घर में काम करने वाली की टाइट गांद मारी

हेलो, तो कैसे है आप? उमीद करता हू सब ठीक-ताक होंगे. मैं बहुत टाइम से ड्के पर स्टोरी रेड कर रहा हू. तो सोचा क्यूँ ना अपनी स्टोरी भी सब के साथ शेरे करू. ये मेरी पहली स्टोरी है, तो प्लीज़ अगर कोई ग़लती हो जाए तो माफ़ कर देना.

मेरा नाम सलमान है, और मेरी आगे 24 साल है. मैं लाहोर में रहता हू. ये कहानी मेरी और मेरे घर काम करने वाली नौकरानी के बीच हुए सेक्स की है.

नौकरानी का नाम मरयम है. उसकी आगे 30 साल है. फिगर उसका 36-34-38 है. उसकी गांद उफ़फ्फ़ क्या मस्त है गोल-गोल, और पीछे को निकली हुई. मैं जब भी उसकी मोटी गांद देखता हू, तो मेरा लंड खड़ा हो जाता है. उसके बूब्स देख कर तो मॅन काबू से ही बाहर हो जाता है.

ये बात 1 साल पहले की है. वो रोज़ हमारे घर काम करने आती थी. मैं उसकी गांद और बूब्स देख कर अपना लंड हिलता था. मैने उस पर बहुत ज़्यादा लाइन मारी, लेकिन वो ज़्यादा लाइन नही देती थी.

फिर एक दिन मैं घर पर अकेला था. घर में सब एक फंक्षन पर गये थे. मरयम घर का काम कर रही थी. मैं सोफे पर बैठ कर उसकी मोटी गांद और बूब्स देख रहा था. उसने बहुत टाइट सलवार-कमीज़ पहनी हुई थी. अफ… क्या लग रही थी वो.

मैने हिम्मत की और उसके पास चला गया. फिर मैने उसका हाथ पकड़ा, और उसको अपनी तरफ खींच लिया, और ज़ोर से हग किया.

वो बोलने लगी: ये क्या कर रहे हो? छ्चोढो मुझे, नही तो मैं तेरी मों को सब कुछ बता दूँगी.

मैं उसको इग्नोर करते हुए उसकी गांद दबाने लगा, और उसकी छूट पर मेरा 10 इंच का लंड रगड़ने लगा था. तो उसने मुझे धक्का दिया, और मुझसे डोर होके खड़ी हो गयी.

फिर मैने उसको बोला: मैं फ्री में कुछ नही करूँगा तेरे साथ. थोड़ी देर के लिए मेरी रंडी बन जेया. मैं तुझे 5000 दूँगा.

ये सुन कर वो मान गयी. फिर मैने उसको नीचे बिताया, और अपना लंड बाहर निकाला. मेरा मोटा लंबा लंड देख कर वो दर्र गये.

वो बोलने लगी: आपका बहुत बड़ा है. सिर्फ़ टोपी ही मूह में लूँगी. पूरा नही जाएगा.

फिर वो मेरे लंड की टोपी को चूसने लगी. अफ, क्या मज़ा आ रहा था. फिर अपनी ज़ुबान से मेरा लंड चाट रही थी. मुझे बहुत ज़्यादा मज़ा आ रहा था. फिर मैने उसके बाल पकड़े, और लंड उसके मूह में डाल दिया.

अभी 4 इंच लंड ही उसके मूह में गया था, और वो लंड बाहर निकालने का ट्राइ करने लगी. मैने और ज़ोर लगा कर हाफ लंड उसके मूह में पेल दिया. वो आ उम्म जैसी आवाज़ कर रही थी. मैने फिर उसके मूह में धक्का मारा.

मैं उसका मूह छोड़ने लगा. उसके मूह में लंड अंदर-बाहर कर रहा था. मुझे बहुत ज़्यादा मज़ा आ रहा था. मैं साथ-साथ मरयम के मूह पर थप्पड़ मार रहा था. वो बिल्कुल रंडी की तरह मेरा लंड चूस रही थी.

फिर मैने अपना लंड बाहर निकाला, और उसका मूह खोला, और उसके मूह में थूक दिया. उसके बाद मैं उसको रूम में ले गया. वाहा ले जेया कर मैने उसको पूरी नंगी कर दिया, और बेड पर लिटा दिया. फिर मैने उसकी छूट को स्मेल किया.

अफ, क्या स्मेल आ रही थी. उसकी छूट पर कोई भी बाल नही था, और बिल्कुल क्लीन थी. फिर मैने उसकी छूट को मूह में भर लिया, और उसकी छूट चूसने और चाटने लगा. 2 मिनिट चाटने के बाद उसका पानी निकल गया.

फिर वो अपना हाथ मेरे सिर पर फेरने लगी और बोली: अफ सलमान, आज तक मेरी किसी ने भी छूट नही छाती, तूने मेरा पानी ही निकाल दिया.

मैने बोला: साली रंडी, अभी तो बस शुरू हुआ है.

फिर मैने उसकी टांगे उठाई, और लंड उसकी छूट पर सेट किया.

तभी मरयम बोली: प्लीज़ आराम से डालना. आपका बहुत बड़ा है. मैं मॅर जौंगी.

मैने लंड का टोपा उसकी छूट के अंदर डाला, तो मरयम तड़पने लगी. वो उफ़फ्फ़ आह आहह करने लगी. फिर मैने आराम-आराम से हाफ लंड अंदर डाला. उसके बाद मैने उसके बूब्स पर थप्पड़ मारे, और लंड बाहर निकाला. फिर एक झटके में पूरा 10 इंच का लंड उसकी छूट के अंदर डाल दिया. वो रोने लग गयी और बोलने लगी-

मरयम: उफ़फ्फ़ आ मॅर गयी. आराम से करो आह.

लेकिन मैने उसकी नही सुनी, और पूरी स्पीड में उसको छोड़ता रहा. उसकी हालत बहुत ज़्यादा खराब हो गयी थी. उसकी छूट टाइट थी, और मुझे बहुत ज़्यादा मज़ा आ रहा था. क्या मस्त छूट थी उसकी. मैं 20 मिनिट्स तक उसको छोड़ता रहा. फिर मैने अपना लंड निकाला. उसकी छूट से पानी निकल रहा था. तभी वो बोली-

मरयम: अब और नही कर सकती. अभी छ्चोढ़ दो.

मैने बोला: अभी मेरा पानी नही निकला.

फिर मैने उसको डॉगी स्टाइल में 10 मिनिट छोड़ा. और उसके बाद मैं उसकी छूट में ही फारिघ् हो गया और वो वही बेहोश हो कर गिर गयी. फिर मैने खुद को सॉफ किया और उसके साथ ही नंगा सो गया.

1 अवर बाद जब मैं उठा, तो वो उल्टी सो रही थी. गांद उपर की तरफ थी उसकी. तो मैं उठा, मैने उसकी टांगे खोली, और उसकी गांद पर लंड सेट किया, और थूक लगाया, और टोपा उसकी गांद में डाल दिया. उसकी चीख निकल गयी.

वो मुझे बोलने लगी: छ्चोढ़ दो. अभी और नही कर सकती.

मैने उसको वही पकड़ लिया, और हाफ लंड उसकी गांद में डाल दिया. फिर 10 मिनिट वैसे ही रहा.

फिर वो उफ़फ्फ़ आहह करने लगी, और नीचे से गांद उठा-उठा कर लंड अंदर-बाहर करने लगी. मैने उस वैसे ही घोड़ी बनाया, और उसके बाल पकड़ कर उसकी गांद मारने लगा.

मैं उसकी गांद पुर स्पीड से मार रहा था. उफ़फ्फ़ मुझे तो सोच कर ही बहुत ज़्यादा मज़ा आ रहा था, की जिसकी गांद देख कर मेरा लंड खड़ा हो जाता था, आज मैं फाइनली उस गांद में लंड डाल कर पेल रहा था.

अब मरयम को भू बहुत ज़्यादा मज़ा आ रहा था. वो बोल रही थी, की आज तक उसको इतना कभी भी मज़ा नही आया.

मरयम: अफ… और मारो आ मॅर गयी. मुझे अपने रंडी बना लो. मैं तुम्हारी कुटिया बन कर रहूंगी.

40 मिनिट बाद मैने लंड बाहर निकाला और उसके मूह में डाल दिया. लंड पर थोड़ी सी टट्टी भी लगी थी. फिर मैं उसके मूह में ही फारिघ् हो गया, और उसने चाट के मेरा लंड सॉफ किया. फिर कुछ टाइम बाद वो उठ कर ड्रेस पहन कर चली गयी.

नेक्स्ट पार्ट में आपको बतौँगा और क्या-क्या किया मैने उसके साथ. और भी सर्प्राइज़ बतौँगा आप लोगों को.

यह कहानी भी पड़े  पति ने नौकर से बीवी चुदाई


error: Content is protected !!