चूत की तड़प ने बड़े लंड को बुलाया

हेलो दोस्तों, कैसे हो आप सब? मेरे पिछली स्टोरीस पढ़ के आपको मज़ा बहुत आया होगा. इस बार फिरसे न्यू रियल सेक्स स्टोरी लाया हू, जो बहुत ही मज़ा देगी आप लोगों को.

एक बात और बता डू, मैं स्टोरी में नामे और अड्रेस चेंज करूँगा. क्यूंकी मैं किसी लड़की या भाभी की प्राइवसी शेर नही कर सकता. लेकिन स्टोरी पूरी रियल और सेक्सी है.

ये बात कुछ दीनो पहले की है. मेरे इंस्टाग्राम पर, मेरी कॉल बॉय वाली ईद पर, मुझे एक भाभी के मेसेज आया. वो मुझसे बात करना चाहती थी. तो मैने उससे बातें की. उसका नामे ज़ोया था.

ज़ोया की आगे 28 थी, और वो पुणे की रहने वाली थी. वो एक हाउसवाइफ और हिजाब वाली औरत थी. उसने मुझे बताया की उसके पति भर रहते थे. उसने बताया की वो अकेली रहती थी. घर में सिर्फ़ सास ससुर थे. और भी परसोनल बातें बताई उसने मुझे. मैने उससे पूछा की उसकी शादी कब हुई. उसने कहा की 4 साल हो गये थे, और अभी तक कोई बच्चा भी नही था.

मैने ज़ोया से उसकी सेक्स लाइफ के बारे में पूछा. तो उसने कहा की उसके हज़्बेंड ज़्यादा सेक्स नही करते थे. उसको सॅटिस्फॅक्षन नही दे पाते थे. उनका लंड 4 इंच का था, और बहुत पतला था. उसके बाद मैने उससे रात भर सेक्स छत किया. रात में उसकी छत पर 4 बार पानी निकाल दिया था. उसको सेक्स छत में बहुत मज़ा आया था. उसके अंदर की सेक्स की आग भड़क रही थी.

उसने बताया: आप बहुत अछा सेक्स करते हो. मुझे ऐसा मज़ा रियल में चाहिए.

मैने बोला: ज़ोया बेबी, आप आ जाओ मेरे पास, बहुत मज़ा दूँगा.

उसने बोला: अगर हमने मिल के सेक्स किया, और किसी को पता चल गया तो? मेरी लाइफ बर्बाद हो जाएगी. मुझे बहुत दर्र लगता है.

मैने कहा: आप टेन्षन मत लो. हमारे बीच की बात किसी को पता नही चलेगी. आप मेरे साथ एंजाय करके चली जाओगी. और किसी को कुछ पता नही चलेगा.

उसने कहा: मैं पुणे से बाहर नही जेया सकती.

मैने कहा: कोई और आइडिया है आपके पास, जिससे मैं आपकी छूट की आग बुझा साकु.

उसने कहा: आप पुणे आ जाओ. होटेल तक मैं आ सकती हू कुछ बहाना बना के.

मैने कहा: बेबी वाहा आना, मेरे लिए कॉस्ट्ली होगा.

उसने कहा: आप आ जाओ, मैं सारा पैसा दे दूँगी. बस मुझे खुशी देना और संतुष्ट कर देना.

मैने कहा: कब अओ?

उसने कहा: कुछ 3 दिन बाद आ जाओ.

फिर उसने मुझसे कहा: अपने लंड की फोटो तो दिखाओ.

मैने फिर अपने 7.4 इंच लंड की पिक सेंड की.

उसने कहा: बहुत बड़ा है आपका तो. मेरे अंदर की आग बुझा देगा. बहुत मोटा भी है. ये लंड मैं लूँगी तो बहुत मज़ा आएगा. मेरी छूट में अभी से आग भड़क रही है आपके इस लंड को देख कर. मेरे हज़्बेंड का लंड तो बच्चा लगता है, आपके लंड के सामने.

ज़ोया ने कहा: बेबी मैं तुम्हारा वेट करूँगी. मुझे बहुत आचे से अपनी बीवी बना के छोड़ना.

मैने कहा: मेरी जान, आप बस देखती जाओ. आपको पूरा निचोढ़ दूँगा.

ज़ोया ने बताया की जब से उसकी शादी हुई है, तब से उसके साथ सेक्स आचे से नही हुआ.

वो बोली: मेरी जवानी ऐसे ही जेया रही है.

मैने कहा: बेबी आपकी जवानी मैं लौटा लौंगा. आपको सेक्स लाइफ के पुर मज़े दूँगा.

उसने कहा: आप आ जाओ. मैं मेरे घर पर कुछ बहाना बना दूँगी. और दिन भर हम सेक्स करेंगे. देन रात होते ही मैं घर चली जौंगी.

मैने कहा: ओक बेबी.

दोस्तों उसके बाद 4 दिन बाद मैं पुणे गया. उसने जो होटेल बताया उसमे रुक गया. फिर दिन के 11 बजे वो होटेल में आई. मैने रूम ओपन किया, और वो डोर पर खड़ी थी. ज़ोया का खूबसूरत फेस और बदन बहुत ही सेक्सी था.

उसका फेस बहुत ही ब्यूटिफुल था. ज़ोया बहुत ही ज़्यादा गोरी थी. मैं उसे खड़ा-खड़ा देखता रह गया. उसने मुझे हिलाया और हेस्ट हुए बोली-

ज़ोया: क्या हो गया तुम्हे? अभी से सपनो में खो गये क्या?

मैने कहा: मेरी जान, आप इतनी ब्यूटिफुल हो, आपको देख कर कोई भी खड़ा-खड़ा पानी निकाल दे अपना. देखो नीचे मेरी जीन्स में, तंबू बना हुआ है.

उसकी नज़र मेरे जीन्स पर गयी, तो वो शरमाते हुए हस्सी. फिर वो रूम में आई, और हमने कुछ देर नॉर्मल बातें की. ज़ोया बेड पर बैठी थी.

उसने कहा: मेरे पास शाम 4 बजे तक का टाइम है. हमे उसी टाइम में मस्ती करनी है. तुम आज मुझे खूब आचे से खुश करना.

मैने कहा: ज़ोया बेबी, आप उसकी टेन्षन मत लो. आपके खूबसूरत बदन को बहुत आचे से प्यार करूँगा. आप मुझे सालों तक याद करोगी.

ज़ोया ने कहा: मैं तो तुम्हारे उस लंड को देखते हुए बहुत याद करती हू. मेरे बदन में बिजली सी दौड़ जाती है.

फिर मैने कहा: बेबी अब आपको देख कर, रहा नही जेया रहा है. शुरू करे हम अपना सेक्स और आपको खुशिया देने का टाइम आ गया है.

उसने कहा: हा रोहित. मैं बहुत टाइम से हॉर्नी फील कर रही हू. लेकिन मैं किसी से भी सेक्स नही कर सकती थी. मेरी शादी-शुदा लाइफ बर्बाद हो जाएगी.

मैने कहा: कोई बात नही बेबी. मैं आपको कुछ नही होने दूँगा. और किसी को पता नही चलेगा.

ज़ोया ने ब्लॅक बुरखा पहन रखा था.

मैने कहा: इसे उतार दो.

उसने वो बुरखा निकाल दिया. अंदर उसने सलवार-सूट पहना हुआ था. मैने ज़ोया को अपनी गोद में बिताया. वो भी बैठ गयी. मैने ज़ोया के लंबे बालों को उसके गले से साइड में किया, और उसकी नेक पर किस करने लगा. ज़ोया के मूह से आहह निकल गया.

वो बोली: क्या किस करते हो यार. मेरे बदन में बिजली दौड़ गयी है.

मैने उसको किस करना जारी रखा. ज़ोया का गोरा गला बहुत ही सॉफ्ट था. मैं उसको किस करता रहा. वो भी मेरे बालों में अपने हाथो को ज़ोर से घुमा रही थी. मुझे भी बड़ा मज़ा आ रहा था. उसके बाद मैने ज़ोया के गोरे फेस को अपनी और घुमाया और उसके सॉफ्ट लिप्स को स्मूच करने लगा. ज़ोया के होंठ बहुत ही कोमल थे. ज़ोया भी मेरा साथ देने लगी. मेरे होंठो को ज़ोर-ज़ोर से चूसने लगी. और फिर बोली-

ज़ोया: आह, अफ बेबी चूसो. बहुत अछा लग रहा है. क्या सेक्स करते हो तुम.

हमने किस जारी रखा. मेरी ज़ुबान और उसकी ज़ुबान आपस में लड़ने लगी. दोनो इस किस में जीतना चाहते थे. उसका बदन बहुत गरम हो गया था. मैने अपना एक हाथ उसके बूब्स पर रखा. सॉफ्ट बूब्स को धीरे-धीरे दबा रहा था. और वो-

ज़ोया: आह, उहह, रोहित करते रहो. प्लीज़ रुकना मत. बहुत मज़ा दे रहे हो तुम.

मैं: ऐसा मज़ा बेबी, कभी आपके हज़्बेंड ने दिया या नही?

ज़ोया: श, बेबी तुम उसका नामे मत लो. वो कुछ करना नही जानता है.

मेरी जीन्स में खड़ा मेरा लंड उसकी गांद में चुभ रहा था.

तो उसने कहा: बेबी, तुम्हारा नीचे से मुझे चुभ रहा है. बहुत बड़ा हो गया है.

मैं: मेरी जान आपकी खूबसूरती पर फिदा हो गया है. खुशी के मारे उछाल रहा है.

फिर मैने उसके लिप्स को और ज़ोर से चूसने लगा. और अब मैं उसके सॉफ्ट गालों को चाटने लगा.

ज़ोया: आह, एयाया बेबी.

15 मिनिट ऐसे स्मूच करने के बाद, मैने ज़ोया को उठा के बेड पर पटक दिया. वो स्माइल देने लगी. मैं उसके बदन के उपर आ गया, और फिरसे किस करने लगा. वो भी मेरे बालों को सहलाते हुए मुझे साथ दे रही थी. दोनो गरम हो चुके थे. 5 मिनिट बाद मैने उसका सूट उतार दिया. अब ज़ोया मेरे सामने ब्लू ब्रा में थी.

ज़ोया के बूब्स टाइट हो गये थे. उसके निपल ब्रा में कड़क दिख रहे थे. वो मुझे देख कर स्माइल देने लगी. मैं फिर ब्रा के उपर से ही ज़ोया के बूब्स को दबाने लगा. वो सिसकियाँ लेने लगी.

ज़ोया: उहह एस मी लोवे, क्या मज़ा आ रहा है. मेरे बदन में आग लग रही है.

मैं ज़ोया के बूब्स को ब्रा के उपर से किस करने लगा. वो बिना पानी मछली के जैसे बेड पर तड़प रही थी. उसको मज़ा भी आ रहा था. मैं अब बूब्स को चाटने लगा, और एक बूब धीरे-धीरे दबाने लगा.

ज़ोया की पूरी चेस्ट पर किस करने लगा. वो मेरे बालों में हाथ घूमने लगी. बहुत ज़ोर से घुमा रही थी. ज़ोया ने अपनी आँखें बंद कर ली थी. वो मेरे प्यार को अंदर तक फील करने लगी.

धीरे-धीरे बूब्स चाटने के बाद मैं उसकी ब्रा उतारने लगा. फिर उतारने के बाद ज़ोया के बूब्स मेरे सामने थे. बहुत ज़्यादा गोरे बूब्स थे. मैने जल्दी से बूब्स पकड़ लिए. बूब्स के निपल को मूह में लेके चूसने लगा. उसके बदन में बिजली दौड़ने लगी, और वो सिसकी लेने लगी.

ज़ोया: आह आआअहह रोहित करते रहो. मेरा सारा दूध पी जाओ. खाली कर दो आज. और आचे से चूसो मेरे रोहित. काश तुम मेरे हज़्बेंड होते, तो मैं रोज़ तुमसे सेक्स कर पाती.

मैं: कोई बात नही बेबी. अब बना लो.

ज़ोया के दोनो बूब्स को मैने, करीब 20 मिनिट तक चूसा. उसके बदन में आग लगने लगी. फिर मैं उसकी नेवेल को चाटने लगा. वो तड़पने लगी, और मेरे सिर को पेट में दबाने लगी. मैं अपनी ज़ुबान उसकी नेवेल में घूमने लगा.

उसका गोरा पेट बहुत सॉफ्ट था. चाटने में मज़ा आ रहा था. फिर करीब 15 मिनिट मैने उसके पेट को छाता. उसके बाद मैं ज़ोया की सलवार उतारने लगा.

वो बोली: आह उहह बेबी, आराम से करना.

मैं: हा बेबी. बहुत मज़ा आने वाला है.

मैने उसकी सलवार उतार दी. फिर वो भी बेड पर उठी, और मेरे कपड़े उतारने लगी. उसने मेरे सारे कपड़े उतार दिए. मैं अब ककचे में था. मेरे ककचे में मेरा 7.4 इंच का लंड बाहर आने को तड़प रहा था. ज़ोया मेरे लंड को गौर से देख रही थी. वो बोली-

ज़ोया: बाप रे, इतना बड़ा है तुम्हारा लंड. मैने सोचा नही था. मैने आज तक ऐसा लंड नही देखा. आज तो मेरे ज़िंदगी बन जाएगी इसे लेके.

मैने उससे कहा: बेबी अब देर ना करो. आप जल्दी से इसे मूह में लेके, इसका स्वाद लो.

उसने स्माइल देते हुए मेरे ककचे के उपर से मेरे लंड को किस किया, और मेरा कक्चा उतार दिया. अब मैं उसके सामने पूरा नंगा था. ज़ोया ने मेरा लंड देखा तो बोली-

ज़ोया: यम्मी, बहुत ही हार्ड है. तुम्हारे लंड को मैने बहुत बार बस सपनो में फील किया फोटो देख कर. आज सामने देखा.

फिर मैने उसके बाल पकड़े, और उसके मूह को खोला. मैं मेरे 7.4 इंच लंबे और मोटे लंड को उसके मूह में देने लगा. उसका मूह मेरे लंड को पूरा नही ले पाया. बस 4 इंच ही मूह में ले पाई. धीरे-धीरे वो आँखें बंद करके लंड को चूसने लगी.

2 मिनिट बाद मैने अपना लंड पूरा मूह में दे दिया. ज़ोया के मूह में लंड उसके गले तक चला गया. ज़ोया की आँखों से आँसू आने लगे. लेकिन उसकी आँखों में लंड लेने की खुशी भी थी.

मैने कहा: बेबी अगर लंड लेने में प्राब्लम हो रही है. तो रहने दो मत चूसो.

उसने कहा: नही बेबी, मुझे लेना है. बहुत मुश्किल से तो मुझे ये लंड नसीब हुआ है. टुमारा लंड बहुत बड़ा है और कड़क है. मूह में लेके बहुत मज़ा आ रहा है. इसे मेरे मूह में देते रहो. मुझे इसे खूब चूसना है.

दोस्तो मैं नेक्स्ट पार्ट में बतौँगा की कैसे ज़ोया ने मेरे मोटे लंड को अपनी छूट में लिया, और मैने उसे कितना तडपया. किसी को मुझसे पर्सनल बात करनी हो तो मुझे मैल करो. और किसी को ज़ोया की तरह मेरा मोटा लंबा लंड चाहिए, तो मुझे मैल करे. आचे से मज़ा दूँगा.

यह कहानी भी पड़े  पड़ोसन भाभी की चुदाई


error: Content is protected !!