कॉल बॉय से चुद कर औरत बनी उसकी पत्नी

फिर मैं उसके लिप्स को चूमते हुए बोला-

मैं: बेबी, जब भी मॅन करे मुझे बुला लेना. मैं तेरी छूट की सेवा करने आ जौंगा.

अब आयेज.

मेरे सामने सोनिया का गोरा नंगा बदन था. अब मैने भी अपने सारे कपड़े निकाल दिए. मैं सिर्फ़ अपने ककचे में था. फिर मैं बेड से नीचे आया, और उसकी कमर पकड़ कर बेड के कॉर्नर पर लाया.

मैं नीचे घुटनो पर बैठ गया, और सोनिया की गोरी टाँग पकड़ कर उसके पैर के उंगलियों को मूह में लेके चाटने लगा. फिर पुर पैर को खूब छाता. मेरा ये तरीका उसे पसंद आया. वो बोली-

सोनिया: आह उहह. क्या बढ़िया सेक्स करते हो यार आप. रोहित, प्लीज़ रुकना मत. बहुत मज़ा आ रहा है.

मैं अब चाट-ते हुए उसके घुटनो तक आ गया, और उसे भी चाटने लगा. सोनिया बेड पर गरम सिसकियाँ लेते हुए आँखें बंद करके मचल रही थी. मैने 15 मिनिट तक दोनो पैर छाते. वो अपनी छूट मसल रही थी. सिसकते हुए वो बोली-

सोनिया: आह, और छातो, उहह. तुमने तो मुझे फिरसे झड़ने पर मजबूर कर दिया है. योउ अरे बेस्ट फकर बॉय.

मैने चाट-चाट कर उसके दोनो पैर सॉफ कर दिए. 2 मिनिट बाद उसकी छूट ने फिरसे गरम लावा झाड़ दिया. मैं अपना मूह छूट पर लगा कर उसे पूरा चाट गया. फिर मैं उससे बोला-

मैं: मेरी सुहग्रत वाली रंडी. कैसा लगा?

सोनिया: उहह, कुछ मत पूछो मेरे राजा. आपका प्यार करने का तरीका मुझे आपका गुलाम बना रहा है. आप बहुत सेक्सी और गरम बॉय हो.

अब मैने सोनिया की दोनो टाँगो को उठा के हवा में फैला दिया. टाँगो को मैने तोड़ा उसकी तरफ किया. इससे उसकी गोरी चिकनी गांद उभर आई. उसने अपनी टांगे पकड़ ली, और मैने अपना मूह गांद के च्छेद पर रख दिया.

उसके सील्ड गांद के च्छेद को मैं अपनी ज़ुबान से चाटने लगा. सोनिया की आँखें बंद हो गयी, और फिरसे उसकी गरम सिसकियाँ निकल गयी. उसे बहुत मज़ा आ रहा था. 10 मिनिट ऐसे चाटने के बाद मैने उसे घोड़ी बनाया.

अब उसकी मस्त गोरी गांद मेरे सामने थी. उस पर मैने 5 से 6 थप्पड़ मारे. थप्पड़ मारने से गोरी गांद पर लाल निशान हो गये. उसकी चीख भी निकल गयी थी.

सोनिया: आह उहह ष्ह रोहित. और करो ना. बहुत मज़ा आ रहा है. आज आपने मुझे रंडी बना दिया है.

मैं उसकी गांद दबा के, और छानते मारते हुए बोला-

मैं: तुझे रंडी बनने में मज़ा आ रहा है क्या?

सोनिया: मैं तो आपकी ज़िंदगी भर रंडी बन कर चूड़ना चाहती हू.

मैं: ठीक है साली रॅंड. तू अब से मेरी पक्की वाली रंडी है.

सोनिया: श रियली. थॅंक योउ मेरे राजा जी.

अब मैने अपना मूह उसके गांद में घुसा दिया, और उसे चाटने लगा. गांद के काले च्छेद में अपनी ज़ुबान डाल कर गोल-गोल घुमा रहा था. इससे उसकी गरम सिसकियाँ रूम में चलने लगी.

सोनिया: उहह श ऑश.

मैं उसकी मोटी गरम गांद को दबाते हुए चाटने लगा. एक हाथ से छूट में 2 उंगली करके छोड़ रहा था. उसकी सिसकियाँ ज़ोरदार हो गयी. वो बस बेड पर मचल रही थी. मैं गांद के हर हिस्से को चाटने और दांतो से काटने लगा. उसकी चीख निकल गयी.

सोनिया: आह उम्म्म उहह रोहित जी. प्लीज़ अपनी रंडी को और प्यार करो. बहुत मज़ा दे रहे हो.

सोनिया की छूट और उसका बदन वासना से भर गया था. मैने 20 मिनिट उसकी गांद को खूब चूसा. उसके बाद वो फिरसे झाड़ गयी. मैं उसका सारा रस्स पी गया. वो 3 बार झाड़ गयी थी. मुझे अब वो किस करने लगी. मेरे होंठो को चूसने लगी और बोली-

सोनिया: सच बोल रही हू. आज से पहले आपके अलावा किसी के साथ इतना मज़ा नही आया है. आप सबसे बेस्ट हो. अब मैं हर बार आपसे ही सेक्स करूँगी.

मैं: मैं भी अपनी रंडी के लिए हमेशा रेडी हू. तू जब भी बुलाएगी मैं तेरे लिए आ जौंगा.

सोनिया: मैं आपकी अब से रंडी, रखैल, बीवी सब हू. प्लीज़ मुझे कभी धोखा मत देना.

आप जैसे बोलॉगे मैं वैसे रहूगी. आपकी हर बात मानूँगी. आप जिसे भी छोड़ो, लेकिन अपनी इस रॅंड को मत भूलना. ऐसा बोलते टाइम उसके आँखों से आँसू आने लगे. और मुझे चूमते हुए वो मुझसे लिपट गयी.

मैं: लेकिन बेबी. मैं कॉल बॉय हू. पैसे लेके सेक्स करता हू. क्या तुम मुझे कॉल बॉय के साथ अपना लॉगी?

सोनिया मेरी चेस्ट को चूमते हुए बोली: रोहित जी, आप मेरे पति हो अब. आपको किसी भी तरह की टेन्षन लेने की ज़रूरत नही है. और हा, मुझे आप अपनी रंडी समझो.

सोनिया: आप कॉल बॉय हो, मुझे कोई फराक नही पड़ता. मुझे आपसे अब प्यार हो गया है. क्या आप मेरे बन कर रहोगे? मुझे अपनी रखैल बनाना पसंद करोगे?

मुझे भी अब उससे प्यार हो गया था. उसकी मीठी बातें और उसकी आँखों के आँसू मुझे उससे प्यार करने पर मजबूर कर रहे थे. सोनिया मेरी आँखों में प्यार से देख रही थी.

मैं: हा मेरी सोनिया. आज से मैं तुझे अपनी पत्नी मानता हू. और तू अब से मेरी है.

सोनिया खुश हो गयी. और मुझे कस्स के गले लगा कर लिपट गयी. रोने भी लगी थी. मैने भी उसका नंगा बदन अपने से चिपका लिया. हम दोनो अब एक-दूसरे को खूब ज़ोर-ज़ोर से किस करने लगे. फिर वो बोली-

सोनिया: मैं आज से आपको रोहित जी बोलूँगी. और मुझे आपके कॉल बॉय के काम से कोई प्राब्लम नही है. और जब हम सेक्स करेंगे, और मुझसे आप मिलने आओगे. तब भी मैं पैसे दूँगी आपको.

सोनिया मुझसे फिरसे ई लोवे योउ बोल के लिपट गयी.

सोनिया: मेरी आपसे एक रिक्वेस्ट है. प्लीज़ पूरी करोगे?

मैं: मेरी जान. हा बोल ना तू.

सोनिया: मेरे हॅंडसम पातिदेव. आप 1 दिन और रुक जाइए मेरे साथ. मुझे आपके साथ हसीन पल गुज़ारने है. मेरे न्यू हज़्बेंड के साथ और खुल के रंडी बन कर मज़ा लेना है.

मैं: ओक मेरे प्यारी रंडी. तेरे लिए ये सब कर लूँगा. मेरी भी एक रिक्वेस्ट है. तू पूरा करेगी?

सोनिया: पागल, पातिदेव जी. आपको रिक्वेस्ट करने की ज़रूरत नही है. सीधा ऑर्डर दो. आप मेरे पति हो. मैं आपकी रखैल हू.

मैं: मैं आज तेरे साथ रफ्ली और हार्ड सेक्स करना चाहता हू.

सोनिया मेरे होंठो को चूमते हुए बोली: आपको जो करना है करो. मैं कों होती हू अब आपको रोकने वाली. मेरा तो सब कुछ अब आपका है. जैसे मॅन करे, जहा मॅन करे वाहा चुदाई करो.

सोनिया ने मुझे ये बात मेरे लंड को चूमते हुए कही. मैं उसकी बात से खुश हो गया, और बोला-

मैं: सोनिया, ई लोवे योउ मेरी जान.

सोनिया मुझे देखते हुए, और कस्स कर मुझे चूमते हुए बोली-

सोनिया: सॅकी, श ई लोवे योउ टू. ई आम सो हॅपी. अब मैं आपकी ही हू. मुझे क्लाइंट नही, अपनी पत्नी समझो. और जो मॅन करे वो करो.

ये सब बोल कर फिर वो बोली-

सोनिया: अब हट्तो. मैं बातरूम जाके आती हू.

मैं: नही.

सोनिया: क्यूँ बेबी. मुझे टाय्लेट लगी है.

मैं: मैने बोला ना तुझे, नही जाना है.

सोनिया: ठीक है, फिर यही निकल जाएगा. फिर मुझे मत बोलना आप.

मैं बेड पर सीधा लेट गया, और उससे बोला-

मैं: तू मेरे मूह पर छूट रख, और मेरे मूह में अपना टाय्लेट निकाल.

सोनिया: आप मेरा सस्यू पियोगे? फिर मुझे भी आपका पीना है. और अब से मैं रोज़ आपका सस्यू पियूंगी. आप मुझे रुकोगे नही, समझे जानू?

फिर वो अपनी टाँग फैला कर मेरे मूह पर अपनी गुलाबी छूट रख कर बैठ गयी. सोनिया ने छूट को पूरा मेरे मूह में घुसा दिया, और ज़ोर से सस्यू निकालने लगी. उसकी एक-एक बूँद मैं पी गया.

वो बस आँखें बंद करके, मेरे मूह में छूट रख के, मेरी गरम ज़ुबान को महसूस कर रही थी. फिर वो बोली-

सोनिया: दिल से बोल रही हू आज. आपके साथ जो मज़ा आया है, आज तक मैने कभी सोचा भी नही था. आप मुझे हर पल अपना दीवाना और प्यार में पागल बना रहे हो.

मैं: तो साली बन जेया ना पागल. मैं तुझसे कभी डोर नही जाने वाला.

अब मैने उसे बेड पर घुटनो के बाल किया. फिर मैं खड़ा हो गया. मेरा टाइट 7 इंच का लंड उसके गोरे फेस के सामने था. वो समझ गयी, की अब उसे क्या करना था. फिर वो लंड पकड़ कर बोली-

सोनिया: हे मेरे राजा, रोहित जी. आपका लंड मेरी जान निकाल देता है. आज मैं इसे जी भर के प्यार करना चाहती हू.

फिर उसने लंड के टोपे को चाटना शुरू किया. वो मेरे लंड के टोपे से चाट-ते हुए मेरी बॉल्स तक ज़ुबान लेके गयी. मुझे बहुत आनंद आने लगा. क्या रंडी की तरह लंड चाट रही थी.

सोनिया ने चाट-चाट कर लंड टाइट कर दिया. मैने उसका मूह पकड़ा और लंड उसके मूह में दे दिया. अब मैं मूह की ज़ोर-ज़ोर से चुदाई करने लगा. उसकी आँखों से आँसू आने लगे. मैं बोला: अगर दर्द हो रहा है तो निकाल डू? लंड मूह से निकाल कर, वो बोली-

सोनिया: आपको कसम है मेरी. आप मुझे दबा के छोड़ो. आप भूल गये क्या, आप मेरे बहराम और ज़ालिम पति हो. मैं आपकी रखैल.

बाकी की कहानी नेक्स्ट पार्ट में. आप जाइएएगा मत, स्टोरी में बहुत मज़ा आने वाला है.

किसी गर्ल, लेडी, भाभी, हाउसवाइफ, अलोन हॉस्टिल गर्ल को रियल और सेक्यूर सेक्स और रिलेशन्षिप चाहिए, तो मुझे आप सेफ्ली मैल करे. आपकी डीटेल्स और प्राइवसी सेफ रहेंगी. मेरी एमाइल ईद गम0288580@गमाल.कॉम है. आप मुझसे गूगले छत भी कर सकते हो. गूगले छत पर डाइरेक्ट मेसेज करो.

थॅंक्स ड्के.

यह कहानी भी पड़े  कहानी जिसमे भाई ने दोस्त को अपनी बहन को चोद्ते देखा


error: Content is protected !!