बिल्डर के साथ सेक्स कर के बीवी ने फ्लॅट की कॉस्ट कम करवाई

मैं अरुण आप सबको प्रणाम करता हूँ और एक नई स्टोरी लाया हूँ आपसब के लिए. आप सब को पता ही है कि मेरी बीवी ज्योति अपने यार से और अफ्रीकी लण्ड से मेरे सामने चुद चुकी है. मेरी बीवी की चुदाई की नई कहानी पेश कर रहा हूँ कैसे ज्योति फ्लैट के बिल्डर से चुदी और कीमत कम कराया.

ज्योति की फिगर के बारे में पता ही है कि वो हॉट सेक्सी 36 साइज की चूची और 38 साइज की गण्ड की मालकिन है. लोग उसको देख के मुठ मरते है. अब कहानी पर आता हूँ. मैं और मेरी प्यारी पत्नी ज्योति अपने सपनो के घर की तलाश में थे. कोई घर देखा पर उसकी कीमत बजट में नही आ रहे थे. लेकिन एक घर हम लोगो को पसंद आया लेकिन उसकी कीमत 40 लाख थी लेकिन हमलोग 30 से ज्यादा देने की हालत में नही थे. मैंने बैंक में भी बात की कोई लोन देने को तैयार नही था.

एक दिन हैम दोनों बिल्डर के पास गए बारिश में थोड़ा भींग भी गए थे. ज्योति साड़ी में थे हमेशा की तरह सेक्सी लग रही थी. बिल्डर और उसके पार्टनर से हमलोगों ने मुलाकात कर कीमत कम करने की मिन्नते भी की पर वो लोग नही झुके. लेकिन मैंने नोटिस किया कि दोनों की नजर सिर्फ ज्योति के बदन पर था. ज्योति भी मुस्कुराकर बिडर और उसके सहयोगी को रिझाने में लगी थी. एक बार तो ज्योति ने पल्लू ठीक करने के बहाने दोनों को चूची की झलक भी दिखाया.

आखिर में बिल्डर जिसका नाम रमेश था उसने कहा कि भाभी जी अब आप आई है तो देखते है हमलोग क्या कर सकते है. हम लोग घर आगये. घर आकर बहुत दुखी थे हम दोनों की सपनो का घर सपना ही हो रहा था. फिर मैंने कहा कि ज्योति कल फिर एक कोशिश करते है बिल्डर से मिलकर. लेकिन ज्योति ने कहा कि आप आफिस जाओ कल मैं जाती हूँ. मैं समझ गया कि ज्योति कल अपनी जवानी का जलवा दिखा के कुछ कमाल जरूर करेगी.

यह कहानी भी पड़े  सेक्सी मेच्यूर भाभी गीता का चूत चुदाई

अगले दिन ज्योति सुबह जल्दी उठ गई. 2 घंटे में चुत और बगल के बाल साफ किया. काली रंग की जालीदार साड़ी पहनी और काली ब्रा पेंटी भी. करीब 12 बजे ज्योति बिल्डर के आफिस पहुची. आफिस में हर कोई ज्योति को खा जाने वाली नजरो से देख रहा था. बिल्डर को जैसे पता चला कि ज्योति आई है उसने तुरंत उसे अंदर बुला लिया. रूम में रमेश और उसका सहयोगी अजीत बैठा हुआ था. ज्योति को काली साड़ी में देख के दोनों के मुह खुले के खुले राह गए.

दोनों की नज़र ज्योति की खुली हुई नाभि और चूची पर ही थी. ज्योति ने दोनों को नमस्ते किया और बिल्डर रमेश से कहा कि कृपया फ्लैट की कीमत में कुछ छूट दे दीजिए हम लोग इतने पैसे नही दे पाएंगे. हमलोग गरीब है. रमेश ने कहा कि आप इतनी खुबशुरत है आप कहाँ से गरीब होंगी. आपके लिए तो कोई जान देदे ज्योति ने कहा कि बस कीमत कम कर दीजिए. अजित ने कहा कि कीमत तो कम करदेंगे मैडम पर हमारी नुकसान की भरपाई कौन करेगा. ज्योति ने कहा कि हमलोग आपका एहसान कभी नही भूलेंगे लेकिन पैसे काम करिये. रमेश ने कहा एहसान का हमलोग क्या करेंगे वैसे आप बदले में बहुत कुछ दे सकती है.

ज्योति ने कहा कि ने कहा कि अगर देने की हालत में हिती तो आपसे मांगने नही आती और पल्लू थोड़ा नीचे करते हुए लो कट ब्लाउज से आधी चूची दोनों को दिखा दिया. तब तक रमेश अपनी कुर्सी से उठकर ज्योति की कुर्सी के पीछे आगया था उसने ज्योति के कंधे पर हाथ रखते हुए कहा कि भाभी जी आप खुद बहुत मालदार है आप चाहोगी तो बहुत कुछ दे सकती हो. ज्योति की पल्लू नीचे थी सांस के साथ चूची ऊपर नीचे हो रही थी. उधर रमेश धीरे धीरे ज्योति के कंधे सहलाते हुए कहा कि भाभी जी अपनी जवानी का मजा दिला दो सब ठीक हो जाएगा. ज्योति ने नाराजगी दिखाते हुए कहा कि ये आपलोग क्या कर रहे है ये सही नही है.

यह कहानी भी पड़े  Achche Din Aa Gaye

तभी अजीत ज्योति के सामने खड़ा हुआ और उसकी चूची दबाते हुए कहा कि मादरचोद रंडी की तरह सज कर आई हो चुदने के लिए और अब ड्रामा कर रही हो. साली छिनार कूतिया जब पहली बार तुम्हे देखा था तभी लग गया था कि एक नंबर की चुदक्कड़ हो तुम और कई लण्ड ले चुकी हो. अब नखरे मत कर खुद भी मजे लो और हमे भी मजा दो नही तो नंगा कर यहां से भाग दूंगा और फ्लैट भी नही दूंगा. ये सुनकर ज्योति भी रंडी की भाषा बोलते हुए कहा कि हरामियों मुझे भी पता चलगाय था कि मुझे बिना चोदे तुमलोग फ्लैट की कीमत कम नही करने वाले इसलिए आज मैं पूरी तैयारी से आई हूं जितना चाहो चोद लो लेकिन आज फ्लैट का एग्रीमेंट करा के जाऊंगी वो भी अपनी कीमत पर. अपना लण्ड हिला रहे रमेश ने कहा कि अगर तुमने हमे खुश कर दिया तो फ्लैट की कीमत तुम तय करना अब रंडी की तरह शुरू हो जाओ.

Pages: 1 2 3

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!