बॉयफ्रेंड सोता रहा होटल का वेटर मुझे चोदता रहा

अब मैं हाल में हुई अपनी नई चुदाई की कहानी आप सब को सुनाने जा रही हूं। कालेज में आते ही मैंने बहुत से बॉयफ्रेंड बना लिए थे और चुदाई का भी भरपूर मजा लेने लगी।

एक दिन मेरा एक राहुल नाम का बॉयफ्रेंड मुझे बोलता है: पूजा कल मेरा जन्मदिन है, और मैं चाहता हूं कल हम दोनों कहीं बाहर जाकर मजा करेंगे। और पूरी रात हम दोनों चुदाई का मजा भी लेंगे।

मैं राहुल के साथ जाना नहीं चाहती थी। उसके साथ मुझे चुदाई का थोड़ा भी मजा नहीं आता था। पर उसको मना भी नहीं कर सकती थी। तो मैंने राहुल को हां कर दी।

अगले दिन राहुल मुझे लेने आ गया। मैं उसके साथ कार में बैठ गई। मैंने एक पिंक कलर का गाउन पहना था। राहुल कार को हाइवे पर चला रहा था। कार में रोमान्टिक गाने जोर से चल रहे थे। राहुल बीच-बीच में मेरे गालों पर किस करता, तो कभी सहला रहा था। हम अपने शहर से बहुत दूर आ गए थे। शाम के 6 बज रहे थे। राहुल ने सड़क के एक तरफ कार रोक दी।

मैंने पूछा: क्या हुआ?

तो राहुल ने मुझे चुप रहने का इशारा किया। मैं कुछ नहीं बोली। फिर राहुल ने मेरी आंखों पर कपड़ा बांध दिया। कार फिर से चलने लगी। कुछ देर बाद कहीं जा कर रुक गई। फिर राहुल ने मुझे कार से बाहर निकाला, और मैं उसके साथ चलने लगी। राहुल ने काफी देर बाद मेरी आंखो से कपड़ा निकाला, तो मैं देख कर हैरान हो गई।

राहुल मुझे एक कमरे के अंदर ले आया था। कमरा पूरा सजा हुआ था एक-दम सुहागरात के कमरे के जैसा। मैं राहुल को लिपट गई।

राहुल मुझे बोला: बाथरूम में तुम्हारे लिए एक सुरप्राइज है। जाओ और देख लो।

मैं बाथरूम में चली गई। मैंने देखा वहां एक जालीदार छोटी सी नाइटी रखी हुई थी बिना ब्रा-पेंटी के। मैंने सोचा पहन ही लेती हूं। वैसे भी राहुल मेरी चुदाई कितनी बार तो कर चुका है। मैं नहाई और नाइटी पहन ली। नाइटी बहुत छोटी थी। उसमे या तो मेरी चूत छुप रही थी या फिर मेरे चूचे। मैं बाथरूम से बाहर आ गई। मुझे देख कर राहुल मेरे पास आया, और मेरे होंठो को चूमने लग गया।

राहुल एक हाथ से मेरी चूत में उंगली भी ड़ालने लगा। काफी देर तक राहुल मेरे होंठ चूमता रहा। मेरी चूत ने कब पानी छोड़ दिया मुझे भी पता नहीं चला। राहुल ने फिर मेरी चूत को चाट कर साफ कर दिया। राहुल ने बियर पहले से मंगवा रखी थी, तो उसने एक गिलास में बियर डाल दी। मैं भी कभी-कभी बियर पी लेती हूं, जो राहुल को पता था। तो राहुल ने अपनी पेंट के अन्दर से लंड बाहर निकाल दिया।

मैंने उसका लंड हाथ में ले लिया। राहुल ने मुझे नीचे बिठा दिया। राहुल अपना लंड बियर के गिलास में ड़ाल कर मुझसे चुसवाने लगा। मैं भी मजे से चूसने लगी। लंड के साथ बियर पीने का मजा ही कुछ और आ रहा था। राहुल भी पूरा नंगा हो गया, और मैं भी। फिर राहुल ने मुझे बैड पर लिटा दिया, और मेरे उपर आ गया। राहुल ने लंड को मेरी चूत में डाल दिया, और मेरी चुदाई शुरु कर दी।

वो बहुत जल्दी-जल्दी मेरी चुदाई कर रहा था। उसका जल्दी ही पानी निकल गया। मैं तड़पती ही रह गई। राहुल साइड में हो गया, और मैं अपनी चूत की आग में तड़पती रह गई। मैं उठी और बियर पीने लगी। राहुल बियर के साथ शराब पीने लगा। राहुल की आंखो में नशा साफ दिखाई दे रहा था। तभी दरवाजे पर दस्तक हुई।

मैं राहुल को बोली: देखो कोई आया है।

पर राहुल बोला: तू देख जा कर रंडी साली, मुझे पीने दे।

मैं राहुल की बात सुन कर नशे में झूमती हुई दरवाजा खोलने लगी।

दरवाजे पर एक वेटर खड़ा था। सेहत भी अच्छी थी उसकी। मुझे पूरी नंगी देख कर उसका खड़ा लंड उसकी पेंट फाड़ने को हो रहा था।

वो मुझे बोला: मैंडम आपने अभी तक खाने का आर्डर नहीं दिया।

मैं उसको देखने लगी। मुझ पर नशा भी था, और चूत की आग भी लगी हुई थी। तो मेरा एक हाथ खुद ही उसकी पेंट के ऊपर चला गया। मेरे हाथ में उसका लंड आ गया।

फिर मैं उसको बोली: आज तो यही खाउंगी मैं।

मुझे ऐसा करते देख वेटर से भी रहा नहीं गया, और वो मेरे होंठो का रस-पान करने लग गया। मैंने भी उसका लंड पेंट से बाहर निकाल दिया। मैं नीचे बैठ गई, और उसका लंड मुँह में लेकर चूसने लगी।

कुछ ही देर में वेटर ने मुझे दीवार के साथ लगा दिया, और मेरी चूत को चाटने लगा। हम दोनों के बीच सब कुछ बहुत जल्दी हो रहा था। उसने अपनी पेंट और अंडरवियर नीचे किया, और मुझे दीवार के साथ ही घोड़ी बना दिया।

उसने लंड को मेरी चूत से रगड़ना शुरु कर दिया। मैं चूत आगे करने लगी पर वो मुझे तड़पाना चाहता था। फिर उसने एक झटका मारा लंड से,‌ और लंड मेरी चूत चीरता हुआ आधा अन्दर चला गया। मैं दर्द से तड़प उठी। अब उसने फिर से लंड थोड़ा बाहर निकाला।

इस बार उसने बहुत जोर का झटका मारा, और पूरा लंड मेरी चूत में चला गया। मुझे बहुत दर्द हुआ, पर मैं दर्द को बर्दाश्त कर गई, चुदाई का जो मजा लेना था। अब वो पागलों की तरह मेरी चूत चोदने लगा।उसके दोनों हाथ मेरे चूचों को दबाने लगे।

मैं अपना सर पीछे करके उसके होंठो पर किस करने लगी। वो लगातार मेरी चूत चोदे जा रहा था। कुछ देर बाद ही मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया, पर वो लगातार मुझे चोद रहा था। मैं उसका लगातार साथ दे रही थी।

मैं उसको धीरे से बोलने लगी: साले हरामी चोद, और जोर से चोद मुझे। मिटा दे मेरी चूत की आग आज।

वो मेरी बात सुन कर और जोर से मुझे चोदने लगा। सच में मुझे आज खड़े-खड़े चुदवाने में बहुत मजा आ रहा था। पर यह मजा कुछ देर में ही खत्म हो गया। उसने मेरी चूत को अपने रस से भर दिया। अब हम दोनों शांत हो गए। उसने लंड को चूत से बाहर निकाल दिया। मैं नीचे बैठ गई, और उसके लंड को मुँह में लेकर साफ करने लगी।

मैंने लंड को चूस कर पूरा साफ कर दिया। उस वेटर ने मुझे ऊपर उठा लिया, और अपनी बाहों में भर लिया।

वो मेरे चेहरे पर किस करते हुए बोलने लगा: सच में मजा आ गया आपकी चुदाई करते हुए। अगर आप बुरा ना मानो तो एक बात बोलूं आपको?

मैं: हां बोलो।

तो उसने बोला: मेरा दिल तुम्हें और चोदने का है, और मैं चाहता हूं आज तुम्हे बहुत चुदाई का मजा दूं। मैं तुम्हे अब अपने दोस्त के साथ मिल कर चोदना चाहता हूं, अगर आप राजी हो तो।

उसके मुंह से ऐसा सुनते ही मैंने उसके होंठो को चूमना शुरु कर दिया।

वो भी मेरा साथ देने लगा। उसने फिर पूछा तो मैंने उसको हां कर दी। वो खुश हो गया बहुत।मुझे अब भूख भी लग पड़ी थी, तो मैंने उसको खाने का आर्डर दिया। फिर एक-दूसरे को किस किया। वो चला गया, और मैं अंदर आ गई। राहुल पी कर सो गया था। मैं भी बैड पर बैठ कर टी.वी. देखने लगी।

आगे बताऊंगी कैसे उस वेटर और उसके दोस्त ने मुझे राहुल के बैड पर ही चुदाई का मजा दिया। कैसी लगी मेरी चुदाई की कहानी मुझे जरूर बताना।

यह कहानी भी पड़े  दोस्त के साथ मिल कर हाईफाई औरत की चूत गांड की चुदाई की-1


error: Content is protected !!