कहानी जिसमे लड़की मज़ाक करते हुए लड़के से चुद गयी

मेरी एक कज़िन सिस्टर है, जिसका नाम अफ्रीं है. वो अभी 1स्ट्रीट एअर में है. उसी के साथ उसकी बेस्टफ्र्ीएंड एलीना भी है. वो दोनो एक ही कॉलेज और एक ही टुटीओन में पढ़ाई करती है. एलीना बहुत ही क्यूट गर्ल है, और बहुत ही खूबसूरत भी, जिसको कोई भी अपनी वाइफ बनाने के लिए ज़ोर लगा देगा.

तो ज़्यादा देर ना करते हुए मैं आप को स्टोरी पर लेकर आता हू. दरअसल बात नवेंबर 2022 की है, जब मैं फ्री-फिरे खेल रहा था. और तभी अचानक मेरे मेसेंजर में एक मेसेज आया एलीना ख़ान नाम की ई’द से. उसमे कोई और ड्प थी, पर मुझे मेसेज आया तो मैने नॉर्मल रिप्लाइ किया.

शी: ही.

मे: हेलो.

शी: कैसे है आप?

मे: मैं ठीक हू, पर आप है कों?

शी: मैं एलीना

मे: मैने आपको पहचाना नही.

शी: मैं आपकी सिस्टर हू. आप ने मुझे नही पहचाना?

फिर मैने कहा: मेरे हिसाब से एलीना नाम की कोई भी लड़की मेरे रिलेटिव्स में नही है, तो फिर मैं कैसे पहचानू?

पर वो ज़िद पर आदि रही की वो मेरी रिश्तेदार है.

मैने भी उसको कहा: ठीक है. तो आप प्रूव करो की कैसे आप मेरी रिश्तेदार हो?

तभी उसने बगैर देरी किए मेरे बहुत सारे रिलेटिव्स के नाम बता दिए. इससे मैं चौंक गया.

तब मैने कहा: आप मुझे क्लियर करो की आप किस की बेटी हो? और मुझे सस्पेनस में मत रखो.

फिर उसने हेस्ट करते हुए कहा: मैं आपकी आंटी की बेटी अफ्रीं की फ्रेंड हू. इसलिए आपके बारे में आचे से जानती हू. और आपने मुझे देखा होगा. आपको भी मैने काई बार देखा है आपके मामा के बेटे की शादी में, जो हॉवरह में जिनकी शादी हुई थी.

उसने कहा की मेरे बारे में बहुत तारीफ करती थी मेरी कज़िन. तो उसने मुझे रिक्वेस्ट सेंड की, और दो वीक पहले मैने आक्सेप्ट की थी. फिर उसने मुझे अपनी पिक सेंड की, जिसे देख कर मैं भी पहचान गया की उसको मैने कहा देखा था.

फिर हम लोग रोज़ बातें करते थे. नॉर्मल ही बात होती थी. ज़्यादातर पढ़ाई लिखाई के बारे में पूच लेता था. क्यूंकी वो मेरी कज़िन की दोस्त थी इसलिए भी मैं उससे फ्रेंड जैसे बात नही कर पता था.

पर वो मुझे छेड़ने में कोई कसर नही छ्चोढती थी. एक दिन की बात है. उस दिन सनडे की शाम थी. मैं हर सनडे की तरह क्रिकेट खेल कर, आके फ्रेश हो कर टीवी देख रहा था. तभी एलीना का मेसेज आया, और मैने उससे बात करना शुरू कर दिया. और फिर मैने उससे बातों-बातों में पूछा-

मे: आज कहा का प्लान था?

शी: प्लान, कों सा प्लान?

मे: मतलब आज छुट्टी थी. तो कही घूमने नही गयी?

तो उसने नीरस हो कर कहा: अम्मी अकेले जाने नही देती कही.

फिर मैने कहा: तो अम्मी पापा के साथ क्यूँ नही जाती?

तो वो बोली: वो लोग कम ही कही जाते है. बस जब कोई एमर्जेन्सी हो, तो बाहर चले जाते है.

फिर मैने पूछा: बाय्फ्रेंड के साथ चली जया करो.

तो उसने हेस्ट हुए जवाब दिया: मुझे मारना नही है, जो बाय्फ्रेंड बनौँगी. अगर मेरे घर में पता चल जाएगा, तो जान ले लेंगे मेरे घर वाले.

ये सुन कर मैं चुप हो गया.

फिर उसने कहा: आप तो आज गर्लफ्रेंड से मिल कर आए है लगता है.

मैने कहा: मेरी गर्लफ्रेंड नही है.

तो वो बोली: क्यूँ नही है?

मैने बोला: किसी को मैं पसंद अवँगा आपको लगता है?

तो वो बोली: मुझे तो आप बहुत पसंद हो. मेरा बस चले तो मैं आपसे शादी कर लू.

ये सुन कर मुझे एक झटका सा फील हुआ, और ये सुन कर मैं बोला-

मे: तो बन जाओ मेरी गर्लफ्रेंड.

वो बोली मस्ती में: ओक डन, आज से मैं आपकी गर्लफ्रेंड, और आप मेरे बाय्फ्रेंड हो. जो मैं कहूँगी, वो आप करोगे.

तो मैने कहा: रहने दो-रहने दो, वरना तुम्हारे मा-डाप मुझे दौड़ा देंगे.

ये सुन कर वो हासणे लगी. पर मुझे ये फील होने लगा की उसने इशारे में मुझे पाटने की कोशिश की थी. और फिर मैं उसकी तरफ ध्यान देने लगा.

अब वो मुझसे मस्ती तो बात-बात में करती थी. और ये बात होने के बाद वो रोज़ मुझे डार्लिंग बोलने लगी. मैं माना भी करता था की कही तुम्हारे घर वाले पढ़ लिए, तो वो मुझे सच का बाय्फ्रेंड समझ कर तुम्हे ग़लत समझेंगे. पर वो मानती नही थी.

हम लोग अब एक-दूं क्लोज़ हो चुके थे. पर मैं उससे फ्रेंड जैसा ही बिहेव करता था. लेकिन मॅन ही मॅन उसके लिए अलग सी फीलिंग आने लगी थी.

एक दिन की बात है. उसने मुझसे कहा: कल मैं कॉलेज नही जौंगी.

मैने पूछा: क्यूँ?

तो वो बोली: मेरी एक फ्रेंड है. वो अपने बाय्फ्रेंड के साथ कही डटे के लिए कॉलेज बंक करेगी. और आपकी कज़िन की तबीयत खराब है, इसलिए वो भी नही जाएगी कॉलेज. और कल कॉलेज से जल्दी छुट्टी भी हो जाएगी, क्यूंकी अब हम लोगों को कुछ दिन में पूरी चुट्टिया हो जाएँगी आन्यूयल एग्ज़ॅम की तायारी के लिए.

तो मैने कहा: फिर मत जाना. अछा है घर रह कर तायारी करो.

फिर वो बोली: मेरा मॅन था बाहर घूमने का. साथ अगर आपकी कज़िन होती तो मैं इन लोगों की डटे में जाती. ये लोग अलग हो जाते, और हम लोग घूमते. पर वो नही जाएगी इसलिए मुझे भी अब बोर होना होगा. वैसे आप चाहो तो ये बोर्डम डोर हो सकता है.

मैने पूछा: कैसे?

वो बोली: क्यूँ ना आप मेरे साथ चलो मेरे बाय्फ्रेंड बन कर.

मैं बोला: पागल हो? फ़ासस गयी तो?

वो बोली: नही फ़ससेंगे. सुबा 9 बजे मुझे घर से निकलना होता है, और 10 बजे तक कॉलेज. फिर 4:30 कॉलेज से छुट्टी होती है, और 5 बजे टुटीओन. और फिर वाहा से निकल कर 8 बजे तक सेकेंड टुटीओन करके 8:30 तक घर आती हू. मातब मेरे हाथ में 12 घंटे के आस-पास वक़्त मिलेगा. प्लीज़ आप मुझे माना मत करो.

मैने बोला: अगर तुम नही फ़ासोगी, तो मुझे कोई प्राब्लम नही है. पर फाइनल रिपोर्ट मैं 10 बजे रात में दूँगा.

वो मान गयी, और फिर रात में जब छत होती थी, उस वक़्त बात करते हुए मैं अग्री हो गया.

मैने उससे कहा: ठीक है, कल हम लोग घूमने जाएँगे.

ये सुन कर उसने मुझे किस वाली एमोजी सेंड की, और बोली: तो अपनी गर्लफ्रेंड को कल कहा डटे के लिए ले जाओगे?

मैने कहा: जहा आपकी फ्रेंड लोग जाए.

उसने कहा: नही, घूमना मुझे है, और घूमना आपको है. तो आप डिसाइड कीजिए. और सेफ जगह चुनिएगा जहा मुझे कोई नही देख सके.

ये सुन कर मेरे मॅन में एक करेंट सा दौड़ा की कुछ ऐसा करू की एलीना के साथ कल मेरा सेक्स हो जाए. पर दर्र था, क्यूंकी हम लोग बस मस्ती में गर्लफ्रेंड-बाय्फ्रेंड थे. और हक़ीक़त में हम फ्रेंड्स थे.

फिर मैने कोलकाता के कुछ पार्का का नाम लिया, जो ख़ास कर कपल्स के लिए ही होते है, जिसमे बटॅनिकल गार्डेन, नेचर पार्क, और रबिनदर सोरॉबारे पार्क थे.

तब उसने कहा: रबिनदर सोरॉबार चलते है.

मैं खुश हो गया, और दूसरे दिन सुबा होते ही मैं वेट करने लगा उसके कॉलेज के कुछ डोर हट कर उबेर ले कर. फिर अपने वक़्त के हिसाब से वो आ गयी, और हम लोग निकल गये पार्क के लिए.

पार्क में जाते ही हमने तोड़ा घूमा, और पिक्स क्लिक की. और फिर हम एक ट्री के बगल में बेंच पर बैठ गये. वाहा कुछ आयेज एक ट्री थी, जहा एक कपल पहले से ही था.

तोड़ा डीप होने के कारण वो लोग काफ़ी सेफ थे. उतने डीप में अगर वो लोग सेक्स भी करते, तो कोई नही समझ पाएगा. हम लोग बैठ कर बातें कर रहे थे. वो मुझसे इधर-उधर की बातें कर रही थी, और मैं कपल की तरफ देख रहा था.

वो एक गर्लफ्रेंड की तरह मुझसे सतत गयी, और मेरे बदन में आग सी लगनी लगी. उसी वक़्त वो दोनो कपल भी किस कर रहे थे, जिसे देख कर मेरा खड़ा होने लगा. तभी उसकी भी नज़र उस कपल पर पद गयी, तो उसने कहा-

शी: तो आप वाहा देख रहे है. और आपकी गर्लफ्रेंड आपके बगल में है, फिर भी आपका मुझमे कोई ध्यान नही. चलिए फिर घर चलते है.

तभी मैने उससे कहा: बाय्फ्रेंड गर्लफ्रेंड हम लोग बस मस्ती के लिए है. पर वो लोग रियल के है.

फिर मैने उसको मानते हुए, उससे बात करते-करते उसको आँखें बंद करने को कहा. और उसने अपनी आँखें बंद कर ली. फिर जैसे ही वो आँखें बंद करती है, मैं उसको झपट्टा मार कर उसको किस करने लगा.

पहले तो वो कुछ समझ नही पाई, और मुझसे छ्छूटने की कोशिश करने लगी. पर कुछ देर बाद उसने शांत हो कर मुझस किस करने दी. आँखें उसने बंद ही रखी. फिर मैं उससे अलग हुआ, और सॉरी बोल कर पीछे हट गया.

उसके बाद उसने आँखें खोल कर एक स्माइल दी, और सर झुका कर बैठ गयी. कुछ देर हम लोग एक:दूं खामोश थे. फिर अचानक से मैं देखता हू की वो मुझे पकड़ कर किस करने लगती है, और मेरे होंठो को काटने लगती है.

अब किया था. काफ़ी देर तक हम लोग एक-दूसरे को किस करते रहे, कभी गले पर, तो कभी ज़ुबान को चूस्टे. मेरा लंड बिल्कुल पंत से बाहर आने की माँग कर रहा था. तभी उसकी नज़र मेरी पंत पर पड़ी, और उसने पूछा-

शी: ये उठा हुआ क्या है?

मैने बोला: समझ लीजिए, की ये आपकी मेहरबानी है.

वो समझदार थी, इसलिए समझ गयी.

फिर वो बोली: मुझे देखना है इसको.

मैने मौके का फ़ायदा उठाते हुए उसको खुद खोल कर देखने को कहा. फिर वो खुद मेरी पंत खोल कर मेरे रोड जैसे लंड को अपने हाथ से पकड़ लेती है. उसकी आँखें ये बोल रही थी, की अब उसको वो चाहिए था.

फिर मैने उसको कहा: आज क्यूँ ना हम एक हो जाए?

तो वो बोली: ऐसे खुले में कैसे?

मैने कहा: मेरे फ्लॅट में.

उसने बोला: पर मैं प्रेग्नेंट ना हो जौ.

मैने उसको कॉंडम के बारे में बताया.

वो बोली: ठीक है, तब घर चलते है.

दिन के 1:30 बाज रहे थे. मैने उबेर बुक की, और पार्क के बाहर से एक बॉक्स कॉनडम्स का खरीदा. हम उबेर से घर आ गये. उस वक़्त 3 बाज चुके थे, और रास्ते ने हम लोग खाना खा चुके थे.

रूम में घुसते ही वो मुझ पर टूट पड़ी, और मैं अभी डोर लॉक ही कर रहा था. वो मुझे पागलों की तरह किस कर रही थी. मैने उसको खुद से हटाया, और डोर को बंद करके उसको हग करके दीवार में सत्ता लिया. फिर मैं उसको किस करने लगा, और उसके कपड़े खोलने लगा.

देखते ही देखते हम दोनो ने एक-दूसरे को नंगा कर दिया. फिर मैने उसको गोद में उठा कर अपने बेड पर ला कर लिटा दिया, और उस पर चढ़ कर उसके दूध के निपल्स पर किस करने लगा. मैं निपल्स मूह में डाल कर चूसने लगा. जिससे उसके निपल्स लाल हो गये.

फिर मैने उसको अपने लंड को चूसने को कहा. वो पहले माना करने लगी, लेकिन फिर उसने खुद ही अपने से मेरा लंड चूसना शुरू किया. ऐसा लग रहा था, मानो जैसे कोई आइस क्रीम को चूस रहा हो.

फिर मैने उसको लेटने को कहा, और मैं उस पर 69 पोज़िशन पर आ गया. उसके बाद मैने उसके मूह में अपना लंड डाल दिया, और उसकी छूट को चूसने लगा. उसकी छूट चारो तरफ उसका पानी निकालने की वजह से नमकीन हो गयी थी. और उसको चूसने में मज़ा आ रहा था.

मैं छूट के अंदर अपनी ज़ुबान डाल रहा था, और उसके मूह में लंड अंदर-बाहर कर रहा था. और वो मज़ा ले रही थी. कुछ देर बाद मैं उसके मूह में ही झाड़ गया, और उसने भी अपना रस्स छ्चोढ़ दिया. हम दोनो एक-दूसरे के रस्स को पी गये, पर उसको अभी लंड डलवाना था.

उसने ज़्यादा देर ना करते हुए मेरे लंड को दोबारा चूस-चूस कर खड़ा करना शुरू कर दिया. चाँद ही मिंटो में मैं फिरसे एक-दूं रेडी हो गया, और उसको बिस्तेर पर लिटा दिया. मैं दोनो पावं खोल कर उसकी छूट को अपने लंड से सहलाने लगा.

तब उसने मुझे कॉंडम के लिए बोला. मैने जल्दी से कॉंडम को लगा कर उसकी छूट के मूह पर अपना लंड सेट किया, और आहिस्ते-आहिस्ते अंदर डालने लगा. इससे मेरे लंड का कुछ हिस्सा अंदर गया, और मेरी समझ में आ गया की वो वर्जिन नही थी.

वो अपनी आँखें बंद करके मज़ा ले रही थी, और मैने एक झटके में उसकी छूट की जड़ तक अपना लंड उतार दिया. इससे उसको तोड़ा दर्द हुआ, पर वो सील टूटने का दर्द नही था. उसके बाद मैं उसको छोड़ने लगा.

मेरा हर झटका उसकी छूट की जड़ तक जेया रहा था, और वो आँखें बंद करके मेरे हर झटके को अपने अंदर फील कर रही थी. मेरा झटका इतना ज़ोरदार था, की वो लेते-लेते ही उपर की तरफ खिसक जेया रही थी. उसको बहुत मज़ा आ रहा था, और पुर रूम में अया अया अया की आवाज़ गूँज रही थी.

तभी वो अचानक से बदन को अकदाते हुए मेरी कमर को ज़ोर से पकड़ कर झाड़ गयी. लेकिन मेरा अभी बाकी था झड़ना. मैं उसको उसके झड़ने के 7 मिनिट बाद तक बेरेहमी से छोड़ता रहा, और फिर झाड़ गया. हमारी चुदाई के बाद शाम हो गयी थी, और हम दोनो काफ़ी खुश थे.

उसके बाद हम दोनो नहाने गये, और वाहा भी मैने खड़े-खड़े एलीना को छोड़ा. फिर मैं उसको उसके घर के कुछ पहले तक छ्चोढ़ कर आया, और रात में उससे बात की. उसने मुझे थॅंक्स बोला, और मैने उसके वर्जिन ना होने की वजह पूछी.

ये बात मुझे उसने खुल कर बताई, की वो वर्जिन क्यूँ नही थी. और वो मैं आपको नेक्स्ट कहानी में बतौँगा. मैं आपको ये भी बतौँगा, की अब तक कैसे-कैसे हम लोग सेक्स किए. तब तक के लिए बाइ.

यह कहानी भी पड़े  पड़ोस की आंटी की खेतो में चुदाई की कहानी


error: Content is protected !!