कॉलेज मेडम के साथ मस्ती

हाय फ्रेंड्स मैं फिर हाजिर हू 1 न्यू स्टोरी के साथ, बट ये सेक्स स्टोरीस मेरी नई 1 डीके रीडर की है.

हेलो फ्रेंड्स दिस इझ माय फर्स्ट स्टोरी ऑन डीके

मैं काफ़ी टाइम से डीके का रीडर हू, मैं देल्ही से हू, मेरा नाम हृषभ प्रजापति(चेंज्ड वन) है, मेरी एज 21 साल है, मैं दिखने मे थोड़ा अट्रॅक्टिव हू थोड़ा पतला भी हू मेरी हाइट 180 सेंटीमीटर है.

मेरी स्टोरी जो अब से 5 साल पहले मेरे साथ हुई मेरे कॉलेज मे हुई मैं इंजिनियर हू, 2011 मे मैने इंजिनियरिंग मे अड्मिशन लिया तो मैं 17 साल का था मेरा फेस चिकना था मैं ज़्यादा अट्रॅक्टिव और मासूम सा दिखता था और तब तक मैं मासूम था भी.

कुछ दिन कॉलेज मे ऐसे ही गुजर गये, फिर हमे प्रोफेशनल कम्यूनिकेशन सब्जेक्ट पड़ने एक मॅम आई उनका नाम अंजलि(चेंज्ड वन) था वो थोड़ी मोटी थी बट दिखने मे बिल्कुल मस्त थी, मैं गवर्नमेंट स्कूल का स्टूडेंट था इंग्लीश बोहोत वीक थी मेरी.

जब मॅम पढ़ाती तो मेरी और उनकी आखे 4 हो जाती थी वो भी मुझे देखती और मैं भी उन्हे देखता वो शायदा मुझे इंटेलिजेंट समझती थी, जब माइनर एग्ज़ॅम हुआ तो मैं उनके सब्जेक्ट मे फैल हो गया और म्यथ मे टॉप किया मैने, जो मेरी म्यथ की टीचर थी वो उनकी फ्रेंड थी, रिज़ल्ट अनाउन्स होने क बाद मॅम ने मुझे कॅबिन मे बुलाया.

मैं – मे आई कम इन मॅम.

अंजलि मॅम – एस कम इन,तुमसे ये एक्सपेक्ट नही किया था मैने, मैने ये भी सुना है की तुम म्यथ्स टोपर हो बाकी सब्जेक्ट्स मे भी मार्क्स अच्छे है तुम्हारे.

मैं – एस मॅम.

मॅम – तो मेरे सब्जेक्ट मे क्या हुआ तुम्हे, मेरा पढ़ाया हुआ कुछ समझ ना आ रा हो या कुछ भी प्राब्लम है तो बताओ लेकिन मैं चाहती हू म्यथ्स की तरह मेरे सब्जेक्ट मे तुम ही टॉप करो.

यह कहानी भी पड़े  पुणे की पोश आंटी को चोदा

मैं – मॅम कोशिश करूँगा की ऐसा हो.

मॅम – कोशिश नही मुझे फाइनल मे रिज़ल्ट चाहिए.

मैं – मॅम मेरी इंग्लीश कमजोर है और मुझे ये सब्जेक्ट को टाइम देने की ज़रूरत है.

जो मैं बाकी सब्जेक्ट्स की वजा से नही दे पता.

मॅम – लंच मे फ्री होती ही आ जया करो मेरे पास और अगर तुम नही आए तो.

इंटर्नल बॅक पक्की तुम्हारी.

मैं – ज़रूर आउँगा मॅम.

कुछ टाइम मैं उनके पास जाता रहा कुछ मई पढ़तेही थोड़ा इधर उधर की बात भी करते तो एक शुवर को जान लिया था वो एक दिन डीप गले का टॉप पहन कर आई मुझे पढ़ा रही थी हल्की झुकी हुई थी..

मेरी नज़रे वही पर थी मॅम ने मुझे ये सब देखते हुए देख लिया, मुझे लगा मॅम से डाट खाउँगा और मेरी इंटर्नल बॅक पक्की लेकिन जो उनका रिप्लाइ था उससे मैं चौक गया.

मॅम – ये सब बाद मे पहले तुम्हारी पड़ाई है., फिर कुछ दीनो तक हम ऐसे ही पड़ते रहे फाइनल से एक दिन पहले मैं रोल नं लेने गया रोल नं उनके पास ही था.

मैं गुड आफ्टर नून मॅम.

मॅम – जल्दी आ गये सब अपना रोल नंबर ले जा चुके है एक तुम ही जिसका रोल नंबर मेरे पास है.

आ – सॉरी मॅम.

फिर मैं कॅबिन मे गया और रोल नं ले रा था तो मॅम बोली.

मॅम – आनी मैं कॉलेज छ्चोड़ रही हू.

मैं – क्यू मॅम, प्लीज़ नही छ्चोड़ोना.

मॅम – यहा कंडीशन्स क्लॅश हो रही है.

यह कहानी भी पड़े  कॉलेज की फ़्रेंड को उसके घर पर चोदा

मैं – मॅम मेरा क्या होगा आपके बिना इस कॉलेज 4 साल रहना मुश्किल है.

मॅम – क्यू लेकिन मुझ मे ऐसा क्या है.

मैं – बिकॉज़ आई लव यू.

मैने ये कह तो दिया था लेकिन ये अजीब था मुझसे सहन नही हो रा था की मॅम कॉलेज छ्चोड़ रही है.

मॅम – ऐसा कैसे मैं मॅरीड हू.

मैं – तो मॅरीड से प्यार नही हो सकता.

अब कुछ देर की खामोशी छा गई फिर जैसे ही मॅम ने रोल नं मुझे दिया.

मैने उनका हाथ पकड़ लिया और मेरी आँखो से आँसू बहने लगे मॅम मेरे करीब आई ओरमुझे समझाने लगी लेकिन मेरे आसू जैसे रुकने का नाम ही नही ले रहे थे फिर मॅम ने मुझे गले लगा लिया था फिर भी मेरे आसू नही रुके ये मेरे होश मे दूसरा मौका था जब मैं इतना रोया था पता नही क्यू उसके बाद मॅम ने कुछ ना सोचते हुए मुझे किस की.

किस कर के हम किसी भी उदास या एमोशनल इंसान को नॉर्मल कर सकते ये बात शायद आपने भी एक्सपीरियेन्स की हो, उसके बाद बाद जो हमारे जिस्मो के अंदर तूफान उठा वो सब कुछ होने के बाद ही ठंडा हुआ, किस के बाद मैने मॅम को एक और किस करी जो करीब 6 से 7 मिंट की ज़रूर रही होगी, फिर मॅम को गरम करने के लिए मैने तुरंत मॅम के गले पर किस करने लगा मैं किस कर रा था और मॅम बोल रही थी

Pages: 1 2

Comments 1

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!