दो भाभी और अकेले देवर में चुत चुदाई

मैं कई बार भाभी की गांड चोद चुका हूँ. एक बात भाभी की सहेली आई तो मैंने भाभी को कहा कि अपनी सहेली की चुदाई करवा दें. भाभी ने उससे बात की और वो मान गयी.

दोस्तो, मैं अजय एक बार फिर आपके लिए सेक्स कहानी लेकर आया हूँ. भाभी का नाम शोभा है. शोभा भाभी के नाम के जैसे ही उनका बदन भी शोभनीय है. मैं सच बताऊं, तो उनको देख कर ही पागल हो जाता हूँ. भाभी के साथ उनके साथ चुदाई की आग में जलता रहता हूँ.

जब से मैंने शोभा भाभी की गांड मारी, उसके बाद तो मैं कई बार भाभी की गांड चोद चुका हूँ. सच में भाभी की गांड मारने में मुझे बहुत मज़ा आता है.

भैया के आने के बाद उस रात भैया ने भी भाभी को अच्छे से चोदा था जबकि मैं रात भर नंगा तड़पता रहा. फिर भैया के ऑफिस जाने के बाद मैं भाभी के साथ चिपका रहा.

मुझे तब बहुत मज़ा आता, तब भैया का कॉल आता और भाभी फोन पर बात करतीं. मैं भाभी को नंगी करके अपनी गोद में लेकर चोद देता. मुझे बहुत मज़ा आता. मैं अपनी चुदाई का हर सपना भाभी को चोदते समय पूरा करने में लग जाता.
भाभी के साथ बेडरूम में नंगी मूवी चला कर टीवी पर भाभी के साथ मस्ती करते हुए चुदाई देखना …
सेक्स कहानी पढ़ते हुए भाभी के बदन से खेलना …
सारे घर में भाभी को उठा उठा कर चोद देना …
भाभी की मोटी चूचियां पी पी कर गांड चोद देना …
इस सबमें मुझे जरूरत से ज्यादा मजा आता था.

एक दिन मैं और भाभी चुदाई में लगे थे, तभी भैया का कॉल आया. भाभी बात करने लगीं. मैं उस समय भाभी के सारे बदन को चूम रहा था. तभी भाभी की मोटी गांड पर मैंने कसके काट दिया, तो भाभी आह करने लगीं.
भैया ने फोन पर पूछा- क्या हुआ?
भाभी ने मेरी तरफ देख कर कहा कि कुछ नहीं नीचे से एक चींटी घुस गई थी.

यह कहानी भी पड़े  मेरे स्टूडेंट ने मुझे चोदकर मेरे सारे अरमान पूरे किये

उनकी बात सुनकर मैं मुस्कुरा दिया.

उसी शाम भाभी की एक सहेली घर आई. उसका नाम सुमन था. सुमन भी बहुत मस्त भाभी थीं. एकदम माल जैसी चुदाई का आइटम लगती थीं. उस दिन शाम को मैं भाभी की लेने ही वाला था, तभी वो आ गई थीं. भाभी ने कपड़े ठीक करते हुए दरवाज़ा खोला, तो सुमन भाभी अन्दर आ गईं.

वो भाभी को देखते ही समझ गई थीं. चूंकि वे दोनों आपस में बहुत अच्छी सहेलियां थीं … इसलिए भाभी ने सिर्फ आँख मार कर शोभा भाभी से इशारे में मेरे बारे में समझ लिया.

फिर भाभी ने मुझे सुमन भाभी से मिलवाया. सुमन भाभी मुझे आंखों ही आंखों में टोटल रही थीं.

सुमन भाभी के पति भी ज्यादा टाइम बाहर ही रहते थे. वो भी लंड की प्यासी थीं. मेरे मन में तो तभी आ गया कि दोनों भाभियों की चुदाई एक साथ हो जाए, तो मज़ा आ जाए. एक ही बिस्तर पर दो दो औरतें एक जवान लड़के के लंड के साथ खेल रही होंगी, तो कितना मज़ा आएगा.

हालांकि उस समय तो सुमन भाभी ने शोभा भाभी से कुछ बातें की और चली गईं.

उस रात मैंने भाभी को पहले ही कह दिया कि रात को मेरे पास आ चुदने के लिए जाना.

भाभी भैया के सोने के बाद रात दो बजे मेरे पास आईं, तो मैंने भाभी को नंगी करके बिस्तर पर लेटा लिया.
मैं- भाभी एक बात कहूं.
भाभी- हां बोलो.
मैं- भाभी मुझे आपकी सहेली सुमन भाभी बहुत मस्त लगीं. क्या मैं आप दोनों को एक साथ चोद सकता हूँ? आप देख लेना दोनों को मज़ा आ जाएगा.

यह कहानी भी पड़े  सौतेली माँ की चुदाई का आनन्द-1

इस पर भाभी ने मुझे प्यार से मारते हुए कहा कि अजय तुम बहुत हरामी हो … हम जवान औरतों को एक साथ चोदना चाहते हो … लगता है पूरे मर्द बन गए हो. वैसे मन तो मेरा भी बहुत है. सुमन भी बेचारी प्यासी है.

मैं भाभी के चूतड़ों पर लौड़ा रगड़ते हुए बोला- हां भाभी … सुमन भाभी ने आज मुझे इशारे भी किए थे.
भाभी- हम्म … साली कुतिया सुमन बहुत तेज़ है. नया माल देखते ही उसमें आग लग जाती है.

मैं- भाभी सच में कितना मज़ा आएगा … जब आप दोनों मेरे साथ नंगी लेटोगी उफ्फ …
भाभी- हां देवर जी, जी भर के मज़े ले लो … तुम यहां से अच्छे से चुत चुदाई की पढ़ाई करके जाना.
मैं- भाभी सच में आप बहुत अच्छी और सेक्सी हो … मेरी जान शोभा रानी.
शोभा भाभी- अरे भाभी से सीधा शोभा … यू नॉटी.

मैं- आह भाभी अब जल्दी गांड मार लेने दो.
भाभी- नहीं ना … रुको पैंटी मत उतारो … कहीं वो जाग गए तो.
मैं- नहीं भाई नहीं जागेंगे … उफ्फ क्या गोरी मोटी गांड है आपकी भाभी.
भाभी- ये सब तुम्हारी करामात है.
मैं- वो तो है भाभी. सच में काश तुम मेरी पत्नी होती तो मजा आ जाता.
भाभी- पत्नी बना तो लिया है … और क्या पता तुम मेरे पति होते, तो तुम सो रहे होते और मैं तुम्हारे छोटे भाई के साथ लगी होती.

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!