जवान विधवा लड़की की कामुकता

मेरा नाम समीना है और मेरी उम्र 36 साल है। में इस साईट की बहुत बड़ी फैन हूँ। में कॉलेज के टाईम से ही बहुत हॉट और खूबसुरत रही हूँ और में कॉलेज टाईम में मिस यूनिवर्सिटी और बहुत सारे दूसरे ब्यूटी प्रतियोगिता जीत चुकी हूँ। मेरी हाईट 5 फुट 9 इंच है और मेरी टाँगें बहुत लंबी हैं और मेरी शादी 21 साल की उम्र में ही हो गई थी, लेकिन 6 महीने बाद ही मेरा तलाक हो गया और तब से लेकर अब तक मैंने कभी शादी नहीं की। में अभी तक अपनी सेक्स की प्यास बुझाने के लिए अलग-अलग आदमियों का सहारा लेती आई हूँ, मगर मुश्किल से और बहुत कम की मदद ली है। मेरी बॉडी फिगर 38-26-37 है और मेरी पूरी बॉडी क्लीन शेव और एकदम चिकनी है।

में बहुत मॉडर्न औरत हूँ और मुझे सिर्फ शॉर्ट्स में रहना ही पसंद है। ये बात पिछले साल की है, जब मेरी बड़ी बहिन के बेटे का एड्मिशन मेरी सिटी के मेडिकल कॉलेज में हुआ, क्योंकि में अपने घर में अकेली रहती हूँ, इसलिए मेरा भांजा मेरे यहाँ ही रुकने आ रहा था। मेरे भांजे की उम्र 19 साल है और में उससे आखरी बार 4 साल पहले मिली थी, तब वो बहुत छोटा था। फिर रविवार के दिन मेरे घर की घंटी बजी तो में गेट खोलने गयी। फिर मैंने देखा कि मेरा भांजा जिसका नाम शाहज़ैब है, वो खड़ा हुआ था। उसने एक टी-शर्ट और जीन्स पहन रखी थी तो मे उसे देखकर दंग ही रह गई, वो एकदम पूरा का पूरा बदल चुका था। उसकी हाईट और बॉडी दोनों ही बहुत बड़ी हो गयी थी। उसकी हाईट 6 फुट से भी ज़्यादा थी।

फिर मैंने उसको अंदर बुलाया और उसका रूम उसको दिखाया और कहा कि चेंज कर लो और फ्रेश हो जाओ और में तब तक खाना लगाती हूँ, वो फ्रेश होने चला गया। फिर हम लोगों के 2 दिन तो नॉर्मल तरीके से बहुत अच्छे से निकल गये और तीसरे दिन जब में बाथरूम में नहा रही थी, क्योंकि में घर में अकेली ही रहती हूँ तो में बाथरूम की कुण्डी नहीं लगाती और सिर्फ़ दरवाज़े को फेर देती हूँ। उस दिन भी दरवाज़ा बंद नहीं था और फिर एकदम से मेरा भांजा जो कि सिर्फ़ अपने शॉर्ट्स में था और गलती से बाथरूम में आ गया। में पूरी नंगी गीले बदन के साथ वहाँ खड़ी हुई थी और वो भी सिर्फ़ शॉर्ट्स में था, में एकदम से डर गयी और वो भी डर गया, लेकिन उसने मुझे ऊपर से लेकर नीचे तक देखा और फिर वो जल्दी से बाहर चला गया। फिर में नहाकर बाहर आई तो वो मुझसे नज़रे चुरा रहा था और में भी उससे नज़रे नहीं मिला रही थी। फिर उस रात को में उसके कमरे के बाहर से जा रही थी तो मुझे कुछ आवाज़ आई। फिर मैंने उसके कमरे में देखा तो वो मुठ मार रहा था और उसके हाथ में मेरी पेंटी थी।

यह कहानी भी पड़े  बाहर निकाल कर धक्का मारो ना

में तो ये देखकर एकदम पागल ही हो गयी कि उसकी पूरी बॉडी शानदार थी और उसका लंड भी बहुत बड़ा था। मुझे उसके साथ तुरंत सेक्स करने की चाहत होने लगी, लेकिन में अपने कमरे में जाकर सो गयी और अपनी उंगली डालकर ही काम चलाया। फिर अगले दिन जब वो नाश्ता करने आया तो में बहुत टाईट और छोटे वाले शॉर्ट्स पहने हुई थी और ऊपर से एक बड़े गले वाली टी-शर्ट बिना ब्रा के जिसमे से मेरे बूब्स एकदम सॉफ दिख रहे थे। वो तिरछी नज़र से मुझे देख रहा था और में भी उसको बार-बार टच कर रही थी और अपने बूब्स की झलक दिखा रही थी। फिर में उसको नाश्ते देने के बहाने उसके सामने झुककर खड़ी हो गयी और अपने बूब्स को एकदम उसके मुँह से लगा दिया। उसके बाद वो कॉलेज चला गया। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

उस दिन रात में जब वो अपने कमरे में गया तो उसके कमरे का ए.सी. खराब हो गया था और उसने मुझे बताया। फिर मैंने उससे कहा कि आज रात मेरे रूम में ही सो जाओ, कल सुबह ए.सी. ठीक करवा दूँगी। फिर वो मेरे कमरे में सोने आ गया, उसने सिर्फ़ अपना पजामा (शॉर्ट्स) पहन रखा था और ऊपर कुछ भी नहीं था, वो बहुत हॉट दिख रहा था। फिर मैंने भी जल्दी से कपड़े चेंज कर लिए थे और मैंने सिर्फ़ एक छोटी सी निकर और ऊपर से स्लीव टी-शर्ट पहन ली थी और फिर में लेट गयी। वो भी मेरे बराबर में आकर लेट गया और हम दोनों सो गये और मैंने उसकी तरफ करवट ले रखी थी, मतलब मेरी पीठ उसकी साईड थी और वो मेरी पीठ की तरफ मुँह करके लेटा था। फिर रात को मुझे अपनी पीठ पर उसका हाथ महसूस हुआ, लेकिन में चुपचाप लेटी रही और कुछ रिएक्ट नहीं किया। फिर थोड़ी देर बाद उसका हाथ मेरी टी-शर्ट के अंदर जाने लगा और उसने अपना पैर मेरी गांड पर रख दिया और में अभी भी चुपचाप लेटी थी। फिर थोड़ी देर में उसका हाथ मेरे बूब्स तक आ गया और अब वो उनके साथ खेल रहा था। मैंने अब सिसकारियाँ भरनी शुरू कर दी थी और वो भी समझ गया था कि मुझे मज़ा आ रहा है।

यह कहानी भी पड़े  जवान पड़ोस की लड़की की चुदाई

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2