जग्गू, दया, और अंजलि के बीच हवस का खेल

नेक्स्ट दे अंजलि और दया सोसाइटी कॉंपाउंड में आ जाती है. दोनो को देख कर सोसाइटी के सारे मर्द उनको घूर्ने लगते है. दोनो कमाल की लग रही थी. दया ने एक ब्लू कलर की ट्रॅन्स्परेंट सारी पहनी थी, और साथ में मॅचिंग स्लीव्ले ब्लाउस.

दया ने बालों में जूड़ा बाँधा हुआ था. सारी उसने नाभि के नीचे बाँधी हुई थी. सारी टाइट पहनी थी, तो उसके बूब्स आंड हिप्स पर्फेक्ट शेप में दिख रहे थे. दया की सेक्सी कर्वी फिगर बहुत सेक्सी लग रही थी.

36″ साइज़ के बूब्स ब्लाउस में टाइट बँधे थे, और बाहर आने के लिए स्ट्रगल कर रहे थे. उसका ब्लाउस तोड़ा डीप नेक था, और पीछे से लोवर बॅक था.

अंजलि ने भी टाइट रेड टॉप और नीचे वाइट स्कर्ट पहना हुआ था. स्कर्ट नी से तोड़ा ही नीचे था, जिससे हर मर्द का दिल उसको उठा कर नीचे का नज़ारा देखने का कर रहा था. अंजलि के 34″ साइज़ बूब्स कमाल के लग रहे थे.

सनडे था, तो सब सोसाइटी कॉंपाउंड में थे. सारे मर्द दया और अंजलि को देख के अपना लंड अड्जस्ट कर रहे थे. लेकिन इतने सेक्सी माल को देख कर लंड अड्जस्ट करना मुश्किल होता है. दया ने भी आ नोटीस कर लिया था, तो वो भी सब मर्दो को अपनी तरफ सिड्यूस कर रही थी.

वो अपने सारे बॉडी पार्ट्स जान-बूझ कर एक्सपोज़ कर रही थी. मेहता घर से बाहर आता है. दया को देख के उसका लंड दया की छूट लेने को फदाक गया था. फिर वो नोटीस कर रहा था की दया की तो सब लेने के फिराक में है. अब इतने सेक्सी और गड्राए हुए फिगर वाली औरत को कों नही छोड़ना चाहेगा.

अब वो गोकुलधाम वासियों से मिलता है, और जग्गू भाई की वाइफ मीनाक्षी की फिल्म राइट करने का कांट्रॅक्ट लेने की सब को बात बताता है. ये बात सुन कर सभी लोग उसको कॉनग्रॅजुलेट करते है. महिला मंडल भी वाहा आ जाती है. वो भी दया और अंजलि को देख कर उनकी ड्रेसिंग की तारीफ करती है.

अब ये लोग टॅक्सी से जग्गू भाई के फार्म हाउस पहुँच जाते है. फार्म हाउस देख के सब खुश हो जाते है. फार्म हाउस में 3 बड़े विला टाइप हाउस थे. और सब एक-दूसरे से प्राइवेट थे. 3 हाउस में 3 पर्सनल स्विम्मिंग पूल थे.

जब ये लोग वाहा जाते है, तो जग्गू भाई सारे नौकरों और अपने चंचों को छुट्टी दे देता है. और मीनाक्षी तारक, अंजलि और दया का वेलकम करती है.

आज मीनाक्षी ने पिंक क्रॉप टॉप और ब्लॅक टाइट जीन्स पहनी थी. इसमे वो बहुत सेक्सी लग रही थी. उसका फिगर एक हिरनी की तरह लग रहा था. नीचे हाइ हील सॅंडल्ज़ पहने थे. उससे उसकी गांद बाहर पर्फेक्ट शेप में दिख रही थी. तारक का तो मूह खुला का खुला रह गया उसको देख कर. मीनाक्षी तारक से तोड़ा फ्रेंड्ली बिहेवियर रख रही थी.

जग्गू भाई की नज़र दया भाभी पर गयी. दया को देख कर वो तोड़ा सहम गया. दया आज एक-दूं हॉट बॉम्ब लग रही थी. कोई भी उसको देख ले, तो मूठ मारने लग जाए. वो जग्गू भाई को देख कर स्माइल कर रही थी. और अंजलि भी जग्गू भाई से बातें कर रही थी.

जग्गू भाई आज एक साथ 2 नयी लॅडीस के साथ बात कर रहा था. वो भी इतनी सेक्सी, की पूछो मत. अब तारक को मीनाक्षी के साथ थोड़ी प्राइवसी चाहिए थी, तो वो और मीनाक्षी थोड़ी डोर गार्डेन में चेर पे बैठ के छाई नाश्ता कर रहे थे.

जग्गू भाई भी दया और अंजलि के साथ बिज़ी हो गया था. वो भूल गया था, की उसकी वाइफ किसी और के साथ बैठी थी. अंजलि दया को आँख मार्टी है, और दया अपना पल्लू ठीक करते हुए जग्गू भाई सिड्यूस करती है. वो उसको अपनी भारी हुई गांद के दर्शन करवाती है, एक नॉटी स्माइल पास करते हुए. फिर वो बोलती है-

दया: जग्गू भाई, हम आपके फार्म हाउस पे पहली बार आए है. हमे आपका फार्म हाउस नही दिखाओगे?

जग्गू भाई का दया की अदाए देख कर लंड खड़ा हो जाता है. फिर वो बोलता है-

जग्गू भाई: क्यूँ नही? आपको मेरा फार्म हाउस देख कर बहुत अछा फील होगा. आपका बार-बार आने को मॅन करेगा (तोड़ा फ्लर्ट करते हुए).

जग्गू भाई: आप हमारी मेहमान-नवाज़ी भूल नही पाएँगी.

अंजलि जग्गू भाई के शोल्डर पे हाथ रखते हुए कहती है-

अंजलि: ऐसा है तो मैं भी आपकी मेहमान-नवाज़ी देखना चाहूँगी.

जग्गू को तो आज लॉटरी लग गयी थी. एक साथ 2-2 के साथ फार्म हाउस पे टाइम स्पेंड करने को मिल रहा था. दया, अंजलि और जग्गू भाई तारक और मीनाक्षी को बाइ बोल के फार्म हाउस देखने चले जाते है.

दया और अंजलि आयेज चल रही थी, और जग्गू भाई पीछे. दोनो की भारी हुई गांद देख कर वो कंट्रोल नही कर पा रहा था. वो सोच रहा था की आज अगर दोनो मिल जाए तो जन्नत मिल जाए.

वो दोनो को पूरा फार्म हाउस आचे से घुमा लेता है. और फिर रिलॅक्स होने के लिए वो एक हाउस में चले जाते है. अंजलि तारक को बोल देती है की वो और दया रिलॅक्स होने को एक हाउस में जेया रहे थे. वो तारक को मीनाक्षी के साथ डिस्कशन करते रहने के लिए कहती है (तारक को अब पूरी प्राइवसी मिलने वाली थी.)

दया: जग्गू भाई आपका फार्म हाउस बहुत ही बढ़िया है. मैं और अंजलि भाभी यहा बहुत कुछ एंजाय करना चाहती है.

दया जग्गू भाई का हाथ पकड़ लेती है. फिर दया जग्गू भाई के कान के पास जेया कर धीमी आवाज़ में बोलती है-

दया: हमे आपके स्विम्मिंग पूल में नहाना है.

फिर दया अंजलि को इशारा करती है, और दोनो चेंजिंग रूम में चले जाते है. जग्गू भाई भी सोच लेता है, की आज कुछ भी हो जाए, वो दया की छूट में लंड डाल के रहेगा. जग्गू भाई दारू की एक बॉटल लेके स्विम्मिंग पूल के पास टेबल पे बैठ जाता है.

हाथ में ग्लास लेके वो दया और अंजलि का इंतेज़ार कर रहा होता है. दया और अंजलि जैसे ही स्विम्मिंग पूल के पास आती है दोनो को देख कर उसकी लार तपाक जाती है.

नेक्स्ट पार्ट में बतौँगा की जग्गू भाई दया और अंजलि को किस रूप में देखता है.

यह कहानी भी पड़े  दया, अंजलि, और जग्गू भाई के ग्रूप सेक्स की स्टोरी


error: Content is protected !!