चाचा ने मम्मी को अपने दोस्त के सामने चोदा

दोस्तों आज मैं आपको चाचा और उनके दोस्त के साथ मम्मी और उनकी एक फ्रेंड की चुदाई की कहानी बताता हू. दोस्तों जिन्हे मैं चाचा बोलता हू, वो हमारे गाओं के है, इसलिए मैं उन्हे चाचा बोलता हू. हमारे घर में मम्मी, पापा, और मैं हू.

पापा बाहर जॉब करते है, और मैं भी कॉलेज मैं पढ़ता हू, और हॉस्टिल में रहता हू. और जब से मुझे मम्मी और चाचा के बारे में पता चला है, तब से मैने घर पर माइक्रो कॅमरास लगा दिए है. जिसका पता सिर्फ़ मुझे है.

अब मैं जब घर पर आता हू, तो मम्मी और चाचा की चुदाई डेक्ता हू. मेरी मम्मी का रंग गोरा, शरीर भरा हुआ, और हाइट भी 5.5 फुट है. दोस्तों मेरे चाचा और मम्मी की चुदाई काफ़ी सालों से चल रही थी.

चाचा महीने में एक दो बार आते, और मम्मी की चुदाई अची तरह से करके जाते. चाचा के एक बेस्ट फ्रेंड थे, जो कभी कभार उनके साथ ऐसे ही मिलने आ जया करते थे. अब चाचा के दोस्त का ट्रान्स्फर हमारी सिटी में ही हुआ था, तो उन्होने हमारे पड़ोस में ही रेंट पर एक घर ले लिया. वो अक्सर हमारे घर आया-जया करते थे.

उन्हे मम्मी और चाचा के रिलेशन्स के बारे मैं भी पता था. चाचा अपने दोस्त के सामने भी मम्मी को किस वग़ैरा कर देते, और एक दिन तो हड्द ही हो गयी. हुआ यू, की चाचा और उनके दोस्त घर पर थे. तो वो 3 बियर के बॉटल भी लाए हुए थे.

वो पीने में लगे थे, और सामने टीवी चल रहा था. मम्मी उनके लिए कुछ स्नॅक्स ले आई. चाचा सोफा पर बैठे हुए थे. बीच में टेबल था, और उनके दोस्त सामने दूसरी सोफा पर थे. तभी टीवी में एक मॉडेल का पिछवाड़ा दिख रहा था, तो चाचा के दोस्त ने मज़ाक में बोल दिया-

चाचा का दोस्त: भाभी आपका बट मस्त है.

तो चाचा ने हेस्ट हुए कहा: देखु ज़रा.

और मम्मी को अपनी गोद में खींच लिया, और मम्मी के चूतड़ प्रेस करने लगे. मम्मी ने पहले सोचा वो मज़ाक कर रहे थे. पर अब चाचा छूतदो को दबाने के बाद सलवार का नाडा खोलने लगे.

मम्मी ने उनका हाथ हटा दिया, और कहने लगी: पागल हो क्या? आपके दोस्त क्या सोचेंगे?

इतने में चाचा के दोस्त बोलने लगे: भाभी कोई नही, आप एंजाय करिए.

और चाचा ने अपने दोस्त को बोला: भाई आज तू हमारी फोटोस तो लेले.

उनके दोस्त फोन निकाल कर फोटो खींचने लगे. चाचा कभी मम्मी के गाल से गाल लगा कर, कभी किस करते हुए फोटो करवाने लगे.

मम्मी बोलने लगी: बस करो.

पर चाचा ने तो मम्मी को टाइट गोद में पकड़ा हुआ था. उन्होने मम्मी को अची तरह बाहों मैं भर लिया था, और अची तरह किस करने लगे. मम्मी को भी जोश चढ़ने लगा था, और मम्मी कहने लगी-

मम्मी: दूसरे कमरे में चलते है.

पर चाचा नही माने, और जोश-जोश में मम्मी का नाडा खोल दिया, और सलवार नीचे कर दी. मम्मी विरोध कर रही थी, तो चाचा ने मम्मी की छूट में उंगली डाल दी, और अंदर-बाहर करने लगे. अब मम्मी को भी मज़ा आने लगा था, और चाचा ने मम्मी का कुर्ता उतार दिया और ब्रा भी निकाल फेंकी.

फिर उन्होने मम्मी को सोफा पर लिटाया, और मम्मी की टांगे खोल कर उपर कर दी, और छूट चाटने लगे. मम्मी चाचा के सर को अपनी छूट में प्रेस करने लगी. फिर चाचा खड़े हुए, और मम्मी को सोफे पर बिताया, और मम्मी के मूह में लंड डाल दिया.

फिर वो लंड को अंदर बाहर करने लगे. जब मम्मी ने लंड को बाहर निकाला, तो चाचा ने फिरसे मम्मी के मूह में लंड दे दिया, और बड़े झटके दिए. मम्मी ने ज़ोर का झटका दिया, और चाचा को एक तरफ कर दिया. क्यूंकी मम्मी भी हेल्ती थी.

फिर मम्मी कहने लगी: मुझे उल्टी हो जाएगी.

तो चाचा कहने लगे: भाभी तेरे से आज 3 महीने बाद मिल रहा हू. आज तो तेरी जाम कर लूँगा.

और इतने में चाचा का दोस्त कहने लगा: भाई मैं भी लूँगा.

और उसने भी जल्दी से सारे कपड़े खोल दिए, और मम्मी कमरे से बाहर भागने लगी. तभी चाचा ने मम्मी को पकड़ लिया, और सोफे पर अपनी गोद में बिता लिया. फिर वो मम्मी के चूचे दबाने लगे.

मम्मी कहने लगी: ये आप क्या कर रहे है? ये ग़लत है.

तो चाचा कहने लगे: भाभी कुछ ग़लत नही है.

और फिर उन्होने मम्मी के चूतड़ खोले, और लंड को सीधा चूत में डाल दिया. उधर चाचा का दोस्त मम्मी के मूह के सामने आ कर खड़ा हो गया. वो मोटा, तगड़ा और 6 फीट का था, और कपड़े उतार कर तो और भी तगड़ा लग रहा था. उसका लंड भी 9 इंच का था, जिसको देख कर मम्मी दर्र गयी.

फिर वो आदमी कहने लगा: भाभी आपका गोरा चितता बदन देख कर तो मेरे मूह में कब से पानी आ रहा है. और अभी तो आपकी चिकनी छूट के भी दर्शन करने है.

और वो मम्मी के मूह के सामने लंड लिए खड़ा था. फिर उसने मम्मी को लंड मूह में लेने का इशारा किया. मम्मी माना करने लगी, तो उसने मम्मी का जूड़ा पकड़ा, और मम्मी का सिर अपने लंड की तरफ किया, और लंड को हल्के-हल्के मम्मी के मूह में देने लगा.

मम्मी की हालत देखने लायक थी. इधर 9 इंच का लंड मूह में था, और दूसरा लंड छूट में था. अब उनके दोस्त ने उनके मूह में लंड को अची तरह अंदर-बाहर किया. और फिर उन दोनो ने मिल कर मम्मी की पोज़िशन चेंज करी.

अब चाचा सोफे पर बैठ गये, और मम्मी को घोड़ी बनाया. चाचा ने फिरसे मम्मी को लंड चूसने के लिए कहा, तो मम्मी माना करने लगी. फिर उस आदमी ने मम्मी का हाथ पकड़ा, और चाचा ने लंड को मम्मी के मूह में दिया, और उधर उस आदमी ने अपना बड़ा लंड मम्मी की छूट में डाल दिया.

मम्मी के हाथ पीछे करके वो झटके पर झटके दिए जेया रहा था, और मम्मी हर झटके के साथ आ आ किए जेया रही थी. पुर कमरे में मम्मी की चुदाई और पायल की आवाज़ आ रही थी. अब उस आदमी ने मम्मी को खड़ा किया, और एक पैर सोफे पर रखने के लिए कहा.

मम्मी ने भी वैसे ही किया, और फिर वो आदमी मा को पेलता चला गया. चाचा तो तक चुके थे, और वो सोफे पर बैठ कर आराम करने लगे. फिर उनके दोस्त ने मम्मी को कहा-

चाचा का दोस्त: भाभी कभी आपने लंड की सैर करी है?

मम्मी ने कहा: आज मैने सारी सैर कर ली, और अब नही.

उस आदमी ने कहा: अभी सैर आपने देखी कहा है.

और उसने मम्मी के सामने खड़ा होकर मम्मी को बाहों में भरा, और मम्मी को सीधे खड़े-खड़े गोद में उठा लिया. फिर उसने मम्मी की दोनो टाँगो को कमर के पीछे फोल्ड कर दिया, और मम्मी ने गिरने के दर्र से उस आदमी के कंधे पकड़े हुए थे.

अब उस आदमी ने मम्मी के छूतदो को सहलाया, और मम्मी की छूट में लंड दबाया.

मम्मी कहने लगी: आराम से.

और लंड धीरे-धीरे अंदर चला गया. अब वो आदमी मम्मी को ज़ोर-ज़ोर से उपर नीचे करने लगा. मम्मी के मूह से तेज़-तेज़ आ आ की आवाज़े आ रही थी.

फिर उस आदमी ने मम्मी को बेड पर लिटाया, और दोनो टांगे उपर करी, और ज़ोर-ज़ोर के झटके देने लगा. मम्मी ने उस आदमी को कस्स के पकड़ लिया. शायद मम्मी झाड़ रही थी, और मूह से ज़ोर की आवाज़े भी निकाल रही थी.

इतने में बाहर बेल बाजी, और वाहा पड़ोस की आंटी थी जो मम्मी की बेस्ट फ्रेंड थी.

अब आयेज आने वाली स्टोरी में पढ़ना, की मम्मी और आंटी के साथ आयेज क्या होता है.

यह कहानी भी पड़े  मसाज से गरम हुई बहन की चुदाई कहानी


error: Content is protected !!