डिवोर्स्ड भाभी को चोद्ते हुए बीवी ने देख लिया

कुछ मिनिट एसए ही किस करने के बाद वो मेरे नीचे उतरी. फिर मेरे लंड को हाथ मे लेके उपर नीचे करने लगी और देखते ही देखते उसने मेरा पूरा लंड अपने गले तक उतार दिया और चूसने लगी..

थोड़ी देर मे मेरा लंड अपनी पोज़िशन मे आ गया तो वो मेरे उपर चाड गयी और मेरा लंड सीधा पकड़ के अपनी छूट उसके उपर रख कर धीरे धीरे अंदर लेने लगी. जेसे ही मेरा टोपा उसकी छूट मे गया उसने अपनी आँखे बंद कर ली और सीधा मेरे लंड पे बेत गयी.

मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी छूट मे था और वो मेरे उपर आ कर सो गयी उसके मुलायम बूब्स मेरी छाती से डब गये. उसने अपने दोनो हाथ मेरे गाल पे रखे और मुझे किस करने लगी.

एक दो मिनिट वो मेरा लंड अंदर रख के सिर्फ़ मुझे किस करती रही. मे भी उसका पूरा साथ दे रहा था और दोनो हाथो से उसकी मोटी गांद सहला रहा था.

अब धीरे धीरे उसने उपर नीचे होना चालू किया. पहले धीरे धीरे उपर नीचे हो रही थी. पहले तोड़ा उपर जाती फिर फाटक से नीचे बेत जाती इस से मुझे उसकी बाकछे दानी भी महसूस हो रही थी. मतलब मेरा लंड उसके बाकछेड़नी तक पह्ोछ रहा था. जिससे वो मजेदार आवाज़े निकालने लगी.

अब उसने अपनी उपर नीचे होने की स्पीड बढ़ा दी.. स्प्रिंग वाला गद्दा था तो वो एक बार उपर से नीचे ज़ोर से बेत जाती तो स्प्रिंग की वजह से एक दो बार उपर नीचे पाने आप हो जाते थे.

चुड़वते चुड़वते वो कभी कभी मेरा मूह पकड़ के ज़ोर ज़ोर से किस करती या अपनी ज़ुबान मेरे मूह मे डाल देती. और पूरा मूह छत के फिर उपर नीचे करने लगती.

करीब करीब 10-12 मिनिट से हम लगातार चुदाई कर रहे थे. फिर वो तोड़ा तक गयी तो वो लंड अंदर लिए ही मेरे उपर गिर गयी और लंबी लंबी साँसे लेने लगी. मे पीछे उसकी गांद और उसकी पीठ पे हाथ फेर रहा था.

अब वो मेरे लंड को बाहर निकल के खड़ी हो गयी. तो साथ मे मे भी खड़ा हो गया और उसको बेड पे एसए सुलाया की बेड के बाहर उसका सर आ गया और बाकी बदन बेड पे रहा. मे उसके मूह के पास आया और अपना लंड उसके मूह मे डाल दिया. और मे भी तोड़ा नीचे जुक के उसकी गुलाबी छूट के उपर हाथ फेरने लगा.

रानी साली लंड चूसने मे इतना माहिर थी की कोई भी पोज़िशन मे लंड को पूरा का पूरा मूह मे भर लेती थी. अब मैने आगे पीछे कर के उसका मूह छोड़ा और उसकी छूट पे चींटी काट ने लगा. जिससे उसे बहोट मज़ा आने लगा.

कुछ पल मूह चुदाई के बाद मैने रानी को खड़ी कर लिया और बेड के किनारे डॉगी स्टाइल मे खड़ा कर दिया. पीछे से उसकी छूट पे लंड घिसने लगा और तड़पने लगा उसे. लंड की इतनी भूख थी की उसने खड़ी होके पीछे मुदके मेरे गाल पे हल्का चटा मारा और एक किस करी.

और बोलती है रूको मत बस छोड़ते जाओ.. फिर वो डॉगी स्टाइल मे आ गयी अब मैने लंड पकड़ के सीधा उसकी छूट मे एक ही झटके मे डाल दिया. उसे तोड़ा दर्द हुवा लेकिन उउउफफफ्फ़ आअहह उउउंम्म… करते करते मज़े लेने लगी.

अब हमारी चुदाई चालू हुई. मैने नीचे हाथ डाल के उसके दोनो बूब्स पकड़ लिए और दो उंगली के बीच मे निपल पिंच करने लगा और पीछे से घपा घाप छोड़ने लगा.

बहोट देर की लगातार चुदाई से हम दोनो के बदन अब गरम हो गये थे. एसी की ठंडक भी कम हो गयी थी. काफ़ी टाइम पीछे से छोड़ छोड़ के अब मे तोड़ा तक गया था और वो भी.

तब मैने उसकी छूट से लंड निकाला और उसे बेड पे सीधा सुला दिया. फिर मे उसके उपर चाड गया और मिशनरी पोज़ मे उसके उपर आके उसे किस करने लगा.

अभी तक मैने लंड अंदर नही डाल रहा था और सिर्फ़ किस किए जा रहा था. लंड तोड़ा आगे पीछे कर रहा था सिर्फ़ उसकी छूट को टच कर के पीछे ले लेता. 4-5 बार एसा करने पर रानी ने खुद नीचे हाथ डाल के मेरा लंड पकड़ा और उसकी छूट के मूह पर रख कर मेरे कुल्हो पे हाथ रख के अपनी और खींच लिया. जिससे मेरा पूरा लंड एक बार मे ही उसकी छूट मे समा गया.

उसने मेरे होंठ काट लिए और एक ज़ूनुन के साथ मुझे किस किए जा रही थी. जेसे अभी के अभी मेरे होंठ काट लेगी क्यू के इस पोज़ मे लंड सीधा अंदर तक चला जाता है.. जिससे उसे बहोट मज़ा आ गया और अब वो बस लंबी लंबी सिसकारिया ले रही थी आअहह म्‍म्म्मम उूउउम्म्म्मह आअहह… कर कर के मुझे और जोश दिलवा रही थी.

अब हम दोनो को एसी धामसान चुदाई करते करते शायद 30-35 मिनिट हो चुके थे. रानी ने अभी तक पानी नही निकाला था. वो बस मेरा हर एक शॉर्ट के मज़े ही लिए जा रही थी और किस पे किस कर रही थी और मेरी गांद पे थप्पड़ मारे जा रही थी.

मुझे तो कितना मज़ा आ रहा था मे बता ही नही सकता. थोड़ी देर चुदाई करने पर रानी ने मुझे लंड बाहर निकल ने का इशारा किया तो मैने पूछा क्यू?

तब उसने बोला निकालो तो सही मे बताती हू. फिर मैने लंड बाहर निकल दिया. मे रानी की आँखो मे सवाल भारी नज़रो से देखने लगा. तो उसने अपने मूह मे हाथ डाल और ढेर सारी थूक निकल कर मेरे लंड पे लगाई और खुद ही अपनी टाँगे उठाके मेरे कंधे पर रखड़ी. जिससे उसकी गांद पूरी की पूरी मेरे लंड के पास आ गयी.

अब उसने एक बार फिर मूह मे हाथ डाला और थूक ले कर अपनी गांद के छेड़ पे लगाया और मेरी तरफ देख के स्माइल करने लगी. मे समाज गया रानी साली अपनी गांद मरवाना चाहती है.

ये देख कर मे तो खुशी से झूम उठा. फिर बोली तोड़ा आराम से कर ना पहली बार है. मैने बोला अगर तुमने गांद नही मरवाई कभी तो कोई बात नही रहने दो कोई ज़रूरत नही.

फिर रानी बोली नही नही कोई दिक्कत नही आज जितना मज़ा चुदाई मे तुमने दिया उतना मज़ा शायद ही किसी ने दिया है मुझे. मुझे पूरा तृप्त कर दिया है. इतना हक तो तुम्हारा भी बनता है ना की तुम्हे जो चीज़ प्यारी है वो तुम्हे भी मिलनी चाहिए.

मैने पूछा तुम्हे केसे पता चला की मुझे गांद मारना पसंद है? तो वो चुप हो गयी और बोलने लगी वो सब बाद मे बात करेंगे, तुम बस मेरी गांद मे लंड डालो.

फिर मैने लंड पे वापस थूक लगाया और गांद के छेड़ के पास रख कर एक हल्का सा धक्का लगाया. अब लंड हाथ मे लेके ज़ोर लगाया तो मेरा टोपा अंदर घुस गया और उसके गांद मे मेरा टोपा फस गया.

उसकी गांद की सील टूट चुकी थी और उसका दर्द उसके चेहरे से साफ साफ पता चल रहा था. तब मुझे थोड़ी दया आ गयी और मैने धीरे से लंड बाहर निकल लिया और उसके गांद को चाटने लगा.

कुछ पल बाद वो बोली चलो डालो. अब मैने कहा नही अब मे सिर्फ़ तुम्हारी छूट मारूँगा लेकिन वो नही मानी. उसने बोला नही सिर्फ़ गांद मारो भले मुझे दर्द हो मे से लूँगी. तुमने मुझे इतनी खुशी दी है की मे बता नही सकती. भले दर्द हो तुम बस अपना सोख पूरा कर लो मेरी खातिर.

मैने फिर उसको पूछा की तुम्हे केसे पता चला की गांद मारना और छूट चाटना मेरा सोख है? वो तब भी चुप रही.

फिर मैने धीरे धीरे फिर लंड पे और उसकी गांद पे थूक लगाके लंड घुसाया. इस बार उसने अपनी गांद थोड़ी ढीली छोड़ी थी तो तोड़ा ज़ोर करने पर टोपा अंदर घुस गया. वो फिर से उउउम्म्म्म आआआआआआहह एसी दबी हुई आवाज़ निकल ने लगी.

थोड़ी देर एसए ही रखने के बाद अब मैने तोड़ा ज़ोर जगाया धीरे धीरे कर के लंड अंदर घुसने लगा. आधे से ज़्यादा लंड गांद मे घुस चक्का था. अब दर्द इतना बढ़ गया की वो चिल्लाना चाह रही थी. लेकिन चीख बाहर ना निकले उसके लिए उसने मेरा मूह पकड़ा और मुझे किस करने लगी और म्मूऊऊ मम्मूऊऊउऊहह करने लगी.

अब मे उतने मे ही उसकी गांद मरने लगा. थोड़े झटको के बाद उसे भी तोड़ा तोड़ा मज़ा आने लगा. वो भी नीचे से गांद उठा उठा के मेरे झटके के साथ ताल मिला रही थी.

मैने कस के उसका मूह मेरे मूह मे भर लिया और उसके दोनो हाथ पकड़ के सर के उपर चड़ा के दबा दिए. फिर एक ज़ोर से झटका मार के पूरा लंड उसकी गांद मे पेल दिया और वही रुख़ गया और किस करता रहा.

रानी बेचारी को बहोट दर्द हुवा लेकिन चिल्ला भी नही पाई. मैने उसके हाथ पकड़े थे तो कुछ कर भी नही पाई. बस आँखे बड़ी कर के मम्मूउउहह मम्मूऊऊऊहह मम्मूउउहह करती रही और अपना सर ना ना करती रही.

मे बस लंड उसकी गांद मे घुसाए एसए ही उसके उपर पड़ा रहा. अब उसका दर्द तोड़ा कम हुवा तो रानी ने अपना सरीर ढीला छोड़ा. मे समाज गया की अब वो शांत हो चुकी है.

फिर मैने उसका हाथ और मूह छोड़ दिया ताकि वो ठीक से सांस ले सके. वो ज़ोर ज़ोर से हाँफ ने लगी और कुछ बोले उसे पहले मैने लंड गांद से निकल लिया.. पुतछ की आवाज़ के साथ लंड बाहर आया और वो फिर दर्द के मारे आअहह आआअहह करने लगी.

अब वो उल्टी लेट गयी और उसने अपनी गांद थोड़ी उपर की तरफ उठाई. फिर मे पीछे जा कर उसकी गांद मे तोड़ा ठुका तोड़ा लंड पे मसला. और एक ही बार मे पूरा लंड उसीकि गांद मे डाल कर उप्र नीचे करने लगा.

थोड़ी देर के बाद अब रानी को भी मज़ा आने लगा और वो मेरा साथ देने लगी.

8-9 मिनिट की गांद चुदाई के बाद अब मेरा होने वाला था. तो मैने गांद मे से लंड निकल कर उसे सीधा किया और रेग्युलर इंडियन पोज़ जो औरत टाँगे फेलाए सोती है और मर्द उपर चाड के छोड़ता है एसए कर के उसे छोड़ने लगा.

उसे पता चल गया की मेरा होने वाला है. तब उसने भी मुझे टाइट पकड़ लिया और बोलने लगी ज़ोर सेआअहह हहाअ ज़ोर से और ज़ोर सी आअहह म्‍म्म्मममाहह आआअजोर से अओउउउर्र ज़ोर से.

अब मे भी उछाल उछाल के उसे छोड़ने लगा और मेरे लंड ने ढेर सारा वीर्या उसकी छूट मे निकल दिया. मैने धक्के चालू रखे, अब रानी ने मुझे कस के पकड़ लिया और मेरे बाल खिचने लगी. मुझे कमर से पकड़ रखा और आहह आअहह ऊओ कर के अपना पानी भी निकल दिया.

चुदाई करते करते लगभग 40 मिनिट से उपर हो गया था. हम दोनो हाफ़ रहे थे और एक दूसरे के उपर एसए ही पड़े रहे और लीप तो लीप किस करते रहे.

मे एक हाथ से उसके सिर को पकड़े था दूसरे हाथ से उसका एक बूब्स सहला रहा था. और उसने मुझे अपनी बहो मे भर रखा था और किस चालू ही थी.

2 मिनिट बाद हुँने किस तोड़ी और एक दूसरे से अलग हुवे. उसने जिट्नी भी पोज़ मेरे साथ करे जेसा सपोर्ट दिया. मुझे वो सब जेसा मुझे पसंद था वेसा ही किया.

मैने फिर पूछ भी लिया की तुम ने केसे जाना की मुझे गांद मारना और क्लीन छूट चाटना बहोट पसंद है?

तब उसने बहोट बड़ा राज़ खोला और बोली की मुझे तुम्हारी वाइफ ने ही बोला था की तुम बहोट रोमॅंटिक सेक्स करते हो और तुम्हे क्या क्या पसंद है चुदाई मे.

मेरी आँख फटी की फटी रह गयी की अरे यार ये तो मेरे साथ ग़मे हो गयी…

फिर हम बेड से उतरे और साथ मे नहाने गये. जब नहा के वापस आए तो मेरी वाइफ वही खड़ी थी. अब हम दोनो नंगे एक दूसरे के सामने देख रहे थे और बीवी हुमारे सामने देख रही थी..

अब आगे क्या हुवा ये जानने के लिए मैल ज़रूर करे क्या मेरी बीवी ने मेरे साथ जगदा किया या फिर उसने भी ह्यूम जाय्न किया ये अगले पार्ट मे.

यह कहानी भी पड़े  सेक्सी किरायेदार भाभी की चालाकी

error: Content is protected !!