लड़के के पड़ोसन आंटी के साथ नहाने की हॉट कहानी

तो जैसा की आपने अब तक पढ़ा है, की कैसे पहले आप पहले तू की झंझट का अंत हुआ, और अनिता आंटी ने कहा की साथ में नहाते है.

पर उन्होने कहा: अभी सब्ज़ी बनानी है, तो तोड़ा रुकना होगा.

तो मैने कहा: बाहर से कुछ ले आता हू.

अनिता: हा ये बेटर है.

मैं: तो ठीक है, मैं 20 मिनिट में आता हू. क्या लाउ?

अनिता: बटर.

मैं: पनीर.

अनिता: चिकन.

मैं: क्या! पर आप तो ब्रामिन हो ना? और अंकल तो चिढ़ते है इससे.

अनिता: मैं नही, मैं तो खूब खाती थी शादी से पहले. पर शादी के बाद सब बंद.

मैं: ओक, और कुछ?

अनिता: अछा सुनना, 4 बियर की बॉटल और कुछ सिगरेट्स ले लेना, और स्नॅक्स में चिकन लॉलिपोप.

मेरी तो हवा टाइट हो गयी. बहनचोड़ क्या ये वही अनिता आंटी थी.

अनिता: हेलो, कहा गुम हो गये?

मैं: आप अकेले 4 बॉटल पी लोगे?

अनिता: चल हॅट! 2 तेरी 2 मेरी. मैने कॉलेज में बहुत पार्टीस की है अपने फ्रेंड्स के साथ.

मैं: मैं नही…

अनिता: बच्चू मुझे सब पता है तू क्या करता है क्या नही. काई बार तेरी छत और तुझे बॉटल्स च्छूपाते देखा है.

मैं: ओक, लेता अवँगा. और कुछ?

अनिता: नही बस जल्दी आजा. ऑलरेडी 9 बाज रहे है. और सुन, 1 बॉटल और ले आना बियर, मुझे बाल ढोने है.

मैं: आपको कहा, मुझे ही धोना है. ओक, मैं यू गया यू आया.

अनिता: बदमाश! जल्दी जेया.

और उन्होने एक किस मेरे गाल पे दे दी. दोस्तों गाउन खुला था उपर से, और वो मेरे इतने नज़दीक. मॅन तो किया भाड़ में गया खाना, आज तो इस कालू की मा को ही है बजाना.

लेकिन फिर मैने सोचा की जल्दबाज़ी नही करनी चाहिए. हो सकता है वो बदी मॉडर्न हो, पर मेरी एक हरकत कही उल्टी ना पद जाए. तो सोचा सबर का फल मीठा होता है, और उनकी गाड़ी ली, और निकल गया.

सबसे पहले तो मैं रुका मेडिकल पे. वाहा से 1 माले और 1 फीमेल वियाग्रा का पत्ता लिया. फिर बियर, चिकन, और सारा समान लेके घर पहुँचा तो मम्मी ने पूछा-

मम्मी: कहा गया था?

तो आंटी बाल्कनी में आ गयी और बोली: भाभी कुछ बाहर का खाने का मॅन था, तो वही लेने भेजा था.

मम्मी ने कुछ नही बोला, और फिर आंटी अंदर चली गयी. मैं गाड़ी पार्क करके उपर गया, तो हैरान था. गाते पे आंटी खड़ी थी, पर एक चीज़ मैने नोटीस की, की बाल्कनी में उनका रोब पूरा ढाका था, और मैं जैसे ही अंदर गया, तो वो फिरसे खुला हुआ पाया.

मैं समझ गया था, की कालू की मा थी बड़ी चालू. दिल में तो आया की अभी उसको अपने 7 इंच के लोड पे बिता के उछालू, पर पहले मैं अंदर गया. फ्रिड्ज में 3 बियर की बॉटल रखी थी, और मैने 2 खोल ली. फिर चुपके से मैने अपनी बॉटल में 2 गोली माले वाली, और उनकी बॉटल में 2 फीमेल वियाग्रा डाल दी और बाहर आ गया. बॉटल देख के वो बोली.

अनिता: नहाना नही है?

मैं: नहाते है, पर पहले चिकन लॉलिपोप के साथ एक बियर लेते है. अभी गरम है, ठंडे हो गये तो खाने में मज़ा नही आएगा.

अनिता: हा सही है.

वही सोफे पे हम बैठ गये, और चियर्स किया. वो बियर पीने ही जेया रही थी, की मैने उनको रोक दिया

अनिता: क्या हुआ?

मैं: ऐसे नही.

फिर उनसे उनकी बॉटल ली और उन्हे अपनी दी, और एक-दूसरे का हाथ क्रॉस करके मैं उन्हे, और वो मुझे पिलाने लगी.

सच दोस्तों, खुली तिजोरी सामने गाउन में ब्रा-पनटी में बैठी थी. और लोड्‍ा खड़ा था. फिर भी सबर रखना पड़ा. थोड़ी देर तक हमने बियर पी, और चिकन खाया.

फिर एक सिगरेट जलाई. क्यूंकी अब वियाग्रा और बियर असर दिखा रहे थे, तो वो बड़े रोमॅंटिक अंदाज़ में मुझे सिगरेट पिलाती, और धुआ मेरे उपर छोढ़ती.

ऐसे ही हस्सी मज़ाक करते हुए मैं उनकी गोद में उनकी नंगी जांघों में लेट गया. वो बियर उठाने के लिए झुकी, और मेरे मूह पे उनके बूब्स आ गये. सच में क्या ज़बरदस्त फीलिंग आई. फिर मैं उठा, हमने बियर ख़तम की, और वो बोली-

आंटी: जेया फ्रिड्ज से बियर ले आ. मैं तब तक नहाने के लिए बात टब रेडी करती हू.

मैं भी गया, और किचन में से बियर लेकर बेडरूम में पहुँचा तो देखा गाउन बेड पे पड़ा था. फिर मैं बातरूम में जैसे ही पहुँचा, वो बात टब की तरफ झुक के खड़ी थी और उनकी गांद मेरी तरफ थी.

अब शॉर्ट्स में लंड महाराज सलामी दे रहे थे. मैं पीछे से जाके उनसे सतत गया. अचंक हुए हमले से वो दर्र गयी, पर फिर नॉर्मल हो गयी. कसम से यार, वाइट ब्यूटी इन ब्लॅक ब्रा पनटी, क्या लग रही थी.

फिर उन्होने बोला: कपड़े उतार और आजा बात टब में.

मैने शॉर्ट्स और त-शर्ट उतरी, अंडरवेर नही. और वो भी ब्रा पनटी में टब में बैठ गयी. मैं भी बड़ी मुश्किल से खड़े लंड की च्छूपाते हुए बैठा.

अभी हम एक-दूसरे की तरफ फेस करके बैठे थे. वो टब के उस कॉर्नर में, मैं इस कॉर्नर में.

अनिता: बिट्टू मेरी पीठ रब कर दे.

और उन्होने स्क्रब्बर मेरी तरफ फेंका, और मेरी तरफ पीठ कर ली. मैं उनकी पीठ स्क्रब कर रहा था.

फिर मैने बोला: आंटी ये ब्रा निकाल दो स्क्रब करने में दिक्कत हो रही है.

तो उन्होने बोला: निकाल दे.

जैसे ही मैने ब्रा निकली, भाई साहब, 2 सुंदर पंछी आज़ाद हो कर बदन पे झूल गये उनके.

मैं स्क्रब करते-करते उनके बूब्स पे भी साइड से हाथ मार देता कभी-कभी. कुछ देर बाद वो मेरी चेस्ट और पीठ करके लेट गयी, और मैने अब उनके बूब्स पे स्क्रब करना, और बूब्स दबाना स्टार्ट किया.

कुछ देर ऐसे ही करने के बाद वो बोली: बियर से मेरे बाल धो दो.

मैं बियर उनके बालों पे डाल कर बाल सॉफ करने लगा.

फिर उन्होने बोला: पूरी बियर मत ख़तम करना.

मैने कहा: क्यूँ?

तो वो बोली: बताती हू.

फिर उन्होने हॅंड शवर से बाल धोए, और फिर बॉडी का झाग सॉफ किया. फिर खड़े हो कर वो अपनी पनटी निकालने लगी. उसके बाद वो मेरे फेस की तरफ तुर्न हुई. दोस्तों, दुनिया का सबसे खूबसूरत जंगल मेरे सामने था.

मैं बोला: मुझे प्यास लगी है, पानी पीक आता हू.

तो वो बोली: रूको.

और बॉटल लेकर अपने बूब्स पे बियर डालने लगी, और मेरा मूह बूब्स पे लगा दिया. अब मैं बियर का मज़ा उनके बूब्स से पी कर लेने लगा, और एक हाथ से वो अपनी छूट सहलाने लगी.

शायद वियाग्रा के असर से अब वो हॉर्नी हो रही थी. बूब्स से गिरती बियर उनकी छूट तक जेया रही थी. फिर मैने अपना मूह उनके बूब्स से हटा कर उनसे पूछा-

मैं: ये इतना जंगल क्यू उगा रखा है?

तो वो बोली: मुझे हेर्स रखना पासंद है. अगर तुझे नही पसंद तो शेव कर देती हू.

मैने भी कहा: नही मुझे भी ऐसे ही पसंद है.

उन्होने स्माइल की, और फिर मेरे लिप्स पे किस कर दिया. वो बहुत हार्डकोर किस कर रही थी. बीच में वो मेरे मूह में बियर डालती, और फिर हमे एक्सचेंज करते बड़ा मज़ा आ रहा था.

तभी मैने बोला: सर के बाल तो धो दिए. अब नीचे के भी धो लो.

तो वो बोली: शुरू हो जाओ.

ये बोल कर वो छूट के बाल पे बियर डालने लगी. मैने थोड़ी देर छूट को सहलाया, और फिर अपना मूह छूट पे लगा के छूट का रस्स और बियर पीने लगा. आधी से थोड़ी कम, यानी वन-फोर्त बियर बची होगी. तो मैने उनसे बियर की बॉटल ली, और वो कोबाय पोज़िशन में आ गयी.

शायद वो मेरा इरादा जान चुकी थी. मैने बियर हिलाई, और छूट में बॉटल का मूह पेल दिया. पूरी बियर उनकी छूट में भरने लगी, और फिर जैसे ही बॉटल हटाई, उनकी छूट से फावरा निकल पड़ा. मैने भी देर नही की, और अपना मूह उनकी छूट पे लगा के पूरी बियर उनके छूट रस्स के साथ पी गया.

वो बोली: मैने ज़िंदगी में पहली बार ऐसा ऑर्गॅज़म महसूस किया है.

और हम दोनो एक-दूसरे को किस करने लगे.

फिर वो बोली: एक सिगरेट जला ना.

फिर कुछ देर ऐसे ही हम आपस में लेते हुए सिगरेट शेर करके पीने लगे. उसके बाद वो उठी, और बात टब से बाहर जाने लगी.

मैने पूछा तो वो बोली: तुमने तो अपनी प्यास बुझा ली. मुझे भी प्यास लगी है.

तो मैं भी बोला: तो क्या, मेरा सस्यू पी लो.

वो बोली: बाद में, अभी तुम्हारे लोड पे डाल के बियर पियूंगी.

फिर वो जेया कर किचन से बियर ले आई, और आ कर मेरा अंडरवेर उतरा, और बोली-

आंटी: मेरी छूट फाड़ डालेगा ये तो.

तो मैं भी बोला: जानेमन, आज छूट और गांद दोनो फाड़ दूँगा तुम्हारी.

तो वो हासणे लगी. फिर मेरे मूह पे बियर डाल के बियर चाटने लगी. ऐसा करते हुए वो चेस्ट पे आई, और मेरे निपल्स के उपर डाल के कभी चाट-ती, तो कभी काट-ती. मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

फिर वो मेरी नाभि पे जीभ फेर के चाटने लगी. उसके बाद लोड पे पहुँच के तेज़ ब्लोवजोब देने लगी. लोड्‍ा तो बिल्कुल लोहा हो चुका था. उसको ऐसे चूस रही थी, जैसे जन्मो की प्यासी हो. करीब 1 घंटा हो चुका था हमे नहाते हुए. फिर बियर की बॉटल ख़तम हुई तो मैने कहा-

मैं: जान भूख लगी है. पहले पेट पूजा कर ले, फिर चुदाई पूजा करेंगे.

वो भी बोली: ओक.

फिर हमने शवर लिया, अपने को सॉफ किया, और फिर मैने उसको गोद में उठाया, और बेडरूम में ले आया. इस वक़्त तक वो मेरे होंठ चबा रही थी. फिर उसने अपना कपबोर्ड खोला, तो सामने सबसे पहले मैं नज़र रेड कलर की ब्रा पनटी पे गयी, जो सामने तंगी थी.

फिर वो बोली: क्या पहनु?

मैने कहा: मैं आज तुम्हे दुल्हन की तरह देखना चाहता हू.

और मैने रेड ब्रा पनटी को उठा के सूँघा, और कहा-

मैं: तुम्हारे पास शादी का जोड़ा है?

वो बोली: हा.

तो रेडी हो जाओ. मैं खाना गरम करता हू तब तक. और फिर मैने एक किस उसके लिप्स पे किया, और ज़ोर से उसके होंठ को काटा.

वो बोली: क्या खा जाओगे?

मैने भी कहा: हा, आज तो तुम्हे खा जौंगा.

और स्माइल करके बाहर अपना शॉर्ट्स उठा के आ गया. बाकी नेक्स्ट पार्ट में.

यह कहानी भी पड़े  शिमला जाके बर्थडे पर जमकर चुदी - 2


error: Content is protected !!