कॉलेज की लड़की के ऑटो वाले से चूड़ने की हॉट कहानी

ही फ्रेंड्स, मेरा नाम सपना है. मेरी आगे उस टाइम 22 थी. अब मैं 26 की हू. मेरा फिगर साइज़ 32-28-30 था. मैं उस टाइम कॉलेज में पड़ती थी. मेरा ब्फ भी था, जिसके साथ मैं कभी-कभी सेक्स करती थी. अब आपको बोर ना करते हुए स्टोरी पर आती हू.

ये बात मेरे कॉलेज फंक्षन की है. उस दिन मैने स्कर्ट और मॅचिंग ब्रा-पनटी पहनी थी. फंक्षन बहुत लाते ख़तम हुआ था, और मैं कॉलेज के बाहर बस का वेट करने लगी.

तभी एक ऑटो आया. मैने उसको रुकने का इशारा किया, और वो रुक गया. ऑटो वाला मुझे बहुत बुरी नज़र से देखने लगा.

उसने पूछा: कहा जाना है?

मैने उसको बताया, की मुझे कहा जाना था.

उसने बोला: ठीक है बैठ जाओ.

फिर मैने पूछा: कितने पैसे लोगे?

तो वो बोला: आप जो दे दोगे.

मैं बोली: ठीक है 60 रुपीज़ दूँगी.

वो बोला: ठीक है.

फिर मैं ऑटो में बैठ गयी. वो मुझे ले कर चल पड़ा. मैं अपने ब्फ से फोन पर बात कर रही थी. ऑटो वाला मेरी बात सुन रहा था, पर मैने ज़्यादा ध्यान नही दिया. मेरे और ब्फ के बीच अब कुछ सेक्सी बातें हो रही थी.

मैं भी बहुत ही सेक्सी बन कर उसको रिप्लाइ दे रही थी. ब्फ ने मुझे बहुत गरम कर दिया था. तभी ड्राइवर ने ऑटो रोक दिया.

मैने पूछा: क्या हुआ?

तो वो बोला: कोई वाइयर टूट गयी है, तोड़ा टाइम लगेगा.

वो जगह बड़ी सुनसान थी.

मैं बोली: ठीक है, जल्दी करो.

और मैं ब्फ से फिरसे बात करने लग पड़ी. थोड़ी देर बाद ब्फ ने फोन कट कर दिया, तो मैने सोचा मैं भी देखती हू ऑटो को क्या हुआ था.

फिर जैसे ही मैं ऑटो के पीछे गयी, तो मैने देखा ड्राइवर अपना लंड हिला रहा था. मुझे देख कर उसने अपने लंड से हाथ हटा दिया, और मेरी तरफ आने लगा. मैं वाहा से दूसरी तरफ भागने लगी, और वो वैसे ही मेरे पीछे आ गया और मुझे पकड़ कर एक ट्री के पीछे ले गया.

मैं उसको माना करने लगी, तो वो बोला: साली रंडी, फोन पर ऐसी बातें करती है, और मेरे सामने शरमाती है.

और उसने मेरे लिप्स पर अपने लिप्स रख दिए और बुरी तरह मेरे लिप्स चूसने लगा. मैं तो पहले से ही सेक्सी बातें करके गरम हुई पड़ी थी. उपर से ये भी दर्र था, की कही वो कुछ और ग़लत ना कर दे मेरे साथ. तो मैं उसको बोली-

मैं: ठीक है, तुम्हे जो चाहिए मैं तुम्हे दूँगी. पर प्लीज़ आराम से करो.

वो तभी बोला: साली झूठ बोल कर भागना चाहती हो. चल साली नीचे बैठ.

मैं बैठ गयी तो उसने अपना लंड निकाला और मेरे मूह में डाल दिया. मैं अब उसका लंड चूसने लगी थी.

उसका लंड मेरे ब्फ से बड़ा था. मैं मस्त हो कर उसका लंड चूस रही थी. 15 मिनिट बाद उसने अपना सारा पानी मेरे मूह में गिरा दिया, और मैं उसका सारा पानी पी गयी.

वो खुश हो गया और बोला: साली तू तो बहुत मस्त माल है.

मैं बोली: गली मत दो, मेरा नाम लो. सपना नाम है मेरा.

वो बोला: मेरा रमेश नाम है.

फिर उसने पूछा: अब बता मेरा लंड मस्त है या तेरे ब्फ का?

इस्पे मैं कुछ नही बोली. फिर उसने मेरी स्कर्ट उपर की, और मेरी पनटी में हाथ डाल दिया. अब वो मेरी छूट सहलाने लगा, और मैं मज़ा लेने लगी. फिर उसने मेरी पनटी नीचे कर दी, और मेरी छूट को देख कर खुश हो गया.

वो मुझे बोला: आज इसकी सेवा करके रहूँगा.

और फिर उसने मुझे एक ट्री के साथ खड़ा कर दिया, और मेरी छूट चाटने लगा. काफ़ी टाइम छूट चाटने के बाद उसने वैसे ही खड़े-खड़े मेरी छूट के उपर अपना लंड सेट कर दिया, और एक झटका मारा.

इससे मेरी चीख निकल पड़ी. उसने अपने हाथ से मेरा मूह बंद कर दिया. उसका लंड मेरी छूट चीरता हुआ अंदर चला गया. फिर वो मुझे उसी पोज़िशन में ही छोड़ने लगा. थोड़ी देर बाद मैं तोड़ा नॉर्मल हुई, और मैं भी लंड अंदर लेने लगी.

मैं गांद पीछे कर-कर के उसका लंड अंदर ले रही थी. फिर उसने लंड बाहर निकाला और बोला तुम-

ऑटो वाला: उल्टी हो कर ट्री पकड़ लो.

मैं वैसे ही हो गयी. फिर उसने मेरी गांद की तोड़ा उठाया, और पीछे से मेरी छूट में लंड डाल दिया. अब वो बहुत ज़ोर-ज़ोर से मुझे छोड़ रहा था. हम दोनो चुदाई का पूरा मज़ा ले थे थे.

20 मिनिट बाद उसने बोला: मैं झड़ने वाला हू.

ये सुन कर मैं एक-दूं से नीचे बैठ गयी, और लंड को मूह में डाल कर चूसने लगी. फिर कुछ मिनिट चूसने के बाद वो झाड़ गया.

अब हम दोनो ने कपड़े ठीक किए, और घर के लिए निकल गये. रास्ते मैं हम दोनो ने अपने नंबर एक्सचेंज किए. फिर मैं घर आ गयी. रात को हम दोनो ने फिरसे फोन सेक्स किया. सुबा फिर वो मुझे लेने आया.

रास्ते में उसने मुझे बोला: यार रात को 3 बार तेरी याद में लंड हिलाया था मैइमे.

मैं बोली: मैं कहा भाग रही थी, जो रात भर हिलाया था?

फिर वो बोला: यार मेरे लंड का कुछ करो.

फिर उसने ऑटो को एक जगह खड़ा कर दिया, और ऑटो के पर्दे बंद कर दिए. वो अब मेरे पास पीछे आ गया, और मुझे किस करने लगा. मैं भी उसका साथ देने लगी.

फिर मैने उसका लंड पंत से बाहर निकाला, और मूह में लेकर चूसने लगी. वो मस्त हो कर मेरे बूब्स प्रेस कर रहा था. 20 मिनिट बाद उसका निकल गया. मैं उसका सारा माल पी गयी.

फिर हम दोनो ने लीप किस की. उसके बाद उसने मुझे पूछा-

ऑटो वाला: तुमने लंड चूसना कहा से सीखा है?

तो मैने उसको बताया: मेरे ब्फ ने मुझे सिखाया है.

फिर उसने बोला: तेरे पापा क्या करते है?

तो मैं बोली: हमारी छ्होटी सी शॉप है, उसी से मेरी पढ़ाई और घर का खर्च चलता है.

तो वो बोला: पर कल तो तुमने बहुत मस्त स्कर्ट पहनी थी.

फिर मैने ब्टाया: वो तो मेरी फ्रेंड ने दी थी.

फिर वो बोला: गांद भी मरवाई है तुमने?

तो मैने माना कर दिया.

फिर वो बोला: तो मुझे ही तुम्हारी गांद की ओपनिंग करनी पड़ेगी. तभी तुम पर्फेक्ट हो पावगी. मुझे सोच कर बता देना, अगर तुम्हे करना होगा तो.

फिर हम दोनो ने सेक्स किया. उसके बाद मैं कॉलेज आ गयी.

अगर आपको स्टोरी पढ़ कर मज़ा आया हो, तो लीके और कॉमेंट ज़रूर करे. बाइ-बाइ

यह कहानी भी पड़े  नई भाभी के साथ सेक्स

error: Content is protected !!