मेरे पति ने शादी से पहले ही मुझे अपने बहनोई से चूदवाया

हैलो देसी कहानी दोस्तों कैसे हो आप सब मैं निशा शादीशुदा और पांच महीने के गर्भ से बरेटा पंजाब से हूं और जो कहानी आपको बताने जा रही हूँ वो एकदम सच्ची है और अगर कहानी लिखने में कोई गलती हो तो माफ करना और अच्छी लगे तो लाइक और कमैंट जरूर करना।

आप मेरी इस मादक और कामुकता से भरपूर चूदाई कहानी में पढिए मेरी सगाई के बाद मेरे होने वाले पति ने शादी से पहले ही मुझे अपने बहनोई से चूदने को कहा और कैसे मेरे होने वाले ननदोई ने अपने 12 इंच लम्बे और 6 इंच मोटे लंड से मेरी ननद के सामने मेरी और मेरी छोटी बहन की चूत की सील तोड कर हमारी चूत का भोसडा बना कर अपनी रंडी बनाया औरमुझे शादी से पहले ही गर्भ किया।

सबसे पहले आप मेंरे और मेरे परिवार और मेरे सूसराल परिवार और मेरी ननद ननदोई के बारे में जानिए मेरे परिवार में मैंनिशा एक बहुत मस्त जिस्म और खूबसूरत लडकी हूं मेरी मम्मी कैलाश मुझसे छोटी बहन सीमा और छोटा भाई नीरज हैं और मेरे पापा का निधन हो चूका है और हम मेरे मामा के रहमोकरम पर हैं और नीरज पढाई छोडकर मामा के यहां नौकरी कर रहा है और हम मेरे मामा के एक दोस्त के घर में रह रहे हैं।

मेरे सूसराल परिवार में मेरे सास ससुर मेरे पति और मेरी तीन ननद सबसे बडी शालू शादीशुदा और एक बच्चे की मां दूसरे नंबर वाली ननद रिम्पी की भी शादी हो चूकी है और वो भी गर्भ से है और मेरी सबसे छोटी ननद रजनी हैं।

मेरी ननद शालू एक गजब की खूबसूरत औरत है और उनके पति टोनी भी बहुत हैंडसम और नेकदिल मर्द है और वो मानसा के अच्छे बिजनेसमेन और पैसे वाला है।

अब आपका ज्यादा समय न लेते हुए मैं अपनी कहानी पर आती हूं और आप मस्त होकर मेरी चूदाई कहानी का मजा लें और मेरी कहानी को लाइक और कमैंट जरूर करें।

ये कहानी हमारे मानसा आने के करीब 6 महीने बाद की है तब मैं 12वीं में और सीमा 10वीं में पढ रही थी और मैं तब अपने मामा के दोस्त की पत्नी शालू से काफी घुल-मिल गई थी और मैं उसे दीदी बुलाने लगी थी और शालू दीदी भी मुझे बहुत मानती थी।

एक दिन शालू दीदी हमारे घर आई और बातों बातों में मम्मी ने शालू दीदी से कहा कि अब निशा की 12वीं क्लास की पढाई हो गई है और अब तो बस कोई अच्छा सा लडका मिल जाय तो इसकी शादी कर दूं।

दीदी ने कहा आंटी ऐसी भी क्या जल्दी है जो आप अभी निशा की शादी करना चाहती हो।

मम्मी बोली शालू निशा बिन बाप की लडकी है और इसकी शादी करके फिर सीमा की भी शादी करनी है।

शालू दीदी ने कहा आंटी अगर ऐसी बात है तो फिर निशा के लिए मेरी नजर में एक लडका है।

मम्मी ने कहा शालू कौन है वो लडका।

शालू दीदी बोली मेरा भाई सोनू।

शालू दीदी की बात सुनकर मम्मी चुप हो गई और उसके बाद दीदी अपने घर चली गई।

शाम को मम्मी ने मामा को शालू दीदी से हुई मेरी शादी की बात बताई और मामा शालू के भाई के साथ मेरी शादी की बात सुनकर बोले दीदी अगर निशा की शादी टोनी के साले से हो जाए और हमें क्या चाहिए।

मम्मी बोली भईया वो तो ठीक है पर भईया कहां उनकी हैसियत और कहां हम और उनकी दाज दहेज की मांग हम कैसे पूरी करेंगे।

मामा ने कहा दीदी ऐसी कोई बात नहीं है मुझे मालूम है कि शालू का मायका परिवार हमारी तरह ही था और टोनी की मदद से ही उनका कारोबार चला है और वो टोनी और शालू की किसी बात को मना नहीं करेंगे।

उसके बाद मेरी और शालू दीदी के भाई सोनू से सगाई हो गई और हमारी शादी का मुहूर्त 6 महीने बाद का निकला।

सगाई के बाद मेरी और मेरे होने वाले पति सोनू से मेरी रोज रात को फोन पर बात होने लगी और एक दिन जब हम फोन पर बात कर रहे थे तब मेरे होने वाले पति ने मुझसे कहा कि निशा मैं तुझसे कुछ जरूरी बात करना चाहता हूं।

मैंने कहा आप जो भी कहना चाहते हैं बेझिझक कहो।

उन्होंने कहा निशा तू मेरी बात का बुरा मत मानना ये हम सब के भले की बात है।

मैंने कहा आप जो भी कहना चाहते हैं बेझिझक कहो मैं किसी बात का बुरा नहीं मानूंगी।

सोनू कहने लगे कि निशा बात ऐसी है कि पहले तो मैं तुम्हें नंगी देखना चाहता हूं और फिर तुझसे आगे की बात कहूंगा।

मैंने शरमाते हुए कहा धत आप कैसी बातें कर रहे हैं और फोन काट दिया।

तभी सोनू की वीडियो काल आई और मुझसे कहा कि अगर तू मुझसे सच में प्यार करती है तो मेरी बात माननी पड़ेगी।

मैंने शरमाते हुए अपने कपड़े उतार दिए और नंगी होकर सोनू को अपना मादक मखमली जिस्म दिखाने लगी।

सोनू मेरा कामुक जिस्म देख कर बोले निशा क्या मस्त और खूबसूरत हो तूम।पर ये क्या तूने अपनी झांटे साफ क्यों नहीं कीं।

मैंने कहा वो शादी के समय कर लूंगी पर आपने तो मेरा सब कुछ देख लिया आप मुझे कुछ नहीं दिखाओगे।

सोनू कहने लगे निशा मैंने यही बात तो तुझसे करनी है और कुछ देर सोच कर बोले निशा बात ऐसी है कि तेरे जैसी मस्त और खूबसूरत लडकी को मैं शायद वो प्यार नहीं दे सकता जिसकी तुम हकदार हो।

मैंने कहा आप ऐसा क्यों सोच रहे हैं मुझे पता है आप मुझे बहुत प्यार करते हैं।

सोनू बोले निशा वो तो ठीक है पर जो मैं कहना चाहता हूं उसे ध्यान से सुन।

मैंने कहा बोलो क्या कहना चाहते हैं।

सोनू बोले निशा वो क्या है कि मैने टोनी जीजू और रिम्पी दीदी को बहुत बार एकसाथ देखा है और जो मजा टोनी जीजू रिम्पी दीदी को देते हैं वो मजा रिम्पी दीदी को राजू जीजू से नहीं मिलता और मैं और राजू जीजू दोनों एक जैसे हैं तू समझ रही है न मैं क्या कहना चाहता हूं।

मैंने कहा जी आप जो भी कहना चाहते हैं खुल कर कहो मुझे कुछ कुछ समझ आ रहा है पर मैं खुल कर सुनना चाहती हूं आप क्या कहना चाहते हो।

सोनू बोले निशा क्या तूम शादी से पहले कुछ दिन शालू दीदी और टोनी जीजू के साथ रह सकती है मैंने शालू दीदी से बात कर ली है और दीदी ने कहा है कि अगर तू चाहे तो कल सुबह ही वहां जा सकती है और जीजू भी चार दिन तक घर में दीदी के साथ ही हैं और मैं चाहता हूं कि शादी तक तू टोनी जीजू के साथ खुल कर मजा ले।

मैंने कहा मैं आपकी होने वाली पत्नी हूं और आप ये सब कैसे कह सकते हो।

सोनू बोले निशा इसीलिए तो तुझे कह रहा हूं अगर तुझे बुरा लगा तो कोई बात नहीं पर ये मैं तेरे और अपने भले के लिए कह रहा हूं।

मैंने कहा चलो ठीक है मैं आपकी बात मान लेती हूँ तो उसके बाद आप मुझसे शादी करने से मना कर दो तो मैं तो कहीं मुंह दिखाने लायक भी नहीं रहूंगी।

सोनू बोले निशा क्या तुझे मुझ पर अपने मामा पर और शालू दीदी और टोनी जीजू पर भी यकीन नहीं है तो फिर ठीक है।

मैंने कहा आप तो नाराज हो गए बोलो मुझे क्या करना होगा।

सोनू मेरी बात सुनकर खुश हो गए और बोले निशा मुझे पता था कि तू मेरी बात मानेगी और अब सबसे पहले तू अपनी झांटे साफ करेगी और फिर बिना कच्छी पहने शालू दीदी के पास जाएगी कयोंकि टोनी जीजू को चूत पर झांटे और कच्छी पहनी हुई बिल्कुल भी अच्छी नहीं लगती और उसके बाद क्या करना है वो सब शालू दीदी की जिम्मेदारी है।

मैंने कहा ठीक है पर मुझे कब तक शालू दीदी के घर में रहना होगा और मैं घर में क्या बोल कर जाउंगी।

सोनू बोले वो तू घर पर कहना कि टोनी जीजू कहीं बाहर गए हैं और शालू दीदी की तबियत ठीक नहीं है इसलिए तुम्हें शालू दीदी के घर रविवार तक रहना होगा। मैंने ठीक है बोल कर फोन काट दिया।

अगले दिन सबसे पहले मैंने अपनी चूत की अच्छे से सफाई की और फिर बिना कच्छी पहने एक कमीज सलवार पहनी और मम्मी को कहा मम्मी मुझे कुछ दिन शालू दीदी के घर रहना होगा कयोंकि जीजू कहीं बाहर गए हैं और शालू दीदी की तबियत ठीक नहीं है ये रात मुझे इन्होंने कहा है।

मम्मी ने कहा निशा तू चली जा पर जरा ध्यान से रहना कोई उल्टा सीधा मत कर देना।

उसके बाद मैं नाश्ता करके जब जाने लगी तभी सीमा ने कहा दीदी मैं भी चलूंगी तेरे साथ।

मैंने सीमा को अपने साथ चलने से मना कर दिया।

मम्मी ने मुझे सीमा को साथ ले जाने को कहा और मैं अनमने मन से सीमा को अपने साथ लेकर चल दी।

जब हम दोनों बहनें शालू दीदी के घर गईं तब शालू दीदी एक संतरी रंग की ब्रा कच्छी में मेरा इंतजार कर रही थी और मेरे साथ सीमा को देखकर शालू दीदी की आंखों में अजीब सी चमक आ गई और शालू दीदी ने कहा वाह निशा ये तूने बहुत अच्छा किया जो सीमा को भी अपने साथ ले आई।

सीमा शालू दीदी को ब्रा कच्छी में देख कर बोली दीदी ये क्या आप ऐसे कपडों में कयों हो और रात जीजू तो बोल रहे थे कि टोनी जीजू को कच्छी पहनी अच्छी नहीं लगती।

मैं सीमा की बात सुनकर दंग रह गई और उससे पुछा सीमा तुझे ये सब कैसे पता।

सीमा बोली दीदी मैंने रात तेरी और जीजू की बात सुन ली थी इसलिए मैं तेरेसाथ आई हूं मुझे भी मजा लेना है।

उसके बाद शालू दीदी ने टोनी जीजू को फोन लगाया और बोली जानू कब तक आ रहे हो जहां निशा के साथ साथ सीमा भी आपके लंड से अपनी चूत का भोसडा बनवाने को बेकरार है और जल्दी आओ बोल कर फोन काट दिया।

उसके बाद दीदी ने हम दोनों बहनों को कपडे उतारने को कहा और जब हम सिर्फ ब्रा में रह गई। तब दीदी हमारी सफेद रंग की साधारण सी ब्रा देख कर बोली निशा सीमा चलो पहले हम बाजार से तुम दोनों बहनों के लिए अच्छी सी ब्रा खरीद कर लाती हैं। ऐसी ब्रा में तुम जंच नहीं रही और अभी तुम्हारे जीजू के आने में भी समय लगेगा।

कयोंकि वो साली रंडी रिम्पी आई हुई है और उसकी और मम्मी की चूत में बहुत दिन से खुजली हो रही है अभी तेरे जीजू उनकी चूत की खुजली मिटा रहे हैं और फिर तुम दोनों बहनों की मस्त चुदाई करके तुझे अपने 12 इंच लम्बे और 6 इंच मोटे लंड से वीर्य तुम दोनों बहनों की मस्त चूत में छोड कर तुम्हें अपने बच्चे की मां बनाएंगे।

उसके बाद हम बाजार गई और बाजार से दीदी ने मेरे लिए एक गुलाबी रंग और सीमा के लिए लाल रंग की जालीदार ब्रा ली और हम घर आ गई और घर आते ही शालू दीदी ने हमें जल्दी से कपडे उतार कर ब्रा पहनने को कहा और जैसे ही हमने कपडे उतार कर ब्रा पहनी तभी बाहर घर की घंटी बजी और शालू दीदी हमें सोफे पर बैठने को बोल कर दरवाजा खोलने गई।

दरवाजा खुलते ही शालू दीदी टोनी जीजू से लिपट गई और अपनी गाल जीजू के होंठो से लगा कर बोली उउउऊऊऊ जानू जल्दी से अपने कपडे उतारो और अपने साले की होने वाली बीवी और साली की चूत की सील तोड कर भोसडा बना कर अपनी रंडी बना लो।

तभी टोनी जीजू ने अपने कपडे उतार दिए और शालू दीदी ने झट से टोनी जीजू का लंड चूम लिया और बोली उउउऊऊऊ जानू आपके लंड पर मम्मी और रिम्पी की चूत का पानी टपक रहा है क्या मम्मी और रिम्पी ने आपके लंड से अपनी चूत का पानी नहीं चाटा।

टोनी दीदी के होंठ चूम कर बोले मेरी जान ये तो मैं अपनी जान के लिए उसकी मां और बहन की चूत का पानी अपने लंड से लगाकर लाया हूं अब तू अच्छे से अपनी मां और बहन की चूत का पानी मेरे लंड से चाट कर अपनी भाभी और उसकी बहन की चूत की सील तोड कर भोसडा बनाने के लिए त्यार कर और शालू दीदी टोनी जीजू का लंड चपर चपर कर चूसने लगी और जीजू का लंड चाट कर अच्छे से साफ कर दिया।

उसके बाद टोनी जीजू हम दोनों बहनों के बीच बैठ कर हमारे चूचे ब्रा के उपर से मसलने लगे और शालू दीदी ने जीजू का लंड मेरे हाथ में पकडा दिया और टोनी जीजू का लंड बहुत गर्म था और मैं जीजू का लंड पकड कर सससीईईई करके बोली दीदी जीजू का लंड तो बहुत बडा और गर्म है।

दीदी मेरी ब्रा खोल कर मुझे नंगी करके बोली निशा मेरी प्यारी भाभी अभी मेरे जानू का लंड तेरी चूत में घूस कर अपनी गर्मी तेरी चूत में निकालेगा और तुझे बहुत मस्त मजा आएगा और तभी जीजू ने अपना लंड मेरे होंठो से लगा दिया और मुझे लंड चूसने को कहा और मैं जीजू का लंड चूसने लगी और जीजू मेरे चूचे मसलने लगे।

शालू दीदी ने सीमा को भी नंगी कर दिया और जीजू ने मेरे मुंह से लंड निकाल कर सीमा के हाथ में दे दिया और सीमा जीजू के लंड की गर्मी अपने हाथ में महसूस करके बोली उउउऊऊऊ जीजू ये तो बहुत गर्म है।

जीजू सीमा के चूचे जोर से खींच कर बोले सीमा जीजू का क्या बहुत गर्म है।

सीमा मस्ती में आआआहहह करके बोली उउउऊऊऊ जीजू आपका लंड बहुत गर्म है और टोनी जीजू का लंड चूसने लगी।

तभी शालू दीदी बोली जानू क्या इनकी चुदाई यहीं सोफे पर करनी है या अंदर बिस्तर पर चलें।

तभी टोनी उठे और शालू दीदी को अपनी गोद में उठा कर हमें भी अंदर कमरे में आने को बोल कर अंदर कमरे में आ गए और शालू दीदी को बिस्तर पर चित लिटा कर पहले शालू दीदी को नंगी किया और फिर दीदी की चूत पर चूमा लेकर बोले मेरी जान पहले तू अपने लंड को इजाजत दे कि ये तेरी भाभी और उसकी बहन की चूत की सील तोड कर इनको रंडी बनाए।

शालू दीदी ने टोनी जीजू का लंड पकड कर पहले एक लम्बा चूमा लिया और फिर अपने मस्त चूचों से लगा कर निचे अपनी चूत पर रगडने लगी और बोली उउउऊऊऊ जानू अब आपका लंड निशा और सीमा की चूत फाडने को त्यार है अब आप दोनों बहनों की मस्त चुदाई करके इन्हें अपनी पहली चूदाई का मजा देकर गांड भी फाड डालो।

टोनी दीदी के चूचे मसल कर बोले मेरी जान मेरे लंड पर तेरी चूत का पानी लग गया है तभी शालू दीदी ने जीजू का लंड अपने मुंह में भर लिया और जीजू के लंड से अपनी चूत का पानी चाट कर बोली लो जानू अब आपका लंड निशा और सीमा की चूत फाडने को त्यार है।

फिर टोनी जीजू ने हम दोनों बहनों को अपनी जांघों पर बैठाया और बारी बारी से हमारे चूचे मसलने और चूसने लगे और शालू दीदी झुक कर हमारी चूत चाटने लगी।

टोनी जीजू के चूचे मसलने और शालू दीदी के चूत चाटने से हम दोनों बहनें मदहोश होकर अअअआआ उउउऊऊऊ ओओओहह करने लगी और टोनी का लंड पकड कर उपर निचे करने लगी।

कुछ देर बाद टोनी जीजू ने मुझे बिस्तर पर चित लिटाया और मेरी दोनों टांगे खोल कर अपने होंठ मेरी गर्म गर्म चूत से लगा दिए और अपनी जीभ से मेरी चूत का छोला चाटने लगे और मैं आआआहहह करके मेरी चूत से पानी निकल गया और टोनी जीजू मेरी चूत का पानी चाट गए।

फिर टोनी जीजू ने मुझे घोडी बनाया और पिछे से अपना लंड मेरी चूत पर रगडने लगे और शालू दीदी से कहा मेरी जान जरा सम्भालना और एक जोरदार धक्का लगाया और टोनी जीजू का आधा लंड मेरी चूत में घूस गया।

मैं दर्द से चिल्लाने लगी और मेरी चूत से खून की मोटी धार निचे बिस्तर पर पडी और टोनी जीजू ने फिर से एक जोरदार धक्का लगाया और इस बार जीजू का सारा लंड मेरी चूत फाड कर मेरी चूत में समा गया और मैं फिर से दर्द से तडपने लगी और जीजू को लंड अपनी चूत से निकालने को कहने लगी जीजू मैंने नहीं चूदना निकालो अपना लंड मेरी चूत से।

जीजू ने मेरी कमर पकड कर अपना लंड सूपाडे तक मेरी चूत से निकाला और फिर से एक जोरदार धक्का लगाया और मेरी चूत पपपरर पपपरर करके फट गई और जीजू दे दनादन जोर जोर से मेरी चूदाई करने लगे।

कुछ देर बाद मुझे भी मजा आने लगा और मैं अपनी गांड पिछे करके चूदती हूई बोली उउउऊऊऊ जीजू बहुत मस्त मजा आ रहा है जोर से चोदो मुझे उउउऊऊऊ ओओओहह सीसीससस आआआहहह।

जीजू ने अपने धक्कों की रफ्तार कुछ कम की और मेरे दोनों मस्त चूचे खींचते हुए मेरी चूत में धक्के लगाने लगे और कुछ ही देर में मेरी चूत टोनी जीजू के लंड के धक्कों की चोट सहन नहीं कर सकी और झड गई।

टोनी जीजू ने अपना लंड मेरी चूत से निकाला और जीजू के लंड से मेरी चूत का खून और पानी टपक रहा था और शालू दीदी ने जीजू का लंड चूम लिया और बोली उउउऊऊऊ जानू आज आएगा चूदने का मजा और मुझसे बाथरूम में जाने को बोली। जब मैं उठने लगी तो मेरी चूत और जांघों में बहुत दर्द हो रहा था और मुझसे उठा नहीं गया।

दीदी ने सहारा देकर मुझे उठाया और बाथरूम में गर्म पानी से मेरी चूत धोई और मुझे लेकर फिर से बिस्तर पर आई।

बिस्तर मेरी चूत के खून से लथपथ था और सीमा चटकारे लेकर जीजू का लंड चूस रही थी और जीजू सीमा के चूचे जोर से खींच रहे थे और मेरे आते ही जीजू ने सीमा के मुंह से अपना लंड निकाला और मुझे चित लिटा कर फिर से अपना लंड मेरी चूत में पेल दिया और जोर जोर से मेरी चूदाई करने लगे और करीब एक घंटे बाद टोनी जीजू के लंड से गर्म गर्म वीर्य की तेज पिचकारी मेरी चूत में पडने लगी और मैं आआआहहह कर उठी।

मेरी चुदाई करने के बाद टोनी जीजू सीमा की चूत चाटने लगे और शालू दीदी जीजू का लंड चूसने लगी और फिर जीजू ने सीमा को बिस्तर पर चित लिटाया और अपना लंड सीमा की चूत की दरार से लगा कर एक जोरदार धक्का लगाया और जीजू का आधा लंड सीमा की चूत में घूस गया और सीमा दर्द से छटपटाने लगी और जीजू ने फिर से एक जोरदार धक्का लगाया और अपना सारा लंड सीमा की चूत में पेल दिया।

करीब एक घंटे की जबरदस्त चूदाई के बाद जीजू ने अपना वीर्य सीमा की चूत में छोड दिया और उसके बाद जीजू ने शालू दीदी की चुदाई की और अपना वीर्य शालू दीदी को पिलाया।

उसके बाद टोनी जीजू और शालू दीदी दोनों नंगे ही एक दूसरे से लिपट कर सो गए और अगले दिन सुबह शालू दीदी ने कहा जानू मैं नाश्ता त्यार करती हूं और तब तक आप दोनों बहनों की गांड मारने की तैयारी करो।

फिर हमने नाश्ता किया और उसके बाद जीजू ने हम दोनों बहनों की गांड फाडी।

ऐसे ही लगातार तीन दिन तक जीजू ने हम दोनों बहनों को नंगी रखकर खुब चुदाई की और अपना वीर्य हमारी चूत मुंह और चूचों पर छोडा।

तीन दिन बाद मेरी और सीमा की चूत का सूराख लगभग तीन इंच तक खुल गया था।

उसके बाद से मेरी शादी तक टोनी जीजू ने मेरी और सीमा की जबरदस्त चूदाई की और मेरी शादी से एक महीना पहले मैं गर्भ से हो गई और जब ये बात मैंने अपने होने वाले पति से बताई तो वो बहुत खुश हुए।

मेरे गर्भ से होने के बाद एक दिन जब टोनी जीजू मेरी चुदाई कर रहे थे। तब शालू दीदी ने कहा जानू अब समय आ गया है इस साली रंडी की चूत का काम तमाम करने का और अपनी अलमारी से एक रबड का जीजू के लंड जैसा लंड निकाला और मेरी चूत में डाल कर जीजू से कहा जानू आओ।

जीजू ने अपना लंड मेरी चूत के उपरी हिस्से से लगाया और एक जोरदार धक्का लगाया और जीजू के लंड का सूपाडा मेरी चूत में अडस गया और मैं दर्द से छटपटाने लगी।

तभी जीजू ने फिर से एक जोरदार धक्का लगाया और इस बार जीजू रबड के लंड के साथ साथ जीजू का लंड भी मेरी चूत में समा गया और मुझे अपनी चूत में दो लंड एकसाथ लेकर बहुत मस्त मजा आने लगा।

उस दिन जीजू ने मेरी चूत को फाड दिया और मेरी चूत का सूराख खुल कर पांच इंच का हो गया और उसके बाद दीदी ने रबड का वो लंड मेरी चूत में ही छोड दिया और उपर से एक लाक लगा कर कहा निशा अब से ये लंड हरदम तेरी चूत में रहेगा। और और कोई भी जब तेरी चुदाई करेगा तब अपना लंड और वीर्य इसमें ही छोडेगा। और जब तू अपने जीजू से चूदेगी तब ये लंड अपनी चूत से निकाल कर अपने जीजू के गर्म गर्म लंड और वीर्य का मजा लेना।

उसके बाद मेरी शादी हो गई और अब भी मेरी चूत में रबड का लंड हरदम रहता है और जब भी मुझे चूदने का मन होता है तो कभी जीजू मुझे और हमारी सास को चोदते हैं। और कभी मैं शालू दीदी के घर जाकर जीजू से मजा लेती हूं और साथ में सीमा भी होती है।

अब मैं पांच महीने के गर्भ से हूं और टोनी जीजू आज मेरे साथ साथ मेरी सास और अपनी साली रिम्पी की एकसाथ चूदाई करने वाले हैं।

अब मैं अपनी कहानी को विराम देती हूँ और मुझे उम्मीद है कि आपको मेरी कहानी अच्छी लगेगी।

आप मेरी इस मादक और कामुकता से भरपूर चूदाई कहानी को लाइक और कमैंट जरूर करें मेरी मेल आईडी है

यह कहानी भी पड़े  मेरी पहली चुदाई स्लीपर बस में

error: Content is protected !!