भाइयों ने मिल कर बहन की सील तोड़ी

हेलो में प्रिया हाज़िर हू आपके सामने. कहानी पर आप लोगों का बहुत प्यार मिल रहा है, जिसके लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया. काई लोग मेरे पिक की डिमॅंड करते है. उनको मैं बता डू की ये पासिबल नही है सॉरी. अब कहानी पे आते है.

सो हेलो मेरे लंड के सरदारो. कैसे है आप लोग? मैं प्रिया आपका वेलकम करती हू कहानी के इस भाग में. अब तक आपने पढ़ा, कैसे मैने मेरे दो भाइयों के साथ कुछ मज़े किए. चलिए आयेज-

अब मैं लगभग हर रोज़ सुबह राज और रात को राहुल के साथ मज़े करने लगी. मुझे दर्र था अगर दोनो को ये बात पता चली तो? बुत मज़े करते वक़्त मुझे इस बात का कोई होश नही रहता था.

एक दिन जब मैं और राहुल मज़े कर रहे थे, तब मैं मज़े के चक्कर में बातरूम का गाते बंद करना भूल गयी. राहुल मेरी छूट चाट रहा था, और मैं दीवार से लग कर खड़ी थी. मेरी आँखें बंद थी. जब मैने आँखें खोली, मैं शॉक हो गयी. राज मेरे सामने खड़ा था, और वो हम दोनो को गुस्से और शॉक भारी नज़रों से देख रहा था.

मैं और राहुल अचानक से घबरा गये, और अपने कपड़े पहनने लगे. मुझे लेकर उन दोनो के बीच काफ़ी बहस हुई, जिससे दोनो को पता चल गया की मैं दोनो के साथ मज़े कर रही थी.

मुझे ये बात बहुत बुरी लगी, और मैं रोते हुए रूम में चली गयी. मैं सोच रही थी, पता नही वो दोनो मेरे बारे में क्या सोच रहे होंगे, की मैं और कितनो के साथ मज़े करती थी. मुझे उस वक़्त बहुत रोना आ रहा था. काफ़ी देर बाद राज और राहुल रूम में आए, और वो भी सो गये.

मैं भी लेती थी, और सोचते-सोचते सो गयी. आज राहुल ने मुझे हग भी नही किया, जिससे मैं और भी ज़्यादा उदास हो गयी. सुबह जब हम उठे तो पता चला की शान को आज बाहर जाना था अड्मिशन के लिए. वो पापा के साथ चला गया. मुझे ये अछा मौका लगा की मैं उन दोनो को अपनी बात बता साकु. मैने दोनो को रूम बुलाया और बोली-

मे: मुझे पता है तुम दोनो क्या सोच रहे होगे. बुत यकीन करो मैने तुम दोनो के अलावा और कभी किसी के साथ ये सब नही किया.

राहुल हासणे लगा. मुझे बहुत बुरा लग रहा था.

मे: मैं सच बोल रही हू यकीन करो.

राहुल: हमे पता है दी. आपकी छूट की सील देखते ही मैं समझ गया था.

(अब जेया कर मेरी जान में जान आई)

राज: हा, और आप सॉरी मत फील करो. हम गुस्सा नही है.

राहुल: उल्टा हम खुश (बोल कर मेरे गालों पे किस किया) है.

राज: आप बस आज रात का इंतेज़ार करो.

मे: आज रात क्या है?

राहुल: आप बस इंतेज़ार करो. आज की रात आप नही भूलोगे.

मे: ऐसा क्या है बताओ ना?

राज: वेट फॉर टुनाइट मी लोवे (उसने भी किस किया).

मैं बहुत ही शॉक्ड थी. एक तो ये दोनो गुस्सा नही थे, और उपर से मेरे लिए सर्प्राइज़ प्लान कर रहे थे. आप तो जानते हो लड़कियों को सर्प्राइज़ कितने पसंद होते है. तो मैं एग्ज़ाइटेड हो गयी और रात का वेट करने लगी. वो दोनो बार-बार मुझे देखते और मुझ पर ऐसे तरस खाते थे जैसे मैं आज रात मरने वाली थी. मुझे अजीब और मज़ा एक साथ ये एहसास हो रहे थे.

रात हुई और हमने डिन्नर फिनिश किया. फिर रूम में गये. आज शान नही था तो हमने दोनो बेड्स को एक कर दिया. मैं लेट गयी. थोड़ी देर बाद वो दोनो आए और उन्होने रूम लॉक कर दिया. राहुल मेरी एक साइड और राज मेरी दूसरी साइड आ कर लेट गया. कुछ देर बाद मैं एग्ज़ाइटेड हो कर उनसे पूछी-

मे: तुम लोग मुझे कुछ सर्प्राइज़ देने वाले थे ना? कहा है?

राहुल: दी लगता है आपको बड़ी जल्दी है.

राज: देदे क्या राहुल?

राहुल: हा मुझे भी यही लगता है.

राज: चल दे देते है.

ये बोल कर दोनो ने अपनी पॉकेट में हाथ डाला और उसमे से जो निकाला वो देख कर तो मैं डांग रह गयी. दोनो ने उसमे से कॉंडम निकाला, और मेरे हाथो पे रख दिया. दोनो मेरे करीब आए, और मेरे बूब्स दबाने लगे. राहुल ने मुझे किस किया और बोला-

राहुल: क्या हुआ दी, कैइसा लगा गिफ्ट?

मे: ये सब क्या है?

राज: दी आज हम दोनो मिल कर आपकी सील तोड़ेंगे.

मैं दर्र गयी, बुत थोड़ी एग्ज़ाइटेड भी थी, क्यूंकी ये मेरा पहला एक्सपीरियेन्स होने वाला था. उन दोनो ने एक-एक करके मुझे किस करना शुरू किया. पहले राहुल ने मुझे किस और राज ने अपनी त-शर्ट उतार दी. फिर राज मेरे होंठो को चूमने लगा, और राहुल ने अपनी त-शर्ट उतार दी.

फिर उसने मेरी भी टॉप निकाल दी, और मेरी ब्रा के उपर से मेरे बूब्स को दबाने लगे. राहुल मेरी बॉडी पे अपने हाथ सहला रहा था, और फिर उसने मुझे पीछे घुमा दिया. राज ने मेरी ब्रा की हुक खोली, और दोनो मेरी पीठ पे किस करने लगे. फिर उन्होने मुझे आयेज घुमाया.

अब मेरे नंगे बूब्स उनकी आँखों के सामने थे. पहले दोनो ने अपने हाथो से मेरे एक-एक बूब को दबाया. फिर दोनो अपनी-अपनी साइड वाले बूब्स पे टूट पड़े. वो दोनो मेरे बूब्स को पागलों की तरह चूसने लगे. मुझे सच में बहुत मज़ा आ रहा था, और मैं दोनो के बालों को सहला कर उन्हे और उत्तेजित कर रही थी.

वो मेरे बूब्स को दबा-दबा कर चूज़ जेया रहे थे. मेरी साँसे तेज़ हो चुकी थी, और मैं अब सिसकियाँ लेने लगी. राहुल ने अपने एक हाथ से मेरे शॉर्ट्स खोल दिए, और अपना हाथ मेरी पनटी में डाला. उधर राज ने मेरे लिप्स को चूसना शुरू कर दिया. राहुल मेरी छूट पे अपना हाथ फिरा रहा था, और अचानक उसने अपनी एक फिंगर मेरी छूट में डाल दी. छूट बहुत गीली थी, जिस वजह से उसकी फिंगर सीधा अंदर चली गयी.

ये पहली बार था जब मेरी छूट में कुछ गया हो. मुझे बहुत पाईं हुआ और शायद ये बात उन्हे भी पता चल गयी, इसलिए उसने अपनी फिंगर निकाल ली. राहुल ने मुझे सॉरी बोला और मेरी छूट पे किस किया, जिसके बाद मुझे तोड़ा आराम मिला.

अब राहुल मेरी छूट चाटने लगा. इधर राज ने अपना लंड बाहर निकाला और मेरे मूह में घुसा दिया. अब मैं राज का लंड चूस रही थी, और राहुल मेरी छूट चाट रहा था. अफ क्या मंज़र था वो. काफ़ी देर बाद उन्होने पोज़िशन चेंज की.

अब राहुल का लंड मेरे मूह में था, और राज मेरी छूट चाट रहा था. फिर दोनो ने अपना लंड मेरे फेस के पास लाया. मैं एक-एक करके दोनो लंड चूसने लगी, और कुछ ही देर में वो दोनो एक साथ मेरे फेस पर झाड़ गये. उन दोनो ने चाट-चाट कर मेरा फेस सॉफ किया और मैने उनके लंड.

अब वो घड़ी आ गयी थी. मैने दोनो के लंड पे कॉंडम लगाया और लेट गयी. वो दोनो जुड़वा भाई भी रेडी थे. पहले राज आया, और उसने मेरी टांगे फैला कर अपना लंड मेरी छूट पे सेट किया. राहुल मेरे पास आ गया, और मेरे बदन को सहलाने लगा, ताकि मुझे ज़्यादा पाईं ना हो.

राज ने चुदाई शुरू की. पहले तो उसका लंड मेरी छूट में जेया ही नही रहा था. पर काफ़ी मेहनत के बाद उसने मेरी छूट में अपना लंड घुसा दिया. मैं दर्द से तड़प उठी. राज थोड़ी देर रुक गया, और राहुल मुझे सहारा दे रहा था किस करके.

मेरी छूट से निकला खून राज के लंड पे सॉफ दिख रहा था. मैने दर्द को भूल कर एंजाय करना शुरू कर दिया. अब राज ने छोड़ना शुरू किया. पहले वो स्लो-स्लो चुदाई कर रहा था, पर थोड़ी ही देर में उसने अपनी स्पीड बढ़ा दी. मैं अब सिर्फ़ एंजाय कर रही थी, और सिसकियाँ ले रही थी.

फ्रेंड्स कहानी आयेज जारी रहेगी. आप इंतेज़ार करे अगले भाग का. आपके सपोर्ट के लिए थॅंक योउ. अपना फीडबॅक ज़रूर दे (प्के9435856@गमाल.कॉम). आप इसी ईद पे मुझे ग-छत पे ड्म भी कर सकते है. थॅंक योउ.

यह कहानी भी पड़े  शादी मे बॉस की बीवी की चुदाई की


error: Content is protected !!