दोस्त, बीवी और बेहन की मस्त ऐशो आराम की कहानी-1

मॅढिया प्रदेश के एक गाओं सुलगाओं मे आलोक 19 साल का और राकेश 20 साल का 2 दोस्त रहते थे. आलोक की फॅमिली मे आलोक की मम्मी और बहाँ (अलका) और पापा किशान थे.

आलोक की मम्मी की आगे लगभग 45 साल की होगी और अलका की आगे 21 साल. राकेश के घर मे राकेश के मम्मी और राकेश की 2 बहाँ, इंदु और किरण रहती थी.

राकेश की मम्मी की आगे लगभग 47 साल की होगी. इंदु दीदी की शादी हो गयी थी और किरण 19 साल की जिसकी शादी होनी थी. राकेश का घर तोड़ा बड़ा था और खेती जयदा था तो खाने पीने की कमी नही थी. उसके पापा के डेत हार्ट अटॅक से हो गयी थी थी.

आलोक 20 साल.

आलोक की मम्मी 45 साल.

अलका सिस्टर 21 साल.

अलका का पति पंकज.

राकेश 20 साल.

राकेश की मम्मी 47 साल.

इंदु सिस्टर 24 साल.

किरण 19 साल.

कीर्तियक्षी 19 साल, आलोक की पत्नी का घरेलू नामे (पूजा).

राकेश और आलोक दोनो ग्रॅजुयेशन तक गाओं मे जैसे तैसे पढ़ाई पूरी किए. उसके बाद दोनो दोस्त सुलगाओं से निकल कर पुणे मे आ गये. राकेश और आलोक दो दोस्त थे पर एक सगे भाई की तरह दोनो मे प्यार था. और दोनो के घर मे भी काफ़ी भाई चारा था.

आपस मे दोनो फॅमिली काफ़ी ख़ुसी ख़ुसी रहते थे. दोनो फॅमिली बहुत आमिर तो नही पर ग़रीब भी नही थे. राकेश और आलोक दोनो मिल कर पुणे मे जॉब ढूनदा और आलोक को अकाउंटेंट की जॉब मिल गयी. जॉब मिलने से दोनो का पुणे का कराच निकल जाता और दोनो हसी ख़ुसी रहने लगे पुणे मे.

राकेश इट मे जॉब ढूंड रहा था. पर उसे जॉब न्ही मिल पा रही थी थी. आलोक उसे हिम्मत देता, दर मत मैं हू ना दोनो साथ है आज ना कल तुझे भी जॉब मिल जाएगी.

एक बार आलोक ने राकेश को डिस्को ले कर गया वाहा जा कर दोनो ने मस्त गोरी गोरी लड़किया देखी और दोनो मिल कर ड्रिंक के साथ लड़की को घूरते रहते थे.

राकेश आलोक को बोला यार क्या मस्त चिकनी चिकनी लड़किया है यार. और क्या क्या ड्रेस पहनी है. साली जिसकी गोरी गोरी जाँघ भी मकहं की तरह है.

आलोक बोला यार सहर की लड़किया ऐसे ही मस्त गोरी और चींकनी होती है. हम लोग के पास इतने पैसा नही की इन सभी को घुमा सके. राकेश बोला हन यार तू ठीक बोलता है पर आज मज़ा आ गया इन लड़कियो को ड्कः कर.

फिर दोनो अपने कमरे पर आ गये और एक दूसरे से दोनो दोस्त नशे मे बात चिट करने लगे.

आलोक बोला यार तेरा लंड तो मस्त टाइट हो गया था उनलोग की गोरी गोरी जाँघ देख कर.

राकेश बोला साले तेरा भी तो टाइट हो गया था. और राकेश बोला तेरा लंड मेरे लंड से बड़ा है. तो आलोक बोला पर तेरा लंड मेरे लंड से मोटा है. राकेश बोला है ये तो है. यार हम दोनो अपनी अपनी बीवी को मस्त छोड़ेंगे है ना. हन यार क्यू नही छोड़ेंगे बीवी को तो छोड़ना बनता है यार.

आलोक पूछा अछा राकेश तू बता तुझे कैसे बीवी चाहिए?

राकेश बोला बुरा नही मानेगा तो मैं दिल से बतौँगा. पर तू मेरी बात का बुरा नही मानना.

आलोक बोला तुम मेरा अपना है दोस्त मैं नही मानूँगा बुरा बोल तो तू.

तो राकेश बोला मुझे अलका जैसे लड़की कहिए, सुशील और समझदार.

आलोक बोला तो क्या तू अलका को पसंद करता है क्या?

राकेश बोला नही यार मैं बता रहा हू अलका टाइप की लड़की चाहिए. उसकी जैसे कमर हो, उसके जैसे नेचर हो. और घर परिवार से मिल जुल कर रहने वाली.

तो आलोक बोला अछा.

राकेश ने पूछा टुजे कैसे लड़की छाईए?

आलोक बोला यार मुझे इंदु दीदी जैसे लड़की छाईए गोरी और मस्त. राकेश बोला तो क्या तू दीदी से कुछ बोला क्या?

दोनो ने आपस मे इतनी अची दोस्ती और विस्वश थी की दोनो एक दूसरे के बहाँ के बारे मे एक दूसरे से कुछ सुनने पर भी एक दूसरे पर गुस्सा नही कर रहे थे.

राकेश बोला टुजे इंदु दीदी क्यू अची लगती है?

तो आलोक बोला इंदु दीदी सेक्सी और मस्त गोरी है. इंदु दीदी के होत मुझे बहुत आचे लगते है. अब तो इंदु दीदी को जीजा जी मस्त मज़े लेते होंगे है ना राकेश?

राकेश बोला हा यार इंदु दीदी सच मे बहुत अची है और मुझसे और किरर्न से बहुत प्यार भी करती है. जीजा तो देल्ही मे रहते है वाहा पर एक रूम का फ्लॅट ले रखा है वही रहते है दोनो. मैं लास्ट एअर सम्मर मे कंप्यूटर कोर्स करने के लिए 6 मंत के लिए गया था दीदी के पास.

आलोक बोला हन तू बताया था की दीदी के पास देल्ही जेया रहा हू कंप्यूटर कोर्स करने.

यार आलोक वाहा मैं दीदी और जीजू को काई बार किस करते भी देखा था. तो मेरे मॅन भी गुदगुदी हो जाती थी की मैं बी अपनी वाइफ को ऐसे ही किस करूँगा. यार राकेश तू तो अपनी दीदी को देख कर पागल हो गया होगा है ना?

आलोक को राकेश बोला हन यार प्यार ऐसा होता ही है ना की पूछ मत. एक बार की बात है दीदी कापरे धो रही थी जीजू कम पर गये थे. मैं बैठ कर पढ़ाई कर रा था.

तो दीदी बोली राकेश बेड शीत और पिल्लो कवर निकल कर लेते आ उसे भी धो देती हू. गर्मी मे स्मेल कर जाती है.

मैं दीदी के बोलने पर चादर और पिल्लो कवर लेते आया. और बातरूम मे दीदी ढोने लगी. तो मुझे बोली राकेश चादर भारी है ज़रा तू चादर पर कूद कूद कर इसके झाग निकल दे.

मई बोला ठीक है दीदी आप बाहर आ जाओ मैं अंदर बातरूम मे कूद लेता हू.

तो दीदी बोली अरे पागल टशहिर्त उतार दे और कूद चादर पर, मैं नीचे से उलटते प्लटते रहूंगी, तो जल्दी सॉफ हो जाएगा.

बातरूम छोटा था पर मैं टशहिर्त उतार कर चादर पर कूदने लगा. मेरे कूदने से मेरा लंड उपर नीचे हो रहा था और धीरे धीरे हिलने से टाइट भी हो गया था. चादर पर कूदने के बाद दीदी ने चादर पर पानी भी डाल रही थी जिससे राकेश गीला हो रहा था.

इंदु दीदी बोली:- राकेश तेरा पंत तो पूरा गीला हो रहा है.

राकेश बोला :- हन दीदी.

इंदु दीदी बोली:- और दूसरा पंत भी मैं धो चुकी हू, तू अब क्या पहानएगा?

राकेश बोला :- ऊ दीदी मुझे तो ये पता ही नही था की मेरा दूसरा पंत भी धूल चुका है.

इंदु दीदी बोली:- चल कोई बात नही है मैं ही हू सिर्फ़ घर मे और कोई नही है, जीजू कम पर गये है.

राकेश बोला :- तो क्या करू दीदी.

इंदु दीदी बोली:- तू पंत खोल दे और मैं इसे भी धो देती हू तब तक 1स्ट्रीट वाला पंत सुख भी जाएगा और चादर भी धूल जाएगा और तू नहा भी लेगा इतनी देर मे.

आलोक बोला:- यार तब तो क्या तुम पंत खोल दिया बातरूम मे?

राकेश बोला :- हन यार मैं पंत खोल दिया और दीदी चादर के साथ मेरे पंत को भी धो दी.

इंदु दीदी बोली:- भाई तेरा तो मस्त टाइट हो गया है रे. और तेरे जीजू से भी बहुत बड़ा है. कभी किसी से सेक्स किया है क्या?

राकेश बोला :- क्या सच मे दीदी जीजू से मेरा लंड बड़ा है क्या?

इंदु दीदी बोली:- आज नाइट मे देख लेना पर चुपके से देखना किसी को बताना नही. तेरे जीजू का 5 इंच का होगा टाइट होने पर.

राकेश बोला :- दीदी जीजू डेली अंदर डालते है क्या?

इंदु दीदी बोली:- शादी के बाद पति और पत्नी लगभग डेली चुदाई का खेल खेलते है.

राकेश बोला :- दीदी मेरा कितना बड़ा है?

इंदु दीदी बोली:- बोली लगभग 6 -7 इंच होगा तेरा. पर मोटा बहुत है जीजू से.

राकेश बोला :- दीदी आप बहुत अची हो.

इंदु दीदी बोली:- ऐसे बात आपस तक ही रखना घर के बाहर कभी नही जाने देना.

राकेश बोला :- पक्का प्रॉमिस दीदी कभी भी किसी को नही बतौँगा.

फिर दीदी कपड़े धो कर मुझे भी साबुन लगा के सॉफ कर दी और बोली जेया रूम मे कुछ देर बैठ, जब तेरे कपड़े सुख जाते है तो मैं ला कर देती हू.

आयेज की स्टोरी पढ़ने के लिए अगले पार्ट मे देखे.

यह कहानी भी पड़े  भाई ने बहन की चिकनी चूत को फाड़ा

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!