मेरी बुआ की बेटी चुदाना चाहती है

नमस्कार दोस्तो, आज मैं आपके सामने अपने मन की बात कहने जा रहा हूँ, आपके जवाब का मुझे इंतजार रहेगा।

मेरा नाम सौम्यक है, मैं बीस साल का होने वाला हूँ और अपने मन की बात आपके सामने रख रहा हूँ।
बात कुछ उन दिनों की है मेरे बुआ की बेटी मेरे यहाँ ही रहती थी उसके काम बच्चों जैसे नहीं थे, मतलब वो उम्र से पहले ही सब करना चाहती थी।

मैं उसके बारे में सब कुछ जानता था, उसे भी यह पता था कि मैं उसके सब कामो के बारे जानता हूँ। पर मेरे अंदर कभी कोई गलत फीलिंग नहीं आई।

बात कुछ उन दिनों की है जब वो 12वीं क्लास करके अपने घर चली गई और कुछ समय बाद हमारे यहाँ रहने आई. तब मैं 18 साल का था और वो 20 साल की थी। वो बहुत सुंदर है, एकदम दूध जैसी गोरी… उसकी हाइट कम थी करीब 5 फीट से भी कम और मैं भी 5 फीट का ही था।
मेरे घर में सब बाहर रहते हैं, मैं और माँ ही घर पे रहते हैं।

जब वो आई तो हम लोगों के बीच में काफी बातें हुई। फिर रात को सबने खाना खाया. उस दिन कुछ नहीं हुआ।

अगली शाम हम साथ में बैठ कर भुट्टे खा रहे थे, तभी उसने मुझे चिमटी काट ली, बदले में मैंने भी उसको चिमटी काट ली. ऐसे ही करते करते अचानक उसने सामने से हाथ हटाया और चिमटी काटने के चक्कर में मेरे हाथ उसके बूब्स पर चले और चिमटी उसकी चूची पर कट गई।

लेकिन तभी से उसका नजरिया मेरे लिए बदल गया पर मेरे लिए सब कुछ पहले जैसा ही था, मैं उससे छोटा जो था.

यह कहानी भी पड़े  अंकल ने कमसिन माँ की चुदाई की

फिर रात को सर्दी की वजह से हम साथ सोये और माँ अलग चारपाई पर सोई। रात को मैं पढ़ते पढ़ते ही सो गया।

करीब 1 बजे मुझे अपने ऊपर कोई हाथ महसूस हुआ। मैं तो सब नॉर्मल समझ कर सो ही रहा था, मैं कभी कपड़े पहन कर नहीं सोता था। तो मैंने उसकी ओर पीठ कर ली और उसके हाथ को अपने ऊपर से लाकर गर्दन और सीने से लगा कर सो गया ताकि सर्दी न लगे।

पर वो तो थोड़ी देर बाद अपना हाथ हटा कर मेरे कच्छे में ले गई।
एक बात बताऊँ… जब कोई लड़की हाथ से लंड को टच करती है तो लंड को पता नहीं क्या हो जाता है!
साला मेरा लंड भी हो गया खड़ा और वो सहलाने लगी. मैं पहले तो सोचता रहा कि अब क्या करूँ मैं!

फिर मैंने भी अपना हाथ हिम्मत करके बढ़ाया और उसके बूब्स पर दबाने लगा। फिर उसकी गर्दन को रगड़ने लगा. वो भट्ठी जैसे तप रही थी, मैंने कुर्ते के अंदर हाथ डाल दिया और जैसे ही छुआ बूब्स को… क्या बताऊँ दोस्तो, वो मेरी जिन्दगी का पहला अनुभव था, कसम से मजा ही आ गया। फिर उसने अपना हाथ हटाया और मेरे हाथ को पकड़ कर जोर से रगड़ने लगी और अपनी सलवार में ले जाने लगी।

मैंने भी अपना हाथ वहाँ फिरना शुरु कर दिया, वो अपना पिछवाड़ा उठाने लगी और मुझसे लिपट गई, मेरे हाथ को अपनी चूत में ले जाने लगी. मैंने धीरे धीरे उसकी पैंटी में अपना हाथ अंदर ले जाना शुरु कर दिया. वहाँ पर बाल थे बहुत ज्यादा… तब मुझे पहली बार पता चला कि लड़कियों की भी झाँट होती हैं।

यह कहानी भी पड़े  Sex Kahani Lund Ke Swad ka Chaska

फिर मैंने अपनी उंगलियाँ उसकी चूत में डाल दी. मुझे कुछ नहीं पता था इसलिए मैंने पहली बार में ही 3 उंगलियां एक साथ डाल दी. फिर वो एकदम मेरे ऊपर चढ़ गई और 2 मिनट में ही उसकी चूत ने अपना लावा निकाल दिया. वो पूरी रात मेरे से लिपटी रही, मेरा भी लंड खड़ा था और मैं उसे चोदना चाहता था पर मैंने उसके हाथ से रगड़वा कर खुद को शान्त किया।

मैंने भाई बहन के रिश्ते की पूरी नहीं तो थोड़ी ही मर्यादा रखते हुए अपनी बड़ी बहन को नहीं चोदा. पर वो आज भी मेरे साथ जबरदस्ती करती है, वो मेरे लंड को अपनी चूत में घुसाने के लिए कहती है, मेरी बहन मुझसे चुदना चाहती है.
लेकिन मैं रिश्तों का ख्याल करते हुए ऐसा नहीं करना चाहता.

अन्तर्वासना के प्रबुद्ध पाठको, आप मेरी मदद करें, आप ही मुझे बतायें कि मैं क्या करूँ?
मैं अब 19 का होने वाला हूँ और वो 21 की हो गई है पर वो आज भी पहले जैसी ही है और मैं थोड़ा बड़ा हो गया हूं.
मुझे मेल करके आप मुझे मेरी इस समस्या से निपटने में मदद कीजिए. मैं आप सबका अत्यंत आभारी रहूंगा.
धन्यवाद.

error: Content is protected !!