इंग्लीश टीचर के साथ हॉट चुदाई

दोस्तों में आज आप सभी को अपनी एक सच्ची कहानी सुनाने जा रहा हूँ जिसमे मैंने अपनी उम्र से ज्यादा उम्र की औरत को चोदकर संतुष्ट किया, दोस्तों मुझे शुरू से ही अपनी उम्र से बड़ी उम्र की औरत को देखना और चोदना बहुत पसंद है और यह मेरी पहली कहानी है और में उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को यह जरुर अच्छी लगेगी, यह कहानी मेरी एक स्कूल टीचर की है जिसको मैंने बहुत जमकर चोदा। मेरी टीचर का नाम जया श्रीवास्तव है, उनके बहुत बड़े बड़े बूब्स और उनकी गांड के बारे में आपको क्या बताऊँ? एकदम सेक्सी है और उनकी उम्र करीब 40 साल है वो हमेशा ही सिल्क की साड़ी पहनती है और स्कूल के सभी लड़के उनके बूब्स, गांड को देखते रहते है और में उस समय मेरी टीचर का सबसे पसंदीदा छात्र था, मेरी वो टीचर तलाकशुदा थी और उनके एक भी बच्चा नहीं था, लेकिन फिर भी वो हमेशा हंसती मुस्कुराती रहती थी और अपने मन की बात को हमेशा सबसे छुपाती थी।

तो एक बार मुझे इंग्लिश में कुछ समझ में नहीं आ रहा था और इसलिए में उनसे अपनी समस्या का हल पूछने उनके घर पर गया। वो एक बंगले में रहती थी और फिर मैंने वहां पर पहुंचकर बहुत बार दरवाजे पर लगी हुई घंटी बजाई, लेकिन वो दरवाज़ा नहीं खोल रही थी। तो वहां पर पास में एक खिड़की थी और वो उनके बेडरूम की खिड़की थी और फिर में उसमे अंदर की तरफ देखने लगा, लेकिन में अंदर की तरफ झांककर एकदम से चकित रह गया क्योंकि वहां पर उस समय हमारे स्कूल के एक सर भी मौजूद थे और वो बेड पर पड़े हुए थे और उनका लंड मेडम के हाथों में था। मेडम उनका लंबा, मोटा लंड अपने मुहं में डालकर बहुत मज़े से चूस रही थी और वो सब कुछ देखकर मेरा लंड एकदम खड़ा हो गया और अब उनके बड़े बड़े बूब्स को देखने का मेरा एक सपना जो था वो आज साकार हुआ। तो मैंने मेरी पेंट में से लंड को बाहर निकाला और वहीं पर खड़े खड़े उनको देखकर मुठ मारने लगा। फिर कुछ देर चूसने के बाद टीचर ने उसका लंड अपने मुहं से बाहर निकाला और लंड को अपनी चूत के मुहं पर रखा और धीरे धीरे उस पर बैठती चली गई जिससे लंड चूत में घुसता चला गया और अब वो उछल उछलकर अपनी चूत को खुद ही चोदने लगी और उसके बूब्स उछल कूद कर रहे था। इतना सब देखकर मेरा तो पूरा माल बाहर निकल आया। तो कुछ देर बाद मैंने अपना मोबाईल जेब से बाहर निकाला और उनकी पूरी चुदाई को केद कर लिया और फिर में वहां से अपने घर पर निकल गया।

यह कहानी भी पड़े  चोर को अपने हुस्न जाल में फसाकर मैंने चुदवा लिया

तो दूसरे दिन टीचर ने स्कूल मिलकर मुझे स्माइल दी और बोला कि तुम आज शाम को मेरे घर पर आ जाना क्योंकि मेरा कंप्यूटर ठीक तरह से काम नहीं कर रहा है शायद उसमे कुछ समस्या है तुम आकर देख लेना। तो में उनके घर पर गया और अब उन्होंने मेरे एक बार ही घंटी बजाने पर दरवाजा खोल दिया और मुझे वेलकम किया और अंदर आने को कहा, में सोफे पर बैठ गया। तो वो किचन में जाकर मेरे लिए ठंडा लेकर आ गई। मैंने ठंडा पिया और फिर उनके बेडरूम में गया जहाँ पर उनका कंप्यूटर रखा हुआ था। तो कंप्यूटर को चालू किया और मैंने कंप्यूटर की हिस्टरी में देखा कि उसमे बहुत सारी पॉर्न साइट्स थी, टीचर ने उस समय एक गाउन पहना हुआ था जिसमे उसके बूब्स थोड़ा सा भी झुकने से साफ साफ दिख रहे थे और शायद उस समय उन्होंने ब्रा भी नहीं पहनी हुई थी। फिर मैंने करीब आधे घंटे के बाद उनका कंप्यूटर एकदम ठीक किया और वो उस समय किचन में अपना कुछ काम कर रही थी। तो मैंने किचन में जाकर उनको पीछे से पकड़कर अपने लंड को उनकी गांड पर सटा दिया और धीरे धीरे रगड़ने लगा और उसके बूब्स को उस ढीले-ढाले गाउन के ऊपर से ही धीरे से दबाने, मसलने लगा। तो वो मुझसे बोली कि तुम यह क्या कर रहे हो? प्लीज छोड़ दो मुझे, यह सब बिल्कुल गलत है। तो मैंने बोला कि रंडी तू किसी और से चुदवा सकती है तो मुझसे क्यों नहीं। मुझे भी आज तेरी चूत को फाड़ना है और चुदाई के मज़े लेने है। तो उन्होंने एकदम से मुझे एक ज़ोर से धक्का मारा और खुद को मुझसे अलग किया और मुझे घूर घूरकर देखने लगी। तो मैंने अपना मोबाइल खोलकर उन्हे वो रिकॉर्डिंग दिखाई, वो एकदम मेरे पैरों पर गिर गई और पैर पड़ककर मुझसे बोली कि प्लीज़ तुम यह रिकॉर्डिंग किसी को मत बताना वरना में मर जाउंगी।

यह कहानी भी पड़े  पति के सामने चुदाइ का मजा

तो मैंने यह एक अच्छा मौका देककर उनके बूब्स को दबाते हुए उसको खड़ा किया और बोला कि अगर आज तुमने मेरी बात नहीं मानी तो में यह विडियो नेट पर डाल दूँगा और जिसको सारी दुनिया बहुत मज़े लेकर देखेगी और फिर में वहां से चला गया। तो उसके अगले दिन स्कूल में वो मुझे अपनी झुकी हुई नज़र से देख रही थी और में लगातार उसके बूब्स को देख रहा था। तो उन्होंने सभी स्टूडेंट्स को अपना सर नीचे करने को बोला और सब स्टूडेंट्स अपना अपना सर नीचे की तरफ झुकाकर अपनी पढ़ाई में ध्यान दे रहे थे और में बिल्कुल आखरी वाली बेंच पर बैठा हुआ था। फिर वो मेरी बेंच पर आकर बैठ गई और में अपने सर को नीचे करके उसके बूब्स को दबा रहा था और उसकी गांड को भी दबा रहा था। दोस्तों में आप सभी को क्या बताऊँ मुझे उस समय बहुत मज़ा आया और फिर मैंने उनसे स्कूल की छुट्टी होने के बाद वहीं पर रुके रहने को कहा और जब मेरा पूरा स्कूल खाली हो गया तो मैंने अपनी टीचर को बाथरूम में आने को बोला। फिर वो आई और उसने मुझसे बोला कि प्लीज मुझे छूना नहीं। तो मैंने कहा कि में अब रुकने वाला नहीं हूँ, मैंने उन्हे अपनी बाहों में जकड़ा और एक जोरदार लिप किस किया और फिर कुछ देर के बाद में वो भी एंजाय करने लगी।

Pages: 1 2

error: Content is protected !!