गर्लफ्रेंड और उसकी सिस्टर के साथ थ्रीसम

ही दोस्तो मे सौरभ फ्रॉम मुंबई. ये मेरी पहली स्टोरी है जिसे मे उपलोआड करने जा रहा हू इस साइट पे, हा मे इस साइट का पुराना रीडर हू ऑलमोस्ट डेली पढ़ता हू स्टोरीस तो सोचा आज अपनी एक रियल लाइफ की स्टोरी पोस्ट कर डू.

पहले मे अपने बारे मे बता डू मे मुंबई मे रहता हू प्रवाए कंपनी मे जॉब करता हू मे एक सिंपल तीन लड़का हू पर डिक का साइज़ काफ़ी बड़ा है और आज तक जितनी भी लड़की के साथ सेक्स किया है एसा न्ही हुआ वो रोई नही हो डिक लेने के टाइम उतनी साइज़ है.

ये स्टोरी मेरी रियल स्टोरी है जो मेरी गर्लफ्रेंड और उसकी सिस्टर के साथ हुई थी उन दोनो के साथ थ्रीसम किया था होटेल मे उसकी. तो अब स्टोरी पे आता हू…

स्टोरी अभी 2 मंत्स पहले की है जो मेरी गर्लफ्रेंड के साथ हुई थी. मेरी एक गर्लफ्रेंड थी सिनाली करके वो ओड़ीसा मे रहती थी हम दोनो फ़ेसबुक पे मिले थे. दोस्ती हुई प्यार हुआ दोनो को व्हातसपप पे बात हुई वीडियो कॉल्स पे बात हुई उसपे वीडियो सेक्स हुआ सब कुछ हुआ.

ये सब तो करीब 1 साल तक चला हुमारा ऑनलाइन. और विदेवकल्ल पे सेक्स वगेरा सब कुछ उसको कई बार नंगी भी कर दिया कॉल पे. उसने भी मूज़े देखा जितनी बार देखती मूज़े उतनी बार बोलती मे आपका लंड कही पे नही लूँगी बोहोट बड़ा है, मे मार जौंगी. तब तो ऑनलाइन था तो मे भी कुछ बोला नही चलने दिया जेसा चलता था वेसा.

फिर एक दिन उसे कुछ रिस्त्ेदार की शादी थी तो पुणे जाना था. तो हुँने मिलने का प्लान बनाया तो बोली ठीक है पर वो अकेली नही आई उसकी सिस्टर को भी लाई. उसको भी पता था हुमारे बारे मे तो मूज़े कोई प्राब्लम नही था उससे.

1 हफ्ते बाद हम मिलने वेल थे सब प्लान हो गया होटेल भी बुक कर ली. मैने ऑफीस से लीव भी ले ली 3 दिन की. वो पुणे आ गयी थी, पुणे आने के बाद वो दूसरे दिन आने वाली थी. तो मे उसको लेने स्टेशन पे गया वो और उसकी सिस्टर दोनो आई. आते ही वो मूज़े हग किया ज़ोर्से क्यूकी रियल मे पहली बार मिले थे हम सो..

उसके बाद हम घुममे गये, उसको तोड़ा घुमाया लंच किया. शाम को हम होटेल मे गये जहा पे रूम बुक था. मैने 2 रूम बुक किए थे 1 मेरे लिए 1 वो दोनो के लिए अलग अलग. पर रात को तो हम मिलने ही वेल थे.

वो हम होटेल पोोचे खाना ऑर्डर किया, वो दोनो भी फ्रेश हो गयी. मे अपने रूम मे फ्रेश हो गया. साथ मे खाना खाया फिर अबेट करने लगे हम बेत के.

तो मैने सोनाली को इशारा किया की वो उसकी सिस्टर को रूम मे भेज दे. वो समाज गयी और रूपाली को बोल दिया तुम रूम मे जाओ मे थोड़ी देर मे आती हू हम बात करने वेल है. तो वो समाज गयी और उठ के जाने लगी. बोली जीजू आराम से 3 दिन तक दीदी आपके पास ही है तो तोड़ा आराम से. और नॉटी सी स्माइल दे के चली गयी.

अब हम दोनो रूम मे अकेले थे मे और सोनाली मैने सोनाली को अपनी गोद मे बिता लिया और हग किया. फर्स्ट टाइम था तो कफई टाइट हग किया हुँने.

फिर मैने उसको किस किया लिप्स पे, पहली बार तो तोड़ा शरमाई पर मैने उसका मूह पकड़ के किस किया. तो वो भी साथ देने लगी मेरा. हम दोनो डीप किस करने लगे.

ऐसे ही 15 मीं तक किस करने के बाद मैने सोना को उठाया और बेड पे लिटा दिया. फिर से उसके उपर आके किस किया. हम दोनो एक दूसरे मे खो गये किस करते करते मैने उसके गले पे किस करना चालू किया. और साथ मे उसके छोटे ब्रेस्ट्स दबाने शुरू किया.

वो भी मदहोश होने लगी और आहे भरने लगी. मैने और ज़ोर से दबाए तो बोली जानू धीरे से दब्ाओ. फिर मैने थोड़ी देर ऐसे ही किस वगेरा किया और मे उठ गया और अपनी टशहिर्त निकाल दी मैने.

अब मे सिर्फ़ शॉर्ट्स मे था उसके सामने. मैने उसको उठा उसने लेग़गिस और कुर्ता पहना था तो कुर्ता उतार दिया मैने. अब वो सिर्फ़ लेग़गिस और ब्रा मे थी. मैने फिर उसके गले और पेट पे सब जगह किस करना चालू किया. वो भी साथ देने लगी और साथ मे ब्रेस्ट्स दबाने लगा. तो मैने उसकी ब्रा खोलने को कहा.

उसने ब्रा खोल दी, मैने उसकी ब्रा उतार दी, उसके बूब्स इतने बड़े नही थे नॉर्मल साइज़ के थे पर एकद्ूम गोल निपल्स थे ब्लॅक. मे तो देखते ही निपल चूसना शुरू कर दिया. सोना बोली बेबी आराम से यहा ही हू कही नही जा रही, आराम से चूसो. पर मे नही माना मैने उसके दोनो ब्रेस्ट्स बड़े आचे से दबाए चूसे मसले सब कुछ किया.

अब मे उठ गया और उसकी लेग़गिस उतरी, अब वो सोर्फ पनटी मे थी मेरे सामने. दोस्तो क्या थाइस थे उसके, उसकी बॉडी के हिसाब से काफ़ी आचे थाइस थे.

मैने उसकी पनटी भी निकल दी और अब वो पूरी नंगी मेरे सामने लेती थी. एकदम स्माल सा बादाम पूरी नंगी नॉर्मल साइज़ के बूब्स और ब्लॅक शेव्ड पुसी. मेरा तो लंड ही खड़ा हो गया. तो मैने अपना शॉर्ट्स निकल दिया, मे अंडरवेर मे था, सोना मेरा खड़ा लंड देख के बोली जानू प्लीज़ मुजसे नही होगा आपका बोहोट ही बड़ा है. कॉल मे इतना नही लगता पर काफ़ी मोटा और लंबा भी है. तो प्लीज़ इससे आयेज नही करते.

पर मैने उसको किस किया और उसकी छूट पे हाथ फेरने लगा. वो माधोस होने लगी और मैने 1 उंगली उसकी छूट मे डाल दी और किस करने लगा. उसकी छूट गीली हो गयी थी.

थोड़ी देर ऐसे ही उंगली करने के बाद मैने उसको छोड़ा. वो बेड पे लेट गयी और बोली जानू ये क्या कर दिया आपने मूज़े.. और माधोसी मे बोलने लगी जानू अब जो हो बस आप वो अपना बड़ा लंड डाल दो छूट मे.

तो मैने उसको उठाया और बोला पहले इसको गीला करो, चूसो उसको पहले. तो उसने माना किया पर मानने के बाद उसने लंड मूह मे लिया. पूरा लंड उसके मूह मे नही जा रहा था. तो तोड़ा करके चूसने और चाटने लगी.

मैने उसका सिर पकड़ लिया और उसके मूह मे देने लगा लंड. 15 मीं उससे लंड चुसवाने के बाद उसको लेटया और बोला पेर फेलके सो जाओ. तो वो सो गयी और मे उसके उपर लंड सेट किया छूट पे घुमाया तोड़ा.

तो बोली जानू प्लीज़ दालोना, अब अंदर रहा नही जा रा तो मैने लंड का टॉप अंदर डाला. उसकी आखे छोड़ी हो गयी क्यूकी उसकी छूट बोहोट टाइट थी.

मैने लंड बाहर निकल लिया और तोड़ा थूक लगाके फिर से छूट मे डाला. आधा लंड अंदर गया तो वो चिल्लाने लगी और बोली जानू बोहोट दर्द कर रहा है निकालो इसको..

मैने निकाल के उसको किस किया और उंगली की छूट मे डाली. उसको तोड़ा शांत करने के बाद उसके दोनो पेर अपने कंधे पे लेके लंड छूट मे सेट किया और एक ज़ोर का झट का मारा. तो पूरा लंड छूट मे चला गया और वो रोने लगी. मैने उसको किस करके शांत किया और धीरे धीरे धक्के मारना चालू किया.

10 मीं बाद वो तोड़ा नॉर्मल हुई तो मैने धक्के मारना चालू किया. वो आहे भरने लगी और मज़े लेने लगी और बोली जानू आपका सच मे बोहोट बड़ा और मोटा है, सील तोड़ दी आपने मेरी आज.

ये सुनके मैने अपने धक्के मारने की स्पीड थोड़ी बधाई और नॉर्मल स्पीड पे धक्के मारना चालू किया. ऐसे ही 15 मीं तक उसकी छूट को छोड़ने के बाद मैने उसको फिरसे लंड मूह मे दिया और चुस्वाया.

फिर मैने उसको बोला घोड़ी बन जाओ, उसको घोड़ी बनाया और पीछे से लंड डाल के 20 मीं तक उसकी छूट छोड़ी. अब मेरा निकालने वाला था तो मैने उसको लिटाया और उसके बूब्स पे सारा पानी निकल दिया.

इतनी चुदाई के बाद वो काफ़ी तक गयी थी और ऐसे ही नंगी लेती रही. मे खड़ा हो गया और लंड को सॉफ किया. तब डोर पे नॉक हुआ तो मैने सोना को चदडार से ढाका और खुद टवल ले लिया और डोर खोला. तो उसकी बहें रूपाली थी.

मैने पूछा क्या हुआ?

बोली दीदी अभी तक आई नही इसलिए मे आई.

तो मैने तो हाफ ओपन ही था तो बोली जीजू ये क्या आपके कपड़े कहा है?

मैने तोड़ा डोर खोला तो उसने अंदर देखा, उसकी बहें को नंगी लेते हुई जो मैने चदडार डाली हुई थी और उल्टी लेती हुई थी. तो उसकी ओपन बॅक दिख रही थी.

रूपाली बोली जीजू मज़े किया है आपने.. और नॉटी स्माइल दी उसने.

मे बोला अब जाओ तुम रूम मे सुबा मिलते है.

रूपाली – अकेले अकेले जीजू..

मे – क्या मालतब? तुम्हारी दीदी तो है साथ मे.

रूपाली – अकेला मज़े किया तो है, मूज़े कुछ दिखा रा है (तब मेरा लंड तोड़ा खड़ा था और सिर्फ़ टवल था तो उसको दिखा वो.)

मे – नॉटी स्माइल देते हुए बोला : अछा तुम्हे भी करना ही है जीजू के साथ?

रूपाली – वैसे मॅन तो नही है ऐसा कुछ पर देख के लगता दीदी के बड़े मज़े है.

मे – हा तो वो है.

रूपाली – जीजू एक बार मुझे भी दिखाओ ना.

मे – क्या दिखौ?

रूपाली – वो ही जो आपके टवल मे दिख रहा है, टवल निकाल दो एक बार.

मे – अरे मे तुम्हारा जीजू हू ये सब नही अछा लगता.

रूपाली – जीजू ही होना प्लीज़ दिखाओ ना एक बार (ऐसे करके उसने टवल पकड़ लिया मेरा.)

मे – ये क्या कर रही हो, ठीक है दिखता हू.. और मैने अपना टवल निकल दिया.

इतने मे सोनाली की हिलने की आवाज़ आई तो वो दर गयी और मैने उसको उसके रूम मे भेज दिया ओट डोर लॉक कर दिया तो सोना बोली कों था में बोला रूपाली तो बोली ऐसे नंगे क्यू गये थे और मूज़े भी धक देते उसने सब देख लिया की हुँने सेक्स किया है

मैने खा ठीक है ना तो फिर मेँफ़िरसे ुआके उपर आगेया और उसको किस करते उसको गरम किया और उस रत हुँने 3 बार चुदाई की.

तो फ्रेंड्स कैसी लगी पहली स्टोरी? कुछ ग़लती हुई तो माफ़ करना फर्स्ट है. सो इसके आयेज मे बतौँगा कैसे मैने रूपाली और सोना दोनो को साथ मे छोड़ा. तब तक के लिए बाइ.

किसी को बात करनी या फीडबॅक देना हो तो मेरा मैल ईद  [email protected] पर फीडबॅक भेजना..

यह कहानी भी पड़े  फिरंगन चुत और देसी लंड की ताबड़तोड़ चुदाई

error: Content is protected !!