पार्टी में मिले लड़का-लड़की ने चुदाई करी

हेलो दोस्तों, मेरा नाम मानव है, और मैं देल्ही का रहने वाला हू. मैं 24 साल का हू, और मेरी हाइट 5 फीट 10 इंच है. मैं नॉर्मल दिखता हू, वित आ फिट बॉडी, क्यूंकी स्पोर्ट्स काफ़ी खेलता हू. ये कहानी मेरी और एक लड़की के बीच की है, जो मुझे एक फ्रेंड की पार्टी में मिली थी. तो अब सीधे स्टोरी पर आता हू.

अगर स्टोरी पसंद आए तो आप मुझे मैल कर सकते है, या फिर गूगले छत पर भी मेसेज कर सकते है. मेरी मैल ईद है मानवसिंघ0311@गमाल.कॉम

तो ये लगभग 4 साल पहले की बात है, जब मैं कॉलेज में अड्मिशन लेने ही वाला था उससे पहले की. मैं अपने 2 स्कूल फ्रेंड्स के फ्लॅट पर गया था, क्यूंकी उनमे से एक का बर्तडे था, जिसका नाम है अनुभव.

तो वैसे तो मैं वाहा 1 दिन पहले ही चला गया था. क्यूंकी हम 2 साल बाद मिल रहे थे. तो हमने काफ़ी एंजाय किया, पत्ते खेले, रात को गेदी पर गये. देन अगली रात को उसके ब’दे की तैयारी की. हममे से कुछ पीते भी थे, तो हम कुछ बियर ले आए, और बाकी के लिए कोक आ गयी. और खाने का तो था ही.

अब बात स्टार्ट होती है ब’दे से, जब एक-एक करके 12-15 लोग जिन्हे बुलाया था वो आ गये. उनमे एक लड़की आई 5 फीट 3 इंच की, जो की काफ़ी अट्रॅक्टिव दिख रही थी. उसने एक वन पीस पहना हुआ था रॉयल ब्लू कलर का, जो की उसकी गोरी स्किन पर काफ़ी अछा दिख रहा था.

उसके बाल खुले हुए थे, और उसने लाइट मेकप भी किया हुआ था, जिसकी शायद उसको ज़रूरत थी भी नही. उसका नाम था करतिका, और वो काफ़ी अछा डॅन्स भी कर रही थी एक हाथ में कोक लेकर. फिगर उसका उस वन पीस में ऐसा लग रहा था, जैसे कोई हेरोयिन हो.

उसका फिगर था 32-28-34, और वो मुझसे बड़ी थी. पहले तो सब ने केक कट किया, और अनुभव के साथ फोटोस ली. फिर सब डॅन्स करने लगे. मैं भी सबसे घुल मिल गया था, क्यूंकी मुझे नये लोगों के साथ बात करने में टाइम नही लगता.

सारे लड़के-लड़कियाँ साथ में डॅन्स कर रहे थे, जिसमे से दो कपल्स भी थे. एक तो अनुभव की ही गफ़ थी. तो डॅन्स करते हुए सब ने डिसाइड किया की चलो अब ग़मे खेलते है ट्रूथ आंड डरे.

तो सब हाथ में ग्लास और कोक या बियर लेकर सर्कल बना कर बैठ गये. हम ऐसे बैठे थे की मेरे बगल में अनुभव की गफ़ रिया बैठी थी एक साइड, और दूसरी साइड मेरा एक और फ्रेंड निखिल बैठा था. और मेरे बिल्कुल सामने करतिका बैठी थी.

तो ग़मे चल रही थी, और बॉटल जिस पर रुकती, या तो उसको डरे करना पड़ता, या फिर सच बोलना होता. फिर निखिल पर डरे आया, तो उसको त्वेर्क करके दिखना पड़ा. रिया ने ट्रूथ लिया, तो उससे पूछा गया “तुमने अनुभव के साथ सबसे अजीब कों सी जगह है जहा माकेऔट किया होगा?”

तो उसने कहा: माल के वॉशरूम में.

ये सुन कर सब हासणे लगे. फिर बॉटल मेरे उपर रुकी, तो सामने करतिका बैठी थी. तो उसको बताना था मैं क्या करू. फिर उसने पूछा “ट्रूथ या डरे?”. तो मैने ट्रूथ चुना.

फिर वो तोड़ा सोच कर पूछती है: यहा सारी गर्ल्स में से सबसे ज़्यादा प्यारे लिप्स किसके है?

तो मैने सब को देखा तो सारे बाय्स ऐसे देख रहे थे जैसे की उन्हे ये बताना था. फिर मैने बाकी लड़कियों को देखने का नाटक किया, और फिर उसको कहा-

मैं: तुम्हारे ही सबसे प्यारे लग रहे है.

तो वो भी एक स्माइल करके बैठ गयी, और ग़मे आयेज चलने लगा. हम दोनो बीच-बीच में एक-दूसरे को देख रहे थे, और स्माइल कर रहे थे. तभी उसका चान्स आया तो उसने ट्रूथ लिया. फिर उसको रिया ने पूछा-

रिया: यहा पर किसी लड़के को किस करना हो तो किसे करोगी?

तो उसने कहा: मानव को.

फिर मैने भी उसको देख कर स्माइल की, और ऐसे ही ग़मे ख़तम करके सब ने डिसाइड किया खाना खाने का. फिर हम खाना खाने लगे, तो मैं करतिका के पास चला गया, और हम दोनो बातें करने लगे.

तब उसने बताया की वो पास में ही रहती थी, क्यूंकी वाहा से कॉलेज पास में ही था. हमने बातें की, और काफ़ी बनने लगी हममे. फिर सब एक-एक करके जाने लगे, तो लास्ट में बचे थे अनुभव, उसकी गफ़ रिया, निखिल जो की अनुभव का फ्लाटमेट भी था, उसकी गफ़ जागृति, विकास, करतिका और मैं.

हम सब बेड पर बैठ कर बातें कर रहे थे. मेरे बगल में करतिका बैठी थी. उसके साथ रिया, और फिर अनुभव, और बाकी तीनो सामने. तो काफ़ी बातें की हमने इधर-उधर के क़िस्सों की. करतिका मेरा एक हाथ अपने हाथ में डाल कर बैठी थी, और उसका सर मेरे कंधे पर था.

ऐसे ही बातें करते-करते सब को नींद आने लगी. तो अनुभव को रिया के साथ रहना था, तो वो हम सब उन्हे छ्चोढ़ कर जाने लगे. निखिल अपनी गफ़ के साथ चला गया. विकास अपने घर चला गया.

मेरे लिए रूम था उनके फ्लॅट में, तो मैने अनुभव को कहा की मैं करतिका को घर छ्चोढ़ कर आ जाता हू. तो हम रात को करीब 3 बजे वॉक करते हुए जेया रहे थे बातें करते हुए. हम बातें करने लगे की अभी अनुभव और रिया क्या कर रहे होंगे.

वो बोलती: रात भर मुझे आवाज़ सुन्नी पड़ेगी आ उहह की.

और हासणे लगे हम दोनो. तभी मैने उसको कहा की उसने मेरा नाम लिया था किस करने के लिए, वो ऐसे ही लिया था, या कोई वजह थी.

तो वो शरमाने लगी, और बोलती: तुमने भी तो मेरे लिप्स को सबसे प्यारा बोला था.

इस्पे मैने कहा: अब भाई है तो है. सच बोलना चाहिए ना.

अब वो और शरमाने लगी. फिर मैने उसका हाथ पकड़ कर उसको पास खींच लिया, और उसके बालों में हाथ फेरते हुए उसकी आँखों में देखा, और उसके गाल पर किस कर लिया.

मैं उसके होंठो को किस करने ही वाला था की वो बोलती: वेट, यहा नही.

मैने कहा: तो कहा?

तो उसने मेरा हाथ पकड़ा, और अपने प्ग के अंदर लेकर गयी. स्टेर्स पर देखा कोई था तो नही, और मुझे उपर बुलाया. उसका रूम जो फर्स्ट फ्लोर पर था, उसका लॉक खोला, और मुझे अंदर लेकर डोर बंद कर लिया.

फिर उसने लाइट्स ओं की, और बोलती: मेरे पास भी रूम है स्टुपिड.

मैने उसको फिरसे अपने पास खींच लिया, और उसके प्यारे होंठो को चूमने लगा, और उसको और कस्स के पकड़ लिया. हम दोनो ही एक-दूसरे को किस कर रहे थे, और उसके हाथ मेरे बालों में थे. मैने उसको ऐसे जाकड़ रखा था, की पंत में उसको मेरा लंड सॉफ-सॉफ फील हो रहा होगा, जो उसकी छूट के बिल्कुल सामने था.

मैं उसकी गांद पर हाथ फेर कर उसको दबाने लगा, और वो मेरी जीभ उसके होंठो के अंदर लेते हुए मेरी जीभ के साथ खेल रही थी. ऐसे करते हुए मैं उसकी गर्दन पर उसके शोल्डर पर किस करने लगा. तो उसने मुझे उसके बेड पर धक्का दिया, और मेरे उपर आ गयी.

वो मुझे किस करने लगी, और मेरे हाथ जो उसकी कमर पर थे, उसकी पीठ पर चले गये. इन सब में उसकी ड्रेस उसकी कमर तक आ चुकी थी, क्यूंकी उसके पैर मेरे दोनो तरफ थे. मुझे उसकी छूट की गर्माहट सॉफ पता लग रही थी.

मैने उसको नीचे लिटाया, और खुद बेड के नीचे उतार गया, और उसके पैरों को फैलाया. तो उसकी ब्लू पनटी जिस पर उसकी छूट का पानी था, मुझे सॉफ नज़र आ रही थी. मैने उसकी पनटी को उतार दिया, और उसकी छूट मेरे सामने आ गयी.

उसकी छूट पर एक भी बाल नही था, जैसे आज ही शेव की हो. मैने उसकी जांघों को किस किया, और उसकी छूट के होंठो पर किस किया. फिर बिना देर किए उसकी छूट के अंदर अपनी जीभ डाल दी, जिससे वो पागल होने लगी. और मेरे बालों को पकड़ कर अपनी छूट में मेरे चेहरे को दबाने लगी.

मैं भी उसकी छूट को अंदर तक चाट रहा था, और जीभ को अंदर-बाहर कर रहा था. उसके दोनो पैरों को अपने हाथो से फील करते हुए उसकी पूरी छूट को मैने तब तक छाता, जब तक उसका सारा पानी नही पी गया. उसकी छूट बिल्कुल पिंक कलर की थी, जिसको देख कर मुझसे ज़रा भी रुका नही गया था, और मैं बस चाटने लगा.

फिर हम दोनो ने एक-दूसरे के कपड़े उतारे, और अब हम दोनो पुर नंगे थे. उसने मेरा लंड देखा, जो की 6 इंच का है, और नीचे बैठ गयी.

फिर उसने लंड को किस किया, और मूह में लेकर चूसने लगी. उसने 2-3 मिनिट ये किया. फिर मैने उसको बेड पर लिटाया, और उसके बूब्स को अब जेया कर मैने च्छुआ और दबाया. उसके बूब्स बहुत-बहुत ज़्यादा सॉफ्ट थे, और लग रहा था जैसे कोई रयी का गोला हो. उसके इतने सफेद बूब्स पर ब्राउन निपल्स बहुत सेक्सी लग रहे थे.

मैने उसके एक बूब को मूह में लिया, और चूसने लगा, और एक हाथ से दूसरे वाले बूब को दबाने लगा. ऐसे करते हुए मैने उसके बूब्स को काफ़ी दबाया, और चूसा. फिर मैं उसको किस करते हुए नीचे गया, और उसकी छूट को फिरसे चाटने लगा, जिससे की वो काफ़ी गीली हो गयी.

फिर मैने उसको बोला: यार कॉंडम तो है नही मेरे पास.

तो वो बोलती: मेरे पास भी नही है.

मैने पूछा: फिर?

उसने कहा: पिल ले लूँगी मैं. तुम डालो, क्यूंकी अब इतना करके नही रुकना मुझे.

तो मैने उसके पैर उठा कर अपने कंधे पर रखे, और उसकी छूट में अपना लंड डाल दिया. उसका भी पहला सेक्स नही था, तो उसको ज़्यादा दर्द तो नही हुआ, पर मुझे 2-3 बार में धक्के लगा कर डालना पड़ा, क्यूंकी ज़्यादा खुली नही थी उसकी छूट.

मैने कमर हिलना शुरू किया, और लंड को उसकी छूट के अंदर-बाहर करने लगा. फिर वो भी पुर मूड में आ गयी, और मेरा नाम ले लेकर छुड़वाने लगी. बड़ी नशीली आवाज़ में वो “मानव श मानव, आ आ श एस्स करने लगी”, और मैं भी उसको मज़े से किस करते हुए बूब्स को दबाते हुए छोड़ रहा था.

उसके पैर ऐसे दर्द करने लगे, इसलिए वो उपर आ गयी, और अपनी छूट में लंड डाल कर आयेज-पीछे होने लगी. मैं उसकी गांद को दबा रहा था, और वो काफ़ी अची तरह से अपनी गांद आयेज-पीछे कर रही थी.

उसके बूब्स को दबाते हुए मैं उसको अपने सीने से लगा कर उसको हग करके नीचे से धक्के देने लगा, और उसको बहुत ज़ोर-ज़ोर से छोड़ने लगा. उसको अब और मज़ा आने लगा, क्यूंकी अब लंड काफ़ी तेज़ी से अंदर जेया रहा था. उसकी छूट बहुत गीली हो रही थी, और ये मेरे लंड को बहुत आचे से समझ आ रहा था.

मैने उसको फिर डॉगी-स्टाइल में आने को कहा, और खुद नीचे खड़ा हो गया बेड से, और पीछे से उसकी छूट में लंड डाल दिया. इस बार ऐसा लगा जैसे लंड उसकी छूट के नये हिस्से में पहुँच गया. क्यूंकी उसकी छूट टाइट लगने लगी थी. फिर मैं उसकी कमर पकड़ कर आयेज-पीछे होने लगा.

इस पोज़िशन में पट्ट-पट्ट पूच करके आवाज़े आ रही थी, और मेरा लंड भी अंदर उसकी छूट के पानी के साथ आवाज़ कर रहा था. फिर मैने उसके बाल पकड़े, और उसकी गर्दन पर किस करते हुए उसी पोज़िशन में लंड अंदर बाहर करने लगा. मैं उसके बूब्स दबाने लगा, और हम किस करने लगे.

सच में किस करते हुए उसकी गांद डब रही थी, और लंड छूट के अंदर था. उस टाइम पर सबसे ज़्यादा मज़ा आ रहा था. फिर मुझे लगा की मेरा होने वाला था, तो मैने उसको लिटाया बेड पर, और उसके बूब्स पर अपना सारा स्पर्म निकाल दिया.

उसने भी बड़ी मस्त सी स्माइल के साथ तोड़ा सा अपनी उंगली पर लेकर टेस्ट किया, और बाकी का अपने बूब्स पर रब कर लिया. फिर मैं और वो हग करके किस करने लगे, और काफ़ी देर तक किस किया हमने. फिर हमे नींद आ गयी.

हम एक घंटा बाद उठे, तो मैने उसको किस किया, और वो उठ गयी. हमने थोड़े बिस्कट खाए, और मैं उसके बूब्स चूसने लगा उसको गोद में बिता कर. ऐसे करते हुए हम दोनो बहुत एग्ज़ाइटेड हो गये और हमने 2 बार और चुदाई की.

मैं अगले दिन 5 बजे शाम को अनुभव के घर गया. फिर फ्रेश हो कर हम 6 लोग रात को पब गये और काफ़ी डॅन्स किया, और सेम पिछली रात जैसे अपने-अपने पार्ट्नर के साथ रहे. मैं 4 दिन वाहा रहा, और हमने काफ़ी एंजाय किया, ख़ास कर की करतिका और मैने.

उसके बाद हम दोनो की बात हुई पर हम दोस्त ही रहे. क्यूंकी लोंग डिस्टेन्स नही चाहते थे हम. तो आपको कहानी कैसी लगी प्लीज़ अपने फीडबॅक में मुझे ज़रूर बताए. मेरी मैल ईद है

आप मुझे गूगले छत पर भी मेसेज कर सकते है. और कोई भी लड़की बात करना चाहे तो मैं हमेशा हाज़िर रहूँगा.

यह कहानी भी पड़े  बाप और बेटी के एक दूसरे को गरम करने की कहानी


error: Content is protected !!