देसी चुदाई कहानी पड़ोस की सेक्सी भाभी की

हाई दोस्तों ये मेरी लाइफ का फर्स्ट सेक्स अनुभव हैं जो आप के साथ शेयर करने जा रहा हूँ. मैं आप को पहले मेरे बारे में बता दूँ. मेरा नाम अमन हैं और मेरी हाईट 6 फिट 2 इंच हैं. स्लिम और सेक्सी बॉडी हैं मेरी, रंग गोरा हैं और मेरा लंड पुरे 7 इंच का हैं. मेरे लंड को देख के किसी भी औरत की चूत में पानी आ जाए ऐसा हैं. अब मैं सिधे स्टोरी पर आता हूँ.

ये कहानी करीब 4 महीने पहले की हैं . मैंने मेरा एम्इ पूरा किया था और जॉब की तलाश में मैं सुरत रेंट पे रहता था. मैं मेरे रूम में अकेला रहता था और मेरे पड़ोस में 2 और घर थे जिसमे 2 घर में फेमिली रहती थी. और एक घर खाली था.

थोड़े दिन बाद उस मकान में एक मेरिड कपल रहने के लिए आया. 2 दिन बाद कही बहार जा रहा था तभी वो मेरिड कपल मुझे मिला और हमारी जान पहचान हुई. और वो भाभी के बारे में क्या बताऊ!!! एकदम सेक्सी माल दिखती थी, वैसे थी सीधी सादी लेकिन दिखती थी श्रध्दा दास के जैसी. उसकी फिगर भी गजब की थी. और उसके 2 बड़े बूब्स साडी से बहार आने के लिए तरस रहे थे. उसे देखते ही मेरी हालत ख़राब हो गई.

तभी मैंने अपने आप पर कंट्रोल किया लेकिन मन ही मन ठान लिया था की इसे ठोककर ही रहूँगा. फिर 1 हफ्ता बीत गया और मैं अपने लेपटोप पे काम कर रहा था तभी मेरे दरवाजे पर बेल बजी. मैंने खोला तो देखा की सामने प्रिया भाभी खड़ी थी और ग्रीन लो वेस्ट साडी में क्या माल लग रही थी. मन तो कर रहा था की अभी दबोच लूँ पर मैंने कंट्रोल किया.

मैंने पूछा हां भाभी कुछ काम था? तो उसने कहा की मुझे थोड़ा सामान शिफ्ट करवाना हैं और मेरे हसबंड ऑफिस गए हैं. तो मैंने कहा ठीक हैं. फिर हम उनके घर गए. और सामान को शिफ्ट करने लगे. तभी उसका मोबाइल बजा और उसके हाथ से गिर गया. वो उसे उठाने के लिए निचे झुकी और उसकी साडी का पल्लू गिर गया और उसके बूब्स के दर्शन हो गए. वो नजरें को मैं देखता ही रह गया. और मेरा लंड पूरा खड़ा हो चूका था.

यह कहानी भी पड़े  मौसी की तड़प ओर चूत की प्यास

फिर उसने फोन रखा तो मैंने वाशरूम का पूछा तो उसने मुझे बताया. और मैं वाशरूम में चला गया. वह अंदर एक ब्लेक रंग की ब्रा पड़ी हुई थी. मैंने जाते ही उसे उठाया और उसे अपने लंड पर रगड़ने लगा और सूंघने लगा.

मुझे बहुत ही अच्छा लगा और मैं मुठ मार के बहार आ गया और ब्रा को वही पर फेंक दी. फिर हमने सामान शिफ्ट किया और मैं प्रिया भाभी को जाने के लिए बोला तो उसने मुझे रुकने को कहा. और उसने मुझे चाय के लिए रोका तो मैं मान गया. फिर चाय पीते इधर उधर की बातें करने लगे. तो उसने बताया की उसका पति मोस्ट ऑफ़ सिटी के बहार ही रहता हैं अपने काम से. फिर मैंने भाभी को अपने बारे में बताया. थोड़ी देर के बाद मैं वहां से निकल गया. उस रात मुझे नींद नहीं आई और सोचता रहा की कैसे मैं प्रिया भाभी की जमकर ठुकाई करूँ. और प्रिया भाभी को सोच सोच के मैंने तिन बार मुठ मार ली.

फिर 2 3 दिन बित गए और एक दिन सुबह सुबह बेल बजी. मैं उसे खोलने गया गया तो सामने प्रिया भाभी खड़ी थी यल्लो ट्रांसपरेंट साडी पहन के. और मैं तो उसे देखता ही रह गया और मेरा लंड खड़ा हो गया. और मैंने शॉर्ट्स पहना हुआ था तो बहार से साफ़ दिख रहा था. भाभी ने वो गौर से देखा लेकिन फिर दूसरी बातें करने लगी.

मैंने भी भाभी को वेलकम किया. उसने कहा की बोर हो रही थी इसलिए तुम्हारे यहाँ टाइम पास करने आई हूँ. और उसने बताया की उसका पति 3 दिन के लिए बहार गया हैं. तो मैं मन ही मन खुश हो गया की अब तो उसे चोद के ही रहूँगा.

यह कहानी भी पड़े  पड़ोस की कमसिन कुंवारी लौंडिया

फिर मैंने बातों बातों मैं उसके बॉयफ्रेंड के बारे में पूछ लिया तो उसने कहा की कोलेज में मेरे 2 बॉयफ्रेंड थे. फिर उसने मुझे पूछा की तुम्हारी ओई गर्लफ्रेंड हैं की नहीं? तो मैंने कहा की अभी तक कोई मिली नहीं. तो उसने कहा जूठ मत बोलो इतने हेंडसम होकर भी ओई नहीं हैं. तो मैंने कहा की अभी तक जैसी चाहिए थी वैसे मिली नहीं. तो भाभी ने पूछा की कैसी गर्लफ्रेंड चाहिए. तो मैंने हिम्मत कर के बता दिया की आप की तरह ही सुंदर होनी चाहिए. ये सुन के वो हंसने लगी.

फिर हम लोग ऐसे ही बातें करने लगे. अचानक उसका फोन बजा और वो चली गई. शाम के 7 बजे मैं उसके घर गया तो दरवाजा खुला था और उस फ्लोर पर कोई था नहीं. सभी अपने घर में थे तो मैंने मौका देख कर उसके घर के अन्दर एंट्री ले ली. और डोर को भी अन्दर से बंद कर लिया. मैं सब जगह पर देखा वो नहीं दिखी. अचानक कुछ आवाज आई बाथरूम से. वो नाहा के निकली और क्या लग रही थी यार एकदम बोम्ब थी वो. बेकलेस साडी ब्लेक कलर की थी उसके बदन के ऊपर.

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!