भाभी ने मांगी चुदाई की भीख

हैल्लो दोस्तों, में आज आप सभी सेक्सी कहानियों के मज़े लेने वालों के लिए अपनी एक सच्ची चुदाई की उस घटना को लेकर आया हूँ, जिसके बारे में मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि कभी मेरे साथ ऐसा भी होगा और मेरा पूरा जीवन उसकी वजह से बिल्कुल बदल जाएगा। दोस्तों वैसे तो मुझे बचपन से ही चुदाई का बहुत लगाव रहा है, मेरा लंड हर किसी छोटी बातों पर तनकर खड़ा हो जाता और में मुठ मारकर इसको शांत कर देता। फिर एक दिन मुझे अपने कुछ साथ वाले दोस्तों से सेक्सी कहानियों के बारे में पता चला और जब से लेकर आज तक मैंने ना जाने कितनी कहानियों को पढ़कर उनके मज़े लिए है ऐसा करने में मुझे बहुत मज़ा आने लगा। एक दिन जब में अपने कॉलेज से वापस घर आया, तब मैंने देखा कि मेरी भाभी ने उस समय लाल रंग की साड़ी और उनके ब्लाउज का गला इतना बड़ा था कि पीछे से उनकी पूरी कमर खुली हुई थी और वो सजीधजी बड़ी ही सुंदर आकर्षक लग रही थी। दोस्तों उन्होंने साड़ी को इतना नीचे बांधा हुआ था कि उसकी वजह से मुझे उनकी वो गोरी एकदम गोल आकार में बड़ी नाभि एकदम साफ नज़र आ रही थी और में तो उनको उस हालत में एकदम चकित होकर बहुत ध्यान से देखता ही रह गया।

फिर वो मेरी तरफ देखकर हंसकर मुझसे पूछने लगी क्यों क्या हुआ, जो तुम मुझे ऐसे एकटक नजर से घूरकर देख रहे हो? ऐसा तुम्हे मुझमें क्या नजर आ गया? में वही पहले वाली तुम्हारी भाभी हूँ। अब मैंने थोड़ा सा होश में आकर उनसे पूछा भाभी क्या आज आप कहीं जा रही हो, जो आज आप इतना सज-धजकर तैयार खड़ी हो? वो तुरंत बोल पड़ी हाँ आज में और मेरी बहन एक शादी में जा रहे है। फिर मैंने उनसे कहा कि आज तो फिर वहां पर सभी लोगों की छुट्टी हो जाएगी। मेरे मुहं से यह बात सुनकर वो हंसने लगी और पूछने लगी तुम ऐसा क्यों कह रहे हो? अब में मुस्कुराते हुए उनको बोला क्योंकि आज आप लग ही इतनी सुंदर रही हो छुट्टी तो सबकी होनी ही है और उन्होंने मेरे मुहं से अपनी तारीफ को सुनकर दोबारा मुस्कुराना शुरू किया और फिर उसी समय दरवाजे की घंटी बजने लगी और वो तुरंत दरवाजा खोलने चली गई। अब में पीछे से जाते हुए लगातार उनको देख रहा था कि तभी अचानक से उनकी बहन मेरे सामने आ गई। दोस्तों मैंने देखा कि उसने उस समय काले रंग की सलवार कमीज़ पहनी हुई थी और वो बहुत टाईट था, जिसकी वजह से उसका वो गोरा बदन दिखने में बड़ा आकर्षक लग रहा था और उसके वो दोनों बूब्स कसे हुए कपड़ो से उभरकर बाहर झांक रहे थे।

यह कहानी भी पड़े  मोटा लंड नंगा बदन

दोस्तों में तो बस अपनी चकित नजरों से देखा ही रहा। अब उसने मेरे पास आकर मुझे हल्का सा मेरे गाल पर हाथ लगाकर उसने मुझसे पूछा तुम ऐसे पागलों की तरह क्या देख रहे हो? अब मैंने भाभी की तरफ देखा और उससे कहा कि वो जो मुझे नज़र आ रहा है। फिर उसने मेरी तरफ देखकर मुस्कुराते हुए मुझसे पूछा तुम्हे ऐसा क्या नज़र आ रहा है, जिसको देखकर तुम्हे होश ही नहीं रहा? अब मैंने उसकी तरफ देखा और उससे कहा कि इतना कुछ ख़ास नहीं बस ऐसे ही तुम यह सब नहीं समझ सकती यह तुम्हारी समझ से परे है। यह बात सुनकर उसका मूड बदल गया और में उससे बोला अब में बहुत कुछ देख रहा हूँ, भाभी मेरे मुहं से यह बात सुनकर मुस्कुराने लगी और अब उन्होंने अपनी बहन से कहा कि हमें देर हो रही है और वो दोनों वहां से चली गई। फिर में भी अपने कमरे में चला गया और जाकर सो गया। फिर शाम को जब मेरी आँख खुली तो मैंने देखा कि मेरी भाभी उस समय मेरे कंप्यूटर पर कुछ कर रही थी, में बहुत आराम से उठा और में धीरे से उनके पास जाकर खड़ा हो गया।

अब उन्होंने मेरी तरफ देखकर मुस्कुराना शुरू किया और उसके बाद वो दोबारा कंप्यूटर पर अपना काम करने लगी। में उनके पास जाकर वहीं पर बैठ गया और उनसे कहने लगा, भाभी यह एक बहुत बड़ी दुनिया है आप इस बड़ी दुनिया में कहाँ है? वो कहने लगी कि में तेरी बनाई हुई इस दुनिया को आज बहुत ध्यान से देख रही हूँ। अब मैंने उनसे कहा फिर तो आप जरुर इसमें खो ही जाओगी। तभी वो मुझसे कहने लगी कि पहले में भी इस दुनिया में बहुत बार घूम चुकी हूँ तू किसी भी बात की टेंशन ना ले जो काम तू अब कर रहा है में वो सब बहुत पहले कर चुकी हूँ। अब में तुरंत समझ गया कि भाभी तो मेरे सोचने से भी ज्यादा तेज है और फिर में उठकर बाथरूम में फ्रेश होने चला गया और जब में बाथरूम से बाहर आया तब मैंने देखा कि भाभी वहां से जा चुकी थी। फिर में कंप्यूटर कुर्सी पर बैठा और उसकी हिस्टरी को खोलकर देखने लगा और तब मुझे देखकर पता चला कि भाभी ने मेरी सारी सेक्स साइट्स खोलकर देखी है। अब में तुरंत वहां से उठा और में सीधा भाभी के पास रसोई में चला गया और मैंने देखा कि वो वहाँ पर उस समय बर्तन धो रही थी और में उनके पास जाकर खड़ा हो गया।

यह कहानी भी पड़े  दोस्त की माँ हुई लंड पर फिदा

Pages: 1 2 3 4

error: Content is protected !!