गे पति, और उसकी रंडी पत्नी की हॉट कहानी

हेलो फ्रेंड्स, मेरा नाम आशीष है, और मेरी आगे 33 यियर्ज़ है. ये स्टोरी मेरी क्रॉस-ड्रेसिंग से मेरी शादी के बाद तक मतलब अभी तक के सफ़र की है. की कैसे मैं अपनी ड्रीम लाइफ जीने लगा उसपे है. ये ट्रू स्टोरी है. ई होप आपको पसंद आएगी.

मैं आशीष एक अप्पर-मिड्ल-क्लास फॅमिली से आता हू. हम मुंबई में अंधेरी वेस्ट में रहते है. मेरी एक सिस्टर है जो मुझसे 8 साल बड़ी है, और अब उस में रहती है. मेरे पापा की डेत हुई जब मैं 12 यियर्ज़ का था.

पापा ने प्रॉपर्टी में इनवेस्ट किया था, और आज उसकी बहुत वॅल्यू हुई है, और रेंट लॅक्स में आता है. तो जॉब कभी की नही मैने.

बॅक तो थे स्टोरी. मुझे बचपन से लॅडीस ड्रेस का शौंक था, मेक-उप का शौंक था.

मेरी सिस्टर की जब शादी हुई, तब मैं 13 साल का था. घर के पास में मों एक रेस्टोरेंट ऋण करती थी, और बहुत अछा चलता था. घर पे मैं अकेला जब होता था, तो सिस्टर के पुराने क्लोद्स पहनता था.

धीरे-धीरे मुझे बहुत अछा लगने लगा. मैं सब गियर्ली थिंग्स पसंद करने लगा. मेक-उप करना भी अछा लगता था. पॅंटीस पहनना बहुत अछा लगता था.

फिर मैं रोज़ पहन के बाहर स्कूल या खेलने जाता था. अब मैं 18 का हो चुका था. हमारे नेबर अंकल ने एक बार मेरी पिंक पनटी देख ली थी. तब से वो मुझे देखते थे. एक बार मैने ड्रेस किया था, और वो अचानक आ गये.

मैं मैं डोर ओपन करता तब तक वो उनके पास रखी हुई के से डोर ओपन करके अंदर आ गये. और उन्होने मुझे ड्रेस्ड देख लिया. मैं रोने लगा, और बोला-

मैं: प्लीज़ किसी को मत बोलना.

उन्होने मुझे अपने पास लिया, हग किया, और बोला-

अंकल: बहुत सुंदर हो.

उन्होने मुझे किस किया और अपने कॉक पे मेरा हाथ रखा. उनका हाथ बहुत कड़क और मोटा था. उन्होने मुझे बोला-

अंकल: डार्लिंग तुम फुल लड़की हो. देखो मर्द का ऐसे होता है. तुम्हारा कॉक तो कड़क भी नही हो रहा है, और उसकी ग्रोत भी नही हुई है.

उन्होने मुझे बहुत किस्सिंग किया, और उनका बाहर निकाला, और बोले-

अंकल: डार्लिंग लॉलिपोप को सक करो.

मैने सक किया, और उन्होने अपना कम मेरे मूह में निकाल दिया. फिर मुझे हग करते हुए कहा-

अंकल: आज से तुम आशीष नही रेशमा हो, मेरी रेशमा.

मैं अब रोज़ पॅंटीस पहनने लगा. अंकल ने बोला-

अंकल: आज से रोज़ ब्रा और पॅंटीस दोनो पहनना.

मैं अपने पसंद के लॅडीस कपड़े लेने लगा लेगैंग्स, कुरटास, टॉप्स, स्कर्ट्स . मेरे कॉलेज में भी धीरे-ध्ीएरए सब को मालूम होने लगा. ऑब्वियस बात त. मेरी मा को भी पता चला, की मैं बहुत गियर्ली बिहेव करता हू.

मा बहुत गुस्सा हुई. उन्होने मुझे मारा, डॉक्टर के पास ले गयी.

फिर डॉक. ने बोला: इसके सेक्षुयल पार्ट (कॉक) का ग्रोत नही हुआ है, और वाहा ब्लड सप्लाइ नही है. इसलिए हमेशा वैसे ही रहेगा.

मेरे आदमियों के साथ अफेर्स चल रहे थे. कभी-कभी पूरा ड्रेस करके बाहर भी घूमने लगा. मा को बहुत गुस्सा था. फिर जैसे मैं 21 का हुआ, विलेजस में मेरे लिए लड़की देखने लगे.

मैने मा बोला: मा मैं शादी नही करूँगा.

मा ने बोला: अगर शादी नही की, तो सारी प्रॉपर्टी डोनेट कर दूँगी, और तुझे कुछ नही मिलेगा. कोकण के विलेज में एक लड़की मिली, जो बहुत ग़रीब घर से थी, और 2 मंत्स प्रेग्नेंट थी. उसके ब्फ ने उसको धोखा दिया था.

उसके अबॉर्षन से पहले मा उनको मिली, और उन्हे ऐसा करने से रोक दिया. मा ने उनको बहुत पैसे दिए. वो उनको मंत्ली 30 थाउज़ंड देने लगी, और बोली-

मा: आपकी बेटी की शादी अगर मेरे बेटे से कर दो, तो आपको इतना पैसा टिल युवर डेत मिलता रहेगा. इसकी सिस्टर्स की शादी भी कर देंगे हम.

मा ने उसके पेरेंट्स और मेरी होनी वाली वाइफ को मेरे बारे में बताया. सब मान गये. मेरी शादी निशा से हो गयी. तब निशा 3 मंत्स प्रेग्नेंट थी. मेरी सिस्टर ने दोनो से वादा लिया, की बच्चा 10 यियर्ज़ का होगा तो मेरी सिस्टर के पास उस में स्टडी करेगा.

शादी के बाद सुहग्रात को जब निशा ने मेरी बॉडी देखी, तो वो हस्स रही थी.

वो बोली: बहुत फेमिनाइन बॉडी है.

मैने उसको बोला, की उसको जो भी करना होगा मुझे बोल के करेगी तो मुझे अछा लगेगा. 6 मंत्स में उसकी डेलिवरी हुई. उसको बेटी हुई. मैं उसका बहुत ख़याल रखता था. निशा अपनी लाइफ जी रही थी, और किटी पार्टीस जाना टाइप सब चीज़े करती थी.

ग़रीब घर से आके एक-दूं ही-फ़ि सोसाइटी में मिल गयी थी. सेक्स के लिए एक ब्फ था, लेकिन मुझे कुछ ज़्यादा नही बताया था उसने. बेटी बड़ी हो रही थी. जब वो 10 यियर्ज़ की हुई, तब उसको सिस्टर के पास उस में छ्चोढने गये. तब वाइफ से पूच के मैने डिल्डो रिमोट कंट्रोल वाइब्रटर और छासीटी केज लेके आए.

हम दोनो तोड़ा खुल के बात करने लगे. हम डिल्डो से एक-दूसरे को सॅटिस्फाइ करते थे. मैं अंडरगार्मेंट्स लॅडीस के ही पहनने लगा. एक दिन निशा रो रही थी.

मैने पूछा: क्या हुआ?

उसने बोला की उसका ब्फ रूड्ली बात करता है, और उसको बस सेक्स के लिए बुलाता है.

मैने बोला: सॉरी, बिकॉज़ ऑफ मे, ये सब हो रहा है. लेकिन एक सल्यूशन है जिससे एग्ज़ाइट्मेंट भी रहेगी, और मज़ा भी आएगा.

निशा ने पूछा: क्या?

मे: निशा देखो अगर मैं तुम्हारी ही प्रोफाइल एस्कॉर्ट की बनौ, तो तुमको नये फ्रेंड्स भी मिलेंगे, एग्ज़ाइट्मेंट भी होगी, और सिर्फ़ 5 स्टार्स में मिलेंगे. उनको बोर भी नही होगा, और उन मेल्स को तुम्हारी वॅल्यू भी होगी बिकॉज़ थे विल पे. देखो हुमको पैसे की ज़रूरत नही है, लेकिन लेके शॉपिंग करेंगे या डोनेट कर देंगे.

ये बोलते-बोलते मैं डिल्डो उसकी पुसी पे रब कर रहा था, और मैने नोटीस किया डिल्डो बहुत वेट हो गया था.

निशा: लेकिन अगर मुझे पसंद नही आया तो?

मे: मैं होटेल की लॉबी में ही रहूँगा. अगर पसंद नही आया तो वही स्टॉप करके मुझे कॉल करना. मैं तुम्हे ले जौंगा, और जिनके पास तुमको भेजूँगा उनको भी इनफॉर्म कर दूँगा अबौट थे टर्म्ज़ आंड कंडीशन्स. और वो भी पैसे वापस कर देंगे.

निशा: ओक, कब करेंगे?

मे: निशा 8 डेज़ में क्या है पता है ना?

निशा: क्या?

मे: अर्रे पगली, हमारी मॅरेज आनिवर्सयरी है. उस दिन फर्स्ट प्लान करते है, चलेगा? लेकिन मैं जो ड्रेस लौंगा, वो तुम पहनोगी.

निशा: ओक, मैं भी उस दिन तुम्हे सर्प्राइज़ दूँगी. (कहते हुए मेरी गांद में डिल्डो ज़ोर से डाला).

आनिवर्सयरी से पहले मैने एक क्लाइंट फिक्स किया, और निशा को भी शो किया. निशा के साथ उनसे Fअcएटिमे पे बात की. तब उन्होने बोला की-

पार्टी: आशीष नाम के एजेंट ने बताया तुम्हारे बारे में.

और कुछ नॉर्मल बात हुई. हमारा गुरगाओं के 5 स्तर होटेल में मिलने का प्लान हुआ. मैं निशा का पति हू ये बात क्लाइंट्स को नही मालूम थी. क्लाइंट देल्ही से थे. उन्होने रूम बुक करके चेक इन कर लिया था.

आनिवर्सयरी के दिन निशा ने मुझे 5 बजे उठाया और बोली-

निशा: अब ट्रेअदमील (जो घर पे ही थी) पे मिनिमम 90 मिनिट्स फास्ट वॉक करोगे.

मैने वॉक की और बहुत स्वेटिंग हुई.

मैने बोला: ई विल टके आ शवर.

निशा बोली: रूको, पहले अपनी बॉडी आचे से वॅक्स करो थ्रोट से लेग्स की फिंगर्स तक.

फिर मैने वीत लगाया जहा रिक्वाइयर्ड था, और रेज़र से क्लीन किया. वॅक्स हो गया था.

फिर निशा ने बोला: अब ये वॉलनट क्रीम बॉडी पे लगा के शवर कर लो.

शवर के बाद जब मैं बाहर आया, मेरे लिए पिंक कलर की ब्रा और पनटी रखी थी, और जीन्स और त-शर्ट थी. जीन्स नीचे से तरिंग और पीछे से टाइट थी. निशा ने मेरे में’स अंडरगार्मेंट्स मेरे सामने थ्रो किए, और बोली-

निशा: आज से ब्रा-पनटी ही पहनोगे. ये फाउंडेशन क्रीम लगाओ फेस पे, और कन्सीलर से फेस का स्किन टोने ईक्वल करो.

मैने कपड़े पहने निशा के सामने, और बाहर आया एक-दूं फ्रेश.

वी बोली: आज से सुबा सिर्फ़ एक आपल, आफ्टरनून तोड़ा डाल राइस, और रात को सूप. और हा, ये टॅब्लेट्स लो दिन में 3 टाइम्स, और मैं एक इंजेक्षन लगौंगी बिफोर स्लीपिंग. पूरा हेल्ती ईटिंग टिल युवर बर्तडे, जो 5 मंत्स में है. उस दिन के लिए मैने बहुत बड़ा सर्प्राइज़ प्लान किया है. और तुमारा एक टेस्ट भी होगा.

मे: ओक डार्लिंग, ई विल फॉलो युवर ऑर्डर्स. पर टेस्ट क्या है?

निशा: अभी वो सब बात नही.

मे (मेकिंग आ सॉरी फेस और बोला): ठीक है. फिर ये ड्रेस लो (वन पीस बेबी पिंक कलर ड्रेस थी, जिसमे उसके थाइस ओपन रहेंगे. फ्रंट से बटन ओपन करो तो डीप क्लीवेज दिख जाएगी, और पीछे से ज़िप था).

निशा पहन के आई, तो मैने बोला: मस्त लग रही हो. आज 12 बजे जाना है वाहा, 12 से 4 का अपायंटमेंट है तुम्हारा.

निशा रेडी हो रही थी.

फिर मैने बोला: निशा ग्लॉसी डीप रेड शेड का लिपस्टिक लगाओ. नीचे लेगैंग्स पहनो कार में निकालना देना, और उपर दुपट्टा भी लो.

कार में निशा ने लेगैंग्स उतार दी, दुपट्टा हटाया, और मैने सामने का एक और बटन ओपन कर दिया. शार्प 12 बजे हम होटेल में पहुँचे. निशा को सब घूर रहे थे, और मुझे भी. क्यूंकी मेरी जीन्स थोड़ी टाइट थी, और आस मूव्मेंट लॅडीस के जैसे हो रही थी. प्लस वो मेक उप.

रूम की बेल बजाने से पहले वाइफ ने वापस लिपस्टिक लग ली. मैने डोर बेल बजाई, और एक मिड्ल एज्ड आदमी ने अपनी शॉर्ट्स और त-शर्ट में डोर ओपन किया. उसने मुझसे हॅंड शेक किया, और बोला-

आदमी: आशीष क्यूट लग रहे हो.

वो निशा को बस देख रहा था. फिर उसने निशा का हाथ पकड़ किस किया, और बोला-

आदमी: मैं महेश.

निशा ने स्माइल देते हुए कहा: मैं निशा.

फिर उसने निशा को हग किया. उसका हाथ निशा के आस पे घूम रहा था मेरे सामने. वो निशा के नेक पे किस कर रहा था. फिर कुछ सेकेंड्स बाद वो सोफा पे बैठा, और निशा उसके सात बैठी. मैं सामने ही बैठा था. फिर उसने अपने वॉलेट इस 2000 के 8 नोट निकाले, और निशा को देने लगा.

निशा बोली: महेश जी, वो सब आशीष देखते है.

फिर उन्होने मेरे हाथ में पैसे दिए, और अब उनका एक हाथ निशा के बूब्स पे और एक हाथ उसकी ड्रेस के अंदर जेया रहा था. दोनो फ्रेंच किस्सिंग कर रहे थे. मेरी वाइफ को दूसरे के साथ देख कर मेरी लुल्ली लीक हो गयी. जब मैं जाने लगा, तब मेरी वाइफ का एक बूब बाहर था और वो मोन कर रही थी. मैं लॉबी में बैठा रहा. 4 बजे मुझे महेश की कॉल आई.

वो बोला: थॅंक योउ डियर. बहुत कमाल की आइटम थी निशा. बहुत खुश है वो.

तब तक मैने निशा को आते देख लिया. ओपन हेर, लिट्ल वेट, हेर क्लीवेज ओपन, लुकिंग फ्रेश वित थे सेम शेड लिपस्टिक.

फिर हम दोनो हाथ पकड़ के जाने लगे. वॅली से कार आई तो निशा ने उसको 500 की टिप दी, स्माइल किया, और हम घर आ गये. निशा खुश और हॅपी थी.

वो बोली: थोड़ी देर माल जेया के आएँगे.

हर वीक में 2 या 3 बार हम होटेल जाते थे. निशा एंजाय कर रही थी, और सेक्सी दिखने लगी थी. वो सब अटेन्षन और इंपॉर्टेन्स को एंजाय कर रही थी.

इस बीच मेरी बॉडी में भी चेंजस आ रहे थे. मेरे हाथ का साइज़ छ्होटा हो रहा था, और बॉडी शेप में आ रही थी. बटक्स मेरे बड़े हो रहे थे, और बूब्स आ रहे थे. मेरी त-शर्ट में से मेरे बूब्स थोड़े-थोड़े दिखने लगे थे.

एक आफ्टरनून निशा ने बोला: आज तुम्हारा एक छ्होटा टेस्ट है.

मे: क्या टेस्ट है?

निशा: तुम्हारे लिए अर्बन क्लॅप से एक मसाज करने वाले माले को बुक करो.

मे: उसमे क्या है.

देन ई बुक्ड वन गाइ. उस्मा नामे आसिफ़ था. वो डार्क आंड हॅंडसम दिख रहा था पिक्स में. निशा हस्स रही थी, जो मुझे समझ नही आया. जब वो आने वाला था, तो निशा बाहर जाने लगी, और जाते हुए मुझे एंजाय करने को बोलने लगी.

फिर निशा चली गयी. 10 मिनिट में डोरबेल बाजी. मैने दरवाज़ा खोला, और आसिफ़ दरवाज़े पर खड़ा था. वो 6 फुट का लंबा चौड़ा और मसल्स वाला बंदा था. मैं उसकी तरफ देख कर मुस्कुराया, और वो अंदर आया.

फिर उसने अपना मसाज टेबल रखा, और मुझे मेरी शोर्स और त-शर्ट उतारने को बोला. उस वक़्त मुझे निशा के हासणे का कारण समझ में आया.

आसिफ़: क्या हुआ? निकालो अपनी त-शर्ट और शॉर्ट्स, और लेट जाओ. (ई वाज़ फीलिंग अशेम्ड)

आसिफ़ (इन आ लिट्ल इरिटेटेड वाय्स): जल्दी करो साहब.

फिर मैने अपनी शॉर्ट्स नीचे की. और अब वो मुझे मेरी येल्लो पनटी और शेव्ड लेग्स के साथ देखने वाला था. मैने दूसरी तरफ मूह किया हुआ था, तो वो मेरी गांद देख सकता था.

जब मैने अपनी त-शर्ट निकली, तो उसने मुझे ब्रा में देखा. तभी मुझे मेरे पास एक आवाज़ सुनाई दी “क्या सेक्सी लग रही हो तुम”. ये बोलते ही उसका हाथ मेरे स्टमक पे आ गया. मैं मुड़ा, और मैने उसको हग कर लिया. वो मुस्कुरा रहा था, और उसने मुझ लिप्स पर किस करना शुरू कर दिया. उसने मुझे फ्रेंच किस की, और मुझे सेक्सी बोला.

फिर वो मेरी चेस्ट को मसाज करने लगा. वो मेरी ब्रा निकाल के ज़ोर-ज़ोर से दबा रहा था, और मैं पागल हो रहा था. फिर उसने मेरी पनटी निकली, मेरी नून्न्ी देख के हस्सा, और मुझे तुर्न होने को बोला.

वो मेरी बॉडी को दबा रहा था, और मसाज कर रहा था. फिर उसने मेरे आस-होल पे तोड़ा आयिल डाला, और बोला-

आसिफ़: कितनी सेक्सी हो.

मैने बोला: फक मे प्लीज़.

उसने स्माइल किया, और मेरी आस को धीरे-धीरे फक करना शुरू किया. कुछ सेकेंड्स में मेरी नून्न्ी लीक हुई. फिर उसने मुझे तेज़ छोड़ना शुरू किया, और मेरी नून्न्ी वापस लीक हो गयी. उन्होने अपना पानी मुझे तुर्न करके मेरे फेस पे निकाल दिया.

फिर वो मुझे बोला: चाट साली.

मैं लीक करने लगी. फिर उनका वापस खड़ा हो गया. और इस बार उन्होने मेरे मूह को फक करके अपना कम मुझे पीला दिया. उतने में बेल बाजी. उसने अपने कपड़े पहने, और मैने भी पहने. फिर दरवाज़ा ओपन किया तो निशा थी.

निशा अंदर आई पूछा: हुआ तुम्हारा मसाज?

मैने बोला: हा हो गया. निशा ये आसिफ़ है, मसाज करने आए है.

निशा: परेशन तो नही किया ना इसने?

आसिफ़: नही अछा था, मज़ा आया. वैसे ये कौन है आपके निशा?

निशा स्माइल करके अंदर जाते हुए बोली: उसको ही पूछो.

मैने उसको 3000 दिए, और बोला: चले जाओ, आंड डॉन’त अस्क क्वेस्चन्स.

निशा बहुत हस्स रही थी मुझपे, और मैं फ्राउन कर रहा था. फिर निशा ने मुझे हग किया और बोली-

निशा: ओह मेरी बेचारी रेशमा. कुछ दिन और, ओक.

मेरा बर्तडे पास आ रहा था, और मेरी बॉडी और चेंज हो रही थी. बर्तडे और आयेज की स्टोरी नेक्स्ट पार्ट में.

यह कहानी भी पड़े  प्यासे लंड को मिला ऑनलाइन सेक्स चट का सहारा


error: Content is protected !!