Didi Ki Shadi Mai Meri Suhagrat

हैलो दोस्तो.. मेरा नाम इस रेहान है। मैं मथुरा से हूँ.. इस वक्त मेरी उम्र 19 साल की है। मेरी हाइट 5 फुट 11 इंच है। लंड औसत से अधिक लंबा और मोटा है और ये घटना जिस लड़की के साथ हुई.. उसका नाम रहीमा है। उसका रंग बिल्कुल साफ है.. फिगर 32-30-32 की है.. मस्त उठी हुई गाण्ड का तड़का किसी को भी मस्त कर दे।

यह बात आज से करीब 2 माह पहले की है.. दीदी की विदाई के बाद रात को हम सारे भाई-बहन बाहर आंगन में बैठे थे। मुझे नींद आने लगी।
मैंने सबसे कहा- तुम लोग बातें करो.. मैं सोने जा रहा हूँ।

सबने मुझे रोकना चाहा लेकिन मैं बहुत थका हुआ था, मैं नहीं रुका और अन्दर आ गया।
लेकिन अन्दर देखा तो सोने के लिए जगह ही नहीं थी।

मैं लेट कर किसी तरह अपने लायक जगह बनाई.. तो अचानक से मेरा हाथ किसी ने पकड़ा।
मैं डर गया.. मैंने देखा तो वो रहीमा थी मेरी रिश्तेदारी में से!

उसने कहा- मुझे भी सोना है।
मैंने कहा- तू भी जगह बना ले और सोजा।
मेरे मन में अब तक कोई ग़लत बात नहीं थी।

उसने कहा- नहीं.. मैं तो तेरे साथ ही सोऊँगी।
मैंने कहा- पागल है क्या.. जगह ही नहीं है।
उसने कहा- मुझे नहीं पता.. मैं तो तेरे साथ ही सोऊँगी।
मैंने कहा- रुक.. जगह बनाने दे।

मैंने देखा बिस्तर के नीचे मेहमानों के जूते और बैग रखे थे। मैंने उनको सरका कर जगह बनाई और हम दोनों लेट गए। हम दोनों के पास ना ओढ़ने के लिए कुछ था और ना ही बिछाने के लिए था। वहाँ दरियाँ पड़ी थी, वही बिछा ली और एक औढ़ भी ली।

यह कहानी भी पड़े  माँ ने मेरी चूत को ठंडा करवाया

उस वक्त फरवरी का महीना था.. ठंड भी बहुत थी। हम लेट गए.. मैं उससे बातें करने लगा।
मुझे और उसे बहुत ठंड लग रही थी, मुझे ध्यान आया कि किसी ने मुझे बताया था कि लड़की से लिपटने से गरमी बढ़ती है.. मैंने वैसा ही किया।
उसने कहा- ये क्या कर रहे हो?
मैंने कहा- गर्मी ले रहा हूँ।

वो शर्मा गई.. फिर मैंने उसके गाल पर किस किया.. उसने कुछ नहीं कहा.. मेरी हिम्मत बढ़ गई।

मैंने उसके होंठों पर अपने होंठों को रख दिए और किस करने लगा।
उसको भी जोश आ गया और मैं तो जोश में होश खोने लगा।

मैं धीरे-धीरे नीचे को आने लगा। उसने सलवार सूट पहन रखा था। मैं ऊपर से ही उसके मम्मों को दबाने लगा। वो सिसकारियाँ लेने लगी।
फिर मैं और नीचे गया और मैंने उसका नाड़ा खोल दिया और पैन्टी में हाथ डाल दिया।

वाउ यार.. वो अन्दर से कितनी गर्म थी.. मेरे हाथ को गर्मी महसूस हो रही थी।

मामला बढ़ा और कुछ ही देर हम दोनों गर्म हो गए और 69 की पोजीशन में आ गए।

मैं उसकी चूत पर जीभ रख कर चाटने लगा। ये सब मैंने ब्लू-फिल्म देख कर सीखा था। मुझे अब बहुत मज़ा आने लगा.. मैं सातवें आसमान में था।

उधर वो मेरा लंड चाट रही थी। ऐसा लग रहा था.. जैसे वो लॉलीपॉप खा रही हो। मैं उसकी चूत में जीभ डाल रहा था और अपनी जीभ से ही उसकी चूत को चोद रहा था।

हम दोनों को ही बहुत मजा आ रहा था। इतने में ही वो एकदम से अकड़ते हुए झड़ गई और मैं उसका सारा रस पी गया.. बड़ा टेस्टी था।

यह कहानी भी पड़े  मकानमालिक की बीवी को सेक्स का मजा दिया

Pages: 1 2

error: Content is protected !!