मेरी गर्लफ्रेंड को रंडी बना दिया

ये बात तब की हे जब मैं 22 साल का था, मेरी एक गर्लफ्रेंड थी जिसकी उम्र 20 साल की थी और वो दिखने में बड़ी मस्त थी. उसकी हाईट साड़े पांच फिट थी और उसके बूब्स 34 इंच के थे. गांड करीब 36 की थी और कमर पतली 30 इंच की थी. वो थोड़ी भोली भाली सी थी. हमारे रिलेशन को 2 साल हो चुके थे. लेकिन हमने पहले कभी सेक्स नहीं किया था क्यूंकि उसको डर लगता था. उसने मेरा लंड हिलाया था और मैंने उसके बूब्स चुसे थे बस.

एक दिन मैंने सोचा की अब सेक्स कर के ही रहूँगा. मैंने उसे बहुत बोला तो वो आखिर में मामी. मैंने फिर उसको अपने घर पर बुलाया जब कोई नहीं था घर पे. मैंने उसका मसाज किया पहले तो. ठंडी का टाइम था. वो मेरा लोडा निकाल के चूसने लगी. और मैं उसके बूब्स को दबा रहा था. उसकी चिकनी चूत पर मैंने अपनी जीभ रख दी और वो सिसक उठी. मैंने जीभ से उसकी चूत को पागल कर दिया था. वो झड़ गई एकदम से. मैंने कहा की लंड लोगी तो और भी मजा आएगा. मैंने उसके मुहं को चोद के अन्दर ही अपना पानी छोड़ दिया.

फिर मैंने उसको सहलाया और फिर से रेडी किया. मैंने कदोम अपने लंड के ऊपर चढ़ाया. वो लंड की लम्बाई को देख के डर रही थी. मेरा लंड पूरा तन जाता हे तो ७ इंच का हो जाता हे. मैंने उसको समझाया की घबराओ नहीं सब ठीक ही रहेगा. मेरी गर्लफ्रेंड जिम साइकलिंग वगेरह करती थी इसलिए उसकी झिल्ली तो फटी होगी उसका अंदेशा था मुझे. मैंने उसको कहा को घबराओ नहीं खून नहीं निकलेगा.

फिर मैंने उसकी चूत को खोल के उसको खूब चाटा. वो एकदम मस्त हो गई और उसकी चूत में काफी गर्मी थी उस वक्त.

मैंने अपने लंड को उसके चूत के होल पर रखा और झटका मारा. वो चीख उठी. और रोने भी लेगी. मैंने उसके मुहं पर हाथ रख दिया. मैंने 3 4 झटके मार के आधा लंड उसकी चूत में घुसा दिया. और वो रोते हुए बोली की मुझे बहुत दर्द हो रहा हे निकाल लो उसको प्लीज़. मैंने कहा की अभी थोड़ी देर में बहुत ज्यादा मजा आएगा तुमको. कुछ देर वो दर्द से रोई और फिर उसे भी अच्छा लगने लगा था. और वो अब उछल रही थी लंड को अन्दर तक ले लेने के लिए. फिर अगले ही मिनिट उसकी चूत झड़ गई फिर से. मैंने भी कस के चोदा उसको और अपने लंड का पानी चूत में ही निकाल दिया. कंडोम को पोलीथिन में पेक दिया मैंने.

यह कहानी भी पड़े  पति आर्मी में आंटी बिस्तर में

पांच मिनिट के बाद मेरा फिर से खड़ा हो गया. और मैंने दूसरा कंडोम लगा के उसको चोदा. अब वो इतनी पागल हो गई थी की उसे और करना था. मैं भला क्यूँ मना करता. मैंने अपने बड़े भाई के रूम में कंडोम लेने के लिए गया क्यूंकि दो ही ले के आया था मैं. रूम से वापस आ के मैं अपनी गर्लफ्रेंड के बूब्स के ऊपर टूट पड़ा. हम दोनों इतने होए हुए थे एक दुसरे के अन्दर के मेरे भैया कमरे में आ के हमें देख रहे थे वो पता ही नहीं चला.

भाई ने हम दोनों को इस हालत में देखा तो गुस्सा हो गए. हम दोनों बहुत डर गए थे. मेरे भैया मेरिड हे और उनके दो बच्चे भी हे. वो बोले की वो अभी सब घरवालो को बता देंगे. गर्लफ्रेंड को बोला की तेरे पापा को बोलता हूँ. मेरी गर्लफ्रेंड रोने लगी थी. और वो मेरे भैया को माफ़ करने के लिए कह रही थी. मैं भी भैया को मनाने में लगा हुआ था. कुछ देर बाद वो बोले की वो एक ही शर्त पर किसी को नहीं बताएँगे. मैंने कहा क्या? तो वो बोले की अगर ये मेरा भी लंड लेगी तो किसी को कुछ नहीं कहूँगा. मेरी गर्लफ्रेंड नहीं मानी और वो अब जोर जोर से रो रही थी. मुझे अजीब लगा पर अब कोई और रास्ता भी नहीं था.

मैंने अपनी गर्लफ्रेंड को फुसला के मनाया की बचने के लिए हमें ये करना ही पड़ेगा. और फिर मैं भी तो साथ में हूँ. आखिर में वो मान गई. मेरे भैया फ़ौरन नंगे हो गए और उसके ऊपर टूट पड़े. वो उसकी चुचियों को जोर जोर से मसलने लगे. मैं उसकी चूत को चाट रहा था. अब वो मस्त होने लगी थी. मेरे भैया का लंड मुहं में ले के उसको किसी रानी के जैसे चूस रही थी.

यह कहानी भी पड़े  बहन की सहेली को तेल लगाकर चोदा

मैं ये देख के पागल हो गया. और मेरे मन में ख़याल आया की आज से उसको रंडी ही बनाया जाए! मैंने भी अपने लंड उसके मुहं में डाला और वो अब दोनों लंड को एक एक कर के चूस रही थी. मेरे भैया उसके चहरे के ऊपर ही झड़ गए और बोले की ये तो साला मस्त माल पटाया हे तूने छोटे. फिर मैंने और भाई ने उसको खड़ा किया और उसके एक एक बोबे को मुहं में ले के चूसने लगे. फिर हम दोनों भाई ने उसकी चूत में फिंगर की तो वो झड़ गई.

उसके बाद मैंने उसको कुतिया बनाया और उसकी गांड को चाटने लगा. उसको खूब मजा आ रहा था. फिर मैंने उसकी गांड के ऊपर आयल लगाया और छेद में ऊँगली की. मैंने कहा की आज से तू रंडी बनेगी मेरी जान. वो भी पागल हो के बोली मुझे यु ही रंडी बनाए रखो और मैं बहुत लंड लेना चाहती हूँ.

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!