जवान दीदी को बॉस ने जमकर पेला

आज की इंडियन सेक्स स्टोरी में मैं अपनी दीदी की ऑफिस के एक कांड को अपने तरीके से आपको बताऊंगा. दीदी की शादी के पहले की कहानी और आप सब लोग एकदम धीरज से पढ़ीये. दीदी ने एम्. कोम. की पढ़ाई की थी, बहुत से बैंक के एग्जाम में अप्लाई तो किया पर नहीं मिली, आखिर उन्होंने एक छोटी सी प्राइवेट फॉर्म में नौकरी मिली. हम अलाहाबाद के मिडल क्लास फैमिली से बिलोंग करते हैं. में तब स्कूल में पढ़ रहा था. दीदी को एक अकाउंटेंट की जॉब मिली थी.

सैलरी थोड़ी कम थी. पर हमारा गुजारा हो रहा था. घर में पापा रिटायर हैं मां हाउस वाइफ तो दीदी की नौकरी ही हमारा सहारा था. दीदी देखने में एकदम नित्या मेनन जैसी थी साउथ की हीरोइन जेसी है. उसका फिगर ३८-३०-३६ था, रंग भी गोरा, और जाहिर है कॉलेज से लेकर मोहल्ले में उसके कई आशिक थे. पर दीदी किसी को घास नहीं डालती थी. पर भगवान ही जाने कौन सा फल कौन खाएगा.

कुछ महीने हुए थे कि तब दीदी की पगार बढ़ गई, तो हम सब खुश हुए. लेकिन सच थोड़ा अलग था. दीदी मुझसे सब शेयर करती थी तो उसने पहले मुझसे कसम खिलाई कि मैं किसी से ना कहूं. और बाद में दीदी ने मुझे बताया कि उसकी पगार नहीं बढ़ी हे. बल्कि उसने कंपनी के हिसाब में गड़बड़ कर के पैसा चुराया है. मैं थोड़ा डरा और कहां ही आप पकड़ी गई तो?

तो उसने भरोसा दिलाया कि वह हर महीने थोड़ा थोड़ा करके ऐसे चुराती है कि किसी को कुछ पता नहीं चलेगा. ऊपर से उसका किया हुआ काम कोई दोबारा चेक नहीं करता तो उसके पकड़े जाने का कोई चांस ही नहीं. मैं उसे कहने लगा की वह यह सब काम ना किया करें, एक दिन इसका अंजाम बुरा हो सकता है तो उसने कहा…

यह कहानी भी पड़े  डाल दो रस मेरी प्यासी चूत में - 2

दीदी : अरे छोटू घबरा मत. वैसे भी वह बुड्ढा बॉस सैलरी बहुत कम देता है. और नहीं करेंगे तो घर नहीं चल पाएगा. तेरे ट्यूशन फीस कैसे दे पाऊंगी में और तुजे बड़ा होके अच्छी पढ़ाई केसे करने को मिलेगी और तू बड़ा आदमी केसे बनेगा. और अगर पकड़ी गई तो हाथ पैर जोड़ कर माफी मांग लूंगी. भला एक लड़की को नौकरी से तो नहीं निकालेंगे ना?

दीदी की इतनी सारी बात सुनने के बाद मुझे भी लगा कि शायद दीदी सही कर रही है. और इस तरह दीदी हर महीने ज्यादा ज्यादा पैसे लाती और कभी हम सिनेमा जाते, तो कभी मॉल में घूमते थे. लेकिन हमें क्या मालूम था कि चोरी की जो ऐश हम लोग मिल कर कर रहे थे उसकी सजा भी मिल सकती है.

दीदी का बॉस एक 50 साल का बुड्ढा आदमी था. उसका नाम देवेश्वर पटेल था. वह लंबा, सावला, और बहुत गुस्से वाला भी था. दीदी ने कई बार उसके बारे में मुझे बताया था. सभी उसे बोस कहकर बुलाते थे और उस से बहुत डरते थे.

एक दिन जब दीदी अपने टेबल पर बैठ कर काम कर रही थी तो रिसेप्शन से कॉल आया उसे बॉस ने बुलाया है. दीदी ने सोचा की कोई पेपर की रिपोर्ट का प्रोग्रेस पूछने को बुलाया है, तो वह अंदर गयी, दीदी अक्सर ऑफिस सलवार कमीज में जाती है उस दिन भी एक ब्लैक रंग का सलवार कमीज पहन कर गई हुई थी, दीदी दरवाजे पर परमिशन लेकर अंदर गई…

बॉस : अरे हेजल आओ, तुमसे एक जरुरी काम था.

यह कहानी भी पड़े  डॉक्टर रश्मि की चालाकी -1

दीदी मुस्कुराई और खड़ी रही.

बॉस : अरे जरा टेबल के इस तरफ आना मेरे पीसी में यह डांटा देखो तो जरा..

दीदी चलके चलके घूमकर जब बॉस के पास पहुंची और झुक कर बोस के कंप्यूटर को देखा तो बॉस ने मॉनीटर उसकी और घुमा कर कहा.

बॉस : जरा ये एक गड़बड़ लगता है, मुझे इसका हिसाब केसे लगाया समझाओगी तुम जरा?

दीदी की आंखें उस चार्ट को देख कर फट गई वह दीदी के घपले की ही चार्ट बनायीं हुई थी दीदी वापिस खड़ी होकर बस की आंखों में देखने लगी और अब मेरी दीद के माथे पर पसीना आने लगा था.

बॉस : क्या हुआ एसी में तुम को पसीना क्यों आ गया? कुछ तो बोलो यह काम तुम्हारा है ना? जवाब दो मुझे.

दीदी : सर सर वो यह मैं ही करती हूं.

बॉस : इसके रिकॉर्ड के अनुसार पिछले 6 महीनों का हिसाब नहीं मिल रहा जिससे पता चलता है कि तुमने फ्रॉड किया है वह भी बड़े स्मार्ट तरीके से, क्यों?

दीदी चुप थी पर वह बॉस के जोर से चिल्लाने पर बोल उठी…

दीदी : सर वो घर में पैसे की जरूरत थी तो कुछ पैसे लिए थे मैं धीरे धीरे आप के सरे पैसे चुका दूंगी.

बॉस खड़ा हो गया और कहा : क्या तुम चुकाओगी? पता है, कितने का घपला हुआ है? पूरे दो लाख का.

दीदी चौंक गई, उसने एक एक पैसे का हिसाब लगाकर ही घपला किया था. ज्यादा से ज्यादा ६०००० रुपये होंगे.

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3 4

error: Content is protected !!