लड़की को गफ़ बनने के लिए देना पड़ा टेस्ट

ही दोस्तों, तो ये मेरी पहली कहानी है, जिसमे मैने अपनी कॉलेज की एक दोस्त के साथ सेक्स किया था. मेरा नाम राहुल है, और मैं गुजरात का रहने वाला हू. मैं दिखने में अछा हू, और बॉडी भी है थोड़ी. मेरा लंड का साइज़ 7 इंच है. चलिए अब सीधा कहानी पे आते है.

मैं कॉलेज के फर्स्ट एअर में था, और शुरू के दीनो में ही मेरे क्लास में काफ़ी दोस्त बन गये थे, जिनमे लड़के और लड़कियाँ भी थी. हम नये-नये कॉलेज में गये थे, और हमारा कॉलेज ठीक-ताक था. तो वाहा पढ़ने वाले सभी बच्चे तो पैसे वाले नही थे.

लेकिन हमारे पास पैसों की कोई कमी नही थी. मेरी पॉकेट मनी भी अची थी बाकी के बच्चो के मुक़ाबले. कॉलेज में मेरी क्लास में एक लड़की थी, जो पैसे वाले लड़कों के पीछे भागती थी. तो ऐसे ही एक दिन उसका मुझे इंस्टाग्राम पे मेसेज आया. उसका नाम प्रिया था.

प्रिया: ही राहुल, ई आम प्रिया. हम कॉलेज में एक ही क्लास में है.

( मैं प्रिया को जानता था )

मे: ओ ही प्रिया, मैं जानता हू तुम्हे. बोलो?

प्रिया: राहुल तुमसे एक बात करनी थी.

मे: हा बोलो ना, क्या काम था?

प्रिया: नही काम तो नही है कुछ. लेकिन सिर्फ़ बात करनी थी.

मे: हा तो बोलो ना.

प्रिया: वो…

मे: अब बोलो भी यार, इतना क्या शरमाना?

प्रिया: अभी नही, कल कॉलेज में मिलते है क्लास में. तब कहूँगी.

मे: ठीक है, जैसा तुम्हे ठीक लगे.

प्रिया: थॅंक योउ.

मे: अर्रे उसमे थॅंक योउ की क्या बात है?

प्रिया: वो तो बस यू ही.

मे: ठीक है, चलो बाइ. अब मुझे सोना है. गुड नाइट.

प्रिया: ओक गुड नाइट, बाइ-बाइ.

फिर अगले दिन कॉलेज में वो मेरे पास आई, और मुझे कहा-

प्रिया: राहुल, वो कल वाली बात करनी थी.

तो मैं भी उसके साथ चला गया. हम क्लास के बाहर जाके अकेले में भीड़ से डोर खड़े रहे.

फिर उसने मुझसे कहा: मुझे तुम्हारे साथ फ्रेंडशिप करनी है.

मैं उसके बारे में जानता था, की वो मेरी दोस्त मेरे पैसों के लिए बनना चाहती थी.

मे: हा तो उसमे पूछने की क्या बात है? प्रिया वो तो हम है ही.

प्रिया: मेरा मतलब दोस्ती से आयेज.

मे: दोस्ती से आयेज, पर क्या?

प्रिया: मैं तुम्हारी गर्लफ्रेंड.

मे: पर यार उसके लिए तुम्हे मुझे टेस्ट देना पड़ेगा. क्या तुम तैयार हो? तो तुम बन सकती हो मेरी गर्लफ्रेंड?

प्रिया: कैसा टेस्ट?

मे: वो तुम आज कॉलेज के ख़तम होते ही मुझे मिलो. फिर मैं बताता हू.

प्रिया: ठीक है राहुल, तुम्हारे लिए कुछ भी.

फिर जब कॉलेज ख़तम होने के बाद उसने मुझसे फोन करके बोला की वो कॉलेज के गाते पर मेरा इंतेज़ार कर रही थी, मैं उसको वाहा से पिक करके सीधा होटेल में ले गया.

मैने होटेल में रूम पहले ही ले लिया था. वाहा जाते ही उसने मुझे पूछा.

प्रिया: राहुल अब तो बताओ, क्या टेस्ट है?

मे: बताता हू. देखो इस टेस्ट में 5 रौंद होंगे. सभी में तुम्हे 10 में से पायंट्स दूँगा. अगर तुम्हारे पास 5 रौंद ख़तम होने तक 45 पायंट्स या उससे ज़्यादा होंगे, तो तुम मेरी गर्लफ्रेंड बन सकती हो.

प्रिया: हा ठीक है. लेकिन मुझे करना क्या है?

मे: तुमको बस मेरा साथ देना है. तुम खुद समझ जाओगी. बोलो तैयार हो?

प्रिया: हा राहुल, मैं तैयार हू. तुम जो बोलॉगे, वो करूँगी.

मे: ठीक है, अब मुकर मत जाना.

प्रिया: हा मैं तैयार हू. तुम मेरा टेस्ट ले सकते हो.

प्रिया ने जैसे ही हा बोला. मैं उसके पास गया. फिर मैं रौंद 1 बोल के उसको किस करने लगा. पहले तो उसने मेरा साथ नही दिया. तो मैने उसको कहा-

मे: सोच लो, अगर ये टेस्ट डोगी, और तुम्हारे पास 45 पायंट्स होंगे, तभी तुम मेरी गर्लफ्रेंड बनोगी.

उसने थोड़ी देर तक कुछ हरकत नही की. फिर अचानक मेरे पास आके मुझे किस करने लगी. मैने उसको करीब 10 मिनिट तक किस किया. उसके होंठो को मैने चूसा और काटा.

फिर मैने उसको कहा: तुम्हे मैं इस वाले रौंद में 9 पायंट्स देता हू.

क्यूंकी मुझे बहुत मज़ा आया था उसके होतो का रस्स पीने में.

अब मैने उससे कहा: अब दूसरा रौंद शरु करते है.

उसने हा में सर हिला दिया, और मैने उसके बूब्स दबाना चालू कर दिया. उसके बूब्स मीडियम साइज़ के थे. मैं पहले तो उसकी त-शर्ट के उपर से दबा रहा था. उससे वो भी गरम होने लगी.

फिर मैने अपना एक हाथ उसकी त-शर्ट में डाला, और त-शर्ट निकाल दी. और फिर मैने उसकी ब्रा को भी निकाल दिया. क्या लग रही थी वो, मैं बता नही सकता. पर मैने थोड़ी देर बूब्स दबाने के बाद एक बूब को अपने मूह में ले लिया, और उसके निपल पे दाँत मारने लगा और चूसने लगा.

फिर 5 मिनिट बाद मैने दूसरे बूब को चूसा. उसके बूब्स मीडियम थे, तो मैं उनको अपने मूह में ले-ले कर चूस्टा और काट-ता. इससे उसकी हल्की सी चीख निकल जाती.

फिर ऐसे ही मैने उसके बूब्स से थोड़ी देर खेलने के बाद उसको ये वाले रौंद में 10 में से 10 दिए. क्यूंकी मुझे उसके निपल को और बूब्स को काटने में बहुत मज़ा आया. अब उसके पास टोटल 19 पायंट्स थे.

फिर मैने उसको कहा: अब रौंद 3.

और मैने उसको बेड पे लिटा दिया, और उसके बाद उसकी जाँघ पे हाथ फेरते-फेरते उसकी जीन्स पंत के बटन खोल दिए. और फिर मैने उसकी जीन्स को नीचे उतार दिया.नॅब वो सिर्फ़ पनटी में थी.

मैने अपना हाथ उसकी पनटी पे रख के फेरना चालू किया, और वो अब बहुत ही गरम हो गयी थी. मैने ऐसे ही 2-3 मिनिट्स तक किया. फिर उसकी पनटी भी उतार दी. अब वो पूरी नंगी हो गयी थी.

उसको नंगी देख के मुझे अछा भी लगा, और तोड़ा मूड भी खराब हुआ. क्यूंकी उसने अपने झाँते नही काटी थी.

मे: क्या तुम इन्हे कट नही करती हो?

प्रिया: वो काट-ती तो हू, लेकिन क्या है ना, मैं काफ़ी टाइम से सिंगल हू. तो मैने ज़्यादा ध्यान नही दिया, और तुमने भी तो मुझे कहा बताया था. तुम तो मुझे ऐसे ही यहा ले आए.

मे: ठीक है, कोई बात नही. वासे रंडी पहले कितनो से चूड़ी हो?

प्रिया: मैं कोई रंडी नही हू. मैं पहले सिर्फ़ 3 लोगों से चूड़ी हू. वो भी 10-12 बार हुआ होगा टोटल. और उनसे मैं प्यार करती थी इसलिए.

मे: वाह रे रंडी. इतनी सारी बार चुड चुकी है, और कहती है रंडी नही है.

इतना कह कर मैने अपनी एक उंगली उसकी छूट में घुसेध दी ज़ोर से और अचानक से हुई इस हरकत से वो चिल्ला उठी-

प्रिया: अयाया मॅर गयी.

मे: बस क्या लोदी, इतना ही दूं था? ( उंगली तो अंदर-बाहर करते-करते मैने पूछा)

प्रिया: नही वैसी बात नही है. तुमने अचानक से उंगली डाली, इसलिए अब नही होगा. और मैं तो तुम्हारा भी पूरा लेलू, फिर भी चीख ना निकले.

मे: वाह रे लोदी, रंडी, अभी बोल रही थी की रंडी नही है. अब बोल रही है मेरा पूरा ले लेगी, और फिर भी चीखेगी नही. चूतिया औरत.

और इतना कह के मैने एक साथ दो और उंगलिया अंदर डाल दी, जिससे वो फिरसे छिला उठी-

प्रिया: आहह मादरचोड़ फटत गयी आहह.

प्रिया: बस अब बस करो, मेरी फटत गयी, कुछ और करो प्लीज़ अब. उंगली बाहर निकाल लो. ई आम सॉरी.

मे ( हेस्ट हुए): तू है तो रंडी, लेकिन अभी कक़ची है भोंसड़ी वाली.

अब आयेज क्या-क्या हुआ, और कैसे हुआ. मैने टेस्ट को ख़तम किया. टेस्ट का क्या रिज़ल्ट आया. वो मेरी गर्लफ्रेंड बनी या नही, आयेज की कहानी में बताता हू.

दूसरा पार्ट जल्दी ही आएगा. कहानी कैसी लगी ज़रूर बताना.

यह कहानी भी पड़े  चाची को पटा के चोदा - 2


error: Content is protected !!