कहानी जिसमे लड़की ने हॉस्टिल में देखा लेज़्बीयन सेक्स

हेलो फ्रेंड्स, थॅंक योउ आपने इतना प्यार दिया और मुझे मेल्स भेजी. ये स्टोरी की रिक्वेस्ट मेरे सूपर फन ने की है, जो की चाहते थे की मैं अपना पहला लेज़्बीयन एनकाउंटर बतौ. आशा करती हू आपको पसंद आए. और हा, अगर कम निकल आए, तो मैल ज़रूर करना.

ये स्टोरी मेरी म्बा की है, जब मैं दूसरे शहर गयी थी. मुझे मालूम था की उस कॉलेज में रॅगिंग होती थी. मैने काई बार नेट पर भी पढ़ा था. पर मैने सोचा की गांद मरवाने से ज़्यादा और क्या हो सकता था. और सिर्फ़ 1 साल की बात थी, और फिर तो मैं ही सीनियर बन जौंगी.

ये सब मेरे दिमाग़ में चल रहा था. फिर मैने हॉस्टिल में एंट्री की रूम नंबर 3सी में, और मुझे रूम मिला रोशनी के साथ.

रोशनी को हॉस्टिल में आए हुए 3 दिन हो गये थे. सो मैने सोचा क्यूँ ना उससे दोस्ती ही कर लू कैसे भी. क्यूंकी वो मेरी रूमेट थी, तो अगर मैं रात भर बाहर जौ, तो वो ही वॉरद्र्न को मॅनेज करेगी. और इस तरह मैने उससे दोस्ती कर ली.

रात का समय था. डिन्नर करने मैं और रोशनी मेस गये थे. उसने मुझे बताया-

रोशनी: अगर कोई सीनियर हेलो बोले, तो तुम अपना साइज़ बताना ये ही रूल है.

मैने कहा: अगर नही बताया तो?

रोशनी हेस्ट हुए बोली: नही बताया तो वो खुद ही पता कर लेंगे.

मैने पूछा: वो कैसे?

तो उसने बोला: नंगा करके.

मैने सोचा वो झूठ भोल रही थी, की उतने में एक आवाज़ आई-

आवाज़: ओये रोशनी हेलो.

रोशनी तुरंत खड़ी हुई और कहा: 32-30-30. जिस लड़की ने हेलो बोला था, उसके साथ 3 और लड़कियाँ थी.

फिर किसी एक ने कहा: रोशनी तेरी चूची है भी या नही?

रोशनी ने अपना चेहरा नीचे झुका लिया, और वो तीनो चली गयी.

मैने कहा: अर्रे ऐसा कैसे बोल सकते है किसी को?

उसने कहा: तुम रश्मि दीदी से पंगा मत लो. वो बहुत गंदी है. मैने सुनना है, की 3आ में एक लड़की है जिसने की रश्मि की कंप्लेंट करी थी. रश्मि ने उसको इतना परेशन किया की आख़िर में उस लड़की ने रश्मि से माफी माँगी. पर रश्मि ने माफ़ करने के लिए शर्त रखी.

मैने पूछा: क्या शर्त?

रोशनी शरमाते हुए बोली: रश्मि दीदी की छूट को चाट के पानी निकालना था.

मैने पहली बार ऐसा सुना था. पॉर्न में देखा तो काई बार था, पर ऐसे रियल में कभी सुना नही.

सॅटर्डे नाइट को डिन्नर करके मैं और रोशनी रूम में आए. आके देखा की रश्मि दीदी रूम में थी. रोशनी ने जैसे ही दीदी को देखा वो घुटने के बाल बैठ गयी, और मेरी तरफ इशारा करके बोलने लगी की मैं भी बैठ जौ.

फिर मैं भी बैठ गयी. रश्मि दीदी बेड से उठी और रोशनी के पास आई और बोली-

रश्मि दीदी: 2 दिन से रूम में क्यूँ नही आ रही हो तुम?

रोशनी: सॉरी मैं भूल गयी थी दीदी.

रश्मि: भूल गयी थी, या इसके साथ कर रही थी?

मे: ये क्या बोल रही है?

रोशनी: आस्था प्लीज़ चुप रहो. उनको गुस्सा आ गया तो जानती हो ना?

रश्मि: तेरा नाम आस्था ही है ना 34-32-36?

मे (शॉक हो गयी रश्मि को कैसे पता चला): हा, सही बोला आपने.

रश्मि दीदी: अछा ठीक है, तुम चली जाओ. मुझे रोशनी से बात करनी है.

मे: अगर आपको बात करनी है, तो आप जाओ. मैं क्यूँ जौ अपने रूम से?

ये सुन कर रश्मि मेरे पास आई और रोशनी से कहा: कुछ सिखाया नही इसको?

रोशनी: दीदी बताने ही वाली थी सॉरी वो कुछ.

रश्मि: चुप, आस्था वो चेर में बैठ जाओ. रोशनी अपने कपड़े उतारो.

रोशनी ने अपने कपड़े खोल दिए, और रश्मि ने नीचे का सब खोल दिया.

रश्मि: कैसे लग रहा है आस्था?

मे: बहुत अजीब, मुझे बाहर जाना है, नही तो मैं कंप्लेंट कर दूँगी.

रश्मि: रोशनी ने बताया नही की कंप्लेंट करने से क्या होता?

मे: हा पता है क्या होता है. पर मैं 3आ वाली लड़की नही हू जो दर्र जौ.

रश्मि: हाहहाहा, तो रोशनी ने ये बताया?

मे: तुम्हे जो करना है करो. मैं नही डरती तुमसे.

और मैं रूम से जाने लगी.

रश्मि: चले जाना, पर सच तो सुन के जाओ.

मे: क्या सच?

रश्मि (रोशनी से बोली): अब सच बोलेगी की नही, या गांद में डिल्डो डालु तेरे?

रोशनी: वो 3आ वाली लड़की नही 3सी वाली लड़की है. मैं हू जिसने कंप्लेंट की, और अब हर फ्राइडे-सॅटर्डे मुझे दीदी की छूट चाटनी पड़ती है.

रश्मि: सुन लिया क्या सच है?

रश्मि ने रोशनी को इशारा किया, और रोशनी ने रश्मि दीदी की छूट चाटनी शुरू कर दी. ये सब देख मैं वही बैठ गयी. रश्मि दीदी ने कहा: चुप रहो, और देखो तेरी लेज़्बीयन रूमेट को.

अब रोशनी ने रश्मि दीदी की छूट को किस किया, और रश्मि बेड पे गिर गयी. उसने अपनी दोनो टाँगो को उपर करके रोशनी को छूट चाटने का न्योता दे दिया.

रोशनी ने अपना जीभ निकली, और गांद से छूट तक चाट डाला. रश्मि अपने बूब्स को दबा रही थी, और मोन कर रही थी. रोशनी उसकी गांद के च्छेद को जीभ से गोल-गोल चाटने लगी, और रश्मि की छूट को उंगली करने लगी.

ये सब देख मुझे यकीन हो गया था, की रोशनी सच में लेज़्बीयन थी. अब वो रश्मि दीदी का छूट चाट रही थी, ऐसे जैसे की कोई लड़का छूट चाट-ता है. रश्मि की छूट से पानी आ गया था.

तभी रोशनी ने अपने बेड के नीचे से बाग निकाला, जिसमे एक लाल कलर का डिल्डो था. फिर रोशनी ने डिल्डो को थूक लगाई, और रश्मि की छूट में घुसा दिया, और बहुत ज़ोर-ज़ोर से डिल्डो से उसको छोड़ने लगी.

कुछ देर बाद रोशनी ने अपनी छूट रश्मि के मूह में रखी, और रश्मि एक पागल कुट्टी की तरह रोशनी की छूट को चाटने लगी. ये सब देख मुझसे रहा नही गया, और मैं अपनी छूट में उंगली करने लगी.

अब रोशनी नीचे थी और रश्मि ने डिल्डो रोशनी के छूट में डाल के छोड़ना शुरू किया.

रोशनी: अया अया छूट में से पानी आ रहा है, अया डॉन’त स्टॉप प्लीज़.

पर ज़ालिम रश्मि ने डिल्डो निकाल के फेंक दिया और अपनी छूट को रोशनी की छूट के साथ रगड़ने लगी. उन दोनो ने एक साथ पानी छ्चोढ़ दिया, और मेरी तरफ देखा.

मैं शॉक हो गयी क्यूंकी उनकी चुदाई देख के मैने अपने कपड़े खोल दिए थे, और उस डिल्डो को छूट में डाल के चुड रही थी. फिर हम तीनो हास्से.

अगले पार्ट में बतौँगी की कैसे हम तीनो ने सेक्स किया. आपकी मेल्स का इंतेज़ार रहेगा.

यह कहानी भी पड़े  लेज़्बीयन लड़कियों का वेटर के साथ थ्रीसम


error: Content is protected !!