हज़्बेंड, वाइफ, और मसाज वाले की चुदाई कहानी

ही फ्रेंड्स, एक बार फिर आपका दोस्त राहुल और आपकी हॉट भाभी काव्या अपनी आयेज की स्टोरी लेकर आपके सामने है. समीर काव्या के उपर लेता हुआ था. दोनो लंबी-लंबी साँस ले रहे थे.

काव्या: समीर उतार जाओ, मैं फ्रेश होके कपड़े पहन लू. ये कभी भी आ सकते है.

काव्या का ये बोलना मेरे लिए सिग्नल था, की मैं अंदर आ जौ. हमने पहले से बात कर रखी थी, इसके लिए.

समीर: अछा भाभी, मुझे लगा अभी एक रौंद करेंगे.

इतने में मैं गाते ओपन करके रूम में एंटर कर देता हू. समीर देख के दर्र गया, और काव्या डरने के नाटक करती है.

मैं दोनो की नंगा देख के गुस्से में पूछता हू: ये क्या हो रहा है?

समीर: सिर कुछ नही, मसाज करते-करते आयिल लग गया था, तो हम दोनो ने कपड़े उतार दिए थे.

काव्या: तोड़ा बॅक होके स्माइल देती है.

मैं: अछा तो आयिल से कपड़े खराब हो रहे थे तो उतार दिए, ठीक है. बुत ये लंड पे कॉंडम कहा से आ गया?

समीर जल्दी में कॉंडम उतारना भूल गया था. समीर दर्र जाता है. मैं काव्या के पास पहुँच के उसको पूछता हू-

मैं: कैसा रहा मसाज?

काव्या: बहुत बढ़िया, मज़ा आया.

मैं: ठीक है, तुम्हारे फोन से ग़लती से कॉल लग गयी थी. उसको डिसकनेक्ट कर लो.

काव्या ने फोन उठा के ‘ओह सॉरी’ करके कॉल कट कर दी. इतने में डोरबेल रिंग करती है. मैने जो खाने के ओडर थोड़ी देर पहले दिया था, जब ये सेक्स कर रहे थे, वो आ गया था. मैने दोनो को बोला-

मैं: वॉशरूम में जाओ जल्दी से. लगता है खाना आ गया.

दोनो जल्दी से नंगे ही वॉशरूम में चले जाते है. मैं गाते ओपन करके खाना रिसीव करता हू. उधर समीर की दर्र से हालत खराब हो रही थी, और साथ मेरी वाइफ नंगी खड़ी थी. मैने वॉशरूम का डोर नॉक करा. दोनो को बाहर बोला आने के लिए. दोनो अभी भी नंगे ही थे.

फिर मैने दोनो को बोला: कम से कम अंडरगार्मेंट्स तो डाल लो. आओ खाना खाते है.

समीर को समझ नही आ रहा था, की क्या हो रहा था. काव्या समीर ने कपड़े पहन लिए, और समीर फुल कपड़े पहन रहा था. मैने रोका की पहले खाना खा लेते है. फिर हम लोगों ने खाना खाया.

मैने समीर से पूछा: कैसा लगा मेरी वाइफ के साथ?

समीर (डरते हुए): सिर क्या बोलू? ग़लती हो गयी.

फिर मैने उसको रिलॅक्स करने के लिए बोला.

मैं: कोई नही, इतनी हॉट लेडी हो तो ये सब नॉर्मल है.

काव्या ने भी स्माइल कर दी. समीर अब तोड़ा नॉर्मल हुआ.

वो बोला: सिर अभी इतने नॉर्मल हो के बात कर रहे है, मैं तो दर्र रहा था.

फिर मैने समीर को सब बता दिया की ये हम दोनो ने प्लान करा था.

समीर: सिर मैं तो दर्र गया था जब आप अंदर आए, और हम इस हालत में थे.

फिर समीर ने बोला: सिर नेक्स्ट फिर कब मौका मिलेगा आप दोनो से मिलने का?

माब्: अभी आप बोल रहे थे ना 2न्ड रौंद के लिए.

मैने काव्या की तरफ दहका और पूछा: रेडी हो?

काव्या: नही मुझे मसाज के बाद नीड आ रही है.

समीर: माँ वो आती है, आंड फिर लास्ट का जो क्लाइमॅक्स था, उसकी वजह से आप फुल रिलॅक्स हो गये.

फिर मैने काव्या को बोला: तुम सो जाओ आराम कर लो.

काव्या तोड़ा क्लीन करके अपने बेड पे जाके सो गयी. उसको लेट-ते ही जैसे नींद आ गयी. समीर ने तब तक कपड़े पहन लिए थे. मैं समीर को लेके बाहर आ गया, और बात करने लगा, की कैसा लगा. हमने कुछ देर बात करी.

फिर मैने उसको बोला: आज रात रुक जाओ, वाइफ सोक उठेगी तो एंजाय करेंगे.

वो खुश हो गया. फिर हम दोनो अंदर आए. मैने उसको आराम से बोला-

मैं: कपड़े उतार के वाइफ के साथ लेट जाओ. वो नींद में है, पता भी नही चलेगा.

मैं सोफा पे जाके लेट गया. थोड़ी देर के लिए तो सब सो गये. कुछ देर बाद मुझे आवाज़, सी आई, जैसे कोई किस कर रहा था. आँखें खुली, और बेड की तरफ दहका, तो समीर काव्या को किस कर रहा था.

काव्या की आँखें बंद थी नींद से, बुत वो रिप्लाइ कर रही थी. मैं उठ के बेड के पास आया. समीर मुझे देख के तोड़ा पीछे हुआ. मैने उसको कहा लगे रहने को. समीर फिर आयेज होके किस करने लगा. मैं वही खड़ा होके देख रहा था. फिर समीर ना मेरी वाइफ को घुमा के मेरी तरफ उसका फेस कर दिया.

वो अब उसकी बॅक बॉडी से खेलने लगा. 5-7 मिनिट ऐसे करते-करते वाइफ ना थोड़ी आँखें खोली. सामने मैं खड़ा था. वो मुझे देख एक-दूं से दर्र गयी और उठ गयी.

फिर वो बोली: आप यहा? तो साथ में कों है?

और पीछे मूड के दहका तो समीर था.

वो बोली: आप गये नही क्या अभी?

फिर मैं बेड पे आया और बोला: नही, आज रात ये हमारे साथ है. हम एंजाय करेंगे.

और मैं उसके लिप्स पे किस करने लग गया. समीर ना पीछे से वाइफ को किस करना स्टार्ट कर दिया. हम दोनो मज़े से काव्या को किस कर रहे थे, एक दूसरे की तरफ घुमा-घुमा के. कभी मैं बॅक पे किस करता, तो कभी लिप्स पे. कभी समीर लिप्स पे किस करता, तो कभी बॅक पे.

तीनो आचे वाले मज़े ले रहे थे. काव्या तो सिर्फ़ ब्रा पनटी में थी. समीर भी नंगा था. मैं फुल ड्रेस में था. मैने जल्दी से कपड़े उतार दिए और नंगा हो गया.

सच बोलू तो रहा नही जेया रहा था. जब से वाइफ की फोन पे आवाज़ सुनी थी, तब से कंट्रोल नही हो रहा था. मैने काव्या को लिटा के उसकी ब्रा उतार दी, और बूब्स चूसने लगा.

समीर एक साइड से बॉडी प्ले कर रहा था. वो पेट और नाभि पे किस कर रहा था. काव्या सिर्फ़ पनटी में थी. फिर मैं किस करते-करते नीचे आता गया, और समीर उपर की तरफ जाने लगा.

ये सीन सच में देखने लायक था. आप सिर्फ़ सोचो उसमे ही आपको मज़ा आएगा. हम तीनो तो कर रहे थे. समीर काव्या के बूब्स के पास आ गया, और चूसने लगा. काव्या ने समीर के लंड पकड़ लिया. ये देख के मेरे से और कंट्रोल नही हो रहा था. मैं जल्दी से काव्या की छूट चाटने लगा.

समीर काव्या के बूब्स चूस रहा था. काव्या लंड हिला रही थी. वो भी मज़े के साथ. जब पहले थ्रीसम करा था, तो इतने मज़े में नही थी. वो भी समीर का लंड सही से पकड़ के हिला रही थी, और आचे मज़े ले रही थी.

मैं छूट चाट रहा था, और काव्या मचल रही थी. समीर बूब्स शेक कर रहा था. फिर मैने जल्दी से लंड पे कॉंडम लगा के वाइफ की छूट में डाल दिया, और धक्का लगाने लगा. समीर कभी बूब्स चूस्टा तो कभी किस करता.

काव्या समीर के लंड पकड़ के हिला रही थी. समीर का भी बढ़िया वाला खड़ा हो चुका था. मेरी नज़र पड़ी समीर के लंड पे. फिर मैने अपना लंड निकाल के समीर को बोला-

मैं: कॉंडम लगा के आओ.

समीर जल्दी से कॉंडम लगा के काव्या की छूट के पास आया, और लंड सेट करके अंदर करके धक्के लगाने लगा. मैं काव्या को मस्त किस कर रहा था, और बूब्स दबा रहा था.

फिर हमने काव्या को पोज़ चेंज करने को बोला, और काव्या के नीचे मैं आ गया. बुत लंड नही डाला. मैने समीर को बोला, और समीर ने पीछे से लंड काव्या की छूट में डाला. काव्या के लिए ये पोज़ नया था. मैं नीचे से काव्या के बूब्स मस्त चूस रहा था.

समीर 10 मिनिट बाद लूस हो गया. सच बोलू यार मुझे करने से ज़्यादा उस टाइम वाइफ की चुदाई देखने में मज़ा आ रहा था. मैने नीचे से ही लंड वाइफ की छूट में सेट करा, और धक्का देने लगा. वाइफ उपर से मेरा साथ दे रही थी.

कुछ देर की चुदाई के बाद मेरा भी निकल गया. मैं और काव्या एक दूसरे के उपर लेट गये. हम तीनो वॉशरूम गये. वाहा किस करी, और थोड़े मज़े करे.

फिर हम बाहर आके नंगे सो गये. बीच में काव्या साइड में समीर एक साइड में मैं. इसके बाद हम समीर से फिर कभी नही मिले. नेक्स्ट दे घर आके हमने उसका नंबर ब्लॉक कर दिया था.

बुत हम यही पे नही रुके. आयेज क्या-क्या हुआ, ये जानने के लिए मेरे आने वाले पार्ट की वेट करो.

दोस्तों आपको कैसी लगी ये स्टोरी मुझे मैल करके रिप्लाइ करे. आंड प्लीज़ उल्टा सोचने वाले और उल्टा बोलने वाले डोर रहे. फन करना, सेक्स करना, कोई बुरा नही है, चाहे वो एक से हो रहा हो या अनेक से. इंसान की अपनी मर्ज़ी है.

यह कहानी भी पड़े  पति ने जबरदस्त चुदाई कर दाली


error: Content is protected !!