होली पे मा के थ्रीसम की सेक्सी कहानी

लास्ट स्टोरी में आपने पढ़ा, की कैसा संजय अंकल ने मम्मी की चुदाई की, और मैने उन दोनो की वीडियो भी बनाई. अब आयेज.

मैं शादी वाले घर आके लेट गया था. फिर थोड़ी देर बाद मम्मी भी वाहा आके मेरे पास लेट गयी.

मैं: मम्मी मज़ा आया संजय अंकल का लंड लेकर?

मम्मी: बहुत मज़ा आया बेटा. उनके छूट चाटने के स्किल्स इतने बढ़िया है, और मैं अपना नंबर और घर का पता भी देके आई हू उनको. ताकि आयेज भी मुझे उनसे चूड़ने का मॅन करा तो बुला लूँगी.

मैने धीरे से मम्मी की सारी उपर करके मम्मी की पनटी को च्छुआ, तो संजय अंकल का माल मम्मी की छूट में से अभी भी बाहर आ रहा था. मम्मी की पनटी पूरी गीली थी.

मैं: संजय अंकल ने आपकी छूट में बहुत सारा माल छ्चोढ़ दिया है.

मम्मी: हा बेटा, अभी भी मुझे लग रहा है बहुत सारा वीर्या मेरे अंदर है.

फिर मैने अपना लंड बाहर निकाला, और मम्मी की पनटी साइड करके जो संजय अंकल का वीर्या मम्मी की छूट से बाहर आ रहा था, मैने अपने लंड पे लगा के, मम्मी की छूट में वापस डाल के अंदर-बाहर करने लगा.

जैसे ही मैने 2-3 बार अंदर-बाहर करा, मैने देखा मम्मी की छूट मेरे लंड को चूसने लगी, और मुझे ऐसा लगा जैसे मैं किसी जन्नत की पारी को छोड़ रहा था.

मैं: मम्मी आपकी छूट मेरे लंड को चूस रही है. आप ये सब कहा से सीख गये? आहह, मज़ा आ रहा है.

मम्मी: मुझे भी नही पता मैं ये कैसे कर रही हू? लेकिन मुझे भी मज़ा आ रहा है.

मैं: ऊहह मम्मी, मेरा छूटने वाला है.

अब मैने अंकल का सारा वीर्या मम्मी के अंदर तक डाल दिया था, और मैं भी मम्मी के अंदर झाड़ गया था, और फिर हम दोनो एक-दूसरे से चिपक कर सो गया. सुबा मम्मी ने मुझे जल्दी उठाया, और कहा-

मम्मी: हमे घर के लिए निकलना है.

और मम्मी और मैं सुबा की ट्रेन से वापस घर आ गये.

फिर कुछ दिन तक तो कुछ भी नही हुआ. सब नॉर्मल ही था. फिर होली का दिन आ गया. मम्मी किचन में खाना बना रही थी. मोहल्ले की औरते मम्मी को कलर लगाने आ गयी. लेकिन मम्मी सारी में थी, और वो अपने सारी खराब नही करवाना चाहती थी. फिर मैने बोला-

मैं: आज आप शॉर्ट्स और वाइट त-शर्ट पहन लो, जो आपने खरीदा था.

मम्मी: मोहल्ले वाले क्या सोचेंगे? और तेरा पापा भी क्या सोचेगा?

मैं: आप पहनो तो सही, पापा भी आपको देख के चौंक जाएँगे.

मम्मी फिर शॉर्ट्स और वाइट त-शर्ट पहन कर आ गयी. मैं मम्मी को शॉर्ट्स में देखता ही रह गया. वो बहुत सेक्सी लग रही थी, और उनकी टांगे तो इतनी बढ़िया थी, की पूछो ही मत. पापा भी मम्मी को देख के शॉक हो गये थे.

पापा: अर्रे तुमने इतना छ्होटे कपड़े क्यूँ पहने है?

मम्मी: क्यूँ मैं अची नही लग रही इन कपड़ो में?

पापा: बहुत ही ज़्यादा सेक्सी लग रही हो. बाहर जाने से पहले एक बार डेडॉ.

मम्मी: नही अभी नही, उज्ज्वल घर पे है.

फिर मम्मी बाहर चली गयी. जैसे ही मम्मी बाहर निकली, मोहल्ले की औरते मम्मी को कलर लगाने आ गयी, और उनके बीच में मोहल्ले के आदमी भी आ गये. जब औरते मम्मी को कलर लगा रही थी, तब कुछ आदमी मम्मी के धीरे से बूब्स दबा रहे थे, और एक आदमी मम्मी की गांद पकड़ रहा था.

एक ने तो हद पार कर दी. वो मम्मी की शॉर्ट्स के अंदर हाथ डाल चुका था, और मम्मी की छूट मसल रहा था. भीड़ में मम्मी को भी कुछ समझ नही आ रहा था. जैसे ही भीड़ ख़तम हुई, मम्मी पूरी रंग चुकी थी.

मम्मी की ब्रा वाइट त-शर्ट में से सॉफ-सॉफ दिख रही थी, और मम्मी ने जो शॉर्ट्स पहनी थी, वो भी गीली होने के कारण पूरी चिपक गयी थी. तभी वाहा पे मेरा पड़ोसी पापु और रामू दोनो आ गये.

पापु: भाभी जी आप तो इन कपड़ो में पताका लग रही हो.

रामू: हा भाभी जी, पापु चल भाभी जी को हम भी कलर लगते है.

पापु और रामू मम्मी को कलर लगाने लग गये. तभी पापा भी वाहा आ गये, और ये सब देख लिया. लेकिन कुछ बोले नही. उनको लगा होली है तो एंजाय कर रहे होंगे. फिर पापु ने मम्मी के कान में धीरे से कहा-

पापु: भाभी जी अब रुका नही जेया रहा. चलो कही चलते है, और मज़े करता है. आज रामू और मुझे दोनो को एक साथ मज़े दे दो.

मम्मी: मेरा पति घर पे ही है, अगर उन्होने देख लिया तो?

रामू: भाभी जी आप चिंता मत करिए. अभी आपके पति देख के गये है, और कुछ भी नही बोल के गये है.

फिर पापु और रामू मम्मी का हाथ पकड़ के भीड़ के बीच में से धीरे से पापु के घर में ले गये. पापु ने आते से ही मम्मी की गीली त-शर्ट उतार दी, और मम्मी की नेवेल पे किस करना चालू कर दिया. पापु मम्मी की नेवेल पे अपनी जीभ अंदर-बाहर कर रहा था और रामू मम्मी के गुलाबी होंठो के मज़े ले रहा था.

अब पापु ने मम्मी की शॉर्ट्स उतारनी चालू कर दी, और रामू ने मम्मी की ब्रा का हुक खोल के मम्मी की ब्रा उतार दी. अब मम्मी बस पनटी में थी.

रामू: बहुत दीनो बाद आपके आँो के दर्शन हुए है. भाभी जी आज तू मज़े से इनका रस्स पियुंगा.

रामू मम्मी की एक साइड वाला बूब चूस रहा था, और पापु मम्मी की दूसरी साइड वाला बूब चूस रहा था, और मम्मी दोनो के सिर को सहला रही थी.

अब रामू बेड पे लेट गया और मम्मी अपनी पनटी जल्दी से उतार के रामू के उपर बैठ गयी, और पूरा लंड ले लिया. तभी पापु की नज़र मम्मी की गांद पे गयी.

पापु: भाभी जी आपने पहले कभी गांद मरवाई है या नही?

मम्मी: नही, मेरी गांद अभी तक नही मारी किसी ने.

पापु: अर्रे वाह, भाभी जी आपने तो मेरा होली का त्योहार माना दिया. आज आपकी गांद की वर्जिनिटी मैं ही तोड़ूँगा.

मम्मी: धीरे-धीरे डालना.

फिर पापु ने थूक के मम्मी की गांद में एक उंगली डाली. मम्मी को इतना दर्द नही हुआ. फिर धीरे से दूसरी उंगली भी डाल दी, जिससे मम्मी चिल्ला पड़ी.

मम्मी: अहह, मैने बोला था धीरे से डालो, छूतिए हो क्या?

पापु: रंडी तेरी गांद तो खोल दो, या डाइरेक्ट लंड ही डाल डू?

रामू मम्मी की छूट छोड़ रहा था. फिर पापु ने धीरे से लंड मम्मी की गांद पे रखा, और बोला-

पापु: देख स्टार्टिंग में तोड़ा बहुत दर्द होगा. फिर मज़ा ही आ जाएगा.

मम्मी: मज़ा तुम्हे आएगा या मुझे गान्डू?

पापु: तेरी ज़ुबान ज़्यादा चल रही है. रुक जा अभी बंद करता हू.

पापु ने एक बार में पूरा लंड मम्मी की गांद में डाल दिया, और मम्मी के दोनो हाथ पीछे पकड़ लिए, और मम्मी की गांद मारनी चालू कर दी.

अब मम्मी की आचे से सॅंडविच चुदाई हो रही थी. मम्मी भी अब गांद मरवाने का मज़ा लेने लगी. तभी बाहर से रामू को कोई आवाज़ लगता है.

रामू: इसकी मा की छूट, साला इतने दीनो बाद छोड़ रहा था. अब बाहर जाके इनकी मा छोड़ो.

रामू बाहर चला गया और अंदर पापु मम्मी की गांद मारे जेया रहा था.

पापु: भाभी जी एक बात बोलना सच-सच.

मम्मी: क्या?

पापु: मेरा लंड लेके मज़ा आता है या नही?

मम्मी: ह्म आह आता है.

पापु: तो आप मेरी बीवी क्यूँ नही बन जाती हो?

मम्मी: ये क्या बोला रहे हो?

पापु: सोचो भाभी जी आपको मेरा लंड लेके मज़ा आता है. तो हम दोनो पति-पत्नी बनके पूरा दिन सिर्फ़ चुदाई ही करेंगे. मेरी शादी भी नही हुई, और तुम्हारे जैसी खूबसूरत बीवी पाके मेरा जानम सफल हो जाएगा.

फिर पापु अपना सारा माल मम्मी की गांद में छ्चोढ़ के बोला-

पापु: तुम क्या सोच रही हो?

मम्मी: मुझे तोड़ा टाइम दो, ये सब के बारे में सोचने के लिए.

पापु: हा लीजिए, आपने टाइम माँगा है यानी हा ही होगी.

मैं ये सुन के शॉक हो गया. फिर पापु और मम्मी कपड़े पहन कर बाहर आ गये.

अब नेक्स्ट स्टोरी में पढ़िए क्या सच में मम्मी पापु की बीवी बन के पापा को डाइवोर्स दे देगी? या वो पापा की ही बीवी बनके रहेगी. आप कॉमेंट्स ज़रूर कीजिएगा ओक.

यह कहानी भी पड़े  बुआ को लंड चुसाया और उसकी चूत मारी

error: Content is protected !!