लड़के ने ऑफीस कोलीग को चुदाई के लिए तैयार किया

नमस्ते दोस्तों, लंड के सोल्जर्स आंड छूट की रानियों का स्वागत है. अब चलिए चलते है स्टोरी में.

अब अनिता और मैं बहुत क्लोज़ हो चुके थे. रेग्युलर्ली बाहर जाना, शॉपिंग, डेटिंग, मूवीस आंड लोंग राइड एक साथ ही जाते थे. अनिता भी अब मुझे खुल के सब शेर करती थी. अब मुझे भी इतनी लिबर्टी हो गयी थी, की अब मैं अनिता की कमर भी पकड़ लेता था, और वो भी मुझे कुछ नही कहती थी.

एक दिन हम फिरसे बीच में बैठे थे एक-दूसरे का हाथ पकड़ के. अनिता के थाइस को फील करते हुए मैं जान-बूझ के मेरे हाथ को उसके बूब्स से टच कर रहा था. शाएेद उसे भी पता था आंड उसे अछा लग रहा था.

फिर मैं धीरे से अनिता के बूब्स को सहलाने लगा, आंड वो भी समुंदर को देख के मज़ा ले रही थी. मैं दूसरे हाथ से अनिता की कमर को पकड़ के दबा रहा था. अनिता का सब कुछ इतना सॉफ्ट-सॉफ्ट फील कर पा रहा था, आंड मेरा लंड अपनी पूरी फॉर्म में खड़ा था.

अब अनिता भी मज़े लर रही थी. उसकी आइज़ क्लोज़ थी आंड वो लिप्स को बीते कर रही थी. अब मैं भी समझ चुका था की उसे अछा लग रहा था. तो मैने अब खुल के अनिता का बूब्स को दोनो हाथो से दबाना शुरू किया. उतने में अनिता ने कहा-

अनिता: राज, ये क्या कर रहे हो?

मैं: तुम ही बोलो मैं क्या कर रहा हू?

अनिता: यहा नही प्लीज़, कोई देख लेगा.

मैं: कोई नही देखेगा. सब कपल्स ही है बीच में, और सब यही कर रहे है.

अनिता: प्लीज़ ना राज, स्टॉप.

मैं: क्यूँ, योउ दो नोट लीके?

अनिता ने कुछ जवाब नही दिया आंड उसकी आँखें बंद थी. वो आहह आहह की आवाज़ निकाल रही थी. अब मैने अनिता के लिप्स पे अपने लिप्स रखे, आंड किस करना शुरू किया. जैसे ही हम दोनो के लिप्स एक-दूसरे से टच हुए, अनिता फुल ओं मेरे उपर पागलों की जैसे टूट पड़ी. मैं भी पुर जोश में अनिता को किस कर रहा था. मैं उसके बूब्स को भी दबा रहा था. लगभग 15 मिनिट के किस के बाद अनिता बोली-

अनिता: राज, अब छ्चोढो मुझे. कोई देख लेगा.

मैं: इतनी खूबसूरत लड़की को कों छ्चोढेगा मेरे जान?

अनिता: मुझे कुछ-कुछ हो रहा है राज.

राज: तो होने दो ना अनिता. क्यूँ रोक रही हो? तुम्हे भी अछा लग रहा है ना?

अनिता: ह्म.

वो पुर नशे में थी, आंड मैं पागलों की तरह उसके बूब्स को दबा रहा था, आंड नेक पे, गाल पे किस करे जेया रहा था. तभी अनिता का फोन बाज गया. फिर हम दोनो एक-दूं से अलग हुए. अनिता ने अपना फोन पिक किया, जो की उनकी मों का था. वो पूच रही थी कब घर आओगी.

अनिता: मों बस आने लगी हू. राज छ्चोढो, चलते है.

मैं: अनिता और थोड़ी देर रूको ना.

अनिता: नही, आज के लिए इतना ही. मुझे भी कुछ अजीब सा हो रहा है.

मैं: ठीक है, चलो फिर.

फिर हम दोनो निकल गये अपने-अपने घर की और. फिर रात को मैने अनिता को मेसेज किया-

मैं: ही डियर.

अनिता: ही.

मैं: क्या कर रही हो?

अनिता: कुछ नही, बस सोच रही थी.

मैं: क्या सोच रही हो?

अनिता: आज बीच पर जो हुआ वही.

मैं: क्यूँ तुम्हे अछा नही लगा?

अनिता: नोट लीके तट राज. बस एक अजीब सी फीलिंग थी.

मैं: तुम्हे अची लगी की नही वो अजीब सी फीलिंग?

अनिता: ह्म अची लगी.

मैं: मुझे भी अची लगी.

अनिता: बुत.

मैं: बुत क्या?

अनिता: ई आम नोट शुवर इफ़ वी कॅन क्रॉस और बॉर्डर्स.

मैं: क्यूँ, योउ दो नोट लीके मे?

अनिता: इट’स नोट लीके तट. ई लीके योउ. इसलिए ई आम वेरी मच क्लोज़ वित योउ.

मैं: फिर क्या प्राब्लम है?

अनिता : ई’म स्केर्ड ऑफ रिलेशन्षिप.

मैं: समझ गया. लेकिन हम दोनो में एक-दूसरे के लिए फीलिंग्स है. उन्हे रोकना क्यूँ?

अनिता: मुझे ब्रेकप का दर्र है. और हमारा आगे गॅप भी है.

मैं: अब इसमे आगे का क्या है?

अनिता: बुत मुझे ये शादी सब नही करना है.

मैं: ओक, ईवन ई आम ऑल्सो नोट इंट्रेस्टेड इन मॅरेज. हम आयेज बढ़ सकते है फ्लो के साथ.

अनिता: ह्म, देखते है. चलो कल मिलते है.

मैं: ओक बाइ.

फिर दूसरे दिन सॅटर्डे हमारा वीकेंड था, तो हम दोनो ने प्लान किया था लोंग ड्राइव टुवर्ड्स एक्र. हम एक बिके में लोंग ड्राइव के लिए निकल गये. अनिता ड्राइव कर रही थी, और मैं पीछे बैठा था. मैं जान-बूझ के अनिता की कमर आंड बूम को आचे से सहला रहा था.

फिर अनिता बोली: क्या कर रहे हो? कोई देख लेगा.

मैं: देखने दो, मैं अपनी गफ़ के साथ मज़ा कर रहा हू.

अनिता: मज़ा पब्लिक प्लेस में नही करते. मैं बिके राइड कर रही हू आंड तुम्हारे टच से मुझे कुछ हो रहा है.

मैं: अछा है ना, होने दो.

अनिता: प्लीज़ यार स्टॉप इट.

मैं: ओक, अछा सुनो यार, बहुत गर्मी है आज. क्यूँ ना आज तुम मेरे घर चलो. मोविए देखेंगे साथ में.

अनिता: इरादा क्या है?

मैं: बस टुमरे साथ गुड टाइम स्पेंड करना है.

अनिता: तुम्हारे रूम में आज कोई नही है?

मैं: नही, मेरा कज़िन अपने नेटिव प्लेस गया है.

अनिता: ओक चलते है.

फिर मैं और अनिता मेरे रूम के लिए निकल गये. जैसे ही अनिता मेरे रूम के अंदर आई, मैने तुरंत डोर को लॉक किया, आंड अनिता को पीछे से हग किया.

अनिता: क्या कर रहे हो राज? मेहमान का वेलकम ऐसे करते हो क्या?

मैं: सब का नही, बस तुम्हारा स्वागत ऐसे करना है हमेशा.

अनिता: अछा पानी दो मुझे.

फिर मैं किचन से पानी लेके अनिता को दिया आंड अनिता हमारे बॅचलर रूम को आचे से देख रही थी. जैसे ही वो मेरे बेडरूम के अंदर गयी, तब मैने अनिता को फिरसे कस्स के हग करके लिप्स पे किस करना स्टार्ट कर दिया. हम दोनो पागलों की तरह एक-दूसरे को किस कर रहे थे.

फिर मैने अनिता का टॉप खोल दिया. अनिता ने एक सेक्सी ब्लॅक कलर की ब्रा पहनी थी. मैं अनिता को नेक पे किस करते-करते ब्रा के उपर भी किस कर रहा था. मैं उसकी हॉट बूम को मेरे लंड से दबा के और भी मज़ा ले रहा था. अनिता भी मुझे सब जगह पागलों की तरह किस कर रही थी. फिर उसने मेरी त-शर्ट उतार फेंकी.

अब मुझसे और नही रहा गया. मैने अनिता के सारे कपड़े उतार दिए आंड खुद भी न्यूड हो गया. मेरा लंड अनिता के जिस्म को फील कर रहा था, आंड मैं अनिता को ज़ोर से पकड़ के उसके बूम में स्लॅप कर रहा था.

मैं: उम्म जान, तुम कितनी हॉट आंड सेक्सी हो. कसम से आज में तुम्हे पूरा खा जौंगा.

अनिता: राज, खा जाओ ना. मैं पूरी तुम्हारी हू आज.

मैं: बोल साली, बनेगी ना मेरी रंडी हमेशा के लिए.

अनिता: जानू, मैं तो आपकी ही रंडी हू. खा जाओ पूरा.

अब मैं अनिता के बूब्स को अपने मूह में लेके पूरा चूज़ रहा था, आंड उसकी पिंकी पुसी को भी सहला रहा था. अनिता अब पूरी तरह आउट ऑफ कंट्रोल हो गयी थी. मैने अनिता को बेड में लिटा दिया, आंड उपर से नीचे तक पूरा किस करे जेया रहा था.

फिर मैने अनिता को उल्टा लिटा दिया, आंड उसके सेक्सी बूम को किस कर रहा था. मैने उसकी गांद के होल में उंगली डाल दी, जिससे अनिता उछाल गयी और बोली-

अनिता: राज नही, गांद में नही प्लीज़.

मैं: चुप साली, तुम बस लेती रहो. जो करना है मैं करूँगा.

अनिता: राज, अब रहा नही जाता. प्लीज़ डाल दो ना मेरी छूट में.

मैं: मेरी जान, सब करेंगे. पहले मेरा लंड चूस.

अनिता: जान, मैने कभी ऐसा नही किया है.

मैं: तो अब कर साली.

और मैने मेरा लंड उसके मूह में डाल दिया. पहले तो वो नखरे कर रही थी. फिर मस्ती में चूसने लगी, और मैं भी साइड से अनिता के बूब्स को पिंच कर रही थी. बहुत मस्त बूब्स आंड बूम है अनिता का. अनिता मस्ती से मेरा लंड चूस रही थी, और मुझे भी मज़ा आ रहा था.

मैं: मेरी रंडी, साली कुटिया, आहह हा मस्त चूस्टी है तू. कब से मैं तुझे छोड़ना चाह रहा था कुटिया. आहह आ आ.

अब नेक्स्ट पार्ट स्टोरी मैं और भी डीटेल्स में बोलूँगा की कैसे मैने अनिता को तडपा-तडपा के छोड़ा. तब तक ऑल आंटीस आंड हॉट गर्ल्स से रिक्वेस्ट है की प्लीज़ गूगले छत पे मेसेज करे

यह कहानी भी पड़े  बॉस की चूत का भोंसड़ा बनाने की स्टोरी


error: Content is protected !!