मा के जन्मदिन पर बेटे के मज़े

ये स्टोरी व्हातसपप से बेडरूम तक सीरीस का 4त पार्ट हैं, अगर आप नये हैं, तो आपसे अनुरोध हैं की पहले के तीन पार्ट पढ़ लीजिए.

अब स्टोरी शुरू करते हैं…

मों को तो जैसे काटो तो खून नही. उसने क्या सोचा था, और क्या हो गया. उसका इरादा था की वो आज अपने हब्बी से मस्त चूड़ेगी, अपने बर्तडे को यादगार बनाएगी.

ऑफ कोर्स मों को आज का बर्तडे यादगार ही रहेगा, पर इस वजह से की आज वो किसी पराए लंड से चुड गयी थी. और मों को तो ये भी पता नही की उसे कौन छोड़ गया, उसे तो अनिल का चेहरा भी नही देखा.

अक्सर रीलेशन मे होता क्या हैं, की लड़का पहले लड़का का फेस देखती हैं, और बाद मे उसका लंड लेती हैं. पर यहा मों की सिचुयेशन में तो उल्टा हुआ, पहले लंड अंदर लिया गया, पर चेहरे का क्या, किसका लंड ले लिया मों ने आज?

बस, इसी लंड को एक चेहरा देने का प्लान था.

दोफर को 3:30 के करीब में घर आया तो मों कही नही दिखी,मैने कमरे मे देखा तो उनका बेडरूम अंदर से लॉक था.

मैने आवाज़ लगाई तो उसने कहा की उसका सिर दर्द कर रहा हैं और वो सो रही हैं, तो फिर मैने उसे डिस्टर्ब नही किया. शाम को पापा के आने के टाइम वो अपने रूम से बाहर आई, और नॉर्मल सा बिहेव करने लगी.

फिर हुँने मों को बर्तडे सर्प्राइज़ दिया. मों के चेहरे से कही भी शिकन नही दिखी.

मैने मॅन में बोला, वा मों क्या आक्टिंग करती हो. आज किसी अंजाने लंड से चूड़ने के बाद भी मों के चेहरे पर वोही खुशी और स्माइल थी.

हुँने बाहर होटेल मे जाकर मों का बर्तडे सेलेब्रेट किया. मों ने मस्त ग्रीन सारी पहनी थी, ब्लाउस भी मस्त बॅकलेस टाइप था, वो अपना बर्तडे फुल एंजाय कर रही थी.

वाहा होटेल में साइड में मिनी बार भी था, तो पापा तोड़ा सा ड्रिंक करने लगे. मों की नज़र उनकी बियर की बॉटल की तरफ ही थी.

मों भी कभी कबार बियर पीटी थी अपने फ्रेंड्स वगेरह के साथ पार्टी मे ये मुझे पता हैं, तो मैने मों को इशारा किया पर मों ने माना किया.

वैसे भी आज जो दोफर मों के साथ हुआ, उसके बाद तो उनका पेग मरने का हक़ तो बनता हैं. पापा भी अब नशे मे थे थोड़े से, और हम घर आगाय, और अपने अपने कमरे मे सोने चले गये.

मैने मों को व्हातसपप किया-

मे: ही मों, कैसा लगा आपका सर्प्राइज़?

मों: बहुत ही मस्त. थॅंक योउ आज के लिए.

मे: पर आज अभी ख़तम नही हुआ हैं, मों.

मों: क्या मतलब?

मे: अभी तो 11:30 बाज रहे हैं, और तुम्हारा बर्तडे ख़तम होने मे.

मों: क्या कहना चाहते हो तुम?

मे: पहले ये बताओ पापा सो गये क्या?

मों: हा, और अब मैं भी सोने जा रही हूँ.

मे: वेट, अभी तो तुम्हारा सेलेब्रेशन बाकी हैं. (और मैने मों को 2 बियर बॉटल और चेआप्स की फोटो भेजी जो मैने साथ मे लाई थी.)

मों: ये सब क्या हैं…?

मे: मों, मुझे पता हैं आज आपका मूड हैं इसका, मैने आपको रेस्टोरेंट मे देखा था पापा की बॉटल को घूरते हुए

मों: ह्म.

मों: क्या कहना चाहते हो तुम?

मे: पहले ये बताओ पापा सो गये क्या?

मों: हा, और अब मैं भी सोने जा रही हूँ.

मे: वेट, अभी तो तुम्हारा सेलेब्रेशन बाकी हैं. (और मैने मों को 2 बियर बॉटल और चेआप्स की फोटो भेजी जो मैने साथ मे लाई थी.)

मों: ये सब क्या हैं…?

मे: मों, मुझे पता हैं आज आपका मूड हैं इसका, मैने आपको रेस्टोरेंट मे देखा था पापा की बॉटल को घूरते हुए

मों: ह्म.

मों: ह्म.

मे: चलो मों, डॅन्स करते हैं.

मों: अभी, इस वक़्त. पागल हो गया हैं क्या.

मे: वैसे देखा जाए तो आप को इस ग्रीन सारी मे देखकर सभी रेस्टोरेंट मे पागल ही हो रहे थे.

मों: शूट उप.(चेहरे पे स्माइल आ गयी उसके) कुछ भी बकता रहता हैं.

मे: सच में मों. आज आप बहुत ही खूबसूरत लग रही हो. और ऐसी ब्यूटिफुल लेडी के साथ एक डॅन्स तो बनता हैं.

मों: (कुछ सोचने के बाद) ठीक हैं, पर जल्दी करना.

फिर मैने मों का हाथ पकड़ कर उन्हे वाहा एक कोने मे ले गया, जहा पे कोई ह्यूम बाजुवाला देख ना सके. मैने मोबाइल पे हल्की सी आवाज़ में म्यूज़िक चला दिया.

मों और मैं कपल डॅन्स करने लगे. हमारा एक हाथ एक दूसरे की बाहों मे था, और दूसरा कमर पर. मों को अब नशा सा चाड़ने लगा था.

मे: मों मैने तुम से झूठ बोला था की तुम इस सारी मैं खूबसूरत लग रही हो.

मों: मतलब?

मे: आज तुम सिर्फ़ खूबसूरत नही, बलके सेक्सी भी लग रही हो. (और मैने अपना हाथ मों के कंधे से हटके पीछे उसके गंद पे रखा)

मों: अब जाने भी दो, इस उमरा मे ये सब कहा.

मे: नो मों, आप अभी भी मस्त सेक्सी लगती हो, जो किसी भी यंग लड़की को टक्कर दे सकती हैं. और आज की ग्रीन सारी में तो आपका रूप मस्त निखार रहा हैं.

(मेरी नज़र मों के बूब्स पे थी, जोसे मों ने भी नोटीस किया)

मों: (तोड़ा गुस्सा हो कर) अब ऐसे बात करेगा तू अपनी मों से.

मे: मैं तो कब से तुम्हे अपनी वाइफ या गफ़ बनाने को रेडी हूँ, पर तुम ही नही मान रही. आज सुबह ही तुमसे किचन मे बात की थी मिया बीवी के खेल की. क्या हुआ उसका..?

मों: अभी कुछ सोचा नही मैने.

मे: तो जल्दी सोचो ना मों, बन जाओना मेरी पार्ट्नर. मज़ा आएगा इस खेल मे.

और मैने मों को टाइट्ली हग किया, जिससे मेरे डोना हाथ उसके पिछवाड़े पे थे, और उसके बूब्स मेरी छाती पे चुभ रहे थे, और मेरा खड़ा लंड भी मों को चुभ रहा होगा.

मों ने अपने आप को चुड़ते हुए चलने लगी, पर मैने उन्हे जाते हुए रोक कर पीछे से पकड़ लिया. अब मेरे हाथ मों के पेट और बूब्स के बीच मे रखे थे, और खड़ा लंड मों की गांद की दरारओ मे दबा हुआ था.

मों: अब चलो बेटा नीचे, बहुत रात हो चुकी हैं.

मे: रूको ना कुछ देर और. पूरे दिन तुम स्कूल और घरके काम मे बिज़ी रहती हो. ऐसे कभी वक़्त निकल के एंजाय भी किया करो. (और अपने दोनो हाथ उसके बूब्स पे रख कर सहलाने लगा)

मों: बस बेटा, (मेरे हाथो को हटते हुए) अब चलते हैं नीचे.

मे: ओक मों. पर आप उसके बारे मे सोचना ज़रूर जो मैने अभी कहा.

मों: ठीक हैं.

और हम, नीचे आकर अपने कमरे मे सो गये. मैने मों को अनिल बनकर व्हातसपप किया, पर उसका रिप्लाइ नही आया, मों ऑफलाइन दिखा रही थी. वो शायद सो चुकी थी.

मैने सोचा था की मों को बियर पिलाके टल्ली करके उसके साथ एंजाय करूँगा. उसको किस करूँगा, उसके बूब्स को चुसूंगा और मौका मिला तो उसे छत पे या अपने बेडरूम मे फक करूँगा.

लेकिन मेरे मान की मान मे ही रह गयी. मुझे लगा की मों का कोटा शायद 2 बियर से ज़्यादा का होगा, जिससे वो टल्ली नही हो पाई.

मों की आज की फोटोस देखी ग्रीन सारी मे, जिसमे वो मस्त सेक्शी लग रही थी. मैने आज सुबह की मों की चुदाई की फुल रेकॉर्डिंग वाली वीडियो चलाई, जिसमे मैं और मों पूरे दिख रहे थे. और वो वीडियो देखकर मैने अपने खड़े लंड को शांत किया.

उसके बाद जब मैं सोने के लिए बेड पे आया, तो दिमाग़ मे आइडियास आने लगे मों की चुदाई के लिए.

मों के बर्तडे के ठीक 6 दिन बाद मेरा बर्तडे था, तो मैने सोचा की ऐसा कुछ किया जाए, जिससे मुझे बर्तडे पे मों की छूट गिफ्ट मे मिले.

और इसके लिए सिर्फ़ अनिल और उसकी वीडियो का सहारा था, जो मुझे मों की छूट दिला सकती हैं.

आपको ये पार्ट कैसा लगा, कॉमेंट्स मे ज़रूर बताईएएगा.

अगला पार्ट जल्द ही उपलोआड होगा, जिसमे आप पढ़ेंगे मों को छोड़ने का 6 डेज़ का ग़मे प्लान.

यह कहानी भी पड़े  भारती दीदी की गांड में लंड

error: Content is protected !!