कॉलेज गर्ल का बुर चोदन

मैं समीर दिल्ली में ग्रेटर कैलाश में रहता हूँ। अभी मैं सीए का स्टूडेंट हूँ। मैं एक गुड लुकिंग लड़का हूँ, सामान्य कद-काठी का हूँ और अन्तर्वासना का एक पाठक हूँ। कुछ दिन पूर्व मैंने इधर एक इंट्रेस्टिंग स्टोरी पढ़ी थी, बस उसे पढ़ने के बाद मुझे लगा कि मुझे अपने साथ हुआ इन्सिडेंट आप लोगों के साथ शेयर करना चाहिए। मैंने देखा है कि यहाँ स्टोरी पोस्ट करने वाले सभी लोग कहते हैं कि यह स्टोरी सच्ची है.. लेकिन ज़्यादातर वो फेक सी लगती हैं। मैं जो इन्सिडेंट आपके साथ शेयर कर रहा हूँ.. वो एकदम सच है।

भले ही आप उसे सत्य मानें या नहीं ये आप पर निर्भर करता है। बात आज से दो साल पहले की है.. जब मैं बी.कॉम के सेकंड ईयर में था, मेरे पड़ोस में एक लड़की रहती थी रिया (नाम परिवर्तित)। मैं उसको बहुत पहले से जानता था.. लेकिन मैंने उसे ठीक से तब जाना, जब उसने मेरे कॉलेज में बी.कॉम में ही दाखिला लिया। उस टाइम वो 19 साल की थी। उन दिनों उसे बी.कॉम की स्टार्टिंग में अकाउंट्स में प्राब्लम आती थी। जबकि मैं शुरू से ही पढ़ने में बहुत इंटेलिजेंट था। साथ पढ़ने के कारण उससे दोस्ती हो गई और मैं उसके घर अक्सर आने-जाने लगा था। उसने एक दिन मुझसे बोला- मुझे अकाउंट्स में प्राब्लम आ रही है.. तुम मुझे थोड़ा बहुत बता दोगे क्या? रिया को मैंने मना नहीं किया क्योंकि वो मेरी पड़ोसी होने के साथ-साथ अब मेरी दोस्त भी थी। मैंने रिया को बोला- मैं शाम में फ्री रहता हूँ.. तुम शाम में मेरे घर पर आ जाना।

वो उसी दिन शाम को मेरे घर पर आ गई, मैं उस टाइम सो रहा था, वो मेरे रूम में आई और मुझे उठा दिया। मेरा रूम मेरे घर के कॉर्नर में और बहुत पीछे को है। उसने मुझे उठाया और पढ़ाने के लिए कहने लगी। मैं उठा ओर मुँह धो कर आया और उसकी बुक देखने लगा। पहले दिन मैंने उसे पूरी ईमानदारी और बहुत अच्छे तरीके से पढ़ाया। वो चली गई.. और दूसरे दिन फिर आ गई। उसने मुझे रोज की तरह उठाया और हम लोग पढ़ने के लिए बैठ गए। उन दिनों गर्मियां थीं इसलिए मेरे रूम में कूलर चल रहा था। हम लोग इधर-उधर की बातें कर रहे थे। मैंने अपने फ्रेंड रिहान के बारे में पूछा, जो उसका क्लोजफ्रेंड था.. शायद ब्वॉयफ्रेण्ड भी था।

यह कहानी भी पड़े  Mera Lund Sikandar Badi Sali Ki Chut Ke Andar- Part 2

रिया ने कोई जवाब नहीं दिया। मैंने उसे पढ़ाया और वो चली गई। अगले दिन जब वो आई तो मैंने पहले से सोच रखा था कि आज तो रिया से सच पूछ कर ही रहूँगा। वो आई.. उसने मुझे रोज की तरह नींद से जगाया और हम लोग पढ़ाई के साथ-साथ इधर-उधर की बातें करने लगे। मैंने रिहान के बारे में उससे फिर पूछा, उसने कोई जवाब नहीं दिया, मैंने मस्ती के मूड में आकर उसका एक बूब दबा दिया। वो ज़ोर से चिल्लाई- ये क्या हरकत है? कूलर चलने की वजह से घर में किसी को कुछ सुनाई नहीं पड़ा। फिर भी मैं उसके चिल्लाने से डर गया। शायद मुझे ऐसा नहीं करना चाहिए था, मैंने उससे ‘सॉरी’ बोला.. वो मान गई।

किसी लड़की के साथ ऐसी हरकत की जाए और वो एक ‘सॉरी..’ में मान जाए.. ये बात कुछ जमती नहीं है। उस दिन हम लोगों ने बिल्कुल भी पढ़ाई नहीं की। वो अगले दिन आई.. उसने मुझे नींद से जगाया और मैं उसे रोज की पढ़ाने लगा। आज उसका ध्यान पढ़ाई में ना होकर कहीं और था। मेरे बहुत पूछने पर भी उसने मुझे नहीं बताया, वो थोड़ी गुमसुम थी। मुझे लगा कि रिहान से इसकी कोई बात हुई होगी। मैंने उससे भी ये बात बोली भी.. लेकिन उसने मना कर दिया। मैंने रिया हाथ पकड़ कर बोला- तुम मेरी अच्छी फ्रेण्ड हो ना, प्लीज़ मुझे बताओ क्या हुआ है? उसने बोला- मुझे एक दोस्त की जरूरत है। मैंने कहा- मैं हूँ ना तुम्हारा दोस्त.. मुझसे सारी बातें शेयर किया करो। उस दिन मैं उसके बहुत करीब था। लगभग उसकी सारी बॉडी मुझे छू रही थी।

यह कहानी भी पड़े  शादी से पहले मेरी सुहागरात

उससे टच होने से मेरी बॉडी में करेंट सा दौड़ रहा था। वो भी क्या चीज थी यार.. बोली- तुम्हें कैसे एक्सप्लेन करूँ? फिर हम दोनों के बीच और कोई बातचीत नहीं हुई और कुछ हुआ भी नहीं। अगले दिन वो फिर से आई हम लोग बैठ गए। वो आज एक ब्लैक कलर का सूट पहन कर आई थी। इस सूट में वो बहुत मस्त लग रही थी। उसके गोरे शरीर पर काला सूट और वो भी बिना आस्तीन का बहुत कहर बरपा रहा था। मेरे तो होश ही उड़ गए। मैंने उसे ‘हाय फ्रेण्ड..’ बोला और हम दोनों पढ़ने के लिए बैठ गए। उसको देखने के बाद आज मैं फुल मूड में आ गया था, मैंने रिया को बोला- तू मेरी फ्रेंड है ना तुझसे कुछ पूछूँ.. मुझे बताएगी? रिया ने ‘हाँ’ बोल दिया। मैं रिया से उसके मम्मों की तरफ़ देखकर बात करने लगा। उसने मेरी इस हरकत को नोटिस कर लिया था।

Pages: 1 2 3

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!