देवर के भाभी को चोदने की कोशिश की

ही गाइस, मेरे चचेरे भाई की शादी हुए 4 साल हो गये थे. उनके 2 बच्चे थे. उनकी बीवी बहुत क्यूट थी. रंग गोरा, और सनडर थी. फिगर 32-30-34, चेहरा हासमुख, और हाइट 5 फुट थी.

भाई देल्ही में जॉब करते थे. उनकी फॅमिली में गाओं में मा और पापा रहते थे, जो भाभी के साथ रहते थे. उस समय भाई छुट्टियों में घर आए थे. 1 हफ्ते हो गया था, और मुझे उनसे मिलने का टाइम नही मिला.

फिर मैने सोचा क्यूँ ना अभी मिल लिया जाए. रात का समय था, और मैं उनसे मिलने गया. कुछ देर बात कर ही रहे थे, की लाइट चले गयी. तो भाई ने मोमबत्ती जला दी, और अपनी अलमारी से एक विस्की की बॉटल निकली, और पेग बनाने लगे.

भाई बोले: अब चकने का क्या होगा?

मैने बोला: जब तक तुम चकने का इंतेज़ां करो, मैं टाय्लेट जाके आता हू.

फिर भाई ने बोला: ठीक है, लाइट नही है, ये मेरा मोबाइल लेजा.

तो मैं उनके फोन में लाइट जला कर टाय्लेट में चला गया. मेरा फोन चार्ज नही होने की वजह से घर पर स्विच ऑफ पड़ा था. तो मैं घर पर ही फोन को चार्जिंग पर लगा आया.

टाय्लेट में बैठे हुए मैं फोन में फोटोस देखने लगा भाभी की, बच्चो की, भाई की. सभी की फोटोस थी. तभी मैं फोटोस के ट्राश में पहुँच गया, जहा डेलीटेड फोटोस और वीडियो होती है.

जब मैने ट्राश खोला, तो मैं डांग रह गया. भाभी आधी नंगी लेती थी, और भाई उनके उपर नंगे उनकी गर्दन को किस कर रहे थे. भाभी कॅमरा की तरफ देख रही थी. उनकी आँखें चमक रही थी फोटो में, और भाभी के छ्होटे चूचे टाइट हुए पड़े थे. उनके निपल्स काले थे. उसमे भाभी की पतली कमर, अफ मेरा लंड खड़ा हो गया, पर वो हाफ फोटो थी.

फिर मैं बॅक आया तो देखा उसमे भाभी और भाई की बहुत वीडियोस थी. मैने भाई की सभी वीडियोस और फोटोस रिस्टोर करी, और अपने Wहत्साप्प पर सभी वीडियोस और फोटोस सेंड कर दी. फिर Wहत्साप्प से अपने नंबर की सारी हिस्टरी मेसेज हटा दिए.

उसके बाद मैं वापस भाई के पास आया, और हम दोनो ड्रिंक करने लगे. थोड़ी देर बाद लाइट भी आ गयी. फिर भाभी वाहा आई. भाभी ने सारी पहनी थी.

भाभी बोली: खाना बन गया है, ले अओ?

तो मैने माना कर दिया, क्यूंकी मुझे तो भाभी की नंगी वीडियोस देखनी थी. अब मेरी नज़र भाभी से नही हॅट रही थी. मेरी नज़र भाभी के चूचों और गांद पर थी.

फिर मैने भी अपनी ड्रिंक ख़तम करी, और घर आ गया, और जल्दी से मैने अपना फोन देखा. फोन 34% चार्ज हो गया था. फिर मैने अपने फोन का स्विच ओं किया, और नेट चलाया. सभी वीडियोस आंड फोटोस आ गयी और डाउनलोड होने लगी.

फर्स्ट वीडियो मैने चालू करी, जिसमे भाभी घुटने मोड़ कर लेती हुई थी. भाभी ने हरा सूट पहना था, और उपर से नंगी थी और सलवार घुटनो तक थी. भाभी ने भाई की तरफ पीठ लगाई हुई थी. भाई भाभी को पीछे से छोड़ने के साथ वीडियो बना रहे थे.

भाभी की बड़ी गांद मस्त लग रही थी. फोन की लाइट से भाभी की गांद चमक रही थी. भाई ने उसके बाद भाभी की गांद खोली, और उनकी गांद का च्छेद दिखाया, जो काला और छ्होटा था. पीछे से छूट भी दिखाई जो अंदर से पिंक थी.

मेरे से रहा नही गया. मेरा लंड भाभी की छूट और गांद के दर्शन के बाद पंत से बाहर निकालने को तैयार था. फिर मैने दरवाज़ा लॉक करा. उसके बाद बिस्तर पर जेया कर अपनी पंत उतार कर नंगा हो गया. मैने वीडियो चलाई जिसमे भाभी पैर उठा कर छुड़वा रही थी, और भाभी की छूट पर बहुत बाल थे.

उस रात मैने भाभी के नाम पर 3-4 बार मूठ मारी, और नंगा ही सो गया. उसके बाद फिर जब भी भाभी को छोड़ने का मॅन करता, मैं भाभी की वीडियो देख कर अपने लंड को शांत कर लेता.

फिर होली आ गयी. मैं उनके घर होली खेलने गया. भाई बैठ कर दारू पी रहे थे और वो थोड़े नशे में भी थे. फिर हम दोनो ने एक-दूसरे को रंग लगाया.

मैने पूछा: भाई घर वाले कहा है?

तो वो बोले: मा पापा आज सुबह अपने ससुराल गये है, होली वही माना कर कल आएँगे. और तेरी भाभी अंदर रसोई में खाना बना रही है.

मैं बोला: ठीक है.

फिर उन्होने मेरे लिए पेग बनाया, तो मैने कहा: अपने लिए भी बनाओ.

तो कहने लगे: मैने बहुत पी रखी है, तू लगा ले.

फिर मैने अपने मॅन में सोचा भाई नशे में थे, और घर पर कोई नही था. इससे अछा मौका नही मिल सकता था भाभी के उपर ट्राइ मारने का. फिर मैने ज़बरदस्ती भाई के लिए हार्ड पेग बना दिया, और बोला-

मैं: भाई तुम नही पियोगे, तो मैं भी नही पियुंगा.

फिर वो मान गये. कुछ देर बात करने के बाद मैं उनके लिए पेग बना देता. अब भाई की आँखें झूमने लग गयी, और बात करते-करते वो सो गये.

फिर मैने उनको हिलाया, पर उनको नींद आ गयी थी. फिर मैने अपना काम शुरू किया. मैने अपनी जेब से कलर निकाला, और रसोई में चला गया, जहा भाभी प्याज़ काट रही थी.

भाभी की पीठ मेरी तरफ थी. मैं चुपके से भाभी के पीछे गया, और एक हाथ भाभी के चूचों पर रख कर चूचे दबाए, और दूसरे हाथ से उनके मूह पर रंग लगाया.

भाभी के चूचे दबाने की वजह से भाभी थोड़ी झुक गयी, जिसकी वजह से भाभी की गांद मेरे लंड पर टच होने लगी. मेरा लंड खड़ा हो गया था. फिर भाभी ने मुझे धक्का मारा और कहने लगी-

भाभी: तुमने तो दर्रा ही दिया था (शरम से).

मुझे लगा भाभी गुस्सा करेंगी चूचे दबाने वाली बात पर. लेकिन उन्होने उसे इग्नोर कर दिया. फिर मेरी हिम्मत बढ़ गयी. भाभी ने मुझे हॅपी होली कहा, और मैने भी हॅपी होली क्काहा भाभी ने भैया के बारे में पूछा की वो कहा थे, तो मैने बोला-

मैं: भाई को तोड़ा नशा हो गया था, तो वो सो गये है.

तो वो बोली: तुमने सारा प्याज़ रंग डाल कर खराब कर दिया है. मैं बातरूम में जेया कर मूह धो के आती हू. तब तक प्याज़ काटा होना चाहिए.

फिर मैं जाती हुई भाभी की बड़ी गांद हिलते हुए देखने लगा. मैं उनके पीछे चुपके से जाने लगा.

कहानी लंबी होने की वजह से पार्ट 2 लिखना पढ़ रहा है. कैसे मैने भाभी को बातरूम में नंगी किया, ज़रूर पढ़े.

यह कहानी भी पड़े  ऑनलाइन मिली हॉट भाभी की लंड की प्यास बुझाई


error: Content is protected !!