कजिन बहन पिंकी की चुदाई

मेरा नाम पिंकी है और मैं दिल्ली की रहने वाली हूँ. मैं एक कॉल-सेण्टर में जॉब करती हूँ. आज मैं आप सबको अपनी एक सच्ची कहानी बताना चाहती हूँ, कि कैसे मेरे कजिन ने मुझे चोदा. ये मेरी सच्ची कहानी है. मैं आप सबको अपने बारे में बता दू, कि मैं बहुत ही सेक्सी लड़की हूँ और मेरा फिगर ३६ ३० ३८ है. और मुझे चुदवाने में बहुत मज़ा आता है.

मेरे ख्याल से आप सभी को मालूम होगा, कि आजकल सभी लोग सेक्स का और कामुक चुदाई का मजा लेते है. मुझे भी चुदवाने का बड़ा शौक है और मुझे जोरदार चुदाई में मुझे बहुत मजा आता है. मैंने एक बार अपने कजिन से चुदवाया और उसने भी मुझे बड़े मजे से चोदा. तो चलिए, अब मैं आप सबको अपनी चुदाई की सच्ची कहानी बताती हूँ. मैं अपने कजिन से कम ही बातें करती थी. वो हमारे घर अक्सर आता था, लेकिन मेरी और उसकी बात कभी – कभी ही होती थी.

ये कहानी कुछ दिनों पहले की है. मैं अपने कजिन के साथ कभी – कभी फिल्म देखने जाती थी और हम दोनों के बीच इस नाते से एक दोस्ती वाला रिलेशनशिप था. मैं अपने जॉब में ज्यादा बिजी रहती थी, इसलिए मेरी उसके साथ बातचीत कम ही हो पाती है. हम दोनों नोर्मली व्हाट्सअप पर ही बातें करते थे. आप सब लोग मुझे मेल कर सकते है. मैं रातभर व्हाट्सअप पर ऑनलाइन रहती हूँ. मैं आपके साथ मेल में अपना व्हाट्सअप नंबर शेयर करुँगी और रातभर आपसे सेक्स चैट करुँगी.

मेरा कजिन मुझे कई बार बोलता था, पिंकी तुम बहुत सेक्सी हो और मैं आप सबको अपने बारे में बता दूँ, कि मैं जब भी मार्किट में जाती हूँ, तो मुझे बहुत सारे लोग घूरते है, क्यूँकि मैं बहुत टाइट सलवारसूट पहनती हूँ. और टाइट सूट होने की वजह से मेरी चूची और मेरी गांड साफ़ – साफ़ दिखती है. मार्किट मे, आसपड़ोस में और मेरे ऑफिस में बहुत से लोग मुझ पर लाइन मारते है और ऑफकोर्स मेरी चुदाई करना चाहते है. मैं बहुत गोरी और सेक्सी हूँ. टाइट सूट में, मेरी चूची और गांड का उभार देख कर सभी का लंड टाइट होने लगता है.

एक दिन मेरा कजिन मेरे घर है और हम दोनों एक दूसरे से गले मिले. उस दिन हमने एक दूसरे से बहुत बातें की, क्यूँकि हम दोनों एक दूसरे से काफी दिनों बाद मिल रहे थे. पिछले कुछ दिनों से काम ज्यादा था और मैं बहुत बिजी थी. उस दिन मैंने छुट्टी ली थी और मैं एकदम फ्री थी. वो भी एकदम फ्री था और हम दोनों बहुत देर तक आपस में बातें करते रहे. कुछ देर बाद, मेरे कजिन में मुझे बोला – पिंकी, कहीं घूमने चलते है. मैंने उसको बोला, ठीक है.

मैं और मेरा कजिन दोनों घूमने चले गए. मैं और मेरा कजिन दोनों लोग थिएटर में गए और फिल्म देखने लगे. हम दोनों फिल्म देखते हुए, एकदूसरे से बातें भी कर रहे थे. जब फिल्म का इंटरवल हुआ, तो हम दोनों एक दूसरे की बाहों में थे और कुरकुरे खा रहे थे. मैं और मेरा कजिन एकदूसरे से खुले है और एक दूसरे से हर तरह की बातें कर लेते है. ये हम दोनों के लिए एकदम नार्मल है. मैं अपने कजिन के साथ कुरकुरे खा रही थी और फिर फिल्म चालू हो गयी और हम दोनों फिल्म देखने लगे.

मैं और मेरा कजिन, फिल्म देखने बाद एक होटल में गए और वहां पर हम दोनों ने एक पिज़्ज़ा खाया. उसके बाद, हम दोनों पार्क में घूमने लगे और वहां पर बहुत सारे कपल थे और एक दूसरे की बाहों में थे. हम दोनों को भी वहां सभी लोग कपल ही समझ रहे थे.

मुझे मेरे कजिन ने बताया, कि वो अपनी भाभी को चोदता है. और ये बात मुझे और मेरे कजिन को पता थी, कि मेरा कजिन अपनी भाभी को चोदता है. मैं और मेरा कजिन दोनों लोग एक-दूसरे से बातें करने लगे. वो मुझे अपनी भाभी के साथ हुई चुदाई के बारे में बता रहा था. मैं और मेरा कजिन एक दूसरे से चुदाई के बारे में बातें करते हुए, गरम होने लगे थे. मेरे कजिन ने मुझे बताया, कि वो अपनी भाभी को रोजाना चोदता है. मैं अपने कजिन की बातों को सुनकर एकदम गरम हो गयी थी.

अब मुझे चुदवाने का मन करने लगा था. मैं और मेरा कजिन दोनों लोग एकदूसरे से चुदाई की बातें करते हुए पोर्न वीडियो देखने लगे और मैं और मेरा कजिन दोनों लोग पोर्न देखकर गरम हो गए. मेरे कजिन ने मेरी चूची को टच करना शुरू कर दिया.

मैं अपने कजिन को बोली, यहां कुछ मत करो. चलो, किसी होटल में चलते है. हम दोनों लोग एक होटल में चले गए और वहां जा कर मेरे कजिन ने एक रूम बुक किया. हम दोनों होटल के रूम में जाते ही, एकदूसरे को किस करने लगे. मेरे कजिन ने मुझे किस करते हुए, मेरा सलवारसूट निकाल दिया. मैंने ब्लैक कलर का ब्रा और पेंटी पहना हुआ था.

मुझे देख कर मेरा कजिन और ज्यादा गरम हो गया और उसके मुँह से लार टपकने लगी. उसका लंड एकदम टाइट हो गया. वो मेरी ब्रा को उतार कर मेरी चूची को दबाने लगा और मेरी चूची को चूसने लगा. अब मैं भी बहुत जयादा गरम हो चुकी थी. मेरे कजिन ने मेरी पेंटी को उतार दिया और मेरी चुत पर अपनी जीभ से हमला कर दिया. बहुत ही मस्ती में, चुत को चूस रहा था वो. मैं अपने बालो को खींचती हुई मरी जा रही थी. मैं और मेरा कजिन, हम दोनों बहुत ज्यादा गरम हो चुके थे.

वो मस्ती में, मेरी चुत को अपनी जीभ से चाट रहा था और मैं उसके सिर को अपने हाथों से अपनी चुत में दबा रही थी. वो बहुत से, मेरी चुत को पी रहा था और हम दोनों बहुत ज्यादा गरम हो चुके थे.

फिर मेरे कजिन ने मुझे अपने लंड को चूसने के लिए बोला. मैं अपने घुटनो पर बैठ गयी और उसके बड़े लंड को अपने मुँह में भर कर, मस्ती में चूसने लगी. वो भी जोर से लंड को धक्के मार कर, लंड को मेरे गले तक उतरने के चक्कर में था.

मैंने उसके लंड को चुत निकाला और अब चुदाई के लिए बोला. उसने अपने लंड पर कंडोम चढ़ाया और फिर से मेरी चुत को चाट कर गिला किया. फिर उसने अपने लंड से मेरी चुत में निशाना लगाया और जोर से अपने लंड को मेरी चुत में उतार दिया. मुझे बहुत दर्द हो रहा था.

और मैं सिसकारियां लेने लगी. आह आह आह ओह्ह्ह हम्म्म आआ अहाहा. वो मुझे जोरदार तरीके से चोदने लगा. और हम दोनों चुदाई करने लगे. हम दोनों चुदाई करने में बड़ा मजा आ रहा था. मेरा कजिन मुझे चोद रहा था और हम दोनों चुदाई करते हुए झड़ गए.

उसके बाद, मेरा कजिन मुझे घुमाने ले गया. हम दोनों एक मॉल में गए िर मेरे कजिन ने मुझे शॉपिंग करवाई. उसके बाद हम दोनों घर वापस आ गए. अब हम दोनों जब भी मिलते है, तो चुदाई का मजा लेते है और वो मुझे बहुत ही अच्छे से चोदता है.

यह कहानी भी पड़े  साजन अनाड़ी सजनी खिलाड़ी

error: Content is protected !!