कॉलेज लाइफ – नॉवब से अकेले मे चुदाई

हेलो दोस्तो ई’म पालक ये मेरी स्टोरी का फोर्त (4) पार्ट है पिछले 3 पार्ट्स मे इंटेरेस्ट दिखाने के लिए थॅंक्स.

जेसा आप को पता है की रात मे इमरान आंड नॉवब से जाम के चूड़ने के बाद सुभह 12 भजे मेरी नींद खुली तो मैने देखा इमरान कही जा चुका है और नॉवब बैठ के सिगरेतटे पी रहा था.

मई उस टाइम पूरी नंगी थी तो नॉवब को देख के मैने खुद को ब्लंकेट से धक लिया ये देख के नॉवब बोला.

नॉवब – अरे पालक इतना क्यू शर्मा रही है रात मे तो मजे से लंड लिए तूने.

मई – कुछ नही ऐसे ही इमरान कहा गया.

नॉवब – उसको कुछ इंपॉर्टेंट कम आ गया है वो अब रात मे ही आएगा, तू जा के फ्रेश हो जा नहा ले.

मई – ठीक है.

फिर मई नॉवब के सामने ही फुल नंगी हो के बातरूम चली गयी और फ्रेश हो फिर मैने न्हाने जाने लगी तभी नॉवब बोला.

नॉवब – पालक अपने नीचे के बाल साफ कर लेना नही तो इमरान आज रात फिर तेरी छूट पे थप्पड़ मरेगा.
(इतना सुनते ही हम दोनो हास दिए)

फिर नॉवब ने मुझे उसका ट्रिम्मर दिया और उससे मैने अपने बाल साफ किए और नहा के फ्री हो गयी. नॉवब ने मेरे लिए कॉफी आंड खाना पहले ही बना दिया, जिसको खा के हम दोनो आराम से साथ मे बैठ के बात करने लगे.

तभी नॉवब को किसी का कॉल आया मैने उसके मोबाइल मे देखा तो उसमे पारूल के नामे से नंबर सवे था जब नॉवब ने उससे बात कर ली तो मैने उससे बोला.

मई – ये पारूल कों है?

नॉवब – तू जानती तो है इसको तुझ से 2 साल सीनियर थी, तेरी रिलेटिव है जो उस दिन शादी मे चुदाई के टाइम पहरा दे रही थी.

(पारूल का इंट्रोडक्षन मैने अपनी सेकेंड स्टोरी मे दिया था).

मई – मतलब तुम्हारी उससे बात होती है?

नॉवब – हन और सिर्फ़ बात नही होती, वो भी तेरी तरह ही है उसको भी चुदाई का बहुत नशा था.

मई- अच्छा, वो दिखती तो बहुत सीधी है.

नॉवब – तू भी तो सीधी दिखती थी, उसको भी मैने और इमरान ने खूब छोड़ा है, और अभी भी टाइम तो टाइम उसकी चुदाई करते है.

मई- क्या वो मेरे बारे मे जानती है की मई यहा हू?

नॉवब – नही, हम लोग बाते नही फेलते, पर उसको ये तो पता ही है की तू हम लोगो से चुड रही है.

मई – हम लोगो से मतलब? उसको तो बस ये पता होगा ना की मई इमरान की गफ़ हू.

नॉवब – (हेस्ट हुए) वो भी पहले इमरान की गफ़ थी, उसको भी पता है की इमरान और मई दोनो मिल के लड़कीो को छोड़ते है, उसको भी छोड़ा है तो ये नॉर्मल बात है की उसको ये पता होगा की त्म भी हम दोनो से चुड रही हो.

मई – त्म लोग कितनी लड़कीो को छोड़ चुके हो?

नॉवब – बहुत है, सब इसी रूम पे चुड्ती है ये रूम रनदिखना बन गया है बहनचोड़, यहा बहुत लड़कीो की सील टूटी है.

ये सुन के हम दोनो फिर हास दिए. मेरी सील भी इसी रूम पे टूटी थी इसका मतलब मई अकेली नही थी जिसको इमरान छोड़ रहा था आंड इसका मतलब ये भी था की इमरान को सिर्फ़ चुदाई से मतलब था प्यार से नही.

मई – अच्छा ये ब्ताओ इतनी लड़किया पता कैसे लेते हो.

नॉवब – कोई बदी बात नही है, कॉलेज मे जो नयी नयी लड़किया आती है हम लोग उनमे से अपना टारगेट पहले ही सेलेक्ट कर लेते है.

मई – अच्छा, कैसे करते हो?

नॉवब – देख जो लड़किया सीधी दिखती है या तेरे जैसे पड़ने लिखने वाली होती है उनको टारगेट करते है.

मई – ऐसा क्यू?

नॉवब- क्यूकी ऐसी लड़कीो के पीछे जयदा लड़के पागल नही होते है और जो लड़की बाहर से जितनी सीधी दिखती है वो अंदर से उतनी ही सेक्स की भूखी होती है बस वो लोगो के दर से कभी सेक्स एंजाय करने का नही सोचती.

मई – अच्छा..

नॉवब – हम लोग तो बस उसको इतना यकीन दिलाते है की हम लोग उसको चुदाई का मज़ा देगे और उसकी ये बात सीक्रेट रखेगे.

मई – सीक्रेट? मज़ाक तो मत ही करो, लगभग पूरे कॉलेज को पता है की मई इमरान से चुड रही हू.

नॉवब – हन पर तुझे पहले यकीन था ना की इमरान तुझे बहुत प्यार करता है तेरी प्राइवसी बना के रखेगा, जिसके कारण तू उससे खूब छुड़वाने लगी.

मई – ह्म्‍म्म्मम…

नॉवब – बस तो फिर बाकी लड़कियो का भी यही है, और जब इन लड़कीो की छूट लंड को चख लेती है फिर तो उनको फराक नही पदता की कों क्या बोल रहा है, तुझे ही देख ले.

मई – अच्छा तो सिर्फ़ न्यू लड़कीो को टारगेट करते हो?

नॉवब – एस मोस्ट्ली, क्यूकी उनको छोड़ने मे मज़ा आता है और कॉलेज की पुरानी लड़कीो को भी छोड़ते है पर उनके लिए जयदा मेहनत नही करते. उनको तो 2-3 बार छोड़ के अलग कर देते है, फिर वो खुद ही चूड़ने के लिए कॉल करती है.

मई – अच्छा.

नॉवब – एस, और कुछ लड़किया तो ऐसी होती है जिनका ब्फ होता है बुत फिर भी वो इस रूम पे आ के चुड के जाती है.

मई – अच्छा सच मे..?

नॉवब – और क्या, अबी पारूल को ही देख ले, उसका कॉल इसलिए ही आया था, उसका एक ब्फ है फिर भी वो टाइम तो टाइम हम लोगो से छुड़वाने के लिए आती है. अब उसको परसो छोड़ेगे जब तू यहा से चली जाएगी.

इसके बाद हम दोनो कुछ देर शांत बेते रहे और मई सोच रही थी की.

ये बात मुझे पहले ही साँझ आने लगी थी की इमरान को बस चुदाई से मतलब है. बुत अब मई इमरान से इतना चुड चुकी थी की अब भले ही वो मुझ से प्यार ना करे बुत मुझे बिना उससे चुड़े रहा नही जाता था, मैने भी ये बात आक्सेप्ट कर ली थी.

तभी नॉवब मेरे करीब आ गया और मेरे हाथ को पकड़ के सहलाते हुए मेरी आँखो मे देखने लगा.

मई – क्या देख रहे हो?

नॉवब – मज़ा आता है तुझे छोड़ने मे, अबी ट्के सब्से जयदा मज़ा तुझे छोड़ने मे ही आया है.

मई – अच्छा, छोड़ लिया ना अब क्या चाहते हो.

नॉवब – अबी कहा मेरी जान अभी तो तेरी बहुत चुदाई करनी है.

इतना कहते हुए नॉवब ने मुझे अपनी तरह खीच लिया और त शर्ट के उपर से ही मेरे बूब्स मसालने लगा, और साथ ही किस करने लगा.

मुझे भी जयदा फराक नही प्डा और मई नॉवब का साथ देने लगी. उस टाइम मैने त शर्ट सिर्फ़ पहनी हुई थी जो मैने उतार के अलग कर दी. अब मई नॉवब के सामने फिर से पूरी नंगी थी.

नॉवब ने मुझे उठाया और दीवार से चिपका के मुझे किस करने लगा. और अपने दोनो हाथो से मेरे दोनो बूब्स दबाने लगा.

आअहहूंम्म्म मेरी भी सिसकिया निकलने लगी. फिर नॉवब मे मुझे घुमाया और पीछे से मेरे दोनो बूब्स पकड़ के दबाने लगा. साथ ही मुझे नेक पे किस करने लगा. इसमे मई भी हॉर्नी फील करने लगी.

तभी नॉवब ने एक हाथ मेरी छूट पे फेरना शुरू कर दिया, जिससे मई और गरम हो गयी.

फिर नॉवब नीचे बेता और मुझे खड़ा रख के मेरे दोनो पैर के बीच मे आ गया और मेरी छूट चाटने लगा. आआहाआसस मई उसका सर पकड़ के खड़ी होने की कोशिश कर रही थी. साथ ही अपनी छूट सक करने का मज़ा ले रही थी.

नॉवब ने अपनी उंगलिओ से मुझे छोड़ना सुरू कर दिया और मई अब पूरी तरह से गरम हो गयी.

तभी नॉवब ने मुझे नीच बिताया और खुद चेर पे बैठ गया. इसका मतलब था की मुझे अब नीचे बैठ के नॉवब का लंड चूसना है, मैने भी ऐसा ही किया.

पहले नॉवब का लंड अपने हाथो से सहलाया फिर उसके टॉप को किस किया और स्लोली स्लोली उसको मूह के अंदर ले लिया. मैने पहले उसका टॉप सक किया फिर धीरे धीरे पूरा गले ट्के उसका लंड ले लिया. उसकी बॉल्स से मई अपने हाथो से खेल रही थी.

नॉवब भी फुल जोश मे आ गया पर जोश मे उसने होंश नही खोया. उसने मेरे सर पकड़ के दीवार से टीकाया. और वो अपने लंड से स्लोली स्लोली मेरे मूह को छोड़ने लगा.

वो धीरे धीरे अपने लंड को मेरे मुझ के अंदर बाहर कर रहा था. और बीच बीच मे ऐसा करने के बाद वो एक दूं से पूरा लंड मेरे गले ट्के उतार देता जिससे मज़ा और स्जा दोनो मिल रहे थे.

(यहा मई कह सकती हू मुझे भी मज़ा आ रहा था सच बोलू तो एक नये लंड से चूड़ने का एग्ज़ाइट्मेंट था. साथ ही नॉवब इमरान से जयदा अच्छी तरीके से मेरे मूह को फक कर रहा था).

वो ऐसे ही मेरे मुझ को छोड़ता रहा धीरे धीरे उसने स्पीड बढ़ाना सुरू कर दिया और मई अपने मूह मे उसका लंड लिए जा रही थी.

मेरे मूह से बस आअम्म्म उम्म आअम्म उम्म्म्मम ऊऊऊओ की आवाज़े निकल रही थी.

कर्बी 5 मीं के बाद उसने स्पीड तेज़ कर दी और अपना पूरा स्पर्म मेरे मूह मे ही छोड़ दिया. लेकिन उसने लंड टीबी ट्के बाहर नही निकाला जब ट्के मैने पूरा स्पर्म पी नही लिया.

फिर नॉवब ने मुझे नीचे लिटाया और मेरे बूब्स आंड छूट के साथ खेलने लगा. बरीब 10 मीं बाद उसने फिर से मुझे अपना लंड चूसने को बोला. और मैने भी बड़े प्यार से उसका लंड चूसना सुरू कर दिया.

थोड़ी देर मे ही उसका लंड फिर से हार्ड हो गया.

अब मेरी चुदाई का टाइम था नॉवब ने मुझे उठाया और दीवार से चिपका के मेरा एक पैर उपर उठाया. और अपना लंड मेरी छूट मे दल के छोड़ने लगा.

मई एक पैर पे खड़े खड़े नॉवब का लंड ले रही थी. छोड़ते हुए नॉवब मुझे किस भी कर रहा था. आआहह अओउउउम्म्म्मम आहह मई बस चुदाई मे खो गयी थी, तभी नॉवब ने मुझे पलताया.

मई दीवार पे अपने दोनो हाथ रख के अपनी आस उपर कर के झुक गयी. नॉवब ने मेरी आस पे एक स्लॅप किया और बिना देर किए अपना लंड मेरी छूट मे दल के फिर छोड़ने लगा.

तबी नॉवब ने मेरे दोनो हाथ पकड़ के पीछे खीच लिए मुझे खड़े खड़े ही कुटिया के जैसे छोड़ने लगा.

आअहह उउम्म्म्म एयाया दोस्तो एक्सप्लेन नही कर सकती की मुझे कितना मज़ा आ रहा था. फिर नॉवब नीचे लेट गया और मुझे अपने लंड पे बिताया.

मई भी उसके लंड को अपनी छूट मे दल के उसके उपर आ गयी. अब मई खुद उछाल उछाल के नॉवब का लंड अपनी छूट मे लेनी लगी. और नॉवब भी मेरे दोनो निपल्स अपने हाथो से ज़ोर से डे रहा है आआअहह..

फिर नॉवब ने मुझे पकड़ के सामने झुकाया और ज़ोर दर तरीके से झटके मारने लगा. आहहाा उउम्म्म्मममममम जिससे नॉवब का स्पर्म मेरी छूट मे ही निकल गया.

मई निढाल हो के नॉवब के उपरा गिर गयी, और उसके चेस्ट को किस किया. नॉवब ने भी मुझे अपनी बहो मे भर लिया. मई ऐसे ही उसके साथ सोने लगी.

फिर करीब 30 मीं बाद नॉवब उठा और किसी कम से बाहर चला गया. उसने रूम बाहर से लॉक कर दिया था क्यूकी किसी को नही पता था की मई यहा हू.

इसके बाद रात मे इमरान वापिस आया और रात मे फिर मेरी जबरदस्त चुदाई की गयी.

ये चुदाई भी पहली रात की चुदाई जैसी थी जिसमे कुछ ख़ास नया नही था. इसलिए मे सेकेंड रात मे हुई चुदाई की स्टोरी लिख के आपको लोगो को बोर नही करूगी.

इस स्टोरी पे आपके सजेशन्स का वेट करूँगी.

यह कहानी भी पड़े  कुंवारी लौंडिया की देसी सेक्स स्टोरी

error: Content is protected !!