लड़के ने अपने भाई और मा की चुदाई देखी

मेरा नाम सन्नी है, और उमर 23 है. मेरे भैया के नाम विकाश है, और उमर 27 है. मेरी मम्मी का नाम सविता देवी है, जो 45 की है. मम्मी देखे में किसी रंडी जैसी लगती है. उनके दूध बहुत बड़े है, और गांद भी बड़ी है. पापा छ्होटे बिज़्नेसमॅन है.

मेरे भैया बहुत हरामी टाइप के है. बहुत लड़की-बाज़ी करते है. 2 बार भैया मम्मी की दोस्त के साथ चुदाई किए थे, और मम्मी ने सब देखा था.

तब से मम्मी और भैया के बीच बहुत गाली में बात होती है, जैसे भैया मम्मी को रंडी, कुट्टया, छिनाल हरमज़ड़ी, ये सब बोलते है. मम्मी भी भैया को हरामी, रंडा, मदारचोड़, बहनचोड़, ये सब गालिया देती है. मैं सीधा-सादा लड़का था, और ज़्यादा कुछ बोलता नही था. अब स्टोरी पे आता हू.

मम्मी को दोस्त की बेटी की शादी में राँची जाना था, और वो वही दोस्त थी, जिनको भैया छोड़े थे. और मम्मी बहुत गुस्सा थी.

शाम को मम्मी बोली: बेटा तुम कल सुबा जल्दी उठ जाना. 5 बजे निकलना है हम लोगों को.

मैं बोला: ठीक है मम्मी.

मम्मी (भैया को): हरामी तू भी रेडी हो जाना.

भैया: हा छिनाल, कुटिया, पहले तुम हो जाना. तुझे बहुत टाइम लगता है रंडी बनने में.

मम्मी (गुस्से में भैया को ज़ोर से थप्पड़ मारा और बोली): मदारचोड़!

और अंदर चली गयी.

भैया: साली रंडी, कल तुझे अपने लंड पे बिताना है.

और भैया अंदर अपने रूम में चले गये.

मैने सोचा वो लोग ऐसे गाली में क्यू बात करते थे. पहले तो बात नही करते थे. कुछ 3 एअर से भैया और मम्मी ऐसे बात करते थे. मैं कुछ नही बोलता था, और पापा भी कुछ नही बोलते थे उन लोगों को.

नेक्स्ट दे:-

मम्मी मेरे रूम में आई टवल में और बोली: बेटा चलो उठो. मैने नहा लिया है, तुम भी आ के नहा लो.

मैं: ओक मम्मी.

और मैं चला गया. वाहा मैने देखा, की भैया मम्मी की ब्रा पे लंड रग़ाद रहे थे.

मैं गया और बोला: भैया क्या कर रहे हो?

भैया: कुछ नही मदारचोड़.

और वो अपने रूम में चले गये. मैं ये सब इग्नोर करके नहाने लगा और कपड़े पहनने लगा. तभी देखा मम्मी भैया पे गुस्सा कर रही थी.

मम्मी: मेरी ब्रा पे तूने ऐसा किया?

भैया: नही किया.

मम्मी: सेयेल हरामी, सच बोल तूने ही किया है ये सब?

भैया मम्मी को बोले: हा रंडी, मैने किया है.

मम्मी: मदारचोड़, तू कभी नही सुधरेगा. हरामी का पिल्ला है ना इसलिए.

भैया: और तू साली रंडी छिनाल है ना इसलिए मरवती हो.

मम्मी चुप हो गयी, और अपने रूम में चली गयी.

भैया: जल्दी रेडी हो जाना रंडी. तेरी वेट कर रहे है.

मैं: भैया मैं रेडी हो गया.

भैया: चल ठीक है, जेया कार में बैठ जेया मैं आता हू.

मैने कार में 30 मिनिट तक वेट की. लेकिन वो लोग नही आए. मैं देखने गया तो देखा मम्मी के रूम के बाहर भैया अपना लंड निकाल के हिला रहे थे. मम्मी लिपस्टिक लगा रही थी.

फिर मैं बोला: भैया क्या कर रहे हो?

भैया: चुप मदारचोड़, क्यू आया कार से.

और उन्होने लंड अंदर कर लिया. फिर मम्मी को देखा तो क्या मस्त लग रही थी. ट्रॅन्स्परेंट ब्लू सारी पहनी थी उन्होने, जिससे उनके दूध क्लियर दिख रहे थे. रेड लिपस्टिक लगाई थी मम्मी ने.

फिर मम्मी आई, और 2 बॅग्स थे हमारे पास. एक छ्होटा बाग, और एक बड़ा बाग. भैया ने समान पीछे रखा.

मम्मी: मैं आयेज बैठूँगी.

भैया: हा तुम आयेज ही बैठो.

मम्मी मुझे बोली: बेटा तुम पीछे बैठो.

मुझे आयेज बैठना था, तो मैने भैया को बोला.

भैया: मदारचोड़, चुप-छाप बैठ जेया पीछे.

मैं: ओक भैया.

4 अवर्स का रास्ता था, तो मैं मोबाइल में पुबग खेलने लगा. 20 मिनिट बाद देखा मम्मी का ब्लाउस से दूध बाहर निकला हुआ था, और सिर्फ़ सारी थी उपर से. ट्रॅन्स्परेंट सारी के कारण मम्मी का दूध क्लियर दिख रहा था.

लेकिन मैं पीछे से पूरा दूध नही देख पा रहा था. भैया को मैं नही देख पा रहा था, क्यूंकी भैया के पीछे मैं बैठा था. फिर मैं मम्मी को बोला-

मैं: मम्मी मुझे नींद आ रही है.

मम्मी: ठीक है बेटा, तुम सो जाओ.

और मैं सोने लगा. फिर 20 मिनिट बाद-

भैया: साली रंडी, आज पूरी रंडी लग रही हो. क्यूँ शादी में चूड़ने वाली हो क्या?

मम्मी: हा मदारचोड़, तेरे दोस्तों से गांद मार्व्ौनगी.

भैया: गांद तो में मारूँगा साली रंडी. बहुत तडपया है तुमने.

मम्मी: अछा बहनचोड़, मेरी ब्रा पनटी पे लंड हिला-हिला के पानी निकालता है मदारचोड़.

भैया: तुम हो ही इतनी गरम औरत, क्या करे लंड खड़ा हो जाता है.

मैं सब सुन रहा था, और आँखें अपनी बंद किए हुए था.

मम्मी: शादी में उस रंडी को छोड़ेगा क्या सच बोल?

भैया: हा, साथ में तुझे भी छोड़ेंगे रंडी.

मम्मी: सला हरामी.

और मम्मी ने अपनी सारी हटा के दूध बाहर निकाल लिया.

भैया: मदारचोड़, तेरी चूचियाँ क्या मस्त बड़ी है. सच बोल, कितने से मरवाई हो?

मम्मी: जिसे तू छोड़ा था उसके भाई से.

भैया: साली रंडी.

और मम्मी का दूध मसालने लगे.

मम्मी: मदारचोड़, क्या कर रहा है. तेरा भाई उठ जाएगा.

भैया: उठने दो. उसको भी पता चलना चाहिए ना हम लोगों की मा कितनी बड़ी रंडी है.

मम्मी: सला मदारचोड़.भैया ने जीन्स की चैन खोल के लंड बाहर निकाला, और बोले: देख रंडी, इस्पे तुझे मैं बिता कर छोड़ूँगा.

मम्मी: मदारचोड़, कितना बड़ा है तेरा.

भैया: चल अब चूस इसको रंडी, और शांत कर.

मम्मी ने पहले हाथ से लंड उपर-नीचे किया. भैया कार रोक के, मम्मी के बाल पकड़ कर, अपना लंड उनके मूह में डाल दिए.

फिर वो बोले: साली रंडी, चूस.

और मम्मी भी चूसने लगी. मैं सब देखने लगा.

भैया: साली तेरी चिकनी कमर.

और भैया मम्मी की कमर मसालने लगे.

मम्मी: आअहह.

और फिर वो मम्मी की लिपस्टिक चूसने लगे. 15 मिनिट तक एक-दूसरे को चूस्टे रहे वो दोनो.

मम्मी: मदारचोड़, अब मेरी बर में लंड डाल, बहुत आग लगी है.

भैया बोले: पहले कार आचे से लगाने दो.

फिर कार एक साइड एरिया में लगाई. मम्मी तुरंत दरवाज़ा खोली, और भैया की गोदी में आ गयी. भैया ने मम्मी को गोदी में उठाया, और एक कोने में ले-जेया के छोड़ने लगे. मैं कार में से दोनो को देखने लगा.

भैया मम्मी को उठा-उठा के छोड़ रहे थे. फिर ये सब देखने के बाद मैं लंड हिलाने लगा.

भैया: हरमज़ड़ी, बहुत लंड की भूखी है.

मम्मी: हा मदारचोड़, छोड़ अपनी मा को हरामी. चोद-चोद के बुर फाड़ दे मेरी.

भैया: रंडी, कुटिया, छिनाल, तेरी आज बर फाड़ता हू.

और भैया मम्मी को नीचे ज़मीन पे लिटा के मम्मी को छोड़ने लगे. 30 मिनिट चुदाई चली. फिर मम्मी कार में आई, और कपड़े ठीक किए. भैया भी कार चलाने लगे.

मम्मी: मदारचोड़, तुम तू बहुत अछा छोड़ता है. कहा सीखा ऐसा छोड़ना?

भैया: तेरी फ्रेंड सिखाई मुझे. वही बोली थी तुम उसके भाई से चूड़ी हो. तब से तुझे छोड़ना चाह रहा था. कल से सोच लिया था, की आज तुझे अपनी रंडी बना के रहूँगा.

मम्मी: मदारचोड़, अपनी मा को रंडी बना दिया पूरा.

भैया: तू साली अब से मेरी रखैल है रंडी, समझी.

मम्मी: हा हरामी, तेरी ही रंडी हू मैं.

फिर मैने सोचा की मैं बता डू. बुत बहुत दर्र लगता है मम्मी और भैया से मुझे. तो मैं कुछ नही बोल सका.

फिर हम राँची पहुँच गये. मम्मी फ्रेंड के पास गयी, और भैया ने तुरंत आंटी को गले लगा लिया और उनकी चूची ज़ोर से दबा दी. मम्मी ये सब देख कर गुस्सा हुई.

आंटी: बेटा तुम लोग उपर वाले रूम में चले जाओ, और वही अभी आराम करो.

मम्मी भैया का हाथ पकड़ के रूम में ले गयी. हम भी पीछे-पीछे चले गये, और मुझे पेशाब लगा था तो मैं तुरंत बातरूम चला गया. तभी मैने कुछ सुना.

मम्मी: मदारचोड़, तू उस रंडी के साथ क्या कर रहा था, बोल ना? उस रंडी के साथ अब तू कुछ नही करेगा.

भैया: साली रंडी, क्या हो गया तुझे?

मम्मी: मैं नही जानती हू, तू उसके साथ अब नही करेगा.

भैया: फिर तू आ जेया.

और भैया ज़ोर से मम्मी की चूचियों को दबाने लगे और लिप्स चूसने लगे. तभी मैं बाहर आ गया और बोला-

मैं: आप दोनो क्या कर रहे है?

भैया तुरंत मम्मी को हटा दिए, और बोले: मम्मी की आँख में कुछ चला गया था, तो सॉफ कर रहे थे.

मैने देखा भैया के लिप्स पे मम्मी की रेड लिपस्टिक लगी हुई थी. मैं कुछ नही बोला, और चला गया. फिर रात को 9 बजे मा तैयार हो कर आई, तो मेरे होश उडद गये थे. क्या मस्त लग रही थी वो रेड सारी में. रेड लिपस्टिक लगाई थी उन्होने, और दुल्हन जैसी साज-धज के आई थी.

मैने भैया हो देखा तो वो मम्मी को देखे जेया रहे थे. शादी रात को हो रही थी. मैं भैया के साथ बैठा था. मम्मी दुल्हन की बगल में बैठी थी. फिर कुछ घंटे के बाद भैया मम्मी को इशारा किए.

मम्मी ने भी इशारे में बात की. फिर भैया उठ कर चले गये. कुछ 15 मिनिट बाद मम्मी भी उठ के चली गयी. मैं भी मा के पीछे-पीछे जाने लगा. मम्मी उपर च्चत पे जेया रही थी.

मैं भी पीछे से गया, और च्चत पे पानी के टंकी के पीछे चुप गया. भैया उधर मूह करके नीचे देख रहे थे.

मम्मी ने ‘बेटा’ की आवाज़ दी.

भैया मम्मी के पास आ कर बोले: किसी ने देखा तो नही ना?

मम्मी: नही.

भैया मम्मी को अपनी तरफ खींच कर बोले: साली रंडी, आज तो मस्त लग रही हो.

मम्मी: तेरे लिए इतना सजी हू.

भैया मम्मी के लिप्स चूसने लगे, और मम्मी के ब्लाउस में हाथ डाल के दूध मसालने लगे. फिर मम्मी भी भैया का लंड उपर से मसालने लगी. उसके बाद भैया ने मम्मी को नीचे लिटा लिया, और सारी उपर करके मम्मी को छोड़ने लगे.

मम्मी के मूह से आहह उम्म्म की आवाज़े निकल रही थी. मेरा लंड खड़ा हो गया था. फिर मैं लंड बाहर करके हिलाने लगा, और भैया ने मम्मी को 30 मिनिट तक छोड़ा. और फिर वो कपड़े पहन कर नीचे चले गये.

नेक्स्ट पार्ट में जानिए, की कैसे मैने और भैया दोनो ने कार में मा को चोदा.

यह कहानी भी पड़े  नयी चूत और नये लंड का इंतेजाम


error: Content is protected !!