मॉल में मिली लड़की की चूत और गांड चुदाई

एक मॉल में एक लड़की पर मेरी नजर टिक गयी. उसने भी मुझे देखा पर वो नजरें चुराने लगीं. उससे मेरी दोस्ती कैसे हुई और मैंने उसकी चूत और गांड का मजा कैसे लिया?

दोस्तो, मेरा नाम राज़ चौधरी है. मैं उत्तर प्रदेश में कानपुर में रहता हूँ. मैं 23 साल का एक स्मार्ट लड़का हूँ. मेरी पहली सेक्स कहानी थी
गर्लफ्रेंड ने चूत चुदाई के लिए घर बुलाया
मेरी यह दूसरी सेक्सी स्टोरी कुछ दिन पहले की है. मैं अपने दोस्तों के साथ मॉल घूमने गया था. उस समय शाम के 7 बजे थे. हम लोगों ने वहां पर खूब मस्ती की.

तभी वहां पर मुझे एक लड़की दिखी. बाद में जिसका नाम निधि मालूम हुआ था. निधि की उम्र 20 साल थी. जब वो मुझे दिखी, तो मेरी नजर उस पर अटक कर रह गई. कुछ देर तक तो मैं उसको यूं ही घूरता रहा. वो एक पटाखा माल थी. निधि की हाइट 5 फिट 2 इंच थी, वो सांवली रंगत की थी, लेकिन एक भरे जिस्म की मालकिन थी.

निधि का फिगर कुछ यूं था. उसके 30 इंच के एकदम गोल चुचे … बलखाती कमर 28 इंच की और 34 इंच की उठी हुई गांड. मैं उसे देखते ही उसकी मदमस्त गांड का दीवाना हो गया था. क्योंकि उसकी गांड की बनावट गज़ब की थी. पहली नजर में कोई भी निधि की गांड को देखता, तो उससे नजरें ही नहीं हटा पाएगा.

कुछ देर के बाद उसने भी मुझे देखा, तो वो नजरें चुराने लगीं. कुछ देर मॉल में घूमने के बाद मेरी उससे बार निगाहें टकराती रहीं. आखिरी बार मैंने उससे नजरें मिलते ही आंख दबा दी और होंठ गोल करके एक चुम्बन का इशारा कर दिया.

ये देख कर शायद उसने मुझसे बात करने का मन बना ही लिया. वो मेरे पास आई, तो पहले तो मुझे डर लगा कि कहीं कुछ हरकत न हो जाए.

यह कहानी भी पड़े  ट्रक ड्राईवर की बीवी को रांड बनाया

पर वो मेरे पास आई और बोली- हैलो … आई एम निधि.
मैं बोला- हैलो … हियर राज़ चौधरी.
निधि- तुम मुझे बहुत देर से घूर रहे हो … क्या चाहते हो?
मैं- आप बहुत सुंदर हो, मैं बस इसी लिए आपको देख रहा था.
निधि- अच्छा.
मैं- हां.

इसके बाद उसने मुझसे कुछ और भी बातें की और हम दोनों मॉल में साथ में घूमने लगे.

रात के 10 बजे हम सब लोग मॉल से निकले. वो अपनी सहेलियों के साथ थी. वो अपने घर जाने लगी, तो उसने ऑटो में बैठते हुए मेरा मोबाइल मांगा. मैंने दे दिया. उसी वक्त उसने मेरे मोबाइल में अपना मोबाइल नंबर डायल कर दिया और फिर वो बाय कह कर चली गई.

मैं अपने दोस्तों के साथ अपने घर आ गया. मुझे घर आकर बस उसी की याद आ रही थी. उसकी चूचियां और गांड मुझे सोने ही नहीं दे रही थीं.

मैं बहुत देर तक उसे फोन करने के लिए सोचता रहा. मगर मेरी हिम्मत ही नहीं हुई. एक घंटे बाद उसका खुद मैसेज आया. बस हम दोनों की चैट शुरू हो गई और रात के 2 बजे तक हमारी बात चलती रही.

अगली सुबह उसका गुड मॉर्निंग का मैसेज आया.

मैंने भी रिप्लाई दे दिया. सारे दिन मुझे बड़ी बेचैनी रही. एक अजीब सी कशिश मेरे दिलो दिमाग पर छाई हुई थी.

उस रात को फिर से हमारी बात हुई और हमारी बात सुबह के चार बजे तक चलती रही.

आज उसने मेरे साथ जो बात की थी उसका जिक्र मैं आपसे नीचे कर रहा हूँ.

यह कहानी भी पड़े  भिखारिन को खाना देने के बदले उसकी चूत का सौदा किया

निधि- हाय राज़.
मैं- हाय निधि.
निधि- क्या कर रहे हो?
मैं- तुम्हारे मैसेज का इंतज़ार.
निधि- अच्छा क्यों?
मैं- तुमसे बात किए बिना रहा नहीं जा रहा था.
निधि- ओहहो … क्या बात है फ्लर्ट कर रहे हो.

मैं- नहीं यार ऐसा नहीं है. निधि बुरा न मानो तो तुमसे एक बात कहूँ?
निधि- हां बोलो न..
मैं- आई लव यू निधि.
निधि- आई लव यू टू मेरी जान … तुम्हारे मुँह से यह सुनने के लिए मैं तो कबसे तड़प रही थी.
मैं- अच्छा … तो अब सुन लिया खुश हो अब!
निधि- बहुत ज़्यादा.

फिर हम लोग कुछ देर बात करने के बाद सेक्स चैट करने लगे.
निधि- अच्छा तुम ये बताओ मॉल में तुम मुझे क्यों घूर रहे थे?
मैं- तुम्हारे हुस्न की शान को घूर रहा था.

निधि- अच्छा तो मुझे भी तो बताओ, वो क्या है.
मैं- तुम्हारी गोल गुंदाज गांड … जिसे देख कर गांड मारने का मन करने लगा.
निधि- हम्म … तुम बहुत बदमाश हो …
मैंने कहा- क्यों?
वो बोली- छोड़ो … यार मेरा भी बहुत मन है … कोई प्लान बनाओ न मिलने का.
मैं- वो तो बाद की बात है मेरी जान … अभी तुम अपनी नंगी फ़ोटो भेजो, तो मूड बने.

तभी निधि ने अपनी 4 पिक भेज दीं. कसम से मेरा लंड एकदम से खड़ा हो गया.
निधि- तुम भी मुझे अपने लंड की फ़ोटो भेजो न.
मैंने कहा- लाइव ही देख लो.
वो बोली- ओके.

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!