Dubai Me Shakira Ka Shikar

दोस्तो, मैं राजवीर जयपुर से, अन्तर्वासना का मैं नियमित पाठक हूँ।
वैसे तो मैंने अपनी लाइफ में बहुत सारी कहानियों की रचना करने लायक करतब किए हैं लेकिन आज मैं अपनी पहली कहानी
आपके सामने प्रस्तुत कर रहा हूँ।

मैं एक बिज़नसमैन हूँ अपने एक जरूरी काम से दुबई गया था आज से 3 साल पहले! वहाँ मैं अपने एक दोस्त के अपार्टमेंट में ठहरा था तब वो अपने किसी काम से यूरोप गया हुआ था और मैं दुबई में अकेला ही था।

पहले दिन मैं अपना काम निपटा कर अपार्टमेंट पर बोर हो रहा था तो रात को डिस्को में चला गया।
वैसे तो दुबई में बहुत से क्लब और डिस्को हैं पर वहाँ ‘खालिद बिन वालिद’ नाम से एक एक बहुत बड़ा रोड है जिस पर बहुत सारे होटल, क्लब हैं, वहीं मैं एक डिस्को में चला गया।

मैं थोड़ा जल्दी चला गया था करीब दस बजे… तब ज्यादा भीड़ नहीं थी पर धीरे धीरे भीड़ बढ़ने लगी, लड़कों से ज्यादा लड़कियाँ थी लेकिन वहाँ गोरी चमड़ी वाली कम और अफ्रीका वाली ज्यादा थी, बहुत सारी पाकिस्तानी भी थी।

मैं वहीं बैठ कर ड्रिंक कर रहा था, तभी एक लड़की मेरे पास आई और मुझे ड्रिंक पिलाने के लिए कहा।
मैंने उसके लिये ड्रिंक मंगवाई।
उसका फिगर मस्त था पर वो अफ्रीका से थी, मुझे पसंद नहीं आई लेकिन वो जबरदस्ती मुझे डांस करने के लिए फ्लोर पे ले आई।

वैसे वहाँ पर पहले से लोग डांस कर रहे थे, वो बहुत ही क्लोज़ डांस कर रही थी बिल्कुल चिपक कर अपनी गांड की दरार में मेरे लौड़े को दबा रही थी।
मेरा लौड़ा अब अपने शवाब पर आने लगा था।

यह कहानी भी पड़े  मैडम को प्रिंसीपल ऑफिस में चोद दिया

वैसे मैं आपको बता दूँ, मेरे लौड़े का साइज 7 इंच का है और जब वो अपने शवाब पे आता है तो किसी की फाड़ के ही रहता है।
मुझे वो लड़की पसंद नहीं थी तो मैं थोड़ा साइड में आ गया।

तभी एक लड़की मेरी तरफ आती हुई दिखी, वो पाकिस्तानी थी, एकदम मस्त माल 5’5″ की, उसका साइज होगा 32-26-36, उसने आकर अपना नाम शकीरा बताया मुझे और डांस के लिए पूछा।
मैंने कहा- नेकी और पूछ पूछ!
और हम डांस करने लगे।

क्या मस्त डांस कर रही थी वो… मेरा तो कंट्रोल में ही नहीं हो रहा था।
फिर हम वापस काउंटर के पास आकर ड्रिंक करने लगे।

तभी उसने पूछा- कहाँ चलोगे, मेरे यहाँ या फिर तुम्हारे यहाँ?
मैंने पूछा- मतलब?
तो उसने कहा- 800 दिरहम लूँगी।

मैं समझ गया कि ये तो साली रांड है, वैसे भी दुबई जैसे जगह पे कोई भी हो, ये तो आम बात है।
मैंने सोचा- मस्त माल है, क्या फ़र्क पड़ता है कोई भी हो!
मैंने उसे 500 दिरहम में मना लिया और हम लोग मेरे अपार्टमेंट पे आ गए।

शकीरा आते ही नहाने चली गई और वापस सिर्फ तौलिये में ही बाहर आई और मुझे कहा- अब तुम नहा कर आओ।
और वो बेड पे बैठ गई।

फिर मैं नहा कर आ गया, मैं भी सिर्फ तौलिये में ही बाहर आ गया।
मैंने उसे वाईन ऑफर की।
फिर हमने एक एक पैग लगाया।

शकीरा मेरे पास आकर किस करने लगी।
खुदा की कसम, क्या रसीले होंठ थे… दस मिनट तक हम लोग चूमाचाटी करते रहे फिर हटकर उसने कहा कि आज तक उसने किसी के साथ इतनी देर तक किस नहीं किया उसे बहुत अच्छा लगा।

यह कहानी भी पड़े  दोस्त की रस भरी माशूका की चूत चुदाई

Pages: 1 2


error: Content is protected !!