लड़के ने अपनी गफ़ और उसकी बहन को चोदा

हेलो फ्रेंड्स, ये मेरी पहली कहानी. मैं बहुत दीनो से सेक्स स्टोरीस फॉलो करता हू, और रोज़ रात को एक बार कोई स्टोरी पढ़ कर हिला लेता हू. मैं राँची (झारखंड) का रहने वाला हू.

मेरे हाइट 5’8″ है, स्लिम बॉडी है, गोरा हू और सबसे डिमॅंडिंग मेरा लंड है, जो 8″ का है. मेरा लंड मोटा है, और जिस भी लड़की ने इसका मज़ा लिया है, वो कभी भूलती नही है. और हमेशा इसको अपने अंदर लेना चाहती है.

चलिए तो कहानी पर आते है. मेरी गफ़ और मैं 2.5 साल से रीलेशन में थे. हमारा रीलेशन सेट था, और सब हमारे बीच आज तक मस्त था. चुदाई तो हमारी हर दिन की एक बार पक्की थी. उसको मेरा चूसने में और डॉगी स्टाइल में लेने में बहुत ज़्यादा मज़ा आता था.

एक दिन हमारी केफे जेया कर ड्रिंक करने की बात हुई, और उसने कहा की उसने अपने एक कज़िन जो राँची में ही एक प्ग में रहती थी, उसको इन्वाइट किया था.

मैने हा बोल दिया. मैने उसकी बेहन को कभी देखा नही था. फिर हम जब केफे पहुँचे, तो आधे घंटे बाद उसकी बेहन आई. तब तक मैं 1 बियर डाउन था.

मैने स्लिम फिट शर्ट पहनी थी, और मेरे 4 बटन खुले हुए थे. मेरी चेस्ट क्लीन शेव्ड थी, और मैं गॉगल्स पहन कर उसको नोटीस कर रहा था.

कुछ देर तक उसने मुझसे उतना इंटरक्ट नही किया, नॉर्मल ही-हेलो हुआ और फिर वो भी ड्रिंक करने लगी. 2 बॉटल बियर के बाद मेरी गफ़ और उसकी बेहन दोनो टिप्सी हो गये. मेरी गफ़ वॉशरूम गयी. मैं सुत्ता पी रहा था. तभी उसकी बेहन ने मुझसे कहा-

उसकी बेहन: एक मुझे भी देना.

और सिगरेट लेकर वो पीने लगी और मेरे सामने बैठ गयी.

मैने नोटीस की वो मेरी चेस्ट को बार-बार देख रही थी, और उसको ये नही पता था की मैं उसको ही देख रहा था. उस लड़की का फिगर 34-30-30 था. उसके बूब्स बड़े गोल से थे, और निपल तो इतने पायंटिंग थे की कोई भी देखे तो खा जाए उसे.

उसने टाइट क्रॉप टॉप और हाइ वेस्ट जीन्स पहनी हुई थी, और उसकी गांद पूरी कर्वी और हॉट दिख रही थी. जब वो चलती थी, हाए उसके बूब्स बाउन्स करते थे, और गांद मटक कर लड़कों को पागल कर देते थे.

5 बॉटल बियर के बाद मेरी हवस जाग गयी थी, और प्लान ये था की केफे के बाद मैं और मेरी गफ़ मेरे घर जेया कर अपनी हवस को शांत करेंगे. तभी मेरे गफ़ ने अपनी बेहन को मेरे घर चलने को कहा. मेरी तो जैसे किस्मत खुल गयी, क्यूंकी मैं और मेरी गफ़ नेबर्स थे.

उसने मुझसे पूछा की मुझे कोई दिक्कत तो नही. मैने भी नॉर्मल आक्ट करते हुए कहा-

मैं: हमारे प्लान का क्या होगा?

उसने कहा: आज मैं अपनी बेहन के सामने ही तुम्हारा लंड ले लूँगी.

मैने ठेके से 4 बियर बॉटल और ले ली, और हम घर आ गये. मेरी गफ़ नशे में हिलने लगी थी कार में बैठते वक़्त, और मैने ये देख लिया था. मैं समझ गया था, की अब मेरी गफ़ का हो गया था, और वो घर जाके सो जाएगी.

रास्ते में उसकी बेहन पीछे बैठी थी, और कंटिन्यूवस्ली मुझे ही देख रही थी. मैं समझ गया था की आज मेरा समान 2 जगह घुसेगा.

फिर हम घर पहुँचे, और मेरे गफ़ और उसकी बेहन एक-दूसरे के हाथ पकड़ कर मेरे फ्लॅट में आ गये. मैं जॉब करता था, और अपना घर था, इसलिए अपार्टमेंट में किसी को कोई दिक्कत नही थी मेरे लड़की लाने से.

फिर हम लोग तीनो मेरी बाल्कनी में बैठ कर ड्रिंक करने लगे, और मेरी गफ़ पूरी आउट हो गयी. उसने कहा की वो वॉशरूम जेया रही थी, और अपनी बेहन के सामने मुझे स्मूच करके चली गयी.

उसकी बेहन हमे देख रही थी, और चुदाई की चुल उसकी आँखों में दिख रही थी. किस करते वक़्त मेरे नज़र उसी पर थी, क्यूंकी मेरी गफ़ आउट थी नशे में, और उसने आँखें बंद की हुई थी.

तभी उसकी बेहन ने एक स्माइल पास की, और मुझे कन्फर्म हो गया की आज मुझे 2 छूट मिलने वाली थी. मेरी गफ़ वॉशरूम गयी, और तभी मैने उससे पूछा की वो क्या देख रही थी.

उसने कहा: किस तुम बहुत अछा करते हो. काश मेरा ब्फ भी यहा होता, तो मैं भी उसको करती.

मैने मज़ाक में उससे कहा: कोई नही, मैं तेरी विश पूरी कर देता हू.

उसने कुछ रिप्लाइ नही किया लेकिन स्माइल दी. अंधेरा होना स्टार्ट हो गया था, और रोड पर से लाइट कम हो रही थी. तभी मेरी गफ़ ने आवाज़ दी. क्यूंकी वो पुर नशे में थी, तो उसने मुझे बुलाया था.

मैं गया और उसने मुझे वॉशरूम में खींच लिया और मुझे जानवर की तरह किस करने लगी. मेरे अंदर भी आग लगी थी, और मैं भी पूरा उसके मूह में घुस गया.

किस करते-करते उसने मेरी पंत खोली, और मेरे लोड को चूसने लगी. मेरी गफ़ ब्लोवजोब बहुत ज़्यादा मस्त देती है. नशे में तो और भी ज़्यादा मस्त देती है. 15 मिनिट चूसने के बाद मैने उसको उपर उठाया, दीवार से सताया, और पनटी फाड़ दी उसकी और डॉगी स्टाइल में मैने अपना लंड उसके अंदर डाल दिया.

मेहनत तो जाम कर की थी मैने उसकी छूट पर. मेरा लंड पूरा एक बार में ही अंदर चला गया, और बातरूम में से चुदाई की आवाज़ आनी चालू हो गयी थी. मेरी गफ़ को पीने के बाद रफ सेक्स बहुत पसंद था. उसने मोन करना चालू कर दिया, और मैं उसके बाल खींच कर उसको पेले जेया रहा था.

नशे में मैं भी था, तो मेरा झड़ने में टाइम लग रहा था. दोनो चुदाई में डूबे पड़े थे, और बातरूम का डोर सिर्फ़ सट्टाया था लॉक नही लगा था.

मेरा ध्यान सिर्फ़ दरवाज़े पर था, और जो मैं चाहता था वही हुआ. मेरी गफ़ की बेहन बाहर से हमारा आक्षन देख रही थी, और मैने जान कर अपना लंड 5 सेकेंड के लिए बाहर निकाला, ताकि उसको और चुल्ल मचे, और वैसा ही हुआ.

25 मिनिट रफ चुदाई के बाद मैं अपनी गफ़ की गांद पर झाड़ गया. मैने अपनी गफ़ को अपने दूसरे रूम में सुला दिया, और कहा की आधे घंटे में उठा दूँगा. उसको बियर का नशा और चुदाई की थकान दोनो थे, तो वो चुप-छाप सो गयी.

मैं बॉक्सर में आ गया और स्लीव्ले त-शर्ट पहन कर उसकी पनटी लेकर बाल्कनी में उसकी बेहन के पास गया, और ऐसा आक्ट किया, जैसे मुझे नही पता थी की उसने मज़े ले लिए थे हमे देख कर. फिर जैसे ही मैं पहुँचा, उसने मुझसे पूछा की मेरे हाथ में क्या था.

मैने हेस्ट हुए कहा: रुमाल है क्यूँ?

वो बोली: ब्लॅक कलर का रुमाल? मैने कभी नही देखा.

मैने बोला: ये एक ऐसा रुमाल है, जो बाहर नही अंदर ही रहता है.

और हम हासणे लगे.

फिर मैं जान कर उसके सामने बैठ गया. मेरा लंड बॉक्सर में पोले जैसा खड़ा था, और उसकी बेहन की नज़र मेरे लोड पर ही थी. फिर मैने हिम्मत करके टॉंट मारा-

मैं: अछा है ना?

उसने पूछा: क्या?

मैने बोला: जो तुम देख रही हो?

उसने स्माइल की और कुछ बोली नही. फिर मैने हिम्मत करके बॉक्सर उतार दिए. अब मेरा लंड और ज़्यादा खड़ा हो गया था. उसकी बेहन पहले अंदर गयी, और मेरी गफ़ को देख कर आई. जब उसको कन्फर्म हो गया की मेरे गफ़ नींद में थी, तो वो मेरे पास आई और सीधा स्मूच करने लगी.

पागलों की तरह हम बाल्कनी में स्मूच करने लगे. फिर उसने एक हाथ से मेरा लंड पकड़ लिया और हिलने लगी. मैने भी अपने हाथो को बिज़ी रखा.

मैने अपना लेफ्ट हाथ उसके टॉप में पीछे से घुसा कर उसकी ब्रा खोल दी, और रिघ्त हाथ जीन्स के अंदर डाल कर उसकी छूट को फिंगरिंग करने लगा. वो अब पागल हो गयी थी.

उसने कहा की उसका ब्फ सीधा छोड़ देता है और एक ही बार झाड़ कर सो जाता है, और इससे उसकी प्यास नही पूरी होती है. फिर मैने उससे कहा-

मैं: अब से ये लंड तेरा है, जब और जहा चाहिए होगा बुला लेना. तेरी छूट का भोंसड़ा बना देगा मेरा शेर.

ऐसे ही करते-करते मैं उसको अपने रूम के बाहर ले आया जहा मेरी गफ़ सोई थी, और लाइट ऑफ कर दी, ताकि मेरी गफ़ अगर उठे, तो उसको पता ना चले.

उसकी बेहन उससे भी प्रो थी. वो पूरा लंड मेरा अंदर तक चूस रही थी, और थूक कर गीला कर रही थी. वो मेरी बॉल्स को लॉलिपोप की तरह छाते जेया रही थी.

10 मीं चुसवाने के बाद जब मेरी हवस चरम सीमा पर थी, मैने उसको घुमाया, और डॉगी स्टाइल पोज़िशन में खड़ा कर दिया. उसकी छूट टाइट थी, क्यूंकी उसके ब्फ का लंड छ्होटा और पतला था, और क्यूंकी वो 3 महीने से चूड़ी नही थी. मेरा लंड उसकी थूक से इतना गीला हो गया था, की स्लिप कर रहा था.

मैने उसकी छूट में अपने लोड को सेट किया, और एक धक्का मारा. पूरा लंड उसके अंदर. उसकी बेहन स्क्वाट्स मार्टी थी, तो पूरी गांद शेप में थी और कर्वी थी. मेरा लंड पूरा खुश था, और नयी छूट का पूरा आनंद ले रहा था.

25 मिनिट उसको छोड़ने के बाद मैने बोला: मैं झड़ने वाला हू.

उसने मुझसे कहा: इतने दिन बाद ले रही हू, पूरा अंदर डाल दे.

और मैने वैसा ही किया. मैं उसके अंदर पूरा झाड़ गया. बाकी माल जो लगा था उसने उसको चूस कर पूरा सॉफ कर दिया. उसके बाद हमने कपड़े पहन लिए, और मेरी गफ़ को उठाने गये. वो उठी और बोली-

गफ़: टाइम हो गया है घर जाने का.

उसकी बेहन बाहर सिगरेट पीने चली गयी. मैने अपनी गफ़ को स्मूच किया, और उसने फिरसे लंड चूसना चालू कर दिया. वो बोली, की उसको एक बार और करना था. मेरी फटत कर हाथ में आ गयी थी. मैं बॅक तो बॅक 1 घंटे से छोड़ रहा था.

खैर मैने मिशनरी पोज़िशन में उसको लिटाया, दोनो पैर उसके अपनी चेस्ट पर रखे, और पूरा अंदर तक उसकी छूट को मार रहा था, और ग-स्पॉट टच कर रहा था.

वो पागलों जैसे चिल्ला रही थी, लेकिन मैं नही रुक रहा था, और मैं उसके अंदर ही झाड़ गया. क्यूंकी हमारा रोज़ का एक बार का था, तो उसने कहा की 2 दिन प्रॉपर ठुकाई करू उसकी.

फिर वो दोनो मेरे गफ़ के घर गयी, और मैं अपने बेड पर लेट गया. उसकी बेहन का मेसेज आया की ‘आज जो हुआ, वो हमेशा होता रहना चाहिए’. मैने उसको किस वाला एमोजी भेजा, और कहा-

मैं: तेरा जब मॅन करे ले लेना, तेरा ही है.

और अब तक मैने उसको कम से कम 20 बार छोड़ा होगा, और मेरे गफ़ को इस बात का एहसास भी नही है.

तो ये थी मेरी पहले कहानी. उम्मीद है आप लोगों को पसंद आएगी. जैसे की बाकी रीडर्स लिखते है, किसी भी फीमेल को सॅटिस्फॅक्षन चाहिए, देन कॉंटॅक्ट मे अट स्टोंनेर0308@गमाल.कॉम

थॅंक योउ!

यह कहानी भी पड़े  गर्लफ्रेंड रूबी की कुँवारी चूत


error: Content is protected !!