माँ चुदा के आऊँगी अब्बू

एक बार में तुझे कोई बात समझ में नहीं आती है भोषड़ी के अब्बू ? एक बार जब कह दिया कि मैं अपनी माँ चुदा के आऊंगी तो बहन चोद बार बार मेरी गांड में ऊँगली क्यों करते हो ? यहाँ मेरी बुर चुद रही है . मेरी माँ का भोषडा चुद रहा है और तू मादर चोद बार बार फोन करके डिस्टर्ब किये जा रहा है . एक बार की बात तू मानता क्यों नहीं है, अब्बू ? मैं जानती हूँ तू क्यों फोन कर रहा है ? तुझे तो शराब पीने के लिए पैसे चाहिए न ? तेरी गांड में तो दम है नहीं . तू मेरी कमाई और मेरी माँ की कमाई पर चल रहा है . अबकी बार अगर तेरा फोन आया तो मैं तेरी गांड में घुसेड़ दूँगी तेरा मोबाईल, बहन चोद ?

मैं कुछ देर बाद अपनी माँ के साथ घर पहुंची . मेरा अब्बू बैठा था . वह गुस्से में था .

वह बोला :- इतनी देर बाद आ रही है तू अपनी माँ चुदा के ?

मैंने जबाब दिया :- हां देर तो लगती ही है माँ चुदाने में . और फिर कोई एक तो था नहीं चोदने वाला . साले तीन तीन थे . मैंने भी चुदवाया और माँ ने भी ? तेरी गांड क्यों जलती है भोषड़ी के, अब्बू ?

वह बोला :- अब्बू से ऐसी बातें करते हुए तुझे शर्म नहीं आती ?

मैंने कहा :- अच्छा अब तू मुझे शर्म सिखाएगा . तू जब शराब पीकर नंगा हो जाता है और मेरे सामने अपना लौड़ा हिलाता है तब तुझे शर्म नहीं आती ? अपने दोस्तों के लण्ड मुझे पकड़ाता है तब तुझे शर्म नहीं आती ? अपने दोस्तों से अपनी बीवी और अपनी बेटी चुदवाता है तब तुझे शर्म नहीं आती मादर चोद ? अब तो न तेरे लण्ड में दम है और न तेरे दोस्तों के लण्ड में ? शराब पी पी कर तुम सबने अपने लण्ड सड़ा लिए है . ऐसे में मैं अपनी माँ नहीं चुदवाऊंगी तो क्या करूंगी ? मैं खुद नहीं चुदवाऊंगी तो क्या करूंगी ?

यह कहानी भी पड़े  मैं और मेरी सौतेली माँ

मेरा नाम है मिस सायरा २४ साल की हूँ मेरी माँ का नाम है मिसेज शहनाज़ वह ४४ साल की है . मैं पढ़ लिख कर एक अच्छी नौकरी करती हूँ . मेरी माँ भी एक प्राईमरी टीचर है . इसलिए हमें पैसों की कमी महसूस नहीं होती हां लण्ड की कमी जरुर महसूस होती थी .

जब से मैं जवान हुई और अपनी माँ चुदाने लगी तबसे मुझे लण्ड की कमी महसूस नहीं होती है .

एक दिन मेरे फोन आया . वह मेरी दोस्त फरीदा थी .

मैंने कहा :- हां फरीदा बोलो क्या हाल है ?

वह बोली :- हाल सब ठीक ठाक है . सुनो सायरा, तुम्हारा चुदाने का मन है तो फ़ौरन मेरे घर आ जाओ . और तुम तो अपनी माँ भी चुदवाती हो .उसे भी ले आना .आज बड़ा अच्छा मौका है माँ चुदाने का ? तेरी माँ का भोषडा भी बहुत खुश हो जायेगा समझी ? मैं भी तुम्हारे साथ चुदवा लूंगी . बड़ा मज़ा आएगा एक साथ चुदाने का ?

मैंने कहा :- हां जरुर चुदवाऊंगी मगर चोदने वाला कौन है ?

वह बोली :- देख सायरा तू तो जानती है की मेरा अब्बू दुबई में रहता है . वह आजकल यहाँ आया हुआ है अपने दो दोस्तों के साथ . वे दोनों अरबी है . बड़े हैंडसम है दोनों . लम्बे चौड़े गोरे चिट्टे मैं समझती हूँ की उनके लौड़े भी बड़े बड़े होंगे . वे लोग इंडियन लड़की चोदना चाहते है . एक तो मैं हो गयी एक तुम हो जाओ और एक तेरी माँ . बड़ा मज़ा आयेगा .

मैंने कहा :- क्यों तेरी माँ कहाँ गयी है ?

वह बोली :- मेरी अम्मी, बुर चोदी अपने माईके अपने यारों से चुदवाने गयी है . बोलो कब आओगी ?

यह कहानी भी पड़े  सगे भाई ने चोद चोदकर मेरी बुर फाड़ दी और भरपूर मजा दिया

मैंने कहा :- तो तेरा अब्बू क्या कहेगा बहन चोद ?

वह बोली :- अरे वह भी भोषड़ी वाला चोदेगा न ? मैं तो अब्बू से भी चुदवाती हूँ . देख उधर तीन लण्ड होंगे इधर तीन चूत ? खूब मज़ा आएगा लण्ड बदल बदल कर चुदाने में ?

मैंने कहा :- ठीक है मैं आती हूँ . मैं अपनी माँ के साथ फरीदा के घर पहुँच गयी . उसने हमारा खैरमकदम किया .और अब्दे अदब से बैठाया . इतने में उसका अब्बू आ गया . मैं उसे पहचानती थी . मैं बोली आदाब

अंकल बोला :- अरे सायरा तुम तो बड़ी खूबसूरत हो गयी हो . बला की जवानी आ गयी है तुझ पर . और शहनाज़ भाभी तुम्हारी जवानी तो अभी भी कायम है . बड़ी हसींन लग रही हो तुम ?

अम्मी बोली :- अब्बास मियां जब तक तेरे जैसे मर्द मेरे साथ रहेंगे तब तक मेरी जवान कायम रहेगी .

अंकल बोला :- भाभी मेरे साथ दो दोस्त आये है मैं तुको उनसे मिलवाती हूँ . उसने अपने दोस्तों को बुलाया और फिर कहा भाभी यह है अली खान और यह है बालू खान . दोनों शेख के लड़के है . इन्हे इंडिया कि लड़कियां बहुत पसंद है . भाभी बताओ तुम्हे मेरे दोस्त पसंद आये कि नहीं ?

Pages: 1 2 3 4

error: Content is protected !!