकी वजह से सूट भी गीला था जगह जगह से. मों काफ़ी सेक्सी लग रही थी. सूट फिटिंग का था तो उनके हिप्स का उभर नज़र आ रहा था. सूट के अंदर की क्रीम कलर की ब्रा भी नज़र आ रही थी.

मैने मों को पीछे से हग किया और कहा गुड मॉर्निंग ब्यूटिफुल. मैने अपने हाथ मों के पेट पर रखे हुए थे, और अपनी उंगलिया चला रहा था.

मों : उठ गया मेरा बचा.

मे : हन मों.

मों : जल्दी से फ्रेश हो जाओ, फिर नास्टा कर लेना. और मुझे चोरो सुबह सुबह ही चिपक गया मुझसे.

मे : रहने दो ना मों, कितना अछा फील होता ह ऐसे. आप मे से बहोट अची खुश्बू आती है. मॅन करता है ऐसे ही आपसे लिपटा रहूं और बातें करता रहूं.

मई अपना हाथ इश्स वक़्त मों की नवल के चारो तरफ घुमा रहा था. और मेरा गाल मों के गाल से सता हुआ था. मतलब मैने मों को तिघली हग किया हुआ था.

मों : जब से बाहर रह कर आया है कुछ भी बोलता रहता है.

मे: क्या मई आपसे प्यारी बातें नही कर सकता?? मई नही बोलूँगा अगर आपको बुरा लगा तो.

फिर मों मेरे सामने घूम गई. और उन्होने मेरे माथे पर किस क्र के कहा मुझे अछा लगा. बस मुझसे आज तक किसी ने ऐसा नही कहा ना ही इतना ख़याल रखा. मैने भी गाल पर किस कर दिया.

मे: मों मई आपका हमेशा ख़याल रखूँगा.

मों: (हेस्ट हुए) देखते है जब तुम्हारी बीवी आ जयगी तब तुम मेरा कितना ख़याल रखोगे.

मे : ऐसा कुछ नही होगा मों. अगर भगवान ने सबसे प्यारी कोई चीज़ बनाई है तो वो आप हो मों. आप तो मुझे एक छोटी से बची लगती हो कभी कभी. क्यूटी क्यूटी.

मों: हॅट बदमाश. कहा से लता है ये सब बातें.

ये कह कर हम दोनो ही हासणे लगे. मेरा ध्यान मों के गाल पर गया जिस पर लाल निशान थे.

मे : मों ये क्या आपके गाल पर ये कैसे लाल निशान बने है.

मों : कुछ नही बेटा बस ऐसे ही हो गया होगा.

मे : सच सच बताओ पापा ने आप पर फिर से हाथ उठाया है क्या??

मों ने कुछ नही कहा, बस खामोश हो गई. लेकिन मई सब समझ गया और गुस्से से मई एक दूं लाल हो गया. मई ये बर्दाश्त नही कर पाया की मई जिसको इतना चाहता हू उसके साथ पापा ने ये सब किया. मई सीधा पापा के पास गया. मों मुझे देख कर तोड़ा दर्र गयी, वो भी मुझे आवाज़ देते हुए मेरे पीछे पीछे आ गई.

मे : पापा आपने मों पर हाथ उठाने की हिम्मत कैसे करी??

पापा : तुझे बताने की मुझे ज़रूरत करी.

मई एक दूं से गुस्से मे आ गया. मई पापा से हाथापाई करने के लिए आयेज बढ़ा लेकिन मों ने मेरा हाथ पकड़ लिया, बोला अंश ऐसा मत क्रो ग़लत है. मैने पापा को बोला आपको जो करना है क्रो लेकिन हमारी लाइफ मई बिल्कुल इंटर्फियर मत क्रो. अगली बार ऐसा हुआ तो सीधा पोलीस बुला लूँगा और जैल मई डलवा दूँगा. पोलीस की बात से वो तोड़ा दर्र गये और कहने लगे नही बेटा वो तो ऐसे ही हो गया.

मैने मों को कहा अब आप इनके साथ नही सोगे, अलग सोगे. इनका अपने बहोट किया है लेकिन इनको कदर नही है. आप के उपर कई बार हाथ उठा चुके है. अब मई बिल्कुल बर्दाश्त नही करूँगा.

मुझे जाड़ा गुस्से मई देख कर मों ने भी कह दिया ठीक है अंश. जैसा तू कहेगा मई वैसा ही करूँगी, लेकिन अब चल यहा से. हम दोनो दूस्र कमरे मई आ गये. मेरी आँख मई आँसू थे.

मे : मों मई आको खुश रखने के लिए कितना सब कर रहा हूँ. लेकिन इश्स आदमी ने सब खराब कर दिया. सॉरी मों.

मों : नही अंश इसमे तुमाहरी कोई ग़लती नही है.

इतना कह कर हम दोनो गले लग गये तो कुछ देर रेज़ ही रहे. अब मुझे कुछ कुछ अछा लग रहा था. मैने मों को सीधा किया और उनके सर को अपने दोनो हाथो से पकड़ लिया. उनके आँसू पॉच कर एक किस उनके माथे पर किया और एक एक किस गाल पर किया. मैने कहा इंटने फूल से सॉफ्ट चहरे पर कोई कैसे हाथ उठा सकता है.

मैने महॉल चेंज करने के लिए म्यूज़िक ओं किया टीवी पर और रोमॅंटिक स्लो सॉंग्स चला दिए. और एक हाथ आयेज करके मैने मों को डॅन्स करने का इशारा किया. मों म्ना करने लगी और कहा मुझे नही आता ह. मैने लेकिन उनका हाथ पकड़ कर धीरे धीरे उनको अपने पास लाया और कहा कोई बात नही मों, जैसा मई करता हूँ वैसे ही करते रहो.

मैने एक हाथ मई उनका एक हाथ लिया और दूसरा हाथ उनकी कमर मे डाल दिया. उनका एक हाथ अपने कंधे पर रख लिया. ऐसे ही डॅन्स करने लगे. हम एक दूसरे को देख रहे थे और स्लो डॅन्स कर रहे थे. मों ने धीमे आवाज़ मई पूछा.

मों : ये डॅन्स कहा से सीखा अंश?

मे : ऐसे ही टीवी पर देखा था. सोचा था गर्ल फ्रेंड के साथ करूँगा.

मों : फिर मेरे साथ क्यू?

मे: बस आइसे ही आपके साथ मुझे डॅन्स करने का मॅन किया. वैसे भी आपसे अछा तो कोई होगा ही नही मेरे लिए अब. आप मेरे लिए बहोट स्पेशल हो.

मों: तुम पूरे पागल हो अंश.

मों ने धीरे से मुस्कुरा दिया तब मैने उनको सीने से लगा लिया और ऐसे ही हम डॅन्स करते रहे.

मैने एक ही प्लेट म खाना लगाया और अपने हाथ से खाना खिलाना लगा जैसे एक छोटे बचे को खिलते है. आक्च्युयली अब मेरा मॅन अपनी मों को ऐसे प्यार करने का कर रहा था जैसे की एक छोटे बचे को करते है.

मों भी मॅन ही मॅन मुस्कुरा रही थी. मुझे भी अब सेम फीलिंग थी. बुत हम दोनो ने ही इश्स टॉपिक पर कुछ नही बोला. मैने बोला मों अब आप मेरे रूम मे ही सोगे, पापा के नही. उन्होने हन मे सर हिला दिया. बेहन ने भी हमारे डिसिशन को सपोर्ट किया.

रात मे खाना खा कर हम दोनो बेड पर आ गये. मों वैसे तो रात को मॅक्सी पहनती है लेकिन आज सलवार सूट मे ही थी. उनकी मॅक्सी थोड़ी मॉडर्न टाइप की है शायद इसलिए मेरे सामने उसको पहन क्र होने मे शरम आ रही थी.

उन्होने ब्लॅक सलवार सूट डाला हुआ था. नाइट बल्ब की रोशनी मई मों का जिस्म एकदम चाँद की तरह चमक रहा था. मों ने चुननी नही डाली थी जिसके कारण लेते हुए उनका क्लीवेज और भी उभर आया था. बाल बँधे हुए थे

मे: मों मई कितने सालो बाद आपके साथ सो रहा हूँ.

मों: हन अंश. जब तक तुम स्कूल मे थे तब तक मेरे साथ सोए हो मेरे हाथ पर अपना सर रख कर.

मे: मों आज भी आपके हाथ पर सर रख क्र सौंगा.

इससे फ्ले वो कुछ कहती मई उनका हाथ सीधा कर क्र लेट गया. अब मई और मों एक दूसरे की तरफ करवट लकर् लेते थे और एक दूसरे से बात क्र रहे थे. मैने अपने एक हाथ मों के हाथ पर रख दिया था. उनके गुलाबी होत एक दूं मेरे मूह के पास थे. बोलते वक़्त उनकी रेड झीभ मुझे आकर्षित कर रही थी. जिसको मों ने भी नोटीस कर लिया था.

मों: अब तुम्हारे लिए लड़की देखनी शुरू करें शादी के लिए??

मे: नो मों, बिल्कुल न्ही नही.

MओM : क्यू? कोई देख रखी है क्या?

मे: मों की आँखों मे देखते हुए कहा मैने की देख तो रखी है. बस उसको प्यार का इज़हार करना बाकी है.

मों: वो भी तुमको चाहती है? मों ने तोड़ा सीरीयस हो कर पूछा.

मे: शायद चाहती है. मुझे लगता है मई उसको म्ना लूँगा.

मों: वो देखने मई कैसी है. फोटो है तो दिखाओ.

मे: फोटो तो नही है. लेकिन हन वो देखने मे बिल्कुल आपकी परछाई है.

मों: अछा बचु…. मेरे गाल खीचते हुए. अब मुझे नींद आ रही है. मई सो जौन??

मे: मेरा मांं तो सारी रात बात करने का है. लेकिन आप कह रहे है तो जाओ जाइए.

मों ने हेस्ट हुए गुड नाइट कहा और दूसरी तरफ करवट ले ली. अब मों को मई पीछे से देख रहा था. मों बहोट सेक्सी लग रही थी. उनकी गार्डेन प्र किस करने को जी चाह रहा था. उनके हिप्स को टच क्रना चाहता था लेकिन हिम्मत नही हो रही थी. उनके पेर की टाइट सलवार और पतली सी पायल मुझे पागल कर रही थी.

मैने हिम्मत जुटाई और मों से कहा… मों क्या मई आपको हग करके के सो जौन? प्लेआस्ीई? मों ने कुछ देर सोचा और कहा हन करले. मई खुश हो गया और मों से चिपक गया और अपना एक हाथ मों के पेट पर रख दिया और दूसरा मों के सर के नीचे. मों ने भी अपना हाथ अपने पेट पर रख दिया मेरे हाथ के उपर. कुछ देर ऐसे ही मई फील करता रहा.

कुछ देर बाद मों सो गई, लेकिन मुझे नींद नही आ रही थी. मैने हल्के हल्के से मों की गार्डेन पर किस किया. उनकी खुसबु मुझे मदहोश कर रही थी. और एक हाथ से मई मों का पेट सहला रहा था. मैने बॉक्सर पहना हुआ था.

मैने धीरे धीरे अपना एक पाएर मों के दोनो परो के बीच मई डाल दिया और मा हा सूट मैने उनकी गांद से तोड़ा उपर खिसका दिया जिससे मेरा लंड मा की गांद मे एक दूं सेट हो गया. मों ने पनटी नही पहनी थी और सलवार भी पतली थी जिसकी वजह से उनकी गांद की दरार मुझे आचे से फील हो रही थी.

मई एक उंगली मों की नाभि मई अंदर बाहर करने लगा, जिसकी वजह से मों की नींद खुल गई. मों ने बिना हीले मुझसे कहा बेटा सो जेया. सुबह उतना है. मई भी अब बिना हीले ऐसे ही मों से चिपका रहा.

मैने सोचा मई अब मों के बिना नही रह पौँगा. मैने कल का एक प्लान बनाया जिसमे मों को मई बाहर ले जा कर सीधा सीधा अपने प्यार का इज़हार कर दूँगा. कल के बाद अब मेरी दुनिया ही बदलने वाली थी. या तो कल सब अछा हो जायगा या ये जो है वो भी चला जायगा. यही सोचते सोचते मई सो गया…

कल क्या हुआ ये मई आपको अगले पार्ट मई बतौँगा. आपके मेल्स मिले मुझे आपने काफ़ी अछा बताया स्टोरी को, थॅंक्स तो ऑल. किसी से प्यार क्रो और वो आपको मिल जाए तो दुनिया जन्नत लगने लगती है. इश्स पर आप अपनी राई मुझे ज़रूर दे. मेरी ईद है – अंश.शैलजा23@गमाल.कॉम आपके मैल का इंतज़ार रहेगा. थॅंक योउ.

यह कहानी भी पड़े  गन्ने के खेत में भाभी की चुदाई की रासलीला

error: Content is protected !!