मा-बेटे-बाप-बेटी में ग्रूप सेक्स की

हेलो दोस्तों, मैं प्रकाश कुमार आज आप सभी लोगों के साथ अपने जीवन की सकचाई शेर करने जेया रहा हू. पहले मैं अपनी फॅमिली की डीटेल्स आपको बता डू. मेरे मों-दाद का डाइवोर्स आज से 18 साल पहले हुआ था. तब मेरी आगे 5 साल की थी, और मेरी बेहन प्राची की आगे 3 साल की थी.

मेरी मों का उस वक़्त किसी लड़के से चक्कर चल रहा था. ये बात मेरे दाद को पसंद नही आई. हमारी फॅमिली में खूब झगड़े हुए. अंत में फैंसला लिया गया की मों दाद का डीओर्से करवा दिया जाए. डाइवोर्स के बाद फैंसला हुआ मैं मेरे दाद के साथ रहूँगा और प्राची मों के साथ. मेरी मों और बेहन धनबाद नानी के घर के पास शिफ्ट हो गये, और मैं और दाद राँची.

इतनी कम दूरी के बाद भी हमने कभी एक-दूसरे का चेहरा नही देखा था. ना ही मेरे दाद ने कोई पिक्स रखी थी उनकी. मैं बचपन से ही मों से काफ़ी नफ़रत करता था. इसलिए मुझे कभी शौंक नही आया उनको देखने या मिलना का.

अभी लगभग एक महीने पहले की बात है. मेरे दाद धनबाद घूमने गये 2 दिन के लिए. ना-जाने क्यूँ मुझे वो वापस आने के बाद बदले-बदले और खुश दिखने लगे. 2-3 दिन अब्ज़र्व करने के बाद मैने सीधा दाद से पूच लिया-

मैं: क्या बात है दाद. आप चेंज लग रहे है काफ़ी?

पहले तो दाद कुछ बताना नही चाहते थे. मगर मेरे ज़िद करने के बाद उन्होने बताया की वो मेरी मों से मिले, और काफ़ी एमोशनल बातें करने लगे. उन दोनो का फैंसला था की वो लोग फिरसे शादी करेंगे और रे-यूनाइट होंगे.

पहले तो मुझे बहुत गुस्सा आया, और मैने उनसे 2 दिन बात नही की. मगर उनके बार-बार समझने के बाद मैं मान गया. हमने डिसाइड किया की हम 4 लोग मैं, मों, दाद और मेरी सिस्टर और पंडित जी शादी में रहेंगे. बाकी लोगों को बाद में बताया जाएगा.

फाइनली मेरी मों आंड सिस शादी के एक दिन पहले ही घर आ गये. मैने जब मेरी मों आंड सिस को देखा, मुझे यकीन नही हुआ. इतनी हॉट लग रही थी दोनो. खैर मैने इग्नोर किया और नेक्स्ट दे मों दाद की शादी हुई. मैने और मेरी सिस ने उनका रूम सजाया और उन दोनो को रूम तक छ्चोढ़ आए सुहग्रात के लिए. मैं आंड मेरी सिस बातें करने लगे.

प्रकाश: प्राची तुमको हमारी याद आती थी?

प्राची: हा याद भी आती थी, और गुस्सा भी.

प्रकाश: गुस्सा तो मुझे भी मों पे था बहुत.

प्राची: वैसे मों दाद ने अपनी लाइफ के 18 साल वेस्ट किए.

प्रकाश: वेस्ट मों की लाइफ हुई होगी. दाद बिंदास मस्ती करते रहे है. ना-जाने कितनी फीमेल्स को घर ला कर सेक्स करते रहे है.

प्राची: वैसे मों भी कम नही है. उन्होने भी काफ़ी ब्फ बनाए और रिलेशन्स में रही. उनके एक-दो ब्फ तो मुझपे भी लाइन मारते थे.

प्रकाश: वो लोग आज 18 साल बाद सेक्स करेंगे. मुझे तो देखने का मॅन हो रहा है.

प्राची: यार वो हमारे मों दाद है.

प्रकाश: कुछ नही होता. चलो पीछे की विंडो में एक होल है उससे देखते है. ये होल मैने ही बनाया था उनके पहले के फीमेल फ्रेंड्स के साथ सेक्स देखने के लिए.

फिर हम दोनो होल से रूम में देखने लगे. हमने देखा मों आंड दाद पुर नंगे हो चुके थे, आंड दाद मों की वाइट-वाइट बॉडी को चाट रहे थे.

प्रकाश: यार मों के बूब्स कितने मस्त है ना.

प्राची: वो तो सब के ऐसे होते है.

प्रकाश: मगर उनकी छूट देखो कितनी पिंक है. मैने पहली बार पिंक छूट देखी है.

प्राची: वैसे मेरी भी सेम-सेम है.

हमने देखा दाद मों की छूट में लंड सेट करके धक्के मारने लगे. पता नही मुझे क्या हुआ, मेरे हाथ प्राची के बूब्स पे चले गये.

प्राची: भैया मैं बेहन हू आपकी.

प्रकाश: ई’म सॉरी प्राची, मगर अभी नही रोको प्लीज़.

प्राची: ओक, मगर उपर-उपर से ही जो करना है करना, ओक?

दाद वाहा मों को छोड़ रहे थे, यहा मैं प्राची को गरम कर रहा था. कुछ देर बाद प्राची ने खुद अपने कपड़े खोल दिए, और मैने भी सेम दाद की तरह प्राची की छूट मारने लगा.

दोस्तों प्राची की छूट में लंड एक-दूं आराम से जेया रहा था. इससे मुझे पता चल गया था की मेरी मों की तरह मेरी बेहन भी अपना छूट मरवती रही थी. नेक्स्ट दे हम लोग नाश्ता कर रहे थे.

प्रकाश: दाद कैसी रही रात?

दाद: बहुत बढ़िया.

मों: बदमाश, ऐसे कों पूछता है? बहुत बिगड़ गये हो, सुधारना होगा तुमको.

प्रकाश: क्या करू मों, सीधे 18 साल बाद आप मिली हो मुझे. मैं तो ऐसा ही बन गया हू.

दाद: वैसे तुम बच्चो का कैसा चल रहा बॉनडिंग?

प्राची: सब बढ़िया है दाद.

प्रकाश: मेरा कुछ अछा नही चल रहा. मों इतनी सुंदर लग रही है, मैं उनको मों की नज़र से नि देख पा रहा हू.

दाद: प्रकाश ऐसा नही सोचते बेटा, वो तुम्हारी सग़ी मा है.

मों: हा बेटा, तुमने मुझे इतने सालों बाद देखा ना इसलिए. कुछ टाइम बाद सब अड्जस्ट हो जाएगा.

प्रकाश: दाद आप मेरी कसम खा के बोलिए आपसे जो पूछुगा आप सच बताॉगी.

दाद: ओक तेरी कसम, पूच.

प्रकाश: तो बताइए क्या प्राची आपको बेटी की फीलिंग देती है?

फिर दाद चुप हो गये.

प्रकाश: देखा दाद, आपकी चुप्पी सब बयान कर गयी.

मों: क्या जी, हमारी बेटी है.

दाद: ई’म सॉरी, बुत मैं खुद को संभाल के रखूँगा.

प्राची: क्या हुआ मों, वैसे भी आपके पहले के कितने ब्फ ने मुझे छोड़ा है. आपने भी कुछ नही कहा उनसे.

मों: बेटा तू ये बातें यहा क्यूँ कर रही है? कितनी मुस्किल से हमारा घर बसा है.

प्रकाश: मों हमारा घर बसा है, और बसा रहेगा. मगर अपनी फीलिंग्स शेर करो ताकि हम एक-दूसरे के उपर खुशी लूटा सके.

मों: बेटा मुझे सेक्स अडिक्षन है, इसलिए मैने डाइवोर्स लिया था. मगर अब लाइफ में ट्रस्टवर्ती पार्ट्नर चाहती थी, इसलिए तेरे दाद से पॅच-उप किया.

दाद: ओक, प्रकाश बताओ तुम क्या चाहते हो?

प्रकाश: मैं मों के साथ सेक्स करना चाहता हू.

दाद: ओक, तुम क्या कहती हो?

मों: मुझे कोई प्राब्लम नही.

प्राची: फिर सिर्फ़ मैं अकेली रह जौंगी.

दाद: बेटा तुम चाहो तो मैं तुम्हारा पार्ट्नर बन जाता हू

प्रकाश: क्यूँ ना हम लोग ग्रूप सेक्स करे?

मों: ये मस्त आइडिया है.

मैं मों पे चढ़ गया और उनको चूमने लगा. वही दाद प्राची के साथ खेलने लगे. कुछ देर चुम्मा-छाती करने के बाद हमने दोनो को नंगा कर दिया.

मैने मों को बेड पे लिटाया और उनकी छूट मारना स्टार्ट कर दिया. वही दाद अभी भी प्राची के बूब्स के साथ खेले जेया रहे थे. कुछ देर मों की चुदाई करने के बाद मों टाय्लेट करने चली गयी. मैं उठा और दाद और प्राची के साथ शामिल हो गया. मों टाय्लेट से तो कहने लगी मुझे भी साथ करो.

फिर मैने और दाद दोनो ने मों की छूट में एक साथ लंड सेट किया, और धक्के मारने लगे. मैं लेता हुआ था. मों उपर थी, और दाद पीछे से. मों की छूट में एक साथ दो लंड अंदर-बाहर हो रहे थे. हम बारी-बारी से प्राची और मों दोनो की चुदाई करते रहे.

मों: बेटा कैसा लगा मुझे छोड़ के?

प्रकाश: बहुत मज़ा आया मों. आज से मैं रोज़ आपकी छूट बाजौगा.

दाद: और मैं प्राची की.

मों: पर ध्यान रहे, हमे सेफ्टी का भी ध्यान रखना है, तो हमेशा आप लोग कॉंडम लगाया करे.

दाद: एस बेबी, कॉंडम के बिना सेक्स कभी नही करना हमे.

प्रकाश: वैसे दाद चुदाई का ये राज़ हम 4 घर वालो तक ही रहे, बाहर ना जाए.

मों: एस बेटा, ये राज़ राज़ ही रहना चाहिए.

हमारी बातें और सेक्स यू ही चलती रही. हमने हर एक पोज़िशन में सेक्स किया. एक बेड पे हम चारो का सेक्स देखने में पॉर्न से कम नही होता.

लगभग एक घंटे बाद मैने मों की छूट में लंड डाल के सो गया. वही मेरे दाद प्राची को पीछे से हग करके सो गये.

यह कहानी भी पड़े  बेटे के मा को डॉमिनेट करने की सेक्सी स्टोरी


error: Content is protected !!