कॉलेज गर्ल और उसको दोस्त को चोदा

हेलो फ्रेंड्स विराट राजपूत हियर आपकी सेवा मे फिर से हाज़िर हू, केसे है आप सब? जैसे की आप जानते है की मैं एक कल्लबोय हू और अपनी ट्रू स्टोरी पोस्ट करता हू. तो हाज़िर हू अपनी एक ट्रू स्टोरी के साथ.

मेरी आगे 29 है और मेरे लंड का साइज़ 6 इंच है. दिखने मे स्मार्ट टॉल हू 6 फ्ट हाइट है.

सो अब स्टोरी पर आते है. जैसा की आप जानते हैं मैने पिंकी को बेड के किनारे पर लिटाकर उसकी गंद मे लंड डालने लगा और सिर्फ़ लंड का आयेज का टोपा ही अंदर गया और वो छटपटाने लगी. पर मैने उसको दबा कर पकड़ा हुवा था.

फिर मैने तोड़ा ज़ोर और लगाया तो धीरे से लंड अंदर हुआ. उसकी गंद बोहोट टाइट थी और उसकी आँखे एकदम से छोड़ी हो गयी. वो बुरी तरह गुऊु गुऊु आवाज़ निकालने लगी अपने मूह से और मेरे नीचे से निकालने की कोसिस करने लगी. पर मैने कस कर उसे पकड़ा हुवा था और लगातार उसकी चुचियो को दबा रहा था.

उसकी आँखो से तोड़ा पानी आने लगा था. मैने सोचा जितना धीरे करूगा उतना ही ज़्यादा देर तक इसको दर्द होगा. तो फिर मैने लंड को तोड़ा सा बाहर खिछा और पिंकी को अकचे से पकड़ कर पूरी रफ़्तार से धक्का मारा. जिससे मेरे बस एक इंच लंड बाहर बचा उसकी गंद से. बाकी पूरा अंदर चला गया.

वो तो जैसे पागल हो गयी और बोहोट बुरी तरह च्चटपटा लगी. मेरे नीचे से निकालने की कोसिस करने लगी और उसने ज़बरदस्ती अपने होठों को मेरे होठों से चुरा लिया. और बोहोट तेज़ चीलाई आहा माआ मार गयी चोर दो मुझे विराट प्लेआसी…. निकालो बाहर मुझे नही करना आआहाआ माआ चोर दो प्लेआसीए… और बुरी तरह चीखने लगी और रोने लगी.

पर मैने उसको कस कर पकड़ रखा था और उसकी गर्दन को पिच्चे से किस कर रहा था और उसकी चुचियो को लगातार दबा रहा.

पिंकी- आआहा मा मार गयी प्लेआसीए विराट निकालो अपना लंड.. मुझे नही करना बोहोट दर्द हो रहा है.. मॅर जौंगी मैं प्लेआसीए मत करो… (ये सब लगभग वो बुरी तरह छिलते हुए बोल रही थी).

बुत दोस्तो आपने जानते है की अगर इस टाइम मैं उसको चोर देता तो वो फिर कभी ये मज़ा नही लेती. तो मैने दोबारा उसके होठों को अपने होठों से चिपका लिया और चूसने लगा.

थोड़ी देर लंड को बिना हिलाए उसकी गंद मे डाले रखा. उसका रोना धीरे धीरे बंद हो गया पर तोड़ा छटपटा रही थी. फिर 5 मिंट बाद मैने धीरे धीरे लंड को आयेज पीछे किए तो वो तोड़ा और चटपतिई और मुझसे दूर होने के कोसिस करने लगी. पर मैने नही छोड़ा पर.

फिर दो मिंट बाद थोड़ी शांत हो गयी. शायद अब उसका दर्द तोड़ा कम हो गया था. मैने एक हाथ नीचे ले जाकर उसकी छूट को भी रब करना शुरू कर दिया. जिससे उसे थोड़ी रहट मिली और वो थोड़ी सिसीकिया लेने लगी.

पिंकी- आआहहा विराट मार दिया तुमने बिल्कुल आआहह धीरे करो दर्द हो रहा है प्लेआस्ीई तोड़ा धीरे…

मैं धीरे धीरे उसको गंद को छोड़ता रहा और उसकी छूट को एक हाथ से सहलाता रहा. दूसरे हाथ से उसकी चुचि को दबाता रहा और पीछे से उसकी गर्दन को किस करता रहा.

5 मिंट बाद वो तोड़ा एंजाय करने लगी और उसकी छूट ने भी पानी चूड़ना शुरू कर दिया. मैने अपने धक्को की स्पीड धीरे धीरे तेज़ कर दी.

पिंकी- आहह विराट अहहा सीसीसीसीसिस ह्म्‍म्म्मम अहह… धीरे करो अभी तोड़ा दर्द हो रहा है जान, मार डाला आज तुमने आआहा..

ऐसे ही 10 मिंट छोड़ने के बाद मेरा पानी निकालने वाला था तो मैने पूछा कहा निकालु पानी?

पिंकी- अंदर ही निकल दो ह पूरा पानी आअहह पर तोड़ा धीरे करो.

दोस्तो आप तो जानते है जब पानी निकालने वाला हो तो धीरे केसे होगा. पर मैने सौचा नयी लड़की इसलिए खुद पर तोड़ा कंट्रोल किया और तोड़ा धीरे धीरे उसकी गंद को छोड़ते हुए पानी निकल दिया. जैसे ही मेरा गरम पानी उसे अपनी गंद मैं महसूस हुआ तो उसकी छूट ने भी पानी छोड़ दिया. वो तोड़ा आकड़ा गयी क्यूकी उसकी छूट भी झाड़ गयी थी.

हम दोनो थोड़ी देर ऐसे ही लेते रहे और अपनी सांसो को कंट्रोल करते रहे. अब मेरा लंड भी बैठ गया था तो उसकी गंद से बाहर निकल गया.

जब मैं उठा तो देखा उसकी गंद से मेरा पानी और तोड़ा खून मिक्स होकर निकल रहा था. पिंकी को तोड़ा दर्द भी हो रहा था जिसकी वजा से वो तोड़ा करहा रही थी.

फिर मैने पिंकी को खड़ा किया तो वो तोड़ा लंगड़ाकर चलने लगी और तोड़ा दर्द की वजा से आहहा भी निकल रही थी. जब हम दोनो बातरूम जाने के लिए दूसरी तरफ़ घूमे तो देखा उसकी फ्रेंड खड़ी है. वो हमे देख कर स्माइल कर रही थी. तो पिंकी उसे देख कर शर्मा गयी और बोली साली तू अंदर क्यू आई??

मोनी-साली इतनी ज़ोर से चिल्लई तू की मैं क्या पूरा महल्ला आ जाता. वो तो मैने म्यूज़िक बजाया हुआ था इसलिए कोई नही आया.

फिर हम दोनो बातरूम की तरफ जाने लगे तो देखा की मोनी मेरे लंड की तरफ देख रही थी. जो इस टाइम मुरझाया हुआ था और तोड़ा गीला था. मेरी आँखे उसकी आँखो से मिली तो वो शर्मा गयी और एकदम नज़र नीची कर ली.

तब हम दोनो बातरूम गये और जाकर गीजर ओं किया और गरम पानी से पिंकी की गंद की सफाई की. फिर हम दोनो ने शवर ओं किया और दोनो नहाए गरम पानी से.

नहा कर पिंकी को तोड़ा आराम मिला पर उसकी चाल मे अभी भी लंगड़ाकर चल रही थी. तब हुँने मोनी से टॉवल माँगा और उसको लपेटकर पिंकी बाहर आ गयी.

उसको मोनी ने संभाला फिर मैने एक टॉवल के लिए कहा तो मोनी मुझे टॉवल देने आई और मैने दरवाज़ा पूरा खोल दिया. जिससे वो एकदम शॉक हो गयी और शर्मा कर चली गयी.

फिर मैं भी टॉवल बंदकर बाहर आया तो वो दोनो बाते कर रही थी.

दोस्तो स्टोरी थोड़ी लंबी हो गयी है बुत आपको मज़ा आएगा आयेज.

कोई भाभी गर्ल आंटी कल्लबोय सर्विस चाहती है तो मैल करे और ये भी बताए कैसी लगी स्टोरी, मेरी मैं ईद है “अननिचौहान[email protected]गमाल.कॉम” बाइ दोस्तो अगली स्टोरी अब जल्दी ही लिखूंगा.

यह कहानी भी पड़े  क्लास टीचर की पहली चुदाई की सेक्सी कहानी

error: Content is protected !!