लॅडीस वॉशरूम मे मामी के साथ कामुकता

दीपाली मामी ने मेरा हाथ पकड़ा और हम दोनो फंक्षन हॉल से से निकालकर उपर वेल फ्लोर पर चले गये.

1स्ट्रीट फ्लोर पर कुछ ज़्यादा लोग थे इसलिए मामी ने मुझे 2न्ड फ्लोर पर चलने को कहा. जब हम 2न्ड फ्लोर पर गये तो वहाँ मुश्किल से 1 या 2 लोग ही थे. शादी होने वाली थी इसलिए वो भी नीचे जेया रहे थे.

नील: मामी ये जगह सही है. लेकिन हम करेंगे कहा?

दीपाली मामी: वॉशरूम मे चलो

फिर मामी मुझे लॅडीस वॉशरूम मे ले गयी जहाँ. हुँने अंदर ठीक से चेक किया तो कोई भी नही था. मामी ने झट से वॉशरूम का मैं दरवाजा लॉक कर दिया ताकि ह्यूम कोई डिस्टर्ब ना करे.

मामी ने झट से मुझे पकड़ा और मेरे होंठों को चूसने लगी. मैने भी उनका साथ देते हुए उन्हे किस करने लगा. हम दोनो जैसे भूख मे तड़प रहे हो ऐसे एक दूसरे पर टूट पड़े. मैं मामी को यहाँ वहाँ सहलाते हुए किस कर रहा था. मामी मेरे होंठों के साथ बदन पर हर जगह किस करने लगी. वो इतनी जोश मे थी के उन्होने मुझे गर्दन पर बहुत ज़ोर से बीते किया.

मामी की इस हरकत की वजह से मैं पूरी तरहा से सिहर उठा. उनकी हवस ने कुछ सेकेंड के लिए मेरे बदन मे करेंट दौड़ा दिया था. उन्होने मेरी आँखों मे देखते हुए कहा

मामी (मेरे होंठों को सहलाते हुए): अफ नील आज तुम बहुत हॉट लग रहे हो

नील: सिर्फ़ आपको सिड्यूस करने के लिए ही इतना रेडी होकर आया हूँ.

मामी: बेबी मुझे ऐसी फॅंटेसी ट्राइ करनी थी इसलिए तुम्हे फोर्स किया.

नील: मुझे भी आपके साथ वाइल्ड बिहेव करना पसंद है

मामी: घर पर तुम्हारे मामा भी नही है तुम चलो मेरे साथ… दिन रात तुमसे चड़वौनगी, तुम्हे और तुम्हारे लंड को खूब प्यार करूँगी

नील (एक दूसरे को किस करते हुए): हन मैं ज़रूर अवँगा… मुझे आपकी गांद मरने की बहुत तलब लगी है

मामी: उफ़फ्फ़ नील गांद मरवाने मे बहुत दर्द होता है बेबी

नील: प्लीज़ मामी हन बोलो ना मैने आपको इतना छोड़ा है लेकिन आपकी गांद नही मारी

मामी ने थोड़ी देर कुछ सोचा और कहा

मामी: चलो ठीक है… तुमसे छुड़वाने की इतनी दीवानी हूँ के मैं गांद मरवाने का दर्द भी से लूँगी

हम दोनो फिर से किस करने लगे. मैं उन्हे गर्दन पर किस करने लगा और अपनी जीभ से चाटने लगा. मामी बहुत गरम हो चुकी थी. उनकी साँसे बहुत तेज हो चुकी थी.

वॉशरूम मे हम दोनो बेसिन स्लॅब के पास चले गये जहाँ मामी ने मेरी जीन्स उतारी और बॉक्सर भी. मेरा 8 इंचस का लंड उनके सामने आया और वो नॉटी स्माइल करते हुए उसके साथ खेलने लगी. उन्होने लंड को हाथ मे लिया और उसे धीरे धीरे हिलने लगी. लंड पहले से ही खड़ा था लेकिन मामी का हाथ लगते ही वो और लंबा होने लगा.

लंड पूरी तरहा से लंबा होते ही मामी ने उसे स्मेल किया और कहा

मामी: आहह क्या स्मेल है इसकी… जवान लंड की बात ही अलग होती है. तुम्हारे मामा के लंड की खुश्बू मे ये मज़ा कहा

नील: मामी हर जगह आप मुझे ही सोचती हो इसलिए आपकी हवस हर रोज बढ़ रही है

मामी: मुझे पता है लेकिन तुम मेरे दिलो दिमाग़ मे ऐसे बस चुके हो के दिन रात तुम ही दिखाई देते हो

इतना बोल कर वो घुटनो पर बैठ गयी और लंड को चूसने लगी. लंड का सूपड़ा उनके होंठों मे पकड़ा हुआ था और वो उसे ज़ोर ज़ोर से चूस रही थी. उफ़फ्फ़ मेरी आँखें अपने आप बाँध हो गयी. मेरे मूह से आहह आह जैसी सिसकारियाँ निकालने लगी. उफ़फ्फ़ मामी सच मे स्वर्ग का एहसास दिला रही थी.

दीपाली मामी को लंड चूसने की बिल्कुल आदत नही थी और ना ही पसंद था. लेकिन जब मैने उन्हे पटाया तब मैने उन्हे लंड चूसने की आदत लगा दी और उसके बाद से वो ओरल सेक्स मे बिलीव करने लगी. अब उन्हे एक बार सेक्स ना मिले तो चलेगा लेकिन मेरा लंड चूसने नही मिला तो मुझपर गुस्सा हो जाती है इसलिए मैं हर वीक उनके घर जाता था. वहाँ वो मेरे लंड को अकचे से चुस्ती थी उसके बाद ही मुझसे चुड़वति.

कुछ देर तक लंड चूसने के बाद उन्होने अपने मूह को सॉफ किया. मैने उनकी सारी का पल्लू हटाया. मेरी आँखें उनके ब्लाउस पर थी जिनके उपर से उनके बड़े बड़े बूब्स बहुत अकचे लग रहे थे. मैने उनका ब्लाउस को उतार दिया उन्होने अंदर ब्लॅक कलर की ब्रा डाली हुई थी मैने उसका हुक खोल कर उसे भी उतार दिया.

ब्रा के उतरते ही मामी के बूब्स उच्छल कर मेरे सामने आ गये. दूध जैसे गोरे बूब्स को देखकर मेरी आँखें बड़ी हो गयी और मूह मे पानी आने लगा. मैने झट से उनके बूब्स को पकड़ा और सहलाने लगा. मामी आँखें बंद किए सिसकारियाँ लेने लगी.

ममीई: आहह आहह एस्स आहह निल्ल्ल आहह बाबयययी आह उम्म्म उम्म्म बहुत अक्चा लग रहा है…आहह बेबी उम्म्म ई लोवे ौउउ आ ओह

मामी के गोरे गोरे बूब्स पर ब्राउन निपल्स थे जो उनकी सुंदरता को और बड़ा रहे थे.

नील: मामी आपके बूब्स बहुत सुंदर है

मामी: हन पहले ये इतने बड़े तो बिल्कुल नही थे फिर तुमने इनके साथ खेलकर इतना बड़ा कर दिया

नील: बूब्स बड़े होते है तभी अकचे लगते है

मामी: हन लेकिन जब भी मैं बाहर जाती हू या किसी फंक्षन मे जाती हूँ तब मर्द और जवान लड़के मेरे बूब्स को बहुत घूरते है

नील: मैने कहा था ना आप से… जिस लड़की के बूब्स और गांद बड़े और अकचे शेप मे हो वही लड़की मर्दो को पसंद आती है

इतना बोलकर मैं बूब्स को चूसने लगा. कभी लेफ्ट वाले बूब को तो कभी रिघ्त वेल को. कभी दोनो को ज़ोर ज़ोर से दबाता था जिससे मामी की सिसकारियाँ पूरे वॉशरूम मे गूंजने लगती थी.

मैने मामी को बेसिन स्लॅब के सहारे खड़ा किया और उनके गोरे चमकते पेट पर अपना हाथ घूमने लगा. मामी शरमाने लगी. मैं उनकी खूबसूरत नेवेल को सहला रहा था.

मामी: तुम्हे मेरी नेवेल बहुत पसंद है ना?

नील: हन… सिर्फ़ नेवेल ही नही. मैं मानता हूँ के अगर सेक्स का असली मज़ा लेना है तो लड़की को हर जगह से प्यार करो. उसे जन्नत का मज़ा दिलाओ.

मामी: तुम्हारी इसी बात पर तो मैं फिदा हूँ

मैने मुस्कुराते हुए फिर से मामी की नेवेल को किस करने लगा और अपने जीभ से चाटने लगा. उनकी नेवेल को चाट चाट के पूरी तरहा से गीला कर दिया.

मामी: बेबी बस भी करो मेरा पेट पूरी तरहा से गीला हो चुका है

नील: मेरा बस चले तो मैं आपको चाट चाट के नहला दूँगा

मेरी बात सुनकर मामी बहुत शरमाने लगी.

मामी: इतना प्यार करते हो मुझसे?

नील: हन… मुझे एक बार आपके घर तो आने दो मैं आपको बेड से नीचे जाने नही दूँगा इतना प्यार करूँगा

मामी: सस्सिईईई बेबी तुम ऐसी बातें करते हो तो मेरी छूट बहुत पानी छ्चोड़ने लगती है

नील: वो पानी छ्चोड़े इसलिए तो मैं ऐसा करता हूँ. छूट का पानी पीना मतलब अमृत को पीने जितना मज़ा आता है.

मैं मामी की सारी उतरने लगा तो मामी ने मुझे रोका

मामी: ये क्या कर रहे हो?

नील: मामी मैं आपकी सारी उतार के आपको प्यार करना चाहता हूँ

मामी: ई कॅन अंडरस्टॅंड बेबी लेकिन हम अभी बाहर आए है और थोड़ी देर मे ह्यूम नीचे जाना है इसलिए आज बिना सारी उतारे ही छोड़ो

नील: मामी प्लीज़ उतरने दो ना बहुत मज़ा आएगा

मामी: प्लीज़ बात को समझो… मुझे जल्दी से छोड़ो वरना इतनी देर तक गायब होने की वजह से शाम हो जाएगी. और मुझे पता है एक बार तुमने सारी उतार दी तो तुम मुझे शाम तक जाने नही दोगे और मुझसे लिपटकर ही रहोगे

मामी के फोर्स करने पर मैने वो आइडिया ड्रॉप किया. मुझे अब छूट को प्यार करने की तलब लगी थी इसलिए मामी खुद सामने से अपनी पनटी उतारी और मुझे दे दी. मैने उसे स्मेल किया तो बड़ी मादक खुश्बू आने लगी जिससे मैं जोश मे आ गया. मामी को मैने स्लॅब पर बिता दिया. उन्होने झट से अपने पैरो खोला और सारी उपर कर दी.

मेरे सामने उनकी बिना झांतो वाली छूट थी. छूट को देखकर ऐसा लग रहा था जैसे मामी ने आज ही मेरे लिए छूट को सॉफ किया था. मैने मामी के पैरो को किस और लीक करना शुरू किया. उनकी चिकनी टांगे और मांसल थाइस देखकर मेरे लंड की आग और ज़ोर से भड़कने लगी. मैने उनकी थाइस को सहलाते हुए उनके पैरो को किस करने लगा. मामी की आवाज़े तेज होती जेया रही थी और उनकी छूट अपनी आग उगल रही थी.

मैं धीरे धीरे उपर की तरफ जेया रहा था. मामी की थाइस को मैने किस करते हुए अपनी जीभ के साथ चाटना भी शुरू किया. मामी जैसे पागल हो चुकी थी वो मेरे बालो को सहलाने लगी. उनकी हरकते देखकर हर कोई साँझ जाता के उनके अंदर कितनी आग लगी हुई है.

फिर मैने सीधा उनकी छूट पर अटॅक कर दिया. नाज़ुक से होंठों वाली क्लीन छूट मेरा ही इंतेज़ार कर रही थी. छूट से लगातार पानी बह रहा था इसलिए वो बहुत चिकनी हो चुकी थी. मैने अपनी उंगलियों से छूट की दीवारो को सहलाना शुरू किया. मामी एकदम टॉप गियर पर थी ऐसा लग ही रहा था के वो ज़्यादा देर बर्दाश नही कर पाएगी.

अचानक से मैने उनकी छूट पर अपने होंठ रख दिए और उसे चूसने लगा. अचानक हुए हमले की वजह से मामी डांग रह गयी और मेरा नाम लेते हुए वो चिल्लाने लगी.

मामी: आहह ऑश णीईईल्ल्ल आहह उउफफफ्फ़ बड़ा मज़ा आ रहा है बाबयययी आह उम्म्म ऐसे ही करो आहह मैं जल्दी ही झाड़ जौंगी आहह एसस्स ऑश मयी गोदडड़ आहह उफफफ्फ़

मामी की रसभरी छूट का पानी बहुत टेस्टी था. मैं उसे बड़े मज़े से पी रहा था. मैं छूट को कभी उंगलियों से च्छेदता, कभी अपने होंठों से तो कभी छूट के अंदर अपनी जीभ डालकर उसे अंदर बाहर करते हुए छोड़ता था. मेरी हरकटो की वजह से मामी का हाल बिल्कुल बहाल था. वो पसीने से पूरी भीग चुकी थी. और उनका वो रूप देखकर मैं और मदहोश होने लगा था.

मामी: प्लीज़ बेबी अब जल्दी से मुझे छोड़ो… आहह तुम्हारे लंड को मैं अपने अंदर तक फील करना चाहती हूँ

मैं भी खुद को कंट्रोल नही कर सका और मैने उन्हे छोड़ने का डिसाइड कर लिया.

दोस्तो आपको दीपाली मामी के साथ मेरा रोमॅन्स कैसा लगा मुझे मैल करके ज़रूर बताना. आयेज की चुदाई आपको नेक्स्ट पार्ट मे पढ़ने मिलेगी तब तक वेट करना.

लड़कियाँ और मॅरीड लॅडीस मुझसे नॉटी बातें करने के लिए मैल करे, आपकी प्राइवसी का ख़याल रखा जाएगा.

तो बे कंटिन्यूड…

यह कहानी भी पड़े  मा और मामा का चुदाई अफेर

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!